News That Matters

क्या आमेर किले में बंद होगी हाथी सवारी?

जयपुर। क्या देशी विदेशी पर्यटक आने वाले समय में आमेर किले और हाथी गांव में हाथी सवारी का आनंद उठाने से महरूम रह जाएंगे। यहां पर हाथी की सवारी कर पर्यटक अपने को आनंदित महसूस करता है। इसी कारण हाथी की सवारी यहां पर हमेशा से ही आकर्षक का केन्द्र बनी हुई है।

वसुंधरा सरकार की गलत नीतियों और बढ़ते अपराध से प्रदेश में घटा निवेशः पायलट

पशुओं के अधिकारों के लिए संघर्ष करने वाली एक संस्था ने राजस्थान हाईकोर्ट में आमेर किले और हाथी गांव में हाथी की सवारी बंद करने के लिए एक याचिका दायर की है। अगर कोर्ट ने इस याचिका के समर्थन में आमेर किले और हाथी गांव में हाथी की सवारी पर रोक लगा दी तो फिर पर्यटक इसका आनंद नहीं ले पाएंगे।

पीपुल फॉर ऐथिकल ट्रीटमेंट ऑफ एनिमल (पेटा) नामक एक संस्था ने राजस्थान हाई कोर्ट में दायर अपनी याचिका में यहां पर हाथी की सवारी करने को गैर कानूनी बताया है।

राजस्थान सरकार के इस एमओयू से किसानों को होगा फायदा और बढ़ेंगे रोजगार के अवसर

संस्था ने अपनी याचिका में हाथी की सवारी को बंद करने यह कारण बताया है कि एक भी हाथी भारत के पशु कल्याण बोर्ड से पंजीकृत नहीं है, जो पशु क्रूरता संरक्षण अधिनियम 1960 के तहत पशु (पंजीकरण) नियम 2001 का सीधा-सीधा उल्लघंन है।

संस्थान ने याचिका में कहा गया कि हाथियों की सवारी राज्य सरकार द्वारा जारी निर्देश के भी खिलाफ है। राज्य सरकार के निर्देश के अनुसार, हाथी का किसी फिल्म, धारावाहिक, विज्ञापन, कार्यक्रम, खेल, प्रदर्शन, मेले और सवारी सहित किसी भी प्रकार के उपयोग के लिए पशु कल्याण बोर्ड से अनुमति आवश्यक है।

राजस्थान विधानसभा चुनावों में फिर खिलेगा 'कमल': ओम माथुर

इससे पहले पशु कल्याण बोर्ड ने यहां पर हाथियों के अंधेपन और संक्रामक बीमारी से पीडि़त होने की जानकारी दी थी। उसके बावजूद यहां पर हाथी की सवारी किए जाने के विरुद्ध संस्था की ओर से ये याचिका दायर की गई है। पेटा की वरिष्ठ कानूनी सलाहकार स्वाति सुंबली ने यह जानकारी दी है।

अब राजस्थान का श्रीगंगानगर भी जुड़ा हवाई सेवा से

अगर राजस्थान उच्च न्यायालय ने इस याचिका के आधार पर आमेर किले और हाथी गांव में हाथी सवारी पर रोक लगा दिया तो इससे हाथी के मालिकों को जरूर नुकसान उठान पड़ेगा।

Rajasthan-news – rajasthankhabre.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *