News That Matters

लोकसभा चुनावों से पहले महागठबंधन बनना मुश्किलः येचुरी

इंटरनेट डेेस्क। 2019 के लोकसभा चुनावों से पहले महागठबंधन को लेकर चल रही तैयारियों पर अभी संशय के बादल मंडरा रहे है। विपक्षी पार्टियां जहां चुनावों से पहले मोदी से टक्कर लेने की तैयारी कर रही है तो वहीं विपक्षी पार्टी माकपाके नेता सीताराम येचुरी ने यह कह दिया है की 2019 के चुनावों से पहले राष्ट्रीय स्तर पर विपक्षी पार्टियों का महागठबंधन बनाए जाने की कोई संभावना नहीं है।

राजस्थान सरकार के इस एमओयू से किसानों को होगा फायदा और बढ़ेंगे रोजगार के अवसर

सीताराम येचुरी ने कहा कि इस तरह का गठबंधन लोकसभा चुनावों के नतीजे की घोषणा के बाद ही हो सकता है। पहले महागठबंधन बने इस पर अभी कोई निर्णय नहीं लिया गया है। उन्होंने संवाददाता सम्मेलन में कहा, मेरा यह मानना है कि भारत में चुनाव के पहले कोई भी महागठबंधन बनाना संभव नहीं है, क्योंकि हमारा देश विविधताओं वाला है।

चुनावों में परिणाम आने के बाद ही बड़ी पार्टी को रोकने के लिए विपक्षी पार्टिया एक हो सकती लेकिन चुनावों से पहले ये किसी भी हालात में संभव नहीं है। येचुरी ने कहा इस बार भी आप वैसा ही देखेंगे, जैसा 1996 में देखने को मिला था जब संयुक्त मोर्चा ने सरकार बनाई थी और 2004 में जब संप्रग -1 सरकार बनी थी।

येचुरी ने यह भी कहा की लोग अभी केंद्र सरकारी की नीतियों से परेशान है इस जनविरोधी सरकार से छुटकारा पाना चाहते हैं लेकिन वैकल्पिक धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक सरकार लोकसभा चुनाव के बाद ही बन सकती है।

देश हित में फायदेमंद साबित हो सकते है एक साथ लोकसभा और विधानसभा चुनाव

मीडिया की और से यह पूछे जाने पर की लोकसभा चुनावों के बाद यदी महागठबंधन बनता है तो क्या वो इसका हिस्सा बनेंगे। इस पर येचुरी ने कहा हमारी पार्टी ने केंद्र सरकार को बाहर से समर्थन दिया था। हमने ऐसा 1989, 1996 और 2004 में किया था।

Political-news – rajasthankhabre.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *