News That Matters

कुर्सी पर L शेप में बैठें, C शेप में बैठने से होती है दिक्कत

कुर्सी पर बैठकर देर तक काम करने से गर्दन, कमर, हाथों, जांघों की मांसपेशियों में जकडऩ होती है। इससे शरीर का रक्तसंचार प्रभावित होता है। पैरों की धमनियों में तनाव भी बढ़ता है, जिससे रक्तसंचार प्रभावित होता है। इससे कभी-कभी पैर के जोड़ों में दर्द होता है।

अ क्सर घंटों कुर्सी पर बैठकर हम काम करते हैं या कुर्सी मिलते ही आराम के लिए बैठते हैं। पैर पसारकर बैठने या सही मुद्रा में न बैठने की आदत भी पड़ जाती है। कुर्सी पर L (एल) शेप में बैठना चाहिए। आराम के लिए पीछे कुशन रख सकते हैं। कुर्सी पर आगे की तरफ न बैठें। सी (C) शेप में नहीं बैठना चाहिए।

बढ़ सकता है ब्लड प्रेशर

घंटों एक ही जगह एक ही कुर्सी पर बिना ब्रेक के बैठना धूम्रपान से भी अधिक नुकसानदेय है। कंप्यूटर से निकलने वाली हानिकारक किरणें आंखों को नुकसान पहुंचाती हैं। गलत तरीके से बैठने से शरीर में दर्द, मोटापा, कोलेस्ट्रॉल बढऩा, आंखों की रोशनी कम होना, उंगलियों और कलाई में दर्द, अनिद्रा, तनाव, ब्लड प्रेशर, स्पॉन्डिलाइटिस और कमर दर्द हो सकता है।

बेड पर लेटकर न पढ़ें

कुर्सी पर ज्यादा देर तक बैठने पर बीच-बीच में कंधों को हिलाते रहें। ज्यादा देर तक पैरों को क्रॉस करके न बैठें। दर्द हो सकता है। हर घंटे पांच मिनट का ब्रेक लें। उठकर खड़े हो जाएं या टहलें। इससे मांसपेशियां सक्रिय रहती हैं। बेड पर लेटकर पढऩे से नींद आती है। पढ़ाई तेज रोशनी में ही करें।

कंप्यूटर पर काम करते समय सही मुद्रा में बैठना जरूरी

कंप्यूटर पर काम करते समय मुद्रा सही रखें। हर आधे घंटे में कंप्यूटर स्क्रीन से नजरें हटाएं। पहले दूर रखी चीज पर 10-15 सेकंड तक नजर टिकाएं। उसके बाद पास की चीज पर 15 सेकंड फोकस करें। हर 20 मिनट बाद 20 सेकंड तक 20 फीट दूर देखें। इससे आंखों की मांसपेशियों में भी फैलाव होगा।

कमर दर्द का उपाय

कुर्सी पर घंटों गलत तरीके से बैठने के कारण कमर दर्द होता है। इससे बचने के लिए कुर्सी पर कमर को आगे-पीछे और दाएं-बाएं घुमाने की कोशिश करें। नियमित रूप से सुबह-शाम कमर संबंधी व्यायाम करें। इससे रक्तसंचार सुचारु होता है और दर्द से राहत मिलती है।

Patrika : India’s Leading Hindi News Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *