News That Matters

Tag: अमेरिका

अमेरिका के खिलाफ भारत पहुंचा डब्ल्यूटीओ में

India
भारत ने कहा है कि इस फैसले से अमेरिका को इन उत्पादों का निर्यात प्रभावित होगा। अमेरिका द्वारा शुल्क लगाना ग्लोबल कारोबारी नियमों के अनुकूल नहीं है। Jagran Hindi News - news:national
भारत ने अमेरिका को डब्ल्यूटीओ में घसीटा, छूट देने की मांग की

भारत ने अमेरिका को डब्ल्यूटीओ में घसीटा, छूट देने की मांग की

Delhi
भारत ने अमेरिका को डब्ल्यूटीओ में घसीटा, छूट देने की मांग कीएजेंसी | नई दिल्ली. एल्युमिनियम और स्टील पर आयात शुल्क लगाने के मुद्दे पर भारत ने अमेरिका के खिलाफ वर्ल्ड ट्रेड... आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें दैनिक भास्कर
हाफिज सईद की गिरफ्तारी के लिए हमने ईनाम रखा और पाक में वो खुलेआम घूम रहा है: अमेरिका

हाफिज सईद की गिरफ्तारी के लिए हमने ईनाम रखा और पाक में वो खुलेआम घूम रहा है: अमेरिका

India
अमेरिका ने मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद की गिरफ्तारी नहीं होने पर चिंता जाहिर की है। शुक्रवार को अमेरिकी विदेश विभाग ने कहा कि हमारी सरकार ने जमात उल दावा के सरगना के सिर पर ईनाम रखा है और वह पाकिस्तान में खुलेआम घूम रहा है। यह अमेरिका के लिए गंभीर चिंता का कारण है। विदेश विभाग की प्रवक्ता हेथर नुअर्ट ने यह बात पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के मुंबई आतंकी हमले पर दिए बयान के जवाब में कही। बता दें कि पद से हटने के बाद शरीफ ने पहली बार कबूला है कि मुंबई हमले में पाकिस्तानी आतंकियों का हाथ था। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें दैनिक भास्कर
अमेरिका ने एटमी हथियार खत्म करने का एकतरफा दबाव बनाया तो रद्द कर देंगे वार्ता : उ. कोरिया

अमेरिका ने एटमी हथियार खत्म करने का एकतरफा दबाव बनाया तो रद्द कर देंगे वार्ता : उ. कोरिया

India
उत्तर कोरिया ने उसके एटमी हथियार खत्म करने का एकतरफा दबाव बनाने की स्थिति में ट्रम्प के साथ किम जोंग की अगले महीने प्रस्तावित वार्ता रद्द करने की धमकी दी है। वह दक्षिण कोरिया से वार्ता रद्द पहले ही रद्द कर चुका है। ट्रम्प और किम की वार्ता 21 जून को होनी है। इससे पहले उत्तरी कोरिया अपने एटमी हथियार खत्म करने की प्रतिबद्धता जता चुका है। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें दैनिक भास्कर
अमेरिका ने रोकी पाकिस्तान की सैन्य सहायता

अमेरिका ने रोकी पाकिस्तान की सैन्य सहायता

Rajasthan
डेस्क। अमेरिका ने अफगान तालिबान और हक्कानी नेटवर्क पर कार्रवाई को लेकर पाकिस्तान की 255 मिलियन डॉलर की सैन्य सहायता पर रोक लगा दी है। अमेरिकी विदेश विभाग ने गुरुवार को कहा कि अमेरिका मानता है कि इन आतंकवादी संगठनों के ऊपर कार्रवाई नहीं होने से क्षेत्र में अस्थिरता फैल रही है। अमेरिका ने कहा है कि जबतक इन आतंकवादी संगठनों पर कार्रवाई नहीं होती तबतक सैन्य सहायता स्थगित रहेगी। विभाग की प्रवक्ता हीदर नौअर्ट ने हालांकि यह भी कहा कि यदि पाकिस्तान इन आतंकवादी संगठनों के खिलाफ निर्णायक कार्रवाई करता है तो कुछ सहायता जारी भी रखी जा सकती है। नौअर्ट ने कहा,आज हम इस बात की पुष्टि करते हैं कि पाकिस्तान की सुरक्षा सहायता को स्थगित किया जा रहा है। जबतक कि पाकिस्तान की सरकार हक्कानी नेटवर्क और अफगानी तालिबान जैसे आतंकवादी संगठनों के खिलाफ कोई निर्णायक कार्रवाई नहीं करती है। हमारे विचार से ये सं
पाकिस्तान करारा झटका, अमेरिका ने दिया ये बयान

पाकिस्तान करारा झटका, अमेरिका ने दिया ये बयान

Rajasthan
डेस्क। वाशिंगटन, दो जनवरी (भाषा) अमेरिका ने पाकिस्तान को दी जाने वाली 25 करोड़ 50 लाख डॉलर की सैन्य सहायता राशि फिलहाल रोक दी है। व्हाइट हाउस ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि ऐसी सहायता इस बात पर निर्भर करेगी कि पाकिस्तान अपनी सरजमीं पर आतंकवाद का किस तरह जवाब देता है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पाकिस्तान पर अमेरिका को झूठ और धोखे के सिवाए कुछ ना देने और पिछले 15 बर्षो में 33 अरब डॉलर की सहायता देने के बदले में आतंकवादियों को पनाहगाह देने का आरोप लगाया। इसके बाद ही अमेरिका ने इस बात की पुष्टि की। एक वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी ने पीटीआई-भाषा को बताया, अमेरिका की इस समय पाकिस्तान के लिए वित्त वर्ष 2016 में 25 करोड़ 50 लाख डॉलर की राशि खर्च करने की योजना नहीं है। उन्होंने कहा, राष्ट्रपति ने यह स्पष्ट कर दिया कि अमेरिका यह उम्मीद करता है कि पाकिस्तान अपनी सरजमीं पर आतंकवादि
कोई भी तानाशाह अमेरिका को कम आंकने की गलती ना करे: डोनाल्ड ट्रंप

कोई भी तानाशाह अमेरिका को कम आंकने की गलती ना करे: डोनाल्ड ट्रंप

Rajasthan
जापान। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरिया का अप्रत्यक्ष तौर पर आगाह किया कि किसी भी तानाशाह को अमेरिका को कम आंकना नहीं चाहिए। तोक्यो के पश्चिम में योकोता एयर बेस पर उत्साहपूर्ण सेवा कर्मियों को संबोधित करते हुए ट्रंप ने कहा किसी को भी, किसी भी तानाशाह, सरकार और राष्ट्र को अमेरिका के संकल्प को कम आंकना नहीं चाहिए। ट्रंप ने उन्हें दी गई सैन्य जैकेट पहन रखी थी। उन्होंने कहा, पूर्व में उन्होंने हमें कम आंका। यह उनके लिए अच्छा नहीं रहा। दुनिया को रास्ता दिखाने के लिए भारत को चीन से भी ज्यादा सक्षम बनना होगा -भागवत हम अपने लोगों, आजादी और हमारे महान अमेरिकी ध्वज की रक्षा में कभी नहीं हारेंगे, कभी नहीं लडख़ड़ाएंगे और कभी हिम्मत नहीं हारेंगे। ट्रंप की यह यात्रा ऐसे समय में हो रही जब उत्तर कोरियाई संकट चरम पर है। अमेरिकी राष्ट्रपति की एशिया यात्रा का पहले चरण जापान और दक्षिण