News That Matters

Tag: उपाय

आंखों को स्क्रीन की चमक से बचाएंगे ये सात उपाय

आंखों को स्क्रीन की चमक से बचाएंगे ये सात उपाय

Health
आंख खुलने के बाद सबसे ज्यादा हमारी आंखें डिजिटल स्क्रीन पर ही टिकी होती हैं। सोकर उठते ही मोबाइल चेक करना, ऑफिस में लैपटॉप या कंप्यूटर और घर लौटकर टीवी देखना।‘कॉमस्कोर' ने 2017 में अपनी... Live Hindustan Rss feed

उत्‍तर भारत से मंगल ग्रह तक धूल भरी आंधी, रहें सावधान; अपनाएं ये उपाय

India
डॉक्‍टर एम वली ने बताया कि दिल्ली में धूल भरा मौसम दमा, किडनी, ब्लड प्रेशर और मधुमेह के मरीजों के लिए परेशानी पैदा कर रहा है। Jagran Hindi News - news:national
अच्छी नींद के लिए अपनाएं ये स्मार्ट उपाय

अच्छी नींद के लिए अपनाएं ये स्मार्ट उपाय

Health
सेहत के लिए जितना जरूरी पौष्टिक आहार और व्यायाम है, उतनी जरूरी अच्छी नींद लेना भी है। पर्याप्त और अच्छी नींद में कमी हाई ब्लडप्रेशर, चिड़चिड़ापन, सिरदर्द, मोटापा व अन्य बीमारियों को न्योता देता है। इसके अलावा नींद पूरी न होने पर पूरे दिन थकावट और सुस्ती महसूस होती है, जिसका प्रभाव सीधा आपकी कार्य क्षमता और एकाग्रता पर पड़ता है। दरअसल कम सोने से मस्तिष्क के हाइपोथेलेमस में सक्रिय न्यूरॉन्स के एक समूह की कार्यशैली गड़बड़ हो जाती है। यहीं पर ओरेक्सिन नामक हॉर्मोन भी सक्रिय रहता है, जो खानपान संबंधी व्यवहार को नियंत्रित करता है। कम सोने से आपके कार्य की गुणवत्ता में कमी आ सकती है और सोचने क्षमता भी प्रभावित होने लगती है। अच्छी नींद नहीं तो यह होंगे साइड इफेक्ट्सभूख को नियंत्रण करने वाले हॉर्मोन पर प्रभाव। अच्छी नींद नहीं लेने पर भूख ज्यादा लगती है और कैलोरी ज्यादा लेते हैं।मस्तिष्क की कार्यविध
त्वचा जलने पर अपनाएं यह उपाय

त्वचा जलने पर अपनाएं यह उपाय

Health
त्वचा का जलना कई तरह के हो सकते हैं। फस्र्ट डिग्री जलने में ज्यादा गंभीर स्थिति नहीं होती है। सिर्फ जलन, त्वचा का लाल होना और हल्की सूजन भी दिखाई दे सकती है। सैकंड डिग्री में त्वचा की भीतरी स्तर पर प्रभाव पड़ता है। इसमें छाले पडऩे के साथ ही सफेद और गीली त्वचा दिखने लगती है। इन छालों को फोडऩा नहीं चाहिए, इससे संक्र मण हो सकता है। थर्ड डिग्री में त्वचा की सभी स्तर प्रभा वित होती हैं और चौथे डिग्री में जॉइंट्स और हड्डियों तक पर प्रभाव पड़ता है जिससे स्थिति गंभीर हो जाती है। ऐसे में तुरंत डॉक्टर से मिलें। यह करें उपचार बर्फ का पानीत्वचा जलने पर सबसे पहले संबंधित जगह पर ठंडा पानी डालें। जलन कम होने तक कम से कम 20 मिनट तक ठंडे पानी के संपर्क में रहें। इसके बाद ही किसी एंटी सेप्टिक क्रीम का इस्तेमाल करें। ठंडे पानी में भीगे कपड़े को भी संबंधित जगह पर 5 से 15 मिनट तक रखा जा सक ता है। इस प्रक्रि या
उपाय जिनसे कम होगा घुटनों का दर्द

उपाय जिनसे कम होगा घुटनों का दर्द

Health
कम उम्र के ऐसे लोगों की संख्या बढ़ रही है जो घुटने के दर्द से पीडि़त हैं। समस्या तब गंभीर हो जाती है जब लंबे समय तक ध्यान न देने से मामला सर्जरी तक पहुंच जाता है। निवारण के घरेलू उपाय ऐसे कामों से बचें जो दर्द बढ़ाते हैं, जैसे वजन उठाने वाले काम। दर्द वाली जगह दिन में कम से कम चार बार बर्फ का सेंक करें। सूजन को कम करने के लिए घुटने को क्षमतानुसार ऊपर उठाकर रखें। घुटनों के बीच में तकिया रखकर सोएं। हड्डियां होती हैं कमजोर धूप व विटामिन-डी की कमी और दूध न पीने से हड्डियां कमजोर होती हैं। यही नहीं धूम्रपान या तंबाकू की लत से फेफड़ों, हड्डियों व जोड़ों को नुकसान होता है। क्या है पीएस-150 सर्जरी घुटनों में दर्द से राहत के लिए पीएस-१५० सर्जरी उपलब्ध है। इससे प्रत्यारोपित घुटना प्राकृतिक घुटने की तरह काम करता है। अक्सर गठिया में कू्रसिएट लिगामेंट खराब हो जाते हैं और कैल्शियम डिपॉजिट होने से ऑस्ट
Summer Tips- गर्मियों के दिनों में पाएं चेहरे पर चमक, करें ये उपाय

Summer Tips- गर्मियों के दिनों में पाएं चेहरे पर चमक, करें ये उपाय

Health
गोरी,निखरी,खूबसूरत और बेदाग त्वचा की चाहत हर लड़की रखती है। बाहरी धूल-मिट्टी से तो त्वचा बेजान सी हो जाती है। काम में व्यस्त होने के कारण कई बार तो खुद की तरफ ध्यान देने का भी समय नहीं... Live Hindustan Rss feed
बड़ी उम्र में स्वस्थ और मस्त रहनें के उपाय

बड़ी उम्र में स्वस्थ और मस्त रहनें के उपाय

Health
वृद्धावस्था का भय केवल आज की समस्या नहीं है बल्कि हजारों वर्ष पहले रचित आयुर्वेद ग्रंथ चरक संहिता में भी इसके संकेत मिलते हैं। चरक संहिता के रसायन प्रकरण में वर्णित ‘पंचमहरीतक्यादि’ योग का एक प्रयोजन वृद्धावस्था के भय से मुक्ति भी है।   च्यवन ऋषि की वृद्धावस्था दूर करने के कारण ही च्यवनप्राश एक श्रेष्ठ रसायन के रूप में प्रसिद्ध हुआ। आयुर्वेद के आठ अंगों में से एक शाखा रसायन, वृद्धावस्था को दूर करने पर ही केंद्रित है। क्यों डर लगता है वृद्धावस्था से शांर्गधर संहिता के अनुसार सौ वर्ष की जिंदगी के अंतिम ३ दशक में क्रमश: विक्रम, ज्ञानेन्द्रिय के कर्मों का क्षय व कर्मेन्द्रियों के कार्य का ह्रास होता है। चरक के अनुसार वृद्धावस्था में इन्द्रिय, बल, पौरुष, पराक्रम, ग्रहण, धारण व स्मरणशक्ति प्रभावित होते हंै। नींद कम आती है।   शुक्रक्षय के ८ कारणों में वृद्धावस्था भी शामि
भास्कर ब्रेकिंग: प्रदूषण रोकने के कारगर उपाय अपनाने तक जोधपुर के सभी उद्योग बंद करने की सिफारिश

भास्कर ब्रेकिंग: प्रदूषण रोकने के कारगर उपाय अपनाने तक जोधपुर के सभी उद्योग बंद करने की सिफारिश

Rajasthan
जोधपुर के सभी उद्योगों पर बंद होने की तलवार लटक गई है। जोजरी नदी में हो रहे प्रदूषण की शिकायतों की वस्तु स्थिति जानने के लिए नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल की ओर से नियुक्त कोर्ट कमिश्नर ने अपनी रिपोर्ट में ऐसी अनुशंषा की है। इस कोर्ट कमिश्नर ने एनजीटी को जोधपुर के उद्योगों का गहन निरीक्षण कर 185 पेज की तथ्यात्मक रिपोर्ट सौंपी है। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें दैनिक भास्कर
निपाह वायरस से बचने के लिए अपनाएं ये उपाय

निपाह वायरस से बचने के लिए अपनाएं ये उपाय

Health
केरल में फैले निपाह वायरस (एनआईवी) ने लोगों के बीच डर का माहौल बना दिया है। राज्य सरकार भले ही हालात पर काबू पाने का बखान कर रही है, लेकिन सवाल खुद को इस संक्रमण से बचाने का है। इस बीमारी के फैलने के साथ ही हमें एक और लड़ाई के लिए तैयार रहना है। यह एक प्रकार के चमगादड़ से फैलती है। संक्रमित जीवों के साथ सीधे संपर्क से बचने के अलावा, जमीन पर गिरे फलों का उपभोग करने से बचना जरूरी है। यह स्थिति इसलिए भी मुश्किल हो जाती है, क्योंकि इस बीमारी के लिए अभी कोई टीका या दवा बाजार में उपलब्ध नहीं है। इसके इलाज का एकमात्र तरीका कुछ सहायक दवाइयां और पैलिएटिव केयर है। वायरस की इनक्यूबेशन अवधि 5 से 14 दिनों तक होती है, जिसके बाद इसके लक्षण दिखाई देने लगते हैं। सामान्य लक्षणों में बुखार, सिर दर्द, बेहोशी और मतली शामिल होती है। कुछ मामलों में, व्यक्ति को गले में कुछ फंसने का अनुभव, पेट दर्द, उल्टी, थकान और
जानें क्या हैं जानलेवा Nipah वायरस के लक्षण और बचाव के उपाय

जानें क्या हैं जानलेवा Nipah वायरस के लक्षण और बचाव के उपाय

Health
निपाह वायरस (NiV) के इंसानों में संक्रमण का पता चिकित्सीय जांचों द्वारा लगाया जा सकता है। निपाह के संक्रमण की जांच शुरुआती दौर से लेकर श्वसनतंत्र के गंभीर रूप से प्रभावित होने और जानलेवा... Live Hindustan Rss feed