News That Matters

इनसे सीखें: नौकरी का मोह त्याग स्वच्छता दूत बनीं संध्या

स्वच्छता को लेकर संध्या का कहना है कि यह सबसे ज्यादा पुनीत कार्य है। यदि यह छोटा काम होता तो गांधीजी से लेकर हमारे पीएम मोदी तक, सभी स्वच्छता अभियान नहीं चलाते।
Jagran Hindi News – news:national

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *