News That Matters

गोलगप्पे खाने से ठीक हो सकती हैं ये बीमारियां, आपने ट्राय किया

ऐसा शायद ही कोई हो जिसे गोलगप्पे पसंद न हों। भारत के किसी भी शहर में चले जाओ, गोलगप्पे जरूर मिल जाएंगे। हालांकि इनका स्वाद हर जगह अलग ही मिलेगा। वजह है हर जगह के पानी का स्वाद अलग होना और इन्हें बनाने के तरीके में फर्क। कई लोग तो गोलगप्पे के इतने शौकीन होते हैं कि उन्हें यह भी पता होता है कि किसी गली या किस ठेले वाले के गोलगप्पे सबसे ज्यादा स्वादिष्ट होते हैं। क्या आप जानते हैं कि ऐसी बहुत सी बीमारियां हैं जिनका इलाज गोलगप्पे हो सकते हैं।

जी हां, ऐसी बहुत सी छोटी मोटी बीमारियां हैं, जिनमें गोलगप्पे खाने से फायदा होता है। हालांकि गोलगप्पे किस तरीके से बनाए गए हैं और इनमें किन किन इन्ग्रीडिएंट्स का इस्तेमाल किया गया है, इसका बड़ा महत्व है। यहां पढ़ें गोलगप्पे खा कर कौन सी बीमारियों से पा सकते हैं छुटकारा –

मुंह के छाले

अगर आपके मुंह में छाले हो गए हैं तो एक प्लेट गोलगप्पे खा लीजिए। असल में गोलगप्पे का पानी तीखा होता है और तीखा खाने से मुंह के छाले ठीक हो जाते हैं। हालांकि ज्यादा गोलगप्पे खाने से स्थित खराब भी हो सकती है।

एसिडिटी और गैस से छुटकारा

गोलगप्पे के मसाले और पानी में पोदीने का इस्तेमाल होता है। पोदीना हाजमा दुरुस्त करने का काम करता है। ऐसे में अगर एसिडिटी या गैस बनने की स्थिति में गोलगप्पे खाए जाएं तो इससे आराम मिल सकता है। हालांकि आपको ज्यादा मात्रा में गोलगप्पे नहीं खाने चाहिए।

अच्छा होता है मूड

अगर आप लो फील कर रहे हैं, या आपका मूड खराब है तो एक प्लेट गोलगप्पे खा लीजिए। इससे न केवल आपकी थकान मिट जाएगी, बल्कि आप तरो ताजा भी महसूस करेंगे।

वजन भी घटता है

आमतौर पर आपने सुना होगा कि ज्यादा गोलगप्पे खाने से पेट बाहर आता है। हालांकि अगर गोलगप्पे को सही तरीके से बनाया और खाया जाए तो इससे वजन भी घटता है। इसके पानी में मीठा न डालें और केवल पुदीना, हींग, नींबू और कच्चा आम मिला हो तो ये मोटापा बढऩे से रोक सकता है। इसके साथ ही गोलगप्पे भी रवा की बजाए आटे के ही खाएं, तो फायदा होगा। याद रखें कि वर्कआउट करने से पहले या बाद में गोलगप्पे न खाएं, यह नुकसान कर सकते हैं।

ध्यान रखें ये बातें

गोलगप्पे खाते समय साफ सफाई का पूरा ध्यान रखें। केवल वहीं से गोलगप्पे खाएं जहां आपको भरोसा हो कि बनाने वाला और इसे सर्व करने वाला पूरी तरह हाइजीन का ध्यान रख रहा है। इसके अलावा मॉनसून में गोलगप्पे खाने से परहेज रखें। इस मौसम में पानी में कई तरह के कीड़े पनपने लगते हैं, यह आपको पीलिया या टाइफाइड जैसी गंभीर बीमारियां दे सकते हैं।

Patrika : India’s Leading Hindi News Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *