News That Matters

बड़ा खुलासा: इस ड्रिंक के पीने से पागल हो सकता आपका बच्चा

लंदन। बच्चों और युवाओं को कैफीनयुक्त एनर्जी ड्रिंक्स बेचने पर प्रतिबंध लगाने की जरूरत है, ताकि लोगों को मोटापे और मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं से बचाया जा सके। विशेषज्ञों का यह कहना है। कैफीन संभवत: दुनिया भर में सबसे ज्यादा प्रयोग किए जाने वाला साइकोएक्टिव ड्रग है, क्योंकि यह ध्यान और जागरूकता में इजाफा कर शारीरिक सक्रियता को बढ़ा देता है। ब्रिटेन के रॉयल कॉलेज ऑफ पेडियाट्रिक्स एंड चाइल्ड हेल्थ (आरसीपीसीएच) के प्रोफेसर रसेल वाइनर का कहना है, “लेकिन इसके साथ ही कैफीन व्यग्रता को बढ़ाता है और नींद में रुकावट पैदा करता है, तथा यह बच्चों में व्यवहार संबंधी समस्याओं से जुड़ा हुआ है।”

हाल के अध्ययनों से यह जानकारी भी मिली है कि यह विकास कर रहे दिमागों पर चिंताजनक प्रभाव डालता है। वाइनर ने कहा कि यह चिंताजनक है, क्योंकि मनोवैज्ञानिक तनाव से जोखिम भरे व्यवहार का खतरा पैदा हो सकता है, जिसमें ड्रग का प्रयोग या अकादमिक प्रदर्शन में कमी शामिल है। उन्होंने द बीएमजे जर्नल में प्रकाशित अपने पर्चे में कहा, “इसलिए बच्चों और युवाओं को कैफीनयुक्त एनर्जी ड्रिंक्स बेचने पर प्रतिबंध लगाना चाहिए, ताकि मोटापे और मानसिक स्वास्थ्य समस्या की जुड़वां महामारी को रोका जा सके।”

पागल हो सकता है बच्चा…
इससे पहले भी एनर्जी ड्रिंक को लेकर शोध किए जा चुके हैं और हर बार इसके साइड इफेक्ट को लेकर लोगों को एक्सपट्र्स ने आगाह किया। बावजूद इसके एनर्जी ड्रिंक की विक्री व इसके इस्तेमाल में कोई कमी नहीं आई। ऐसे में यहां यह कहना जरूरी हो जाता है कि यदि आप भी रोजाना पीते हैं एनर्जी ड्रिंक, तो आपको सतर्क होने की जरूरत है। रिसर्च के मुताबिक, कैफीन वाला एनर्जी ड्रिंक पीने से बच्चों को फ्यूचर में एल्कोहल या नशे की लत लग सकती है। इतना ही नहीं ये ड्रिंक बच्चे को पागलखाने भी पहुंचा सकती है। बहरहाल, शोध करने वाली टीम ने सलाह दी है कि अनियमित ह्रदय गति वाले बच्चों और लोगों को इन पेय पदार्थों से बचना चाहिए। ब्रिटिश सॉफ्ट ड्रिंक्स एसोसिएशन पहले ही यह कह चुका है कि ये एनर्जी ड्रिंक बच्चों के लिए नहीं हैं।

Patrika : India’s Leading Hindi News Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *