News That Matters

बीएसई में लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप 3 लाख करोड़ रुपए बढ़ा




हाल के दिनों में तेज गिरावट के बाद घटे भाव पर खरीदारी और रुपए में सुधार से देश के शेयर बाजारों में बुधवार को तेजी का रख रहा। बैंकिंग, ऑटोमोबाइल और मेटल शेयरों में निवेशकों की खरीदारी से सेंसेक्स 461.42 अंक (1.35%) उछलकर 34760.89 अंक पर बंद हुआ। वहीं, निफ्टी 159.05 (1.54%) अंक चढ़कर 10,460.10 पर आ गया। तेजी का माहौल ब्लूचिप के अलावा दूसरी कंपनियों में भी रहा। इससे बीएसई में लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप 3 लाख करोड़ रुपए बढ़ गया।

विशेषज्ञों के मुताबिक नकदी संकट से जूझ रही गैर-बैंकिंग फाइनेंस कंपनियों (एनबीएफसी) को संकट से उबारने के लिए स्टेट बैंक के आगे आने से भी कारोबारी सेंटिमेंट को बल मिला। एसबीआई ने एनबीएफसी की 45,000 करोड़ रुपए की एसेट्स खरीदने का फैसला किया है। आईएलएंडएफएस ग्रुप की कंपनियों द्वारा कर्ज की अदायगी में डिफॉल्ट करने से एनबीएफसी सेक्टर की कंपनियां दबाव में थीं। जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के रिसर्च हेड विनोद नायर के मुताबिक बुधवार की बढ़त में वित्तीय क्षेत्र की कंपनियों और बैंक शेयरों का अहम योगदान रहा। साथ ही डॉलर के मुकाबले रुपए की कीमत में सुधार का भी असर रहा। रुपया डॉलर के मुकाबले अपने रिकॉर्ड निचले स्तर 74.39 से 19 पैसे सुधरा। यह एक डॉलर के सामने 74.20 के स्तर पर बंद हुआ। नायर ने कहा कि रिजर्व बैंक की तरफ से खुले बाजार से सरकारी बांड खरीदने से भी सेंटिमेंट मजबूत हुए। इससे बाजार में नकदी की मात्रा बढ़ेगी।

सरकारी कंपनी गार्डनरीच शिपबिल्डर्स की बुधवार को कमजोर लिस्टिंग हुई। इसके शेयर आईपीओ प्राइस से 12.5% गिरकर बंद हुए।

इन कारणों से निकली खरीदारी

एक अक्टूबर से सेंसेक्स 2227 अंक (6.10%) नीचे आ चुका था।

निचले स्तरों पर आईटी शेयरों को छोड़कर चौतरफा खरीदी निकली।

रिजर्व बैंक ने खुले बाजार से बांड खरीदे, इससे लिक्विडिटी बढ़ी।

अमेरिकी बांड पर रिटर्न घटने से मनी मार्केट में नरमी रही।

डॉलर के मुकाबले रुपया रिकॉर्ड निचले स्तर से 19 पैसे सुधरा।

वैश्विक बाजारों, खासकर यूरोप सें भी कुछ राहत के संकेत मिले।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


New Delhi – बीएसई में लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप 3 लाख करोड़ रुपए बढ़ा

Dainik Bhaskar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *