News That Matters

प्रोस्टेट के लिए जरूरी है संयमित खानपान

अधेड़ावस्था मे प्रोस्टेट ग्रंथि का बढ़ना एवं इससे संबंधित अन्य समस्याओं का सही समय पर इलाज न होने से स्थिति बिगडऩे पर कैंसर भी हो सकता है। पुरुषों को होने वाले विभिन्न प्रकार के कैंसर में प्रोस्टेट कैंसर का दूसरा स्थान है। वरिष्ठ यूरोलॉजिस्ट के मुताबिक सही जीवनशैली व खानपान से इसकी रोकथाम संभव है।

डेयरी प्रोडक्ट कम लें –
वसायुक्त भोजन विशेषतौर पर ऐसे डेयरी उत्पाद जो कि पाश्चुरीकृत हों, उन्हें न खाएं। इस प्रकार का फूड प्रोस्टेट कैंसर के साथ-साथ हृदय संबंधित बीमारियों का कारण भी बन सकता है।

रूरी है वर्क आउट –
नियमित एक्सरसाइज करने की आदत बनाएं। भोजन जीभ के स्वाद के लिए नहीं ब्लकि अपनी सेहत के लिए करें। मांसाहार से बचें क्योंकि रेड मीट का ज्यादा मात्रा में सेवन प्रोस्टेट के लिए हानिकारक हो सकता है। शराब या बीयर का सेवन न करें। अधिक चाय-कॉफी न पिएं क्योंकि इनसे डिहाइड्रेशन होता है और ब्लैडर में विषैले पदार्थों का जमाव होने लगता है।

अधिक नमक ना लें –
एक्सपर्ट ज्यादा नमक युक्त भोजन से दूर रहने के साथ-साथ पके भोजन में ऊपर से नमक डालने की प्रवृत्ति से बचने की हिदायत देते हैं। ओमेगा 3 फैटी एसिड से समृद्ध भोजन का चयन समझदारी की बात है, यह सूखे मेवों मे प्रचुर मात्रा में मिलता है। चिप्स, एगरोल, फै्रंचफ्राई आदि से दूर रहें। रोजाना मिठाई खाने की आदत से भी बचना चाहिए।

खूब पानी पिएं –
रोजाना दिन में कम से कम तीन-चार लीटर सादा पानी पीने की आदत डालनी चाहिए ताकि शरीर में मौजूद विषैले पदार्थ पेशाब के जरिए आसानी से निकल जाएं।

Patrika : India’s Leading Hindi News Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *