News That Matters

मोदी का वाड्रा पर तंज- जिनकी बात करने से लोग डरते थे, वह एजेंसी के सामने हाजिरी लगा रहे



हैदराबाद/चेन्नई/बेंगलुरु.प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को दक्षिण भारत के तीन राज्यों आंध्रप्रदेश, तमिलनाडु और कर्नाटक का दौरा किया। कर्नाटक के हुबली में रैली के दौरान उन्होंने कांग्रेस महासचिव प्रियंका के पति राबर्ट वाड्रा पर निशाना साधा। मोदी ने कहा- जिनकी कमाई के बारे में लोग बात करने से डरते थे, वे आज कोर्ट में एजेंसी के सवालों के सामने हाजिरी लगा रहे हैं। देश-विदेश में बेनामी संपत्तियों का हिसाब दे रहे हैं। जिसने भी दलाली खाई है, एक-एक करके उसकी बारी आ रही है।

मोदी ने कहा, ”आए दिन कर्नाटक के मुख्यमंत्री (कुमारस्वामी) को धमकियां मिलती हैं। उनकी पूरी ऊर्जा दिन रात कांग्रेस में उनके बड़े नेताओं से कुर्सी बचाने में लग जाती है। वो सार्वजनिक तौर पर भी अपनी मजबूरी का रोना रोते रहते हैं।”

सरकार ने कुछ नहीं किया तो गठबंधन की जरूरत क्यों पड़ी- प्रधानमंत्री

इससे पहले मोदी ने तिरुपुर में कहा, “गठबंधन वंशवाद को बढ़ावा देने वाले अमीर लोगों का क्लब है।” उन्होंने कहा, “विपक्षी नेता बार-बार यह कह रहे हैं कि भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार असफल रही है और यह आगामी लोकसभा चुनाव में हार जाएगी, तो फिर इस तरह के गठबंधन का औचित्य क्या है?”

प्रधानमंत्री ने कहा- विपक्ष कहता है कि मोदी ने कुछ नहीं किया और आगामी लोकसभा चुनाव में मोदी बुरी तरह हार रहे हैं। लेकिन फिर भी उन्होंने मोदी काे हराने के लिए एक महागठबंधन बनाया है। विपक्ष का एजेंडा सिर्फ मोदी को हराना है।

आंध्र: राज्य सरकार ने तोड़ाप्रोटोकॉल

तीन राज्यों के दौरे में मोदीसबसे पहले गुंटूर पहुंचे। प्रोटोकॉल के उलट आंध्र सरकार का कोई मंत्री उनकी अगवानी के लिए एयरपोर्ट नहीं पहुंचा।रैली में मोदी नेमुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू के एनडीए से अलग होकरमहागठबंधन में शामिल होने पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि तेदेपा प्रमुख दल बदलने में सीनियर हैं। एनटीआर ने कांग्रेस से अलग होकर तेदेपा बनाई थी, नायडू ने अपने ससुर एनटीआर की पीठ में छुरा घोपा।

मोदी ने कहा,”आंध्र के लोगों जाग जाइए। ये (नायडू) कल फोटो खिंचवाने के लिए बड़ा हुजूम लेकर दिल्ली जाने वाले हैं। भाजपा कार्यकर्ताओं के पैसे से यह कार्यक्रम कर रही है। लेकिन वो आंध्र की जनता की तिजोरी से पैसे निकाल कर जा रहे हैं। आंध्र की जनता को उनसे इसका हिसाब लेना चाहिए। मेरा आग्रह होगा कि दिल्ली आने से पहले, मुझे गालियां देने से पहले, आप आंध्र के लोगों के अपने पैसे खर्च का हिसाब देकर आएं।”

तेदेपा ने गो बैक मोदी कहा, आपकी इच्छा पूरी होगी
प्रधानमंत्री ने कहा, ”तेदेपा के लोगों ने यहां आने पर मोदी गो बैक कहा है। मुझे देश के करोड़ों लोगों पर पूरा भरोसा है कि वे तेदेपा की इच्छा पूरी करेंगे और मुझे दोबारा दिल्ली की सरकार में पहुंचाएंगे। हम अमरावती से कोलावती तक वेल्थ क्रिएशन में लगे हैं। नायडू चौकीदार से परेशान हैं। उनकी जमीन खिसक चुकी है। केंद्र सरकार ने आंध्र के विकास में कोई कमी नहीं छोड़ी। लेकिन जो पैसा आया यहां की सरकार ने आपको बताया नहीं, उस पैसे का इस्तेमाल नहीं किया। जब प्रदेश का बंटवारा हुआ तो केंद्र में कांग्रेस सरकार थी। तब कांग्रेस ने सिर्फ अपना भला देखा। आज चंद्रबाबू ने उसी कांग्रेस के सामने सरेंडर कर दिया।”

बाबूगार ने सनराइज का वादा किया था,बेटे का उदय करने लगे
मोदी ने कहा, ”हमने आंध्रप्रदेश के लिए स्पेशल पैकेज बनाया। हमने कोशिश थी कि राज्य को उतना जरूर मिले जितना स्पेशल स्टेटस वाले राज्यों की जरूरत है। इस पैकेज को सितंबर 2016 में लागू कर दिया। खुद नायडू ने इस पैकेज पर शुक्रिया अदा किया था। हम पूरी ईमानदारी से अपना वादा निभाने में लगे थे। लेकिन उस पैकेज का इस्तेमाल करने में नाकाम तेदेपा सरकार ने यू टर्न ले लिया। बाबूगार सनराइज (सूर्योदय) का वादा कर सरकार में आए थे, लेकिन अपने बेटे का उदय करने में लग गए। पैकेज के तहत केंद्र के मंत्रालयों की ओर से 3 लाख करोड़ की मदद को मंजूरी दी गई है।”

मैं तो कुछ नहीं बोला, लेकिन आज जनता ने जवाब दे दिया

मोदी ने कहा, ”पिछले कुछ महीनों में नायडू जिस भाषा का प्रयोग कर रहे हैं। लगता है कि उन्होंने मोदी के लिए गालियां रिजर्व कर ली हैं। क्या आंध्र की संस्कृति पर चोट करने का आपको अधिकार है। अरे बाबूगार कई महीनों से आप बोल रहे थे। मैंने अपने मुंह पर ताला लगाकर रखा था। लेकिन यह आंध्र की जनता है जिसने आपको जवाब दिया। आज मुझे आशीर्वाद देने जनसैलाब आया है। बाप-बेटे की सरकार जाना तय है। हमारी परंपरा है कि जब कोई शुभ काम होता है तो घर के मुखिया को काला टीका लगा देते हैं। आज आपने काले गुब्बारे दिखाकर जो किया है उसके लिए शुक्रिया अदा करना चाहता हूं।”

तेदेपा के गठबंधन तोड़ने के बाद मोदी का पहला दौरा

पिछले साल भाजपा के साथ तेदेपा के गठबंधन तोड़ने के बाद मोदी ने पहली बार आंध्र का दौरा किया। प्रधानमंत्री ने विशाखापट्टनम में स्ट्रैटेजिक पेट्रोलियम रिजर्व राष्ट्र को समर्पित किया। इसकी क्षमता 13 लाख 30 हजार टन है। इसके अलावा कृष्णा गोदावरी बेसिन में ओएनजीसी की परियोजनाओं का लोकार्पण किया।

तमिलनाडु-कर्नाटक में कई योजनाओं की शुरुआत
मोदी नेतमिलनाडु के तिरुपुर में 100 बेड के ईएसआईसी हॉस्पिटल, त्रिचि एयरपोर्ट पर नए भवन और चेन्नई एयरपोर्ट के आधुनिकीकरण परियोजना का नींव रखी। चेन्नई में भारत पेट्रोलियम के तटीय टर्मिनल और चेन्नई मेट्रो के एक फेज की शुरुआत की। मोदी ने कर्नाटक के धारवाड़ में आईआईटी का शिलान्यास किया। फिर मेंगलुरु और पेदुर में पेट्रोलियम रिजर्व राष्ट्र को समर्पित किया।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


तेदेपा के एनडीए से अलग होने के बाद मोदी का पहला आंध्र दौरा।


नरेंद्र मोदी तमिलनाडु के तिरुपुर पहुंचे।


प्रधानमंत्री के दौरे के विरोध में तेदेपा ने पोस्टर लगाए।

Dainik Bhaskar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *