News That Matters

इन सवालों से जानें क्या आप सिर्फ कल्पनाओं में रहते हैं, करते कुछ नहीं ?

हम अक्सर प्लानिंग करते रहते हैं लेकिन जब परिस्थितियां सामने आती हैं तो सब भूल जाते हैं? आप भी अपनी सेहत के लिए कहीं केवल खयाली पुलाव तो नहीं पकाते? जरा जांच लें-

1. सोच कल्पनाओं से भरी है और आपका मानना है कि ऐसा करना मन के लिए तो अच्छा ही है?
अ: सहमत

ब: असहमत

2. आप किसी भी आदत को इस तरह से लेते हैं जैसे कि जब चाहें तब मनचाहा कर लेंगे?
अ: सहमत

ब: असहमत

3. अक्सर जैसा आप सोचते हैं, जब वैसा होता नहीं तो आप निराश होकर खुद को कोसने लग जाते हैं?
अ: सहमत

ब: असहमत

4. आप जितना समय कल्पनाएं करने में लगाते हैं, उतना अच्छी सोच को अमल में लाने में नहीं देते हैं?
अ: सहमत

ब: असहमत

5. आपके लिए कुछ नया सुधार लाना मन की बजाय गुस्से या प्रताड़ना पर निर्भर होता है?
अ: सहमत

ब: असहमत

6. कई बार आपकी सोच देखा-देखी वाली होती है और इस कारण नतीजे नहीं मिलते?
अ: सहमत

ब: असहमत

7. अच्छी आदतों से सीखने की सोच, लालच और आलस वाली कल्पनाओं से भरे विचारों को खत्म कर देती है?
अ: सहमत

ब: असहमत

8. किसी भी काम में एक अच्छी और व्यवस्थित सोच आपको एक बंधन की तरह लगती है ?
अ: सहमत

ब: असहमत

9. आपको लगता है कि पॉजिटिव सोच बन जाए तो बहुत कुछ सुधारा जा सकता है?
अ: सहमत

ब: असहमत

स्कोर और एनालिसिस –
आपकी सोच में कोरी कल्पनाएं हैं : अगर आप 6 या उससे ज्यादा विचारों से सहमत हैं तो आपके लिए सोच की कोई सीमा नहीं है लेकिन सुधार की बात आने पर बाधाएं सामने आ जाती हैं। आप अपनी सोच का मूल्यांकन करें और सकारात्मक कदम उठाकर खुद में बदलाव लाने का प्रयास करें।

आपकी सोच में सेहत पलती है : यदि आप 6 या उससे ज्यादा बातों से असहमत हैं तो आप ऐसे व्यक्ति हैं जो सोचने में समय बेकार करने की बजाय कुछ करने में विश्वास करते हैं। आप अपने अनुभवों से सोच को मजबूत बनाकर कमजोरियों को हावी नहीं होने देते। अपनी सकारात्मक सोच को बनाए रखें और मानसिक व शारीरिक तौर पर सक्षम बने रहें।

Patrika : India’s Leading Hindi News Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *