News That Matters

भाखड़ा डैम के जलस्तर पर पंजाब, राजस्थान और हरियाणा में ठनी



बीकानेर.भाखड़ा डैम के जलस्तर काे लेकर इन दिनाें पंजाब, हरियाणा और राजस्थान के बीच ठन गई है। इसमें राजस्थान-हरियाणा एक तरफ और पंजाब दूसरी तरफ है। दरअसल, पंजाब के सिंचाई अभियंता चाहते हैं कि सुरक्षा की दृष्टि से भाखड़ा डैम का जलस्तर घटाया जाए, लेकिन हरियाणा और राजस्थान ने इससे इनकार कर दिया है। दोनों राज्यों ने तर्क दिया है, भाखड़ा का पानी छोड़ने से किसानाें की फसलें बर्बाद हाे जाएंगी।

अंदरखाने की बात ये है कि पंजाब इस निर्णय के बहाने भाखड़ा डैम का पानी चावल की खेती के लिए खुद भी उपयाेग करना चाहता है। इसकाे लेकर चंडीगढ़ में दाे दाैर की बातचीत हाे चुकी है। दाेनाें बार राजस्थान-हरियाणा ने पंजाब के रुख का विराेध किया। 20 मई काे भाखड़ा डैम का जलस्तर 1606.46 फीट है, जबकि पिछले साल 1503 फीट ही था। इस बार पिछले वर्ष से 103 फीट ज्यादा पानी है। राजस्थान के अभियंताओंका कहना है कि भाखड़ा डैम का पानी राजस्थान-हरियाणा के किसानाें काे ज्यादा दिया जाए, ताकि बिजाई हाे सके।

राजस्थान के विराेध का कारण
मई के अंत में पंजाब में चावल की बिजाई हाेगी। राजस्थान में भी कपास, ग्वार और खरीफ की बिजाई हाेगी। अभी पंजाब के कहने से डैम खाली कर दें और माॅनसून न आया ताे राजस्थान और हरियाणा काे पानी देने में पंजाब हाथ खड़े कर देगा। हाेशियारपुर में डैम है, इसलिए पंजाब अपने किसानाें काे पानी दे देगा लेकिन राजस्थान-हरियाणा के किसान वंचित रहेंगे। रही बात सुरक्षा की ताे डैम ऊपर से अभी 50 फीट खाली है। बारिश भी पांच प्रतिशत कम हाेने के आसार हैं। मानसून जुलाई तक आएगा, ऐसे में डैम का पानी घटाने से नुकसान की आशंका है। नाॅर्म्स की आड़ में किसानाें का नुकसान नहीं किया जा सकता है।

बीबीएमबी: न सुरक्षा से समझौता न पानी छोड़ने के पक्ष में
पंजाब, हरियाणा औरराजस्थान के बीच चल रहे विवाद के बीच भाखड़ा-ब्यास मैनेजमेंट बाेर्ड (बीबीएमबी) इस पूरे मामले पर नजर रखे है। बीबीएमबी डैम की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ नहीं हाेने देगा, लेकिन वेवजह डैम का पानी छोड़ने के पक्ष में भी नहीं है। इसलिए, अब गेंद बीबीएमबी के पाले में है जाे 28 मई की मीटिंग में फैसला हाेगा।

जानें भाखड़ा डैम के बारे में
डैमपंजाब, हिमाचल, हरियाणा और राजस्थान की संयुक्त परियाेजना है। हिमाचल का हिस्सा सिर्फ बिजली उत्पादन के लिए है। राजस्थान का हिस्सा 15.2 प्रतिशत है। डैम पंजाब के हाेशियारपुर में सतलुज नदी पर स्थित है। राजस्थान के बीकानेर, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़ और चूरू जिले जल व बिजली के लिए भाखड़ा पर भी आश्रित हैं। इससे पैदा हाेने वाली बिजली श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़, चूरू, झुंझुनूं, सीकर, बीकानेर काे दी जाती है।

विवाद जैसी काेई बात नहीं है पर बीबीएमबी के समक्ष पंजाब ने अपनी कुछ मंशा जाहिर की है, जिससे हम सहमत नहीं हैं। क्याेंकि, मानसून का कुछ पता नहीं। डैम खाली हाे जाए और बारिश कम हाे ताे राजस्थान में सिंचाई के पानी का संकट हो जाएगा। -विनाेद मित्तल, मुख्य अभियंता जल संसाधान हनुमानगढ़

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Confrontation in Punjab, Rajasthan and Haryana over the water of Bhakra Dam

Dainik Bhaskar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *