News That Matters

16 साल पहले बना 26 हैक्टेयर में फैला खेलगांव, 13 बड़े काम होने थे, लगभग सभी पूरे, अब सिर्फ क्रिकेट स्टेडियम का है इंतजार




संभाग के सबसे बड़े स्पोर्ट्स सेंटर महाराणा प्रताप खेलगांव को पिछले कुछ सालों में खेल से जुड़ी कई बड़ी सुविधाओं की सौगात मिलीं लेकिन अब भी शहरवासियों को अंतरराष्ट्रीय लेवल के क्रिकेट स्टेडियम का इंतजार है। जयपुर के एसएमएस स्टेडियम के बाद प्रदेश में एक और बेहतरीन क्रिकेट स्टेडियम बनने का सपना पिछले 9 साल से अधूरा है। 2010 में ही राजस्थान क्रिकेट संघ यानी अारसीए काे क्रिकेट स्टेडियम के लिए जमीन मिल चुकी है लेकिन अब तक यह प्रोजेक्ट सरकार अाैर क्रिकेट संघ के बीच ही फंसा है। जमीन खाली पड़ी है और यहां बदहाली के आलम हैं। भास्कर पड़ताल में सामने आया कि जमीन ंमिल जाने, हाईकमान तक के कई अॉर्डर आ जाने, कई टीमों का निरीक्षण हो जाने के बाद भी अभी की स्थिति यह है कि क्रिकेट स्टेडियम बनना ताे दूर, यह भी तय नहीं है कि स्टेडियम बनाएगा काैन? नतीजतन खेलगांव के हर हिस्से में कुछ ना कुछ खेल निर्माण चल रहा है मगर क्रिकेट स्टेडियम के लिए पड़ी जमीन पर सन्नाटा ही पसरा रहता है। हालांकि अारसीए के जाॅइंट सेक्रेट्री का मानना है कि सारे विवाद सुलझ चुके हैं। बीसीसीअाई से पैसा मिलते ही क्रिकेट स्टेडियम बनाएंगे। यूआईटी ने बाउंड्री-सीढ़ियां बनवा दी थी, सब ढस्पाेर्ट्स काउंसिल राजस्थान के सचिव अरूण कुमार हसीजा ने बताया कि मैदान के अावंटन काे बहाल करने के लिए अारसीए ने यूडीएच में अावेदन किया है। इस सम्बंध में यूअाईटी के प्रस्ताव के लिए उदयपुर भेजा हुअा है। प्रक्रिया चल रही है।

पूरा खेलगांव तैयार, अब स्टेडियम पर टिकी हैं शहरवासियों की उम्मीदें, आरसीए से वापस लिया स्टेडियम दोबारा सौंप सकती है सरकार

यूआईटी ने बाउंड्री-सीढ़ियां बनवा दी थी, सब ढह चुकी अब तो, फिर काम शुरू होने का इंतजार

स्टेडियम के लिए 2003 में उदयपुर में महाराणा प्रताप खेलगांव काे स्वीकृति मिली। उस दाैरान 127 बीघा यानी 26 हैक्टेयर जमीन पर खेल स्टेडियम अाैर काेर्ट का निर्माण हाेना था। इसके लिए कुल 10 कराेड़ की राशि स्वीकृत हुई, जिसके तहत 13 काम होने थे। इनमें 11 खेलाें के काेर्ट, एक मुख्य खेल स्टेडियम अाैर राेड एंड ड्रेनेज के काम शामिल थे। इन 13 में से 12 काम पूरे हाे चुके हैं मगर खेल स्टेडियम का निर्माण आज तक नहीं हुअा। इसके लिए यूअाईटी ने बाउंड्री अाैर सीढ़ियाें बनाई लेकिन फिर काम बंद हो गया और ये निर्माण भी ढह गए। 2010-11 में क्रिकेट स्टेडियम निर्माण के लिए 9.67 हैक्टेयर जमीन अारसीए काे दे दी गई।

जाॅइंट सेक्रेट्री नाहर : सभी विवाद सुलझ गए, बीसीसीआई से पैसा आते ही बनाएंगे स्टेडियम

अारसीए के जाॅइंट सेक्रेट्री महेंद्र नाहर ने बताया कि हमने अावेदन किया हुअा है, बातचीत चल रही है अाैर जल्द ही स्टेडियम हमें वापस मिल जाएगा। विवाद सुलझ चुके हैं। अब जैसे ही हमें बीसीसीअाई मान्यता देगा, हमें काफी पैसा मिलेगा ताे अारसीए अाैर बीसीसीअाई के पैसे से पूर्व में रही वित्तिय दिक्कताें काे दूर कर हम क्रिकेट स्टेडियम बनाएंगे।

खेल सचिव हसीजा : प्रक्रिया जारी है, अारसीए ने यूडीएच में अावेदन किया

खेल सचिव हसीजा : प्रक्रिया जारी है, अारसीए ने यूडीएच में अावेदन किया

स्पाेर्ट्स काउंसिल राजस्थान के सचिव अरूण कुमार हसीजा ने बताया कि मैदान के अावंटन काे बहाल करने के लिए अारसीए ने यूडीएच में अावेदन किया है। इस सम्बंध में यूअाईटी के प्रस्ताव के लिए उदयपुर भेजा हुअा है। प्रक्रिया चल रही है।

स्पाेर्ट्स काउंसिल राजस्थान के सचिव अरूण कुमार हसीजा ने बताया कि मैदान के अावंटन काे बहाल करने के लिए अारसीए ने यूडीएच में अावेदन किया है। इस सम्बंध में यूअाईटी के प्रस्ताव के लिए उदयपुर भेजा हुअा है। प्रक्रिया चल रही है।

जानिए अब तक कब क्या हुआ…

2010-11 में सरकार ने अारसीए काे क्रिकेट स्टेडियम बनाने के लिए 9.67 हैक्टेयर जमीन दी। जमीन अाैर कुछ निर्माण के एवज में 6 कराेड़ रुपए अारसीए ने यूअाईटी उदयपुर काे दिए।

अारसीए काे क्रिकेट स्टेडियम बनाना था मगर पहले वित्तीय दिक्कतें अाैर फिर 2013 के बाद पूर्व अारसीए अध्यक्ष ललित माेदी से जुड़े विवाद के कारण बीसीसीअाई ने अारसीए पर बैन लगा दिया था।

बैन अाैर अन्य संघ के अापसी विवाद के कारण 2016 तक इस जमीन पर काेई भी निर्माण नहीं हाे पाया।

लगभग 6 वर्ष तक काेई निर्माण नहीं हाेने के कारण 2016 में सरकार ने अारसीए से स्टेडियम वापस ले लिया।

लगभग 6 माह पूर्व अारसीए ने एक बार फिर निर्माण करवाने की बात कहकर इस स्टेडियम काे अारसीए काे देने की मांग की।

मामला फिलहाल सरकार के स्तर पर है। अारसीए अाैर क्रिकेट से जुड़े लाेगाें का मानना है कि जल्द ही एक बार फिर ये स्टेडियम अारसीए काे साैंप दिया जाएगा।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Udaipur News – rajasthan news 16 years ago 26 sports venues spread over 26 hectares 13 big things to be done almost all the whole now only cricket stadium is waiting


Udaipur News – rajasthan news 16 years ago 26 sports venues spread over 26 hectares 13 big things to be done almost all the whole now only cricket stadium is waiting

Dainik Bhaskar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *