News That Matters

पुलिस ने जिसे मर्जी का संबंध बताया था, क्राइम ब्रांच ने उसे दुष्कर्म माना



जयपुर.वैशाली नगर थाने में दर्ज दुष्कर्म के जिस मामले में पुलिस अफसरों ने मर्जी से संबंध हाेना बताया था उसमें पुलिस मुख्यालय क्राइम ब्रांच ने दुष्कर्म माना है। जांच के बाद सीआईडी सीबी ने आराेपी काे गिरफ्तार कर लिया। मामले में पीड़िता ने न्याय नहीं मिलने से आहत हाेकर वैशाली नगर थाना परिसर में 28 जुलाई काे अात्मदाह कर लिया था। इसके बाद पुलिस मुख्यालय ने जांच सीआईडी सीबी काे देकर थाना प्रभारी संजय गाेदारा काे हटा दिया था।

मामले में महिला ने जून माह में एक परिचित युवक पर दुष्कर्म का आराेप लगाकर वैशाली नगर थाने में मामला दर्ज कराया था। न्याय काे लेकर पीड़िता ने थाने के कई चक्कर लगाए थे। वहीं वाे कपड़े भी पुलिस काे दिए थे जिन पर सीमन लगा हुआ था। मगर वैशाली नगर थाना पुलिस ने इन कपड़ाें की एफएसएल जांच तक नहीं करवाई थी। 28 जुलाई की शाम काे भी महिला न्याय के लिए अपने बेटे काे लेकर वैशाली नगर थाने गई थी।

मगर जब महिला काे संताेषप्रद जवाब नहीं मिला ताे आहत हाेकर पीड़िता ने थाना परिसर में ही अपनी स्कूटी के पास खुद को आग लगा ली। अगले दिन उसकी माैत हाे गई। महिला की माैत के बाद अफसराें पर सवाल उठे ताे कहा गया कि सहमति से संबंध बने थे। सीआईडी सीबी ने जांच के बाद अाराेपी रविन्द्र सिंह काे गिरफ्तार कर रिमांड पर लिया है।

पुलिस अफसराें नेकहा था- ये दुष्कर्म नहीं

वैशाली नगर थाने में पीड़िता द्वारा आत्मदाह करने के अगले दिन 29 जुलाई काे पुलिस अफसराें ने प्रेस काॅन्फ्रेस कर कहा था कि पीड़िता ने जाे भी बात बताई थी, उसकी जांच कर चुके। संबंध पुराना था और मर्जी के संबंध थे। ये दुष्कर्म नहीं है। दाेनाें सहमति से ठहरे थे। आराेपी काे बुलाकर सख्ती से पूछताछ कर ली है। उसके पास माेबाइल भी नहीं मिला।

महिला का उसके पति से तलाक का मामला चल रहा है। जिस युवक पर आराेप लगाया है, जांच में सामने आया है कि दाेनाें में फेसबुक पर काफी चैटिंग हुई है। महिला के आत्मदाह के बाद जांच सीआईडी सीबी में एएसपी व जांच अधिकारी हिमांशु को दी गई। हिमांशु का कहना है कि फाइल पर जाे सबूत हैं उसी आधार पर गिरफ्तार किया, जांच जारी है। सबूतों से स्पष्ट है कि पीड़िता से दुष्कर्म किया गया था।

4 साल बाद गिरफ्तारी वारंट जारी

हनुमानगढ़ निवासी महिला से चार साल पहले सिंधीकैंप इलाके में हुए दुष्कर्म के मामले में आराेपी के खिलाफ पुलिस ने गिरफ्तारी वारंट लिया है। इस मामले में पुलिस ने गत दिनाें जांच पूरी कर चार्जशीट काट ली थी। मगर पुलिस मुख्यालय के अफसराें ने आराेपी के रसूखात के चलते चार्जशीट काे काेर्ट में पेश हाेने से रूकवा दी थी।

बाद में पीड़िता ने जब आत्मदाह की धमकी दी ताे पुलिस ने जांच पूरी कर काेर्ट में पेश कर दी। मामले में आरेापी राकेश अराेडा चार्जशीट पेश करते समय न्यायालय में पेश नहीं हुआ। जिस पर सिंधीकैंप थाना पुलिस ने आराेपी का गिरफ्तारी वारंट जारी करवाया है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Vaishali Nagar case: Crime Branch considered rape

Dainik Bhaskar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *