News That Matters

कल जन्माष्टमी के साथ रोहिणी नक्षत्र का शुभ संयोग




बूंदी. श्रीकृष्ण जन्माष्टमी महोत्सव शनिवार को मनाया जाएगा। इस बार अष्टमी तिथि व रोहिणी नक्षत्र का संयोग शुभ संयोग माना जा रहा है। ज्योतिषाचार्य पं. शिवप्रकाश दाधीच खीण्या के मुताबिक इस तरह के संयोग को जयंती संज्ञा दी जाती है। अष्टमी तिथि शुक्रवार सुबह 8.12 बजे से शुरू होकर शनिवार सुबह 8. 33 बजे तक रहेगी। रोहिणी नक्षत्र शुक्रवार को उत्तररात्रि 3.48 बजे से शनिवार को उत्तररात्रि 4. 14 बजे तक रहेगा। इस दिन स्वगृही सूर्य व उच्च का चंद्रमा भी श्रीकृष्ण आराधना के फल में वृद्धि करने वाला रहेगा। जन्माष्टमी पर भगवान श्रीकृष्ण का अभिषेक करने, झांकी सजाने, गोपाल सहस्त्रनाम स्तोत्र, विष्णु सहस्त्रनाम स्तोत्र, भागवत पठन अथवा ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः इस द्वादश अक्षर मंत्र के जाप करने से सभी प्रकार के मनोरथ पूर्ण हाेते हैं। भगवान श्रीकृष्ण को भोग में माखन मिश्री, पंजीरी, मेवा-छप्पन भोग ज्यादा प्रिय हैं।

घर के मंदिर में इस तरह करें पूजा: अपने घर में स्थापित मंदिर में श्रीकृष्ण भगवान अथवा लड्डू गोपालजी की प्रतिमा का पूजन करें। सर्वप्रथम देशकाल अपने नाम गोत्र का उच्चारण करते हुए संकल्प करें। उन्हें दूध, दही, घी, शहद, शक्कर-पंचामृत से स्नान कराएं। पंचामृत से स्नान के बाद शुद्ध गंगाजल से स्नान करवाएं। गोपाल सहस्त्रनाम स्तोत्र का पाठ कर केसर मिश्रित दूध से भगवान का अभिषेक करें। स्वच्छ व सुंदर वस्त्र पहनाएं, चंदन का तिलक लगाएं। पुष्प, पुष्प माला पहनाएं, तुलसी पत्र, दूर्वा चढ़ाएं, आभूषण पहनाएं व सुगंधित इत्र लगाएं। धूप व दीप दिखाएं, नैवेद्य का भोग लगाएं, ऋतुफल चढ़ाएं, आचमन कराएं, श्रीफल, तांबूल व दक्षिणा चढ़ाएं। फिर श्रीकृष्ण की झांकी सजाएं। रात्रि में 12 बजे माखन मिश्री, पंजीरी का भोग लगाकर आरती करें। पुष्पांजलि, क्षमा प्रार्थना के बाद परिवार में श्रीकृष्ण का प्रसाद बांटें।

न्यू कॉलोनी में कल मनेगा श्रीकृष्ण उत्सव: संस्कार भारती की ओर से श्रीकृष्ण जन्माेत्सव शनिवार को सुबह 9 से 10:30 बजे तक सामुदायिक भवन न्यू कॉलोनी में मनाया जाएगा। कार्यक्रम में बालक-बालिकाएं श्रीकृष्ण के जीवन की लीला का स्वरुप बनकर आएंगे। न्यू कॉलोनी की महिला मंडल द्वारा इसका प्रचार घर-घर जाकर किया जा रहा है।

कैलाशीबाई सोनी, सरोज वर्मा, सुधा, शीला यादव, मंजूला शर्मा, कुसुम मीणा, इंद्राकासट, विष्णु बिरला की आेर से स्वरूप बनकर आने वाले बच्चाें को विशेष उपहार दिए जाएंगे। हुकमचंद शर्मा, नरेश कुमार वैष्णव, पुरुषाेत्तम, रविप्रकाश संपर्क में लगे हुए हैं। यह जानकारी संस्कार भारती अध्यक्ष भंवरसिंह सोलंकी ने दी।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

Dainik Bhaskar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *