News That Matters

Delhi

कांग्रेस ने पूर्व पत्रकार सुप्रिया श्रीनाते को राष्ट्रीय प्रवक्ता बनाया, पिता भी दो बार सांसद रहे

कांग्रेस ने पूर्व पत्रकार सुप्रिया श्रीनाते को राष्ट्रीय प्रवक्ता बनाया, पिता भी दो बार सांसद रहे

Delhi
नई दिल्ली. कांग्रेसने पूर्व पत्रकार सुप्रिया श्रीनाते को पार्टीके प्रवक्ता के रूप में नियुक्त किया है। सुप्रिया ने कांग्रेस केटिकट पर उत्तरप्रदेश की महाराजगंज संसदीय सीट से 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ा था, लेकिन वे हार गई थीं। सुप्रिया के पिता हर्षवर्धन भी इलाके जाने-माने नेता थे। राजनीति में आने से पहले सुप्रिया पत्रकारिता से जुड़ी हुई थीं और इस दौरान उन्होंने अलग-अलग संस्थानों में करीब 17 साल तक काम किया।सुरजेवाला ने ट्वीट कर दी जानकारीसुप्रिया की नियुक्ति के बारे में पार्टी के संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने जानकारी दी। सुरजेवाला ने बताया-'सोनिया गांधी ने अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता के रूप में सुप्रिया श्रीनाते की नियुक्ति को मंजूरी दी है।'कौन हैं सुप्रिया श्रीनातेराजनीति में आने से पहले तक सुप्रिया 'ईटी नाऊ' चैनल में बतौर एक्जक्यूटिव एडिटर काम
इसरो अब 14 अक्टूबर को अगले लूनर डे की रोशनी में फिर विक्रम को ढूंढ़ेगा

इसरो अब 14 अक्टूबर को अगले लूनर डे की रोशनी में फिर विक्रम को ढूंढ़ेगा

Delhi
अनिरुद्ध शर्मा | नई दिल्ली .विक्रम लैंडर से संपर्क की संभावनाएं खत्म हो गई हैं क्योंकि चंद्रमा का मौजूदा दिन (लूनर डे) समाप्त हो गया है। चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर अब छाया आ गई है और अंधेरा गहराने लगा है। इसरो के पूर्व चेयरमैन ने कहा कि विक्रम से संपर्क की कोई उम्मीद नहीं है, क्योंकि उसके उपकरणों के चालू रहने के लिए जितनी एनर्जी दी गई थी, उसकी समयसीमा भी समाप्त हो चुकी है और वहां उन्हें रीचार्ज करने की कोई व्यवस्था नहीं है। उन्होंने यह भी बताया कि अभी तक डेटा एनालिसिस से यह बात उभरकर आई है कि लैंडर करीब 200 किमी रफ्तार से चंद्रमा की सतह से टकराकर क्रैश हो गया।ऑर्बिटर से विक्रम की जो तस्वीरें मिली हैं, उन्हें देखकर ऐसा लग रहा है कि तेज गति से टकराने के चलते उसके कम से कम दो पांव या तो चंद्रमा की सतह में धंस गए या टकराकर मुड़ गए हैं। अथवा, वह एक करवट से गिरा है लेकिन तस्व
मोदी को मिले 2750 तोहफों में से 1400 की बोली लगी, 52 हजार लोग बोली में शामिल हुए

मोदी को मिले 2750 तोहफों में से 1400 की बोली लगी, 52 हजार लोग बोली में शामिल हुए

Delhi
नई दिल्ली(शरद पांडेय).प्रधानमंत्री मोदी के प्रशंसकों की तो देश-दुनिया में लंबी फेहरिस्त है, पर उन्हें मिले तोहफों के मुरीद भी कम नहीं हैं। इसका अंदाजा इस बात से लगा सकते हैं कि पीएम मोदी को मिले तोहफों की नीलामी के लिए हफ्तेभर में 52 हजार लोग बोली लगा चुके हैं।दिल्ली की मॉडर्न आर्ट गैलरी में इन तोहफों की प्रदर्शनी 3 अक्टूबर तक चलेगी। इस दौरान देखने में आया है कि लोगों की रुचि महंगे गिफ्ट के बजाय सस्ती चीजों पर है, पर इन सस्ते तोहफों की बोली महंगे तोहफों की कीमतों से भी ज्यादा पहुंच चुकी है। जैसे 1 हजार रुपए वाली तलवार की बोली 2.81 लाख रुपए तक पहुंच गई है। वहीं, सबसे महंगे गिफ्ट एक्रिलिक पेटिंग की किसी ने भी बोली नहीं लगाई है, इसका बेस प्राइस 2.5 लाख है। अभी तक करीब 2750 आइटमों मेें से 1400 से अधिक की बोली लग चुकी है।तोहफों में पेंटिग्स, पोर्टेट, मूर्तियां, किताबें, स्मृ
पर्यावरण के लिए आदतें बदलवाएंगे थ्री इडियट्स वाले वांगचुक बिना करंसी के दुनिया की सबसे बड़ी फंडिंग योजना शुरू करेंगे

पर्यावरण के लिए आदतें बदलवाएंगे थ्री इडियट्स वाले वांगचुक बिना करंसी के दुनिया की सबसे बड़ी फंडिंग योजना शुरू करेंगे

Delhi
नई दिल्ली (मुकेश काैशिक).फिल्म थ्री इडियट्स के किरदार फुंगचुक वांगडू के प्रेरक सोनम वांगचुक जलवायु परिवर्तन से लड़ने के लिए अनूठा अभियान शुरू करने जा रहे हैं। पैदल चलना, साइकिल से सफर करना जैसी छाेटी-छाेटी आदतोंको वह करंसी में गिनेंगेऔर लोगों से मामूली सी कुर्बानी करने का वादा करने की वकालत करेंगे।इस अनूठे क्राउड फंडिंग के बारे में उन्होंने बताया कि अभियान में वह लोगों से 100 डॉलर की मदद मांगने के बजाए उनसे कुछ आदतें छोड़ने को कहेंगे, जिनसे 100 डॉलर ऊर्जा की बचत हो। इन आदतों के बदलने से होने वाली बचत का हिसाब होगा और आदत-दान करने वालों के खातें में वह रकम दिखाई जाएगी। अभियान से खरबों डॉलर ऊर्जा की बचत होगी।ऐसे लाएंगे बदलाव: लिफ्ट छोड़ें, पैदल चलें, दफ्तर साइकिल से जाया करेंलिफ्ट से न चलें: इस छोटी सी आदत को बदलने से हर रोज दुनियाभर में लाखों डॉलर की बिजली की बचत होगी। इस