गाय पर 10 लाइन निबंध | Cow Essay in Hindi | Essay on Cow in Hindi | गाय का निबंध

हेलो दोस्तों आज हम देखने वाले है गाय पर 10 लाइन निबंध गाय पर निबंध अगर आप आर्टिकल को पढ़ रहे हो तो हमको लगता है की आपको ये निबंध लिखने को परेशानी हो रही है तो इस आर्टिकल में हम आपको गाय पर 10 लाइन निबंध के अलवा इस से भी अधिक शब्दों का निबंध आपको मिलने वाला है तो अगर आप ४ कक्षा में हो या १० कक्षा में हो आपको सारे कक्षा का गाय पर निबंध यही पर मिल जाएगा .
तो अगर आप ४ से १० के स्टूडेंट्स हो तो आपके लिए ये आर्टिकल बहुत ही ाचा होगा तो ये आर्टिकल पूरा पढ़ लीजिए

Cow Essay in Hindi

गाय के बारे में ५ वाक्य, पंक्तियां हिंदी में
1.गाय ये एक शाकाहारी प्राणी है ओर गाय ये मूल रूप से हरी घास खाती है
२.गाय को भारत में गो माता भी कहा जाता है
३.गाय हमको दूध देती हैं वो शरीर के लिया बहुत ही पौषिटक होता है
४.गाय की भारत देश में पूजा भी की जाती है
५.गाय ये आम तोर पर २० साल जीती है .

तो दोस्तों ये था गाय पर ५ लाइन निबंध ये निबंध जो निचली कक्षा के विद्यार्थी है उनके लिए है जैंसे की १,२,३ के विद्यार्थी के लिए ये जानकारी है.

तो चलिए अब देखते है गाय पर 10 लाइन निबंध- Essay on Cow in Hindi

१.गाय को गोऊ माता भी कहा जाता है.
२.गाय के दूध से अलग अलग वसतु बनते है
३.गाय ये नेपाल का राष्टीय प्राणी है.
४.गाय के दूध का इस्तेमाल आइसक्रीम , पनीर , चीज बनाने के लिए किया जाता है.
५.गाय एक दिन चालीस पौंड यानि १८ किलो ग्राम खन्ना खाती है.
६.गाय के पुरे दुनिया में ८०० से भी जयदा अलग अलग प्रजाति पाए जाती है.
७.गाय एक दिन में करींब ४ घंटा ही सोती हैं
८.गाय का गोबर का भी उपयोग अलग अलग कामो के लिया किया जाता है
९.गाय के दो कान , दो सिंग , ४ पेर और एक पूछ होती है.
१०.गाय की सुंघाने की शक्ति बहुत ही ाची होती है वो किसी भी चीज को ६ मील दूर से ही सुध लेती हैं.

तो दोस्तों ये था गाय पर 10 लाइन निबंध

सिम कार्ड खो जाने या चोरी हो जाने पर पत्र 

तो चलिए अभी सुरु करते है गाय पर निबंध( गाय का निबंध)

गाय ये नाम हमने बचपन से ही सुना होगा और य भी सुना होगा की गाय ये हमारी माता है.और ये पूरी तरह से सही है. गाय ये कोई जंगली प्राणी नहीं है गाय ये आम तोर पर अपने घर पर लेकर आता है.

गाय से हमको बहुत कुछ मिलता है आप ऐसा भी मान सकते हो की हम गाय से लेते ही है और कुछ देते नहीं ये ऐसा हमने क्यू कहा वो आगे बताने वाले है.

गाय ये प्राणी सिर्फ भारत में ही नहीं ये दुनिया भर में पाया जाने वाला प्राणी है आप मानोगे नहीं पर पूरी दुनिया में ८०० से भी अधिक गाय के प्रजाति है. अपने प्रजाति के आधार पर गाय का रग , रूप आकर थोड़ा बहुत अलग हो सकता है.

गाय का स्वाभाव आम तोर से शांत ही होता है पर कभी गे को लगता है की जब उसका बछड़ा खतरे में है उस वकत पर गाय थोड़ी बहुत गुसा हो जाती है और ये आम बात है.

गाय का दूध इंसाने के लिए बहुत ही फ़ायदेमद होता है और खास कर के छोटे बाचो के लिए बहुत ही फ़ायदेमद होता है और ये बात डॉक्टर भी मानते है क्यू की गाय के दूध में अलग अलग पौष्टिक तत्व होते ही वो शरीर के लिए फायदेमद होते है .

गाय का दूध अगर कोई इंसान बीमार है तो भी उनको ये दूध दिया जाता है क्यू की ये दूध बहुत ही हलका होता है और बहुत ही आसानी से पच बी जाता है.

.गाय पूरी तरह से शाकाहारी प्राणी है गाय का प्रमुख खाना हरी घास , कुछ पत्ते खाते है. और आपको पता है गाय एक दिन में १८ किलो जितना खान खा जाती है और आपने बहुत बार देखा होगा की गाय कभी कभी मुँह हिलती है तो इसका ये कारन है की गाय बहुत बार बहुत सारा खाना निगल जाती है फिर वो बाद में आराम से थोड़ा थोड़ा चबाती है.

गाय का इस्तेमल ये बहुत सारे अलग अलग कामो के लिए किया जाता है सब से पेहेले तो दूध निकालने के लिए किया जाता है और आप पता है गाय के दूध से कितने अलग अलग पदरात बनते है जैसे ही पनीर , तेल ,घी ,छाछ और भी अलग अलग वसुत बनते है गाय के दूध से.

गाय के दूध से लेकर गाय के गोबर का इस्तेमाल किया जाता है और आपको पता है क्या गाय के गोबर का इस्तेमाल गांव के जो घर होते है वह जमीन को लेवल को करने के लिए गाय के गोबर का इस्तेमाल किया जाता है.

इसके अल्वा भी गोबर के जो थपले होते है उनका इतेमाल जलावन के तोर पर किया जाता है.इसके अलावा भी खेती करने के लिए खाद के तोर पर गोबर का इस्तेमाल किया जाता है. और गैस बनाने के लिए भी गोबर का इस्तेमाल किया जाता है.गाय को हिंदू समाज में बहुत ही जयदा पवित्र माना जाता है और गाय की पूजा भी की जाती है .

तो ये था गाय पर निबंध. अगर आपको ये आर्टिकल ाचा लगा तो हो अपने फ्रैंड्स के साथ जरूर शेयर कर लीजिये

Leave a Comment