खुजली की दवा : टेबलेट का नाम, लिस्ट और प्राइस | खुजली की बेस्ट टेबलेट नाम | खुजली की क्रीम का नाम

हेलो दोस्तों आप सभी का सवागत है इस नए आर्टिकल में तो आज के इस आर्टिक्ल का विषय होने वाला है खुजली की बेस्ट टेबलेट नाम क्या है और इसके अलावा आपको इस ही आर्टिक्ल में आपको आखिर ये खुजली क्यू होती है और इसके साथ साथ ही आपको दाद को जड़ से खत्म करने की दवा कोनसी है , और अगर आपको प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट न नाम जानना है तो आपको ये आर्टिकल सुरु से अंत तक पढ़ लेना चाहिए ।

तो सब से पहले ये बात देते है की आखिर खुजली क्या है तो ऐसे में तो खुजली कोई बहुत ही जयदा सीरियस बीमारी नहीं होती है पर अगर इस को सही समय पर ध्यान नहीं दिया तो ये छोटी सी देखने वाली बीमारी कब बड़ी हो जाएगी वो आपको पता भी नहीं चलने वाला है । ये खुजली किसी को भी हो सकती है और अगर आप थोड़े गरम या फिर जयदा अद्द्रता वाले जगह पर रहते है तो आपको ये खुजली की बीमारी होने का जयदा चसा होता है । 

Table of Contents

खुजली  (Khujali )-खुजली की बेस्ट टेबलेट नाम

तो सब से पहले ये देख लेते है की आखिर खुजली क्या है तो आपको बात देते है की ये खुजली ये चमड़ी यानि की त्वचा की एक बीमारी है । ये खुजली हमेशा शरीर के जिस हिस्से में पसीना होता है वह पर ये जयदा देखने को मिलती है । और अगर हम थोड़ी बहुत सइंटिफक तरिके की बात करे तो ये टीनिया इस बैक्टरिया के कारण ये खुजली होती है 

सब से जरूरी बात खुजली होना ये आम बात है तो इतनी डरने वाली बात नहीं है आप अगर थोड़ा सा ध्यान रखोगे तो कुछ ही दिनों में ये खुजली चली भी जाएगी पर हम सलाह देते है आप सब से पहले डॉक्टर के पास जाये और उनकी राय जरूर ले । सुरुवात में तो ये खुजली आम सी होती है पर बाद में धीरे धीरे लाल चकतों उभर आते है और उसमे जलन होने लग जाती है और बाद में एक धीरे धीरे अपना शेप बाड़ने लग जाता है और बाकि के हिस्सों में फैलने लग जाता है इसलिए अगर खुजली हो रही है तो आपको उसको नजर अंदाज नहीं करना चाहिए । 

खुजली के प्रकार (Type of Khujali )- khujli ki tablet name list

तो अभी हम देख लेते है की आखिर ये दवा कोनिस है और उन सब दवा को आप कैसे इस्तेमाल कर सकते हो उन दवा की कितनी मात्रा लेनी सही होगी और ऐसे ही सब जानकारी यही मिलने वाली है पर उसके पहले हम आपको कुछ घरेलु नुक्से बता देते है जो की खुजली की दवा के जैसे ही काम करती है । 

तो अभी हम कुछ खुजली की बेस्ट टेबलेट नाम और ऐसे ही कुछ खुजली की पशुओं से बने उपचार क्या है आयुर्वेदिक क्रीम कोनसी है खुजली के लिए तो आप निचे का चार्ट सही से देख लीजिए आपको कम शब्दों में जानकारी मिल जाएगी

खुजली की दवा कीkhujali ki dava ka naam
1खुजली के लिए पेड़ पौधों से बने उपचार नींबू एवं नीम का तेल
2अंग्रेजी दवा प्राइवेट पार्ट की खुजली के लिएAble 25. और 50
3अंग्रेजी टेबलेटजो कण{Jo Kan}
4पशुओं से बनी दवा खुजली के लिएगोमूत्र और नीम के पत्ते का मिश्रण
5घरेलू दवालहसुन और तुलसी लेप
6खुजली की बेस्ट आयुर्वेदिक क्रीमबेतनावटे सी(betnovate c)
7आयुर्वेदिक दवा कोनसी कोनसी हैनीम के पत्तों से बनी हुई दवा
8अंग्रेजी दवा जेल कोनसा हैदरमि फोर्ड(darmi Ford)

1 देसी घी- खुजली की क्रीम का नाम

जी हां देसी घी से भी आप दाद को जड़ से खत्म करने की दवा बन सकती है । आपको तो पता यही होगा और हमने भी आपको पहले बताया है की ये खुजली फंगस ओर बैक्ट्रिया के कारण होती है । और देसी घी में तो पहले से ही फंगस ओर बैक्ट्रिया को मिटने वाले एंटीटॉक्सिन तत्व होते है जिस के कारण आपको खुजली से राहत मिल जाती है तो ये देसी घी का उपयोग आपको एक दिन में 2 से 3 बार करना है जहा पर खुजली हो रही है वह पर डायरेक्ट देसी घी लगा लेना है और हाथ सही से धो लेने है ।

2 इमली के बीज- खुजली की दवा

शरीर में खुजली होने का एक और कारन हो सकता है और वो है रिंग वार्म जी हां ये बीमारी होती है तब गोल आकार के रिंग जैसे चलेले बन जाते है उसको आम शब्दों में दादा भी बोलते है ऐसे ही अगर आपको हुआ है तो आप इमली के बीज का इस्तेमाल कर सकते हो । सब से पहले आप इमली के बीज को पीस ले लीजिये और बाद में जो पेस्ट बन जाएगी वही आपको पेस्ट आपको उस घाव पर दिन में 2 से 3 बार लगा लेनी है ।

3 बैंकिंग सोडा और नींबू 

अगर आपको खुजली से राहत चाहिए तो आप जितना हो सकता है उतना साफ़ रहने की कोशिश कर लीजिये । आपको हर रोज अचे पानी से नहाना बहुत ही जरुरी है पर अगर आप उस ही पानी में अगर बैंकिंग सोडा और नींबू का रस मिक्स कर तो बहुत ही बढ़िया हो जाएगा पर एक बात का ध्याना रखिये की पानी थोड़ा गरम होना चाहिए । अगर आप ऐसा करीब एक हफ्ते में करीब 3 से 4 बार करोगे तो आपको ाचा रिजल्ट देखने को मिल सकता है । बैंकिंग सोडा और नींबू का रस इतना असरदार होता है क्यू की दोनों में एंटीबैक्टीरियल तत्व होते है जो की हेल्प करते है खुजली मिटाने के लिए ।

4 कपड़ों को धूप देखाना- प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट

जी हां आप अपना शरीर तो साफ़ कर दोगे पर आपको हमेशां अपने कपडे , बिस्तर और बाकि सब चीजे जिस का आपके शरीर के साथ कॉन्टैक होता है उन सब को आपको साफ़ कर लेना चाहिए नियमित रूप से । आप सही से ाचे detarjan से kapado को धो लीजिये और बाद में सूरज की कड़ी घूप में सूखने के लिए रख लीजिये क्यू की सूरज की किरणों में अल्ट्रावायलेट किरणे होती है जो की बैक्टीरिया को मारने का काम करेगी ।

5 अपने आप को साफ रखिये । दाद खाज खुजली की अंग्रेजी दवा tablet

हम ऐसा नहीं बोल रहे है की आपको दिन में दस दस बार नहाने के लिए पर आप हमेशा ही दिन में करीब 2 बार नहाने जाए । और जब आप बहार से आते हो तब भी आप सही से फेश हो जाये । आप अपने शरीर के अनुसार आप साबुन भी ले लीजिये और सब के लिए अलग अलग ही साबुन रख लीजिये 4 लोगो के लिए 1 ही साबुन मत ले लीजिये । और सब से जरूर आप नहाने के बाद डायरेक्ट कपडे मत पहन ले लीजिये सब से पहले आप अपने शरीर को सही से अछि तरिके से सूखा लीजिये और कोई  बॉडी लोशन लगा दीजिये और उसके बाद ही कपङे पहन लीजिये ।

6 हल्दी-प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट

हल्दी ये भी बहुत ही गुणकारन खुजली की दवा की दवा है और हल्दी सिर्फ खुजली के लिए ही नहीं बल्कि बाकी रोगो के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है तो खुजली के लिए हल्दी में एंटीबैक्टीरियल तत्व होते है तो आप हल्दी ले लीजिये और उसमे थोड़ा पानी मिला लीजिये 2 से 3 बून्द पानी की और हल्दी की ताजा पेष्ट को आप खुजली की जगह पर रख लीजिए 

7 एलोवेरा-खुजली की बेस्ट टेबलेट नाम

एलोवेरा ये अपनी त्वचा के लिए कोई वरदार से कम नहीं है एलोवेरा में विटामिन ई होता है जिस से खुजली दूर होने के लिया मदत होती है तो अगर हो सकता है तो आप फेश एलोवेरा का रस निकाल लीजिये और जहा पर खुजली हो रही है वह पर आप लगा दीजिये आपको कुछ ही दिनों में असर देखने को मिल जाएगा एक जेल आप दिन में 3 बार लगा सकते हो । और अगर आपके पास फ्रेश जेल नहीं है तो आप बाजार से क्रीम लेकर आ सकते हो ध्यान रखिये की इसमें कोई केमिकल ना मिला हो ।

7 लहसुन

हर एक के घर में पाया जाने वाला अगर कोई पधारत है तो वो है लहसुन तो आपको बता देते है की लहसुन में भारी मात्रा में अजीना पाया जाता है वो की एंटीफंगल होता है जिस से ये खुजली को कम करने में मदत करता है । तो लहसुन का इस्तेमाल करना बहुत ही आसन है आप डायरेक्ट लहसुन को काट कर भी लगा सकते हो उस घाव वाले हिस्से पर या फिर आप लहसुन की पेस्ट बना कर आप उस घाव वाले हिस्से में लगा दीजिये पर एक बात का ध्यान रखिये की लहसुन को लगाने के बाद थोड़ी जलन हो सकती है तो अगर आपको कुछ जयदा ही जलन हो रही है तो आप तुरंत पानी से धो लीजिये ।

8 चंदन

चंदन का तो हमारी आयुर्वेद की ज्ञान में अलग ही महत्तव दिया जाता है क्यू की ये करीब करीब हर एक बीमारी पर असरदार होता है तो चंदन भी खुजली को कम करने के लिए भी काम में आता है तो खुजली के लिए चंदन का चंदन का पतला लेप बना कर आपको उस घाव पर लगा लेना है ये आपको दिन में करीब 2 बार कर लेना है ।

खुजली की टेबलेट नाम लिस्ट khujli ki tablet name list

तो अभी हम आपको कुछ गोलिये के नाम बता देते है वो सब से असरदार है पर आप ऐसे कोई भी दवा का खुद से सेवन ना करे आप अपने डॉक्टर की सलाह पर ही ऐसे कोई भी सेवन कीजिए

no खुजली की बेस्ट टेबलेट नाम
1 सेट्रिजीन टेबलेट
2लोरेटेडाइन टेबलेट
3क्लैमास्टाइन टेबलेट
4 स्टॉप एलर्ज टैबलेट
5 Griseofulvin टेबलेट
6 Terbinafine टेबलेट
7 Fluconazole टेबलेट
8

बंद एलर्जी 10mg टैबलेट

9 क्लोज़ोले 150 एमजी वैजाइनल टैबलेट
10 क्लोरफैनमाइन टेबलेट

दाद खाज खुजली के दवाइयों के नाम daad khaj khujli medicine name

1 थायोट्रेस स्ट्रिप- thyroiditis strip

2 फंगी क्रॉस नेल – fungi cross nail

3 सींग प्योर टेबलेट – Singh pure tablet

4 लूली फोर्ड एंटीफंगल टेबलेट – luliford antifungal tablet

5 टॉक्सो मोक्स टैबलेट – toxo mox tablet

खुजली की टेबलेट का नाम | Khujli Ki Tablet Name In Hindi

तो चलिए अभी हम यहाँ पर देखते है की खुजली की टेबलेट का नाम क्या है तो आप ये हिस्सा जरूर पढ़ लीजिये 

सेट्रीजीन (Cetirizine)

तो सब से पहले अगर खुजली की बेस्ट टेबलेट नाम है तो वो है सेट्रीजीन (Cetirizine) ये दवा खास कर के वयस्कों और बच्चों को दिया जीता है अगर किसी टाइप की एलर्जी के लक्षण नजर आते है तो जैसे की छींकना, खुजली  इस दवा का प्राइस ये ₹20-60 रूपये के करीब होता है इस दवा की खुराक कितनी लेनी है ये सब आपकी उम्र कितनी है और बाकी सब बातो को ध्यान में रख कर तय किया जाता है इसलिए डॉक्टर लकी सलाह लेकर ही आप ये खुजली की बेस्ट टेबलेट का सेवन कर लीजिए ।

इस दवा के कुछ साइड एफ्फेफेट भी हो सकते है जैसे की चक्कर आना ,थकान रहना ,गले में खराश ,खांसी कब्ज।

फेक्सोफेनाडाइन (Fexofenadine)

तो ये फेक्सोफेनाडाइन (Fexofenadine) दाद खाज खुजली की अंग्रेजी दवा टेबलेट है इस दवा में एंटीहिस्टामाइन ये तत्व होता है जो की आंखों से पानी बहना, नाक बहना, आंख/नाक में खुजली, छीकें आना  इन सब को रोकने के लिए इस्तेमाल होता है तो इन फेक्सोफेनाडाइन से शरीर के अंदर जो अपने आप हिस्टामाइन ये बनता है उसको रोकने का काम ये दवा आती है इस दवा का सेवन ये डॉक्टर की सलाह पर ही कीजिये और ये दवा आम तोर पर दिन में 2 बार लेने की राय देते है । कोई भी दवा ये खतरनाक हो सकती है इसलिए अपने डॉक्टर की राय पर ही सेवन कीजिये और इस दवा की कीमत ये करीब 40 से 80 रुपए हो सकती है ।

लोरैटैडाइन (Loratadine)

जी हां ये भी एक बहुत ही गुणकारी khujli ki tablet name list’ में से एक दवा है इस दवा का उपयोग ये अलग अलग बीमारी के लिए किया जाता है उसमे से खुजली आँखों और नाक, नाक बहने, छींकने, पानी की आंखों के  बीमारी के लिए इस दवा का इस्तेमाल किया जाता है । इस दवा को भी डॉक्टर की सलाह से ही लेना होगा और सब से जरुरी इस दवा के कुछ साइड इफ़ेक्ट भी है जिस में थकान, उल्टी, शुष्क मुंह और सिर दर्द  जैसे इफ़ेक्ट देखने को मिल जाते है 

खुजली में गोमूत्र का प्रयोग( khujali mein gomutra ka prayog)

तो अभी हम आपको बता देते है की गोमूत्र से खुजली का इलजा हो सकता है या नहीं तो इससे इलाज हो सकता है पर सभी खुलजी का इलाज नहीं हो सकता है सिर्फ कुछ कुछ ही कॉन्डीशन में ये काम करती है जिस में आपको जहा पर खुलजी होती है वह पर लगा देना है . ऐसा बताया जाता है की गाय ये अलग अलग तरिके के आयुर्वैदिक पौदे खाते है जिस के कारण गोमूत्र में ऐसे तत्व मिल जाते है वो की खुजली मिताने के लिए काम करती है तो आपको इसको इस्तेमाल करना है तो आप किसी सही जानकर इंसान की निगरानी में ही ऐसे दवा का इस्तेमाल कीजिये .

पतंजलि की खुजली की दवा (patanjali ki khujli ki dawa)

तो पतंजलि की खुजली की दवा के नाम पर आपको इंटरनेट पर पता नहीं कितनी जानकारी है और वो भी खिचड़ी से भरी हुई है तो आपको आम शब्दों में बोल देते है की पतंजलि की खुजली की दवा अभी तक नहीं आइए है जी हां पर खुलजी के लिए जो असरदार हो पर पतंजलि के कुछ ऐसे प्रोडक्ट है जिस का इस्तेमाल ये खुलजी को दूर करने में किया जाता है जैसे की एलोवेरा जेल , नीम धोनी की गोली टेबलेट हो गए , नीम एलोवेरा का जूस हो गया जैसे प्रोडकट का इस्तेमाल कर के उपयोग में ला सकते हो .

साफ सफाई पर ध्यान देकर खुजली को खत्म कर सकते हैं

तो आपको अभी भी ऐसा लगता है क्या बिना साफ साफ सफाई पर ध्यान दिए आप बच सकते हो तो आप बहुत बड़ी गलटी कर रहे हो .साफ सफाई पर ध्यान देना बहुत ही जरुरी है जी हां आप ऐसा मान सकते हो जैसे की बिना साफ सफाई के मशीन भी कुछ समय के बाद बिगड़ जाती है तो ये हमारा शरीर है आज सिर्फ खुजली हुई है कल कोई गंभीर बीमारी होने में देरी नहीं लगेगी जी हां आपको साफ सफाई पर ध्यान देना है इसका मतलब ये नहीं की आप एक ही दिन में १० १० बार नहाने जाये पर कम से कम २ से ३ बार नाहा सकते हो . आप बहार से भी आते हो तो फेश हों जाओ .

ऐसे ही आप अपने कपड़ो को भी समय समय पर चेंज करते रहिये और अपने शरीर के अनुसार सही प्रोडक्ट इस्तेमाल कीजिये . कपडे चेंज करने के साथ साथ वो साफ़ है या नहीं उसका भी ध्यान दीजिये .

उसके बाद आप दुसरो की पर्सनल चीजे होते है उसको आप बंद कर सकते हो अगर आपके घर में १० लोग एक ही साबुन इस्तेमाल करते हो तो एक बॉटल में जो साबुन आता है जिस से सब इस्तेमाल भी कर पाए और टच भी ना हो ऐसे आप कर सकते हो . अपना खुद का टावल इस्तेमाल कर सकते हो .

1.प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट

प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट के लिए हमने ऊपर जो जानकारी दी है उसका आप इस्तेमाल कर सकते हो डॉक्टर को पूछ कर सकते हो इसके आलावा आप घरेलु नुस्के भी इस्तेमाल कर सकते हो .

2.Fungal infection प्राइवेट पार्ट में खुजली की दवा

आप आर्टिकल को सुरु से अंत तक फिर से पढ़ लीजिए आपको जवाब मिल जायेगा

3.प्राइवेट पार्ट में खुजली के क्रीम price

प्राइवेट पार्ट में खुजली के क्रीम प्राइस ये १५० से सुरु होते है आप कोनसी दवा लेते हो उसके ऊपर प्राइस निर्भर होगी

4.प्राइवेट पार्ट में खुजली की दवा Homeopathic

नारियल का तेल , सेब का सिरका , बेकिंग सोडा का इस्तेमाल कर सकते हो

5.खुजली की दवा कहां मिलेगी

खुजली की दवा ये आपको नजदीगी मेडकिल पर या फिर ऑनलाइन पर और अमेज़ॉन पर भी मिल सकती है पर डॉक्टर की राय के बाद ही कोई भी दवा का सेवन कीजिये

6.खुजली की दवा का नाम पतंजलि

खुजली के लिए स्पेशल इसे पतंजलि की दवा नहीं है अभी तक

तो ये थी खुजली की दवा : टेबलेट का नाम, लिस्ट और प्राइस के बारे में सारी जानकारी आपको बता देते है की ये सिर्फ आपकी जानकारी के लिए है और अगर आपको भी ऐसे ये दिकत आ रही है तो आप सब से पहले आप डॉक्टर की राय जरूर ले । ये आर्टिकल या फिर इंटरनेट की कोई भी जानकारी पढ़कर खुद से कुछ भी दवा या फिर नुस्खा मत कीजिये । 

Leave a Comment