News That Matters

Tag: अंतिम

विंग कमांडर साहिल गांधी को हिसार में राजकीय सम्मान के साथ दी अंतिम विदाई

विंग कमांडर साहिल गांधी को हिसार में राजकीय सम्मान के साथ दी अंतिम विदाई

Haryana
हिसार.भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर साहिल गांधी का अंतिम संस्कार गुरुवार को पूरे राजकीय सम्मान के साथ किया गया। वायु सेना के प्रतीक चिह्न सूर्यकिरण टीम के सदस्य विंग कमांडर साहिल गांधी की 19 फरवरी को बेंगलुरु में एयरो शो के अभ्यास के दौरान दुर्घटना में मौत हाे गई थी।सेक्टर 16-17 स्थित श्मशानघाट पर अंतिम संस्कार के दौरान एयरफोर्स के जवानों और प्रदेश पुलिस के जवानों ने आसमान की ओर फायर कर श्रद्धांजलि दी। इस दौरान साहिल के माता-पिता, पत्नी, पांच साल का बेटा, परिवार के सदस्यों ने गमगीन माहौल में श्रद्धासुमन अर्पित किए। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Last farewell to Sahil Gandhi with State honor in Hisar Dainik Bhaskar
शहीद की पत्नी ने कहा- मैंने उन्हें अंतिम बार छुआ, ताकि कोख में पल रही संतान भी उनके साहस को महसूस कर सके, मैं उसे भी ऐसा ही बनाऊंगी

शहीद की पत्नी ने कहा- मैंने उन्हें अंतिम बार छुआ, ताकि कोख में पल रही संतान भी उनके साहस को महसूस कर सके, मैं उसे भी ऐसा ही बनाऊंगी

Rajasthan
यह दृश्य देखकर वहां मौजूद हर आंख नम हो उठी। हर माथा गर्व से चौड़ा हो उठा।वीरों की इस धरती ने पहले शायद ही कभी ऐसा दृश्य देखा हो।झुंझुनूं/खेतड़ी।शहीद श्योराम का टीबाबसई गांव। उनकी शहादत के बाद से ही इतराया हुआ। खुद पर गौरवांवित। आज इसी गांव ने एक महान दृश्य देखा। अकल्पनीय, असाधारण। जब शहीद श्योराम की वीरांगना सुनीता देवी नौ माह के गर्भ की अवस्था में जयपुर से वापस लौटी। उस अवस्था में जब दिनरात उन्हें सिर्फ आराम के लिए कहा गया है, पर वे नहीं मानी। लौट आई। दरअसल, आज शहीद की अस्थियां एकत्रित की गई थी। यह अवसर था उन्हें अंतिम बार छूने का। भला, यह वीरांगना कैसे रह पाती। जयपुर से लौटी। पति के अस्थिकलश को छुआ। सिर माथे से लगाया। लगाके ही रखा। जैसे एकाकार हो गए हों, ऐसी ही तो होती हैं वीरांगनाएं, जो दुख में भी अपने कर्तव्य को पूरी निष्ठा से निभाती है। यह दृश्य देखकर वहां मौजूद हर आ
माता-पिता की मौत के बाद नाबालिग भतीजी से रेप करने वाली दोषी को अंतिम सांस तक जेल

माता-पिता की मौत के बाद नाबालिग भतीजी से रेप करने वाली दोषी को अंतिम सांस तक जेल

Haryana
हिसार। करीब डेढ़ साल पहले हांसी के एक गांव में 15 वर्षीय नाबालिग भतीजी से दुष्कर्म कर गर्भवती करने वाले दोषी चाचा शमशेर को एडीएसजे डॉ. पंकज की कोर्ट ने अंतिम सांस तक जेल में रहने की सजा सुनाई है। पीड़ित बच्ची ने बच्चे को जन्म भी दिया था।अदालत में चले अभियोग के अनुसार पुलिस विभाग में कार्यरत सुरक्षा एजेंट इएचसी राजकुमार की शिकायत पर 9 अगस्त 2018 को केस दर्ज हुआ था। गुप्त सूचना मिली थी कि हांसी के एक गांव में 15 वर्षीय नाबालिग लड़की से दुष्कर्म हुआ है। वह 5-6 माह की गर्भवती भी है। उसके माता-पिता का देहांत हो चुका है।अब चाचा अपनी इज्जत की खातिर पीड़ित भतीजी को जान से मार सकता है। इन तमाम बातों का गांव में जाकर पता किया तो सही मिली। तुरंत सदर हांसी थाना को सूचना दी थी। महिला पुलिस एसआई सरोज व उनकी टीम ने मौके पर जाकर जांच की थी। उन्होंने पीड़िता को बरामद करके उसके बयान भी द
पुलवामा हमले का बदला लेने वाले शहीद का हुआ अंतिम संस्कार, 10 माह के मासूम बेटे ‘सिंह’ ने दी पिता को मुखाग्नि, पत्नी बोली- वो बेटे को फौजी बनाना चाहते थे, अब मैं सपना पूरा करूंगी

पुलवामा हमले का बदला लेने वाले शहीद का हुआ अंतिम संस्कार, 10 माह के मासूम बेटे ‘सिंह’ ने दी पिता को मुखाग्नि, पत्नी बोली- वो बेटे को फौजी बनाना चाहते थे, अब मैं सपना पूरा करूंगी

Haryana
रेवाड़ी (हरियाणा)। आतंकियों से पुलवामा हमले का बदला लेकर शहीद हुए सेना के जवान हरि सिंह चौहान का पार्थिव शरीर मंगलवार सुबह 10:30 बजे रेवाड़ी में उनके पैतृक गांव राजगढ़ पहुंचा। उनकी अंतिम यात्रा में हजारों की संख्या में लोगों का हुजूम उमड़ा। सेना के 10 जवानों व हरियाणा पुलिस के जवानों ने शहीद को अंतिम सलामी दी। इसके बाद राजकीय सम्मान के साथ शहीद का अंतिम संस्कार किया गया। शहीद को 10 माह के बेटे लक्ष्य ने मुखाग्नि दी।पति को ताबूत में देखते ही पत्नीबेसुध होकर गिर पड़ीपति को ताबूत में देखते ही पत्नी राधा बेसुध होकर गिर पड़ी। सदमे के चलते कुछ देर आंखों से आंसू तक नहीं निकले, मगर जब निकले तो थमे ही नहीं। राधा बोली, 'मेरे पति कहते थे कि मैं फौजी हूं, मेरे पिता फौजी थे, मैं अपने बेटे को भी फौजी ही बनाऊंगा। उनका यह सपना अब मुझे अकेले पूरा करना है।'पिता का निधन हो चुका था, ति

CISF में हेड कॉन्स्टेबल के पदों पर भर्तियां, अंतिम तिथि आज

Indian Education
CISF Recruitment 2019 : केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल CISF ने अनेक पदों पर भर्तियां निकाली हैं। आपको बता दें कि कुल 429 हेंड कॉन्सटेबल के पदों पर ये भर्तियां हो रही हैं। Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala
शहीद को अंतिम प्रणाम देश को बदला चाहिए…

शहीद को अंतिम प्रणाम देश को बदला चाहिए…

Haryana
कश्मीर में सैनिकों पर हुए हमले से पूरे देश में गुस्सा और आक्रोश है। हर कोई यही चाहता है कि आतंकवाद पर अब सीधा वार होना चाहिए। अब केवल सेना को छूट दी और सबक सिखाएंगी जैसे आश्वासन नहीं, बल्कि लोग चाहते हैं कि देश पर हमले का बदला लिया जाए। पूर्व सैनिकों समेत हर कोई यही चाहता है कि धारा 370 हटाकर कश्मीरियों को विशेष अधिकार देना बंद होना चाहिए तथा वहां के देशद्रोहियों को मौत के घाट उतारा जाए। शहीद को श्रद्धांजलि देने के लिए पूर्व मंत्री एमएल रंगा, पूर्व मंत्री शकुंतला भगवाड़िया, पूर्व सीपीएस राव दान सिंह, भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष अरविंद यादव, पूर्व विधायक राव यादवेंद्र, रामेश्वर दयाल, चिरंजीव राव, वंदना पोपली, इनेलो जिलाध्यक्ष डॉ. राजपाल, प्रशांत यादव, श्याम सुंदर सभरवाल, नीतू चौधरी, योगेन्द्र पालीवाल, लक्ष्मण यादव के अलावा प्रशासन से एडीजीपी श्रीकांत जाधव, डीसी अशोक कुमार शर्
पूर्व मंत्री जत्थेदार इंद्रजीत सिंह जीरा की माता को दी अंतिम विदाई

पूर्व मंत्री जत्थेदार इंद्रजीत सिंह जीरा की माता को दी अंतिम विदाई

Punjab
जीरा|विधायक कुलबीर सिंह जीरा की दादी एवं पूर्व मंत्री जत्थेदार इंद्रजीत सिंह जीरा की माता परमजीत कौर (80) का निधन हो गया। उनका 17 फरवरी की रात को हार्ट अटैक के कारण देहांत हो गया था। उनकी अंतिम यात्रा में पूर्व विधायक विजय साथी, महल सिंह भुल्लर पूर्व डीजीपी, बाबा गुरनाम सिंह डरोली भाई वाले, बाबा शेर सिंह तरना दल निहंग मुखी, गुरचरण सिंह नाहर जिला प्रधान कांग्रेस कमेटी, चमकौर सिंह ढींढसा पूर्व जिला प्रधान, गुरप्रीत सिंह, खड़क सिंह, महिंद्र मदान आदि लोग शामिल हुए। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Zira News - last farewell to mother of former minister jathedar inderjit singh jirra Dainik Bhaskar
शहीद हरी सिंह की अंतिम यात्रा में उमड़ी भीड़, भारत माता के जयकारों से गूंजा गांव राजगढ़

शहीद हरी सिंह की अंतिम यात्रा में उमड़ी भीड़, भारत माता के जयकारों से गूंजा गांव राजगढ़

Haryana
रेवाड़ी। पुलवामा के गांव पिंगलेना में आतंकी मुठभेड़ में शहीद हुए रेवाड़ी के राजगढ़ गांव के शहीद हरी सिंह का पार्थिव शरीर मंगलवार सुबह गांव पहुंचा। शहीद की अंतिम यात्रा में शामिल होने के लिए आसपास के गांवों से बड़ी संख्या में लोग पहुंचे। गांव भारत माता के जयकारों और पाकिस्तान मुर्दाबाद से गूंज रहा है। कुछ ही देर में शहीद का अंतिम संस्कार किया जाएगा।14 फरवरी को सीआरपीएफ पर हुए हमले वाली जगह से सिर्फ 10 किमी दूर गांव पिंगलेना के एक घर में आतंकी छिपे होने की सूचना मिली थी। सेना ने रविवार रात 12 बजे उस घर को घेर लिया। खुद को घिरा देख कामरान और उसके साथियों ने अचानक फायरिंग शुरू कर दी, जिसमें मेजर समेत 5 जवान शहीद हो गए। शहीदों में हरियाणा के रेवाड़ी जिले के राजगढ़ गांव का हरी सिंह भी शामिल था।26 वर्षीय हरी सिंह राजपूत 2011 में बतौर ग्रेनेडियर भर्ती हुए थे। हाल ही में वे नायक
पुलवामा मुठभेड़: शहीद मेजर विभूति ढौंडियाल को अंतिम विदाई आज

पुलवामा मुठभेड़: शहीद मेजर विभूति ढौंडियाल को अंतिम विदाई आज

India
Pulwama Encounter: शहीद चित्रेश बिष्ट को सोमवार सुबह नेहरू कॉलोनी में अंतिम विदाई देने लोग जुट ही रहे थे कि दून के एक और लाल के शहीद होने की खबर से पूरा शहर सन्न रह गया। डंगवाल रोड के रहने वाले... Live Hindustan Rss feed
रो पड़ा पूरा गांव जब सवा 2 माह के बेटे ने दी शहीद पिता को मुखाग्नि; अंत्येष्टि में उमड़ा जन सैलाब, 6 घंटे में 20km का अंतिम सफर…

रो पड़ा पूरा गांव जब सवा 2 माह के बेटे ने दी शहीद पिता को मुखाग्नि; अंत्येष्टि में उमड़ा जन सैलाब, 6 घंटे में 20km का अंतिम सफर…

Rajasthan
जयपुर।शहीदों की चिता पर हर बरस लगेंगे मेले, वतन पर मरने वालों का यही बाकी निशां होगा....हुआ भी यही। गोविंदपुरा बासड़ी गांव में दो दिनों से मेले की भीड़ जैसा ही माहौल है, लेकिन यहां खुशी नहीं गम और गर्व का माहौल है। जम्मू एंड कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले में शहीद गांव के बेटे रोहिताश की शहादत पर यहां हर शख्स गर्व महसूस कर रहा है। दोपहर बाद 2 बजे अंत्येष्टि स्थल पर जब रोहिताश के छोटे भाई जीतेंद्र ने अपने सवा दो माह के भतीजे को गोद में लेकर मुखाग्नि दी तो हर शख्स की आंखों से आंसू छलक गए। भीड़ ने भारत माता के जयकारों, रोहिताश लांबा अमर रहे के नारे लगाकर शहीद को श्रद्धांजलि दी। इससे पहले शहीद का शव जैसे ही गांव में प्रवेश किया तो अपने सपूत की शहादत पर पूरा गांव ही रो उठा।शहीद रोहिताश लांबा का शव दिल्ली से सीआरपीएफ की सुरक्षा में शनिवार सुबह 5 बजे पुलिस थाना परिसर में पहुंचा