News That Matters

Tag: अमरूद

कई रोग दूर करता है अमरूद, जानें इसके फायदे

कई रोग दूर करता है अमरूद, जानें इसके फायदे

Health
अमरूद खाने के ढेरों फायदे हैं। यह कई तरह के रोगों को दूर करने में सहायक है। इसके पत्तों को चबाने से दांतों में कीड़े की समस्या व अन्य संबंधित परेशानियां दूर होती हैं।इसमें विटामिन बी-3 व बी-6 होता है। यह दिमाग के रक्तप्रवाह को बेहतर बनाकर तंत्रिकाओं को आराम देता है।एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर अमरूद कोशिकाओं की रक्षा करता है। इसमें पर्याप्त मात्रा में फाइबर होता है जो पाचनतंत्र दुरुस्त करता है।डायबिटीज रोगियों के लिए भी यह लाभकारी है। इसमें मौजूद फाइबर व कम मात्रा में ग्लाइसेमिक इंडेक्स ग्लूकोज लेवल को नियंत्रित रखते हैं। इसमें मौजूद विटामिन-सी प्राकृतिक एंटीहिस्टामाइन है। इससे सूजन वाली जगह पैदा होने वाले हिस्टामाइन का स्तर घटता है। सांस की एलर्जी नियंत्रित होती है।अमरूद में फोलिक एसिड और विटामिन बी-9 पाए जाते हैं। यह बच्चों के नर्वस सिस्टम के लिए जरूरी है।एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर यह फल त्वचा को
जानें अमरूद और करेले के फायदों के बारे में

जानें अमरूद और करेले के फायदों के बारे में

Health
अमरूद का फल ही नहीं पत्ते भी लाभकारी हैं। आइए जानते हैं इनके फायदों के बारे में। दांतदर्द और मसूढ़ों की सूजन में आराम के लिए इसके 15-20 ताजा पत्ते पानी में उबालें। जब पानी आधा रह जाए तो इसमें सेंधा नमक या फिटकरी मिलाएं और ठंडा होने पर कुल्ला करें।अमरूद के पत्तों पर कत्था लगाकर चबाने से मुंह के छाले ठीक होते हैं।माइग्रेन के दर्द में इसके पत्तों का लेप सूर्योदय से पहले माथे पर लगाने से आराम मिलता है।गठिया रोगी इसके कुछ पत्तों को पीसकर दर्द वाली जगह पर लेप लगाएं। अमरूद के कुछ पत्तों को पानी में उबालें व इन्हें पीस लें। इस लेप को फुंसियों पर लगाने से आराम मिलेगा।अमरूद के पत्तों से तैयार किए गए 10 ग्राम काढ़े को पीने से जी घबराने और उल्टी की समस्या नहीं रहती। विशेषज्ञ की सलाह से खाएं करेला - करेला प्रकृति का वरदान है जिसे डायबिटीज के मरीज को खाने की सलाह दी जाती है लेकिन इसे प्रयोग करने के संबं
रक्त शोधन, पेट पाचन की समस्याओं, माइग्रेन के लिए फायदेमंद है अमरूद

रक्त शोधन, पेट पाचन की समस्याओं, माइग्रेन के लिए फायदेमंद है अमरूद

Health
सर्दियों के मौसम में अमरूद सेवन करना फायदेमंद होता है, अमरूद को तमाम गुणों का खजाना माना जाता है। इसे खाने से रक्त में शुुगर का स्तर कम होता है। अमरूद का अर्क रोजाना सुबह-शाम लेने से पाचन संबंधी विकार दूर होते हैं। भोजन के साथ अमरूद की चटनी और भोजन के बाद इसका मुरब्बा तीन महीने तक खाने से हृदय रोग में लाभ होता है। इससे रक्त संबंधी विकार दूर होते हैं। ये रक्त को साफ करता जिससे त्वचा से संबंधित बीमारियां नहीं होतीं। अमरुद के पत्तों को पानी में उबालकर पत्ते अलग कर लें और इस पानी को ठंडा करके इसमें फिटकरी मिला लें, इससे कुल्ला करने पर दांतों का दर्द कम होता है। अमरूद को पत्थर पर घिसकर इस पेस्ट को एक सप्ताह तक माथे पर लगाने से माइग्रेन में लाभ होता है। प्रयोग सुबह करें।अमरूद के ताजे पत्तों का रस 10 ग्राम और पिसी मिश्री 10 ग्राम मिलाकर 21 दिन तक सुबह खाली पेट लेने से भूख खुलकर लगती है। Patrika

डायबिटीज मरीजों के लिए खुशखबरी, अब पेड़ पर लगेंगे शुगर फ्री अमरूद

India
वैज्ञानिकों का दावा है कि एक ही पेड़ पर शुगर फ्री व मीठे अमरूद लगाए जा सकते हैं। शुगर फ्री अमरूद का वजन सामान्य अमरूद से ज्यादा होता है। Jagran Hindi News - news:national

डायबिटीज से लेकर कैंसर तक कई रोगों के लिए रामबाण है अमरूद

India
आयुर्वेद में अमरूद और इसके बीजों के सेवन के कई लाभ गिनाए गए हैं। इसमें मौजूद विटामिन और खनिज शरीर को कई तरह की बीमारियों से बचाने में मददगार होते हैं। Jagran Hindi News - news:national
सिउंटी में नाड़ जलाने से फैली आग 4 एकड़ में अमरूद के पेड़ जले

सिउंटी में नाड़ जलाने से फैली आग 4 एकड़ में अमरूद के पेड़ जले

Punjab
पठानकोट-मनवाल रोड पर सिउंटी में कुछ लोगों ने नाड़ जलाने के लिए आग लगाई। आग फैलने से साथ लगते बाग के 4 एकड़ में लगे अमरूद के पेड़ जल गए। जमीन मालिक ने नाड़ जलाने वालों के खिलाफ शाहपुरकंडी थाने में शिकायत की है। शाहपुरकंडी थाना प्रभारी दलविंद्र शर्मा समेत पुलिस पार्टी मौके पर पहुंची और घटना स्थल का जायजा लिया। मिशन रोड निवासी कार्तिक बडैहरा ने बताया कि सिउंटी में उनकी 4 एकड़ जमीन में अमरूद के पेड़ लगाए हैं। उनकी जमीन के साथ लगती दूसरी जमीन वालों ने नाड़ को आग लगाई तो वे बेकाबू होकर उनकी जमीन में पहुंच गई जिससे अमरूद के पेड़ जल गए। कार्तिक का कहना है कि उनकी जमीन से मात्र 100 फुट दूरी पर एमुनिशन की दीवार है। वहीं जिला प्रशासन ने नाड़ जगाने पर पाबंदी लगाई है, लेकिन इसके बावजूद किसी ने नाड़ को आग लगा दी। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। पठानकोट-मनवाल रोड पर सिउंटी में आग लगने से जला पेड़ व