News That Matters

Tag: अमित

अगर तीन तलाक की कुप्रथा नहीं हटाते तो यह भारतीय लोकतंत्र पर सबसे बड़ा धब्बा होता: अमित शाह

अगर तीन तलाक की कुप्रथा नहीं हटाते तो यह भारतीय लोकतंत्र पर सबसे बड़ा धब्बा होता: अमित शाह

India
नई दिल्ली. दिल्ली केकॉन्स्टिट्यूशन क्लब में रविवार को हुए कार्यक्रम मेंगृह मंत्री अमित शाह ने तीन तलाक मामले परकहा,''कुछ राजनीतिक पार्टियों को वोट बैंक की आदत पड़ गई थी। तुष्टिकरण की राजनीति के चलते तीन तलाक इतने साल तक चलता रहा। जब हम पूरे समाज की परिकल्पना लेकर चलते हैं तो हमें संवेदनाओं के बारे में सोचना पड़ता है।’’शाह ने कहा, ''वोटों के लालच में तुष्टिकरण जरूरी नहीं है। जो पिछड़ा है, गरीब है उसे साथ लेकर चलना पड़ता है। गरीब कोई भी हो उसका धर्म नहीं होता है। विकास ही उसे मुख्यधारा में सामने लाकर खड़ा करता है। तुष्टिकरण भारत के विभाजन का कारण बना था। वोट बैंक की वजह से देश के विकास में बाधा आई।''बहुमत के आधार पर सरकार तीन तलाक खत्म कर पाईउन्होंने कहा,''मुझे लगता है कि जनता ने मोदीजी को दूसरी बार पूर्ण बहुमत देकर तुष्टिकरण की राजनीति को पूरी तरह से खत्म कर दिया। उसी बह
जेटली की हालत गंभीर, राष्ट्रपति के बाद अमित शाह और योगी आदित्यनाथ भी हाल जानने एम्स पहुंचे

जेटली की हालत गंभीर, राष्ट्रपति के बाद अमित शाह और योगी आदित्यनाथ भी हाल जानने एम्स पहुंचे

India
नई दिल्ली.राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शुक्रवार दोपहर एम्स पहुंचकरअरुण जेटली (66) केहालचाल जाने। पूर्व वित्त मंत्री जेटली 9 अगस्त से एम्स के आईसीयू में भर्ती हैं। राष्ट्रपति की विजिट के दौरान केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन और राज्यमंत्री अश्विनी चौबे भी मौजूद थे। जेटली की हालत नाजुक है।देर रात गृह मंत्री अमित शाह, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय मंत्री हषवर्धन भी एम्स पहुंचे।सांस लेने में तकलीफ के बाद एम्स मेें भर्ती कराया गया थाजेटली को बीते शुक्रवार सुबह 11 बजे एम्स में भर्ती कराया गया था। डॉक्टरों के मुताबिक, उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। एम्स ने देर शाम बताया था कि डॉक्टरों की टीम ने जेटली की सेहत पर नजर बनाए रखी है और फिलहाल उनकी हालत स्थिर है। गृहमंत्री अमित शाह, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन उनका हाल जा
विधानसभा चुनाव से पहले आज जाटलैंड में रैली करने पहुंचेंगे गृहमंत्री अमित शाह

विधानसभा चुनाव से पहले आज जाटलैंड में रैली करने पहुंचेंगे गृहमंत्री अमित शाह

Haryana
जींद। हरियाणा में विधानसभा चुनाव से ठीक पहले भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और गृह मंत्री अमित शाह जाटलैंड कहे जाने वाले जींद में रैली करने पहुंच रहे हैं। राज्यसभा सांसद बीरेंद्र सिंह द्वारा जींद के एकलव्य स्टेडियम में आयोजित की जा रही इस रैली में शाह दोपहर करीब 12.30 बजे तक पहुंचेंगे। प्रदेशभर से भाजपा कार्यकर्ता और समर्थक जुटेंगे। शाह चुनाव को लेकर पहले भी 75 पार का टारगेट कार्यकर्ताओं को दे चुके हैं, देखना विशेष रहेगा कि इस रैली में वे क्या गुरु मंत्र देते हैं?रैली के माध्यम से चौधरी बीरेंद्र सिंह चुनाव से ठीक पहले शक्ति प्रदर्शन के मूड में हैं। तभी उन्होंने शाह को न्यौता देकर बुलाया है। वहीं राजनीतिक गलियारों में यह भी चर्चा है कि बीरेंद्र सिंह ने इस रैली का आयोजन एक बार फिर अपनी पत्नी प्रेमलता को विधानसभा का टिकट दिलवाने के लिए आयोजित किया है। तभी रैली का नाम भी आस्था
अमित शाह ने कर्नाटक के बाढ़ प्रभावित इलाकों का किया हवाई सर्वेक्षण

अमित शाह ने कर्नाटक के बाढ़ प्रभावित इलाकों का किया हवाई सर्वेक्षण

India
केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को कर्नाटक के बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया। राज्य में बाढ़ के चलते 31 लोगों की मौत हो चुकी है और चार लाख से अधिक लोग बेघर हुए हैं। आधिकारिक... Live Hindustan Rss feed

बाढ़ से चार राज्यों में भीषण तबाही, 100 से ज्यादा की मौत, अमित शाह करेंगे हवाई सर्वेक्षण

India
केरल कर्नाटक गुजरात और महाराष्ट्र में पिछले तीन दिनों से भारी वर्षा के चलते तबाही का आलम है। इसी बीच गृह मंत्री अमित शाह आज बेलगावी जिले का हवाई सर्वेक्षण करेंगे। Jagran Hindi News - news:national
हालात सुधरते ही केंद्र शासित जम्मू-कश्मीर को फिर से पूर्ण राज्य बनाएंगे: अमित शाह

हालात सुधरते ही केंद्र शासित जम्मू-कश्मीर को फिर से पूर्ण राज्य बनाएंगे: अमित शाह

Delhi
कश्मीर को मुख्यधारा में लाने और आतंक मिटाने के लिए अनुच्छेद 370 हटना जरूरी था: गृह मंत्री भास्कर न्यूज | नई दिल्ली जम्मू-कश्मीर राज्य पुनर्गठन बिल, राज्य के अार्थिक रूप से पिछड़े वर्गाें काे 10% अारक्षण देने से जुड़े महत्वपूर्ण विधेयकाेें काे राज्यसभा ने साेमवार काे पास कर दिया। इसके पक्ष में 125 और विरोध में 61 वोट पड़े। विधेयकाें पर करीब छह घंटे चली बहस में गृह मंत्री अमित शाह ने न केवल सदस्याें के सवालाें के जवाब दिए, बल्कि उनकी अाशंकाअाें काे खारिज भी किया। शाह ने राज्यसभा में कहा कि हालात सुधरते ही जम्मू-कश्मीर को दोबारा पूर्ण राज्य का दर्जा दिया जाएगा। राज्य काे मुख्य धारा से जाेड़ने अाैर उसके विकास के लिए अनुच्छेद 370 हटाना जरूरी था। इससे राज्य में अातंकवाद का अंत होगा। शाह ने राज्य की शिक्षा, सेहत, राेजगार, भ्रष्टाचार अाैर गरीबी के मुद्दाें पर बात की। शाह ने अनु
Article 370: पर्दे के पीछे अमित शाह के साथ काम कर रहे थे ये तीन मंत्री

Article 370: पर्दे के पीछे अमित शाह के साथ काम कर रहे थे ये तीन मंत्री

India
केन्द्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने सोमवार को ऐतिहासिक फैसला लेते हुए जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को खत्म कर दिया। गृहमंत्री अमित शाह ने संसद में इसका ऐलान किया। उन्हानें... Live Hindustan Rss feed
जम्मू-कश्मीर बोल रहा हूं तो इसमें पीओके भी शामिल, इसके लिए तो जान दे देंगे: अमित शाह

जम्मू-कश्मीर बोल रहा हूं तो इसमें पीओके भी शामिल, इसके लिए तो जान दे देंगे: अमित शाह

India
नई दिल्ली. गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने का प्रस्ताव पेश किया। इस पर विपक्ष ने हंगामा किया। कांग्रेस नेता अधीररंजन चौधरी ने कहा कि कश्मीर मामला संयुक्त राष्ट्र (यूएन) में लंबित है, इसलिए यह अंदरूनी मसला कैसे हो सकता है। इस पर शाह ने चुनौती दी कि अगर सरकार ने कोई नियम तोड़ा हो तो बताएं। हम पाक के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) को भी अपना मानते हैं। इसके लिए जान दे देंगे। शाह ने सोमवार को राज्यसभा में अनुच्छेद 370 हटाने का प्रस्ताव पेश किया था। इसके बाद राष्ट्रपति ने अनुच्छेद हटाने की अधिसूचना जारी कर दी।शाह ने राज्यसभा में कहा था कि जम्मू-कश्मीर दिल्ली और पुड्डुचेरी की तरह केंद्र शासित प्रदेश रहेगा यानी यहां विधानसभा रहेगी। वहीं लद्दाख की स्थिति चंडीगढ़ की तरह होगी, जहां विधानसभा नहीं होगी।अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी कियाइससे पहले केंद्र
जम्मू कश्मीर में लागू नहीं होंगे अनुच्छेद 370 के सभी खंड: अमित शाह

जम्मू कश्मीर में लागू नहीं होंगे अनुच्छेद 370 के सभी खंड: अमित शाह

Rajasthan
इंटरनेट डेस्क। गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू कश्मीर से संबंधित संविधान अनुच्छेद 370 (3) को हटाने को लेकर संकल्प और जम्मू कश्मीर पुनर्गठन विधेयक राज्य सभा में पेश कर दिया। कैबिनेट की बैठक में जम्मू-कश्मीर को लेकर आज हो सकते हैं कई महत्वपूर्ण फैसले, उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती नजरबंद सोमवार को विपक्ष के जबदस्त हंगामे के बीच गृह मंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में एक संकल्प पेश कर कहा कि संविधान के अनुच्छेद 370 के सभी खंड जम्मू कश्मीर में लागू नहीं होंगे। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति के अनुमोदन के बाद अनुच्छेद 370 के सभी खंड लागू नहीं होंगे। जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने चेतावनी भरे लहजे में बोल दी ये बड़ी बात राज्यसभा की कार्यवाही शुरू होते ही सभापति एम वैंकेया नायडु ने कहा कि गृह मंत्री अमित शाह जम्मू कश्मीर आरक्षण (द्वितीय संशोधन) विधेयक 2019 को पेश करेंगे। इ

अनुच्छेद 370: सोशल मीडिया ने अमित शाह पर कहा- मैं सत्ता में आता हूं समझ में नहीं

Indian Technology
एक यूजर्स ने इस फैसले पर अमित शाह की फोटो के साथ 'मैं सत्ता में आता हूं समझ में नहीं' कैप्शन लिखकर शेयर किया है। आइए देखते हैं अनुच्छेद 370 को लेकर सोशल मीडिया पर आए रिएक्शन... Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala