News That Matters

Tag: आजीवन

बुजुर्ग के हत्यारे तीन दोषियों को आजीवन कारावास, ‌Rs.12-12 हजार जुर्माना भी लगाया

बुजुर्ग के हत्यारे तीन दोषियों को आजीवन कारावास, ‌Rs.12-12 हजार जुर्माना भी लगाया

Haryana
मृतक के पोते से मारपीट कर जातिसूचक अपशब्द बोलने का भी लगाया था आरोप भास्कर न्यूज | हिसार हांसी के सिसाय बोलान गांव में 12 जुलाई 2016 को बुजुर्ग रामकुमार की पीटकर हत्या करने और उसके पोते बलवान के साथ मारपीट करके जातिसूचक अपशब्द बोलकर जान से मारने की धमकी देने वाले तीन दोषी अशोक, रघुवीर और नरेंद्र को एडीएसजे डीआर चालिया की कोर्ट ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। प्रत्येक दोषी पर 12-12 हजार रुपए जुर्माना लगाया है, जिसे न भरने पर 2 साल की अतिरिक्त सजा काटनी होगी। अदालत में चले अभियोग के अनुसार सिसाय बोलान निवासी बलवान की शिकायत पर हांसी सदर थाना पुलिस ने तीनों दोषियों के विरुद्ध केस दर्ज किया था। दादा रामकुमार को गांव का ही रघुवीर अपने साथ बाइक पर बैठाकर हांसी लेकर गया था। यह बात चाची धापा और दादी नीलम ने बताई थी। ऐसे में देर रात को करीब साढ़े 12 बजे घर के बाहर गली में च
दुष्कर्म के बाद छात्रा की चुन्नी से गला घोंटकर हत्या करने वाले प्रेमी को आजीवन कारावास

दुष्कर्म के बाद छात्रा की चुन्नी से गला घोंटकर हत्या करने वाले प्रेमी को आजीवन कारावास

Haryana
जिले के एक गांव के खेत में करीब 2 साल पहले आईटीआई छात्रा की दुष्कर्म के बाद हत्या करने के मामले में फतेहाबाद के एक गांव वासी आरोपी को शुक्रवार एडीएसजे डॉ. पंकज की कोर्ट ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। उस पर 10 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया है। अदालत में चले अभियोग के अनुसार 4 फरवरी, 2017 काे फतेहाबाद के एक गांव निवासी एक व्यक्ति ने बेटी की हत्या व शव खुर्द-बुर्द का केस दर्ज कराया था। छात्रा के पिता ने पुलिस को बताया था कि उसकी बेटी आईटीआई में पढ़ती थी। 3 फरवरी को वह पढ़ने के लिए घर से गई थी लेकिन लौटकर नहीं आई। 4 फरवरी को गुमशुदगी का केस दर्ज करवाया था। बेटी की तलाश में पता चला कि गांव का ही शादीशुदा युवक बाइक पर बैठाकर ले गया था। दोपहर को सूचना मिली कि आदमपुर स्थित सदलपुर गांव में खेतों किनारे सड़क पर एक लड़की का शव पड़ा है। मौके पर गया तो वह शव उसकी बेटी मिला। चुन
स्पॉट फिक्सिंग: सुप्रीम कोर्ट ने श्रीसंत पर लगा आजीवन प्रतिबंध रद्द किया

स्पॉट फिक्सिंग: सुप्रीम कोर्ट ने श्रीसंत पर लगा आजीवन प्रतिबंध रद्द किया

Indian Sports
सुप्रीम कोर्ट ने 2013 में बीसीसीआई की अनुशासनात्मक समिति के उस आदेश को रद्द कर दिया, जिसमें क्रिकेटर एस श्रीसंत पर आजीवन प्रतिबंध लगाया गया था। बीसीसीआई की अनुशासनात्मक समिति से सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि वह तीन महीने के भीतर एस श्रीसंत को दी जाने वाली सजा की अवधि पर पुनर्विचार करे। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Spot fixing case: Supreme Court asked the BCCI to reconsider its order of life ban on S Sreesanth Dainik Bhaskar
श्रीसंथ को सुप्रीम कोर्ट से मिली बड़ी राहत, उन पर लगा आजीवन बैन हटाया, सजा को लेकर BCCI को दिए इस बात के निर्देश

श्रीसंथ को सुप्रीम कोर्ट से मिली बड़ी राहत, उन पर लगा आजीवन बैन हटाया, सजा को लेकर BCCI को दिए इस बात के निर्देश

Indian Sports
स्पोर्ट्स डेस्क. IPL स्पॉट फिक्सिंग मामले में आजीवन प्रतिबंध झेल रहे क्रिकेटर एस. श्रीसंत को बड़ी राहत देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने उन पर लगा बैन हटा दिया है। साथ ही कोर्ट ने BCCI की अनुशासनात्मक समिति से कहा कि वो तीन महीने के भीतर श्रीसंत को दी जाने वाली सजा की अवधि को लेकर पुनर्विचार भी करे। इससे पहले साल 2015 में निचली अदालत ने श्रीसंत को कथित स्पॉट फिक्सिंग के आपराधिक मामले से बरी कर दिया था। हालांकि, अक्टूबर 2017 में केरल हाई कोर्ट ने श्रीसंत पर लगाए गए आजीवन प्रतिबंध को फिर से बहाल कर दिया।फैसले से दिल्ली हाईकोर्ट में चल रहे मामले पर असर नहीं पड़ेगा...- आजीवन बैन को हटाते हुए सुप्रीम कोर्ट ने ये भी स्पष्ट किया कि उसके इस फैसले से दिल्ली हाई कोर्ट में श्रीसंत के खिलाफ लंबित आपराधिक कार्यवाही के मामले पर कोई असर नहीं पड़ेगा। दिल्ली पुलिस ने निचली अदालत के उस फैसले को

Spot fixing case: श्रीसंत पर आजीवन प्रतिबंध को लेकर पुनर्विचार करे BCCI- सुप्रीम कोर्ट

Indian Sports
Spot fixing मामले में सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में बीसीसीआई से तीन महीने के भीतर एस श्रीसंत की याचिका पर पुनर्विचार करने को कहा है। Jagran Hindi News - cricket:headlines

श्रीसंत को बड़ी राहत, सुप्रीम कोर्ट ने आजीवन प्रतिबंध हटाया

Indian Sports
नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने शुक्रवार को क्रिकेटर एस श्रीसंत को बड़ी राहत देते हुए उन पर आजीवन प्रतिबंध लगाने संबंधी बीसीसीआई अनुशासनात्मक समिति के 2013 के आदेश को दरकिनार कर दिया। खेल-संसार
सुप्रीम कोर्ट ने श्रीसंत से आजीवन प्रतिबंध हटाया, बीसीसीआई से सजा पर पुनर्विचार करने को कहा

सुप्रीम कोर्ट ने श्रीसंत से आजीवन प्रतिबंध हटाया, बीसीसीआई से सजा पर पुनर्विचार करने को कहा

Indian Sports
नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट ने 2013 में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की अनुशासनात्मक समिति के उस आदेश को रद्द कर दिया है, जिसमें क्रिकेटर एस श्रीसंत पर आजीवन प्रतिबंध लगाया गया था। अदालत ने बीसीसीआई की अनुशासनात्मक समिति से कहा है कि वह तीन महीने के भीतर श्रीसंत को दी जाने वाली सजा की अवधि पर पुनर्विचार करे।जस्टिस अशोक भूषण की अध्यक्षता वाली सुप्रीम कोर्ट की पीठ ने बीसीसीआई से कहा कि श्रीसंत को दी गई सजा की अवधि पर वह नए सिरे से फैसला ले। वह यह काम तीन महीने के भीतर पूरा कर ले।मैं मैदान पर वापसी को तैयार : श्रीसंतसुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद श्रीसंत ने कहा, ‘सेलेक्शन वगैरह सिलेक्टर्स के ऊपर है। अभी बहुत लाइफ बाकी है तो जय माता दी। बहुत बार ऐसा हुआ है कि खिलाड़ियों को इंजरी हुई है। मैं ऐसा सोचूंगा की मेरे साथ बड़ी इंजरी थी। अगर लिएंडर पेस जैसे महान खिलाड़ी 4

अमित भंडारी पर हमला करने वाले दागी क्रिकेटर को झेलनी होगी आजीवन प्रतिबंध की सजा

Indian Sports
नई दिल्ली। भारत के पूर्व तेज गेंदबाज और दिल्ली के मुख्य चयनकर्ता अमित भंडारी पर हमला करने वाले दागी क्रिकेटर अनुज डेढ़ा को अपनी हरकर के कारण बड़ी सजा मिली है। दिल्ली क्रिकेट एसोसिएशन (डीडीसीए) ने अनुज पर आजीवन प्रतिबंध लगाने का फैसला लिया है। खेल-संसार
डीडीसीए ने अंडर-23 क्रिकेटर अनुज डेढ़ा और उसके भाई पर आजीवन प्रतिबंध लगाया

डीडीसीए ने अंडर-23 क्रिकेटर अनुज डेढ़ा और उसके भाई पर आजीवन प्रतिबंध लगाया

Indian Sports
नई दिल्ली. दिल्ली एंड डिस्ट्रिक्ट्स क्रिकेट एसोसिएशन (डीडीसीए) ने भारत के पूर्व तेज गेंदबाज अमित भंडारी पर हमला करने के मामले में अंडर-23 क्रिकेटर अनुज डेढ़ा और उसके भाई नरेश पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया है। डीडीसीए के अध्यक्ष रजत शर्मा ने बताया कि चयनकर्ताओं पर कुछ खिलाड़ियों को लेने के लिए दबाव डालने संबंधी शिकायतों की जांच शुरू कर दी गई है। इसके अलावा अनुज डेढ़ा और नरेश पर आजीवन प्रतिबंध लगाने का फैसला किया गया है।अभी पुलिस हिरासत में है अनुज डेढ़ाअनुज डेढ़ा ने प्रदेश की अंडर-23 टीम में चयन नहीं होने पर डीडीसीए के चयन समिति के अध्यक्ष के साथ मारपीट की थी। भंडारी पर सोमवार को अंडर-23 ट्रायल्स के दौरान सेंट स्टीफन्स ग्राउंड पर तब हमला किया गया, जब वे सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी की तैयारी कर रही दिल्ली की सीनियर टीम का अभ्यास मैच देख रहे थे। अनुज डेढ़ा और उसके साथियों ने अमित

‘चयन समिति के अध्यक्ष पर हमला करने वाले इस क्रिकेटर पर लगेगा आजीवन प्रतिबंध’

Indian Sports
चयन समिति के अध्यक्ष पर हमला करने वाले क्रिकेटर अनुज डेढ़ा पर आजीवन प्रतिबंध लगेगा। Jagran Hindi News - cricket:headlines