News That Matters

Tag: आत्मा

दो साल पहले हुई थी बच्चे की मौत, तांत्रिक को लेकर आत्मा लेने अस्पताल पहुंचे परिजन

दो साल पहले हुई थी बच्चे की मौत, तांत्रिक को लेकर आत्मा लेने अस्पताल पहुंचे परिजन

Rajasthan
कोटा.राजस्थान के कोटा में एक निजी अस्पताल में अंधविश्वास का नजारा नजर आया। अस्पताल में दो साल पहले एक साल के बच्चे की मौत हो गई थी। सोमवार को परिजन तांत्रिक को लेकर अस्पताल पहुंच गए। यहां पर परिजनों के साथ तांत्रिक के करीब 30 मिनट तक पूजा-अर्चना की।ये भी पढ़ेंदो साल पहले हादसे में मरा युवक, भोपा ने कहा-आत्मा भटक रही, परिजनों के साथ बांगड़ अस्पताल में पहुंच कराई पूजाहालांकि, अस्पताल में पूजा कर रहे तांत्रिक को देखने के लिए भारी भीड़ जुट गई। इसके वहां मौके पर पहुंची पुलिस ने उन्हें वहां से हटा दिया। तांत्रिक ने दावा किया कि मृत बच्चे की आत्मा अस्पताल में भटक रही है। तंत्र विद्या से वह आत्मा की शांति दिलाएगा और वहां से आत्मा को अपने साथ ले जाएगा।जानकारी के मुताबिक, तांत्रिक को लेकर आए परिजन बूंदी के हिंडोली कस्बे के चेता गांव में रहने वाले हैं। रिश्तेदारों ने बताया कि बच्चे
तन की शक्ति, मन की स्थिरता और आत्मा से परमात्मा के मिलन का आधार है योग

तन की शक्ति, मन की स्थिरता और आत्मा से परमात्मा के मिलन का आधार है योग

India
जीवन मंत्र डेस्क.योग सिर्फ शारीरिक स्वास्थ्य का साधन नहीं है। ये हमारी मानसिक ऊर्जा के उत्कर्ष और आध्यात्मिक चेतना का आधार भी है। योग शरीर के साथ मन और आत्मा के जुड़ाव और संतुलन का नाम है। ध्यान और समाधि, दोनों योग के अंग हैं। योग के आसन शरीर को स्वस्थ रखते हैं। ध्यान मन को स्थिर करता है और समाधि आत्मा से परमात्मा के जुड़ाव का आधार बनती है। विश्व योग दिवस पर पहली बार एक साथ पढ़ें तन, मन और आत्मा के योग से जुड़ाव पर स्वामी रामदेव (पतंजलि योगपीठ), श्रीश्री रविशंकर (संस्थापक आर्ट ऑफ लिविंग) और सद्गुरु जग्गी वासुदेव (संस्थापक ईशा फाउंडेशन) के विचार। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें Yog diwas 2019 world yoga day 2019 Baba Ramdev, SriSri Ravishankar, Sadguru Jaggi Vasudev special article Daini
शरीर, मन व आत्मा को सेहतमंद रखने के लिए योग का बहुत बड़ा महत्व : डॉ. अमन

शरीर, मन व आत्मा को सेहतमंद रखने के लिए योग का बहुत बड़ा महत्व : डॉ. अमन

Punjab
आयुर्वेदिक विभाग द्वारा जिला आयुर्वेदिक व यूनानी अधिकारी डॉ. रेनुका कपूर की अगुआई में आदर्श सीनियर सेकेंडरी स्कूल में लोगों के लिए मुफ्त योग व मेडिटेशन कैंप आयोजित किया गया। आयुर्वेदिक मेडिकल अधिकारी डॉ.अमन कौशल ने लोगों को योग अभ्यास करवाया। डॉ. अमन कौशल ने कहा कि शरीर, मन व आत्मा को सेहतमंद रखने के लिए योग का बहुत बड़ा महत्व है। योग का निरंतर अभ्यास करके हम पूरी तरह सेहतमंद व निरोग रह सकते हैं। उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति को अपने जीवन में योग को अपनाना चाहिए। डॉ. रविकांत मदान ने कहा कि 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस आदर्श मॉडल स्कूल में मनाया जा रहा है। इस मौके पर योगेश खुराना, डॉ. दिव्या बांसल, डॉ. तपिंदर कौर, डॉ. रोजी, विशाल कुमार, ईशा गोयल, डॉ. पवन अग्रवाल, कर्मजीत पाल, डॉ. रजनी बाला, सुखपाल कौर आदि उपस्थित थे। संघेड़ा में योग कैंप शुरू बरनाला| सेहत व परिवार भलाई
आत्मा के स्वास्थ्य का ध्यान नहीं रखा तो शरीर पर होगा असर

आत्मा के स्वास्थ्य का ध्यान नहीं रखा तो शरीर पर होगा असर

Punjabi Politics
हर एक के जीवन में परिवार, बच्चों और उनके भविष्य से जुड़े कई सपने होते हैं। जीवन में जो भी मिलता है वह हमें संतुष्टि और खुशी जरूर देता है। लेकिन आज समाज में मैं देखती हूं कि जीवन की आकांक्षाओं को पूरा करते हुए हमारी खुशी गुम होती जा रही है। आखिर वह कौन से कारण हैं जो हमारी खुशी को हमसे दूर कर देते हंै और पारिवारिक सम्बन्धों में दूरियां लाता है। कोई पल हमें खुशी देता है तो कोई पल हमें उदास भी कर देता है। इसका मुख्य कारण यही है कि हमारा वर्तमान जीवन, व्यक्ति और लोगों पर निर्भर कर रहा है। मान लीजिए किसी दिन सुबह बच्चे स्कूल जाने के लिए समय पर तैयार तो हो गए लेकिन बस नहीं आई तो आपको गाड़ी से जल्दबाजी में छोड़ने जाना पड़ा। पहले वाले सीन में खुशी थी लेकिन दूसरे सीन में खुशी गुम हो गई। फिर अगला सीन आता है, स्कूल समय पर तो पहुंच गए, फिर याद आया कि बच्चे ने जो होमवर्क किया था वो न
पाठ सुनने से मनुष्य की आत्मा को शांति मिलती है: उपेंद्र मुनि

पाठ सुनने से मनुष्य की आत्मा को शांति मिलती है: उपेंद्र मुनि

Haryana
मॉडल टाउन स्थित जैन स्थानक के सभागार में रविवार को एक विशेष प्रवचन सभा का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में उपेन्द्र मुनि विशे तौर पर उपस्थित रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रधान राकेश जैन ने की तथा संचालन महामंत्री सतीश जैन ने किया। उपेंद्र मुनि ने यहां अपने प्रवचनों में कहा कि पाठ सुनने से मनुष्य की आत्मा को शांति मिलती है, और कर्मों से निर्जरा होती है। उन्होंने कहा कि युवाओं को अपने माता-पिता की सेवा करनी चाहिए, यही हमारे जीवन का शुभारंभ है। हम सभी को आपस में प्रेम से रहना चाहिए और एक दूसरे के कार्यक्रमों में भाग लेकर जैन एकता को बल देना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह समय है कि हम सभी जैन धर्म की एक सांझी छत के नीचे प्रेम पूर्वक रहें। उन्होंने कहा कि हम बचपन से सुनते आए हैं कि एकता में बल होता है परंतु इस बात को अपने जीवन में उतारने में संकोच करते हैं। कारण चाहे कुछ भी हो पर अप
नोबेल से सम्मानित सत्यार्थी ने कहा- गोडसे ने गांधी की हत्या की, प्रज्ञा जैसे लोग उनकी आत्मा मार रहे

नोबेल से सम्मानित सत्यार्थी ने कहा- गोडसे ने गांधी की हत्या की, प्रज्ञा जैसे लोग उनकी आत्मा मार रहे

India
भोपाल.नोबेल से सम्मानित कैलाश सत्यार्थी ने साध्वी प्रज्ञा को भाजपा से निकाले जाने की मांग की है। सत्यार्थी ने कहा कि गोडसे ने तो गांधीजी के शरीर की हत्या की थी, लेकिन प्रज्ञा जैसे लोग उनकी आत्मा को मार रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा छोटे से फायदे का मोह छोड़कर, प्रज्ञा को पार्टी से निकाले और राजधर्म निभाए।ये भी पढ़ेंकमलनाथ ने कहा- प्रधानमंत्री में हिम्मत है तो प्रज्ञा को पार्टी से बाहर करने का साहस दिखाएंसाध्वी प्रज्ञा ने एक चुनावी रैली के दौरान कहा था कि नाथूराम गोडसे देशभक्त थे और रहेंगे। उन्होंने कमल हासन के बयान पर निशाना साधते हुए कहा था कि जो गोडसे को आतंकवादी कहते हैं, उन्हें अपने गिरेबां में झांकना चाहिए। हालांकि, अपने बयान पर प्रज्ञा ने माफी मांग ली थी।गांधी सत्ता और राजनीति से ऊपर- सत्यार्थीकैलाश सत्यार्थी ने ट्वीट किया, "गोडसे ने गांधी के शरीर की हत्या की थी,
एमबीएस में फिर दिखा अंधविश्वास, 20 साल पहले हुई थी युवक की मौत, आत्मा लेने पहुंचे परिजन

एमबीएस में फिर दिखा अंधविश्वास, 20 साल पहले हुई थी युवक की मौत, आत्मा लेने पहुंचे परिजन

Rajasthan
कोटा| एमबीएस अस्पताल में शुक्रवार को एक बार फिर अंधविश्वास देखने को मिला। भीलवाड़ा जिले के बिजौलिया से कुछ लोग अपने उस परिजन की आत्मा लेने यहां आ गए, जिसकी 20 साल पहले हार्ट अटैक से इस अस्पताल में मौत हुई थी। हालांकि सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंच गई और टोने-टोटके कर रहे परिवार के दो सदस्यों को शांतिभंग में गिरफ्तार कर लिया। बिजौलिया निवासी गुमान सिंह (30) की मौत 20 साल पहले एमबीएस अस्पताल में हार्ट अटैक से हो गई थी। जिस समय गुमान सिंह की मौत हुई, उस समय उसके एक ही बेटा जीतू था। परिजनों पर आफत का पहाड़ टूटा तो परिवार के बड़े बुजुर्गों ने उन्हें देवता की शरण में जाने की बात कही। वहां बताया गया कि जीतू के पिता की आत्मा भटक रही है। इस पर परिजन आत्मा लेने के लिए अस्पताल आ गए और यहां तंत्र-मंत्र शुरू कर दिया। इसी बीच अस्पताल पुलिस चौकी इंचार्ज चंपालाल को पता चला तो उन
श्रीलंका बम धमाकों में मारे गए लोगों की आत्मा शांति के लिए ख्वाजा साहब की दरगाह में हुईृ विशेष दुआ

श्रीलंका बम धमाकों में मारे गए लोगों की आत्मा शांति के लिए ख्वाजा साहब की दरगाह में हुईृ विशेष दुआ

Rajasthan
आरिफ कुरेशी. अजमेर.इस्टरसंडे प्रार्थना के दौरान श्रीलंका में हुए बम धमाकों से 215 लोगों की मौत हो गई। वहीं,500 से ज्यादा लोग धायल बताए जा रहे हैं।मारने वालो में 4 भारतीय भी शामिल है। इस घटना से भारत में भी लोग गमगीन है। हर तरफ इस घटना की निंदा की जा रही है। अजमेर शरीफ हज़रत ख्वाजा गरीब नवाज की दरग़ाह में भी दुआओ का दौर जारी है। जहां अकीदतमंदों ने श्रीलंका बम धमाकों में मरे लोगो की आत्मा की शांति के लिए दुआ की।राजीव गांधी ब्रिगेड के राष्ट्रीय सचिव सय्यद इमरान चिश्ती के नेतृत्व में सोमवार को दरग़ाह के शाहजानि मस्जिद के बाहर जन्नती दरवाजे पर में दुआ की गई। जिसमे श्रीलंका धमाके में मारे गए लोगो की आत्मा की शांति औरसैकड़ो घायलों कि सलामती की दुआ मांगी गई।फोटो- आरिफ कुरेशी Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today dargah jiyarat at

MOVIE REVIEW: आत्मा

Entertainment
हम दर्शकों की चहल-पहल से अंदाजा लगा सकते हैं कि कोई हॉरर फिल्‍म उन्‍हें डराने में कामयाब हो पा रही है या नहीं। इससे फर्क नहीं पड़ता कि फिल्‍म बहुत अच्‍छी है या बहुत बुरी, दर्शक हंसते जरूर हैं। लेकिन हमें यह पता करना होता है कि कहीं दर्शकों की सिट्टी-पिट्टी तो गुम नहीं है और कहीं वे अपना डर भगाने के लिए तो नहीं हंस रहे हैं?वर्ष 2003 की फिल्‍म भूत को याद करें। या कहीं ऐसा तो नहीं कि दर्शक इसलिए हंस रहे हैं, क्‍योंकि उन्‍होंने जिसे हॉरर फिल्‍म समझा था, वह तो कॉमेडी है। और अब वर्ष 2012 की फिल्‍म 'भूत रिटर्न्‍स' याद करें।मैं जिस थिएटर में यह फिल्‍म देख रहा था (यह एक प्रेस प्रिव्‍यू था और वहां अच्‍छी-खासी तादाद में लोग मौजूद थे), वहां मैं लगातार दूसरी तरह की हंसी सुनता रहा। लोग किसी डर को दबाने के बजाय मजे से हंस रहे
स्वस्थ शरीर में होता है स्वस्थ आत्मा का वास : दलबीर

स्वस्थ शरीर में होता है स्वस्थ आत्मा का वास : दलबीर

Punjab
संत निरंकारी मिशन ब्रांच तरनतारन की ओर से पट्‌टी के स्थानीय कम्यूनिटी हेल्थ सेंटर की सफाई की गई। इस बारे में ब्रांच के मुख्य मेंबर प्रेम कुमार और दलबीर सिंह ने कहा कि स्वच्छता का अर्थ होता है हमारे शरीर, मन और हमारे चारों तरफ की चीजों को साफ करना। स्वच्छता मानव समुदाय का एक आवश्यक गुण होता है। यह विभिन्न प्रकार की बीमारियों से बचाव के सरल उपायों में से एक है। रोजमर्रा के जीवन में हमें बच्चों को साफ-सफाई के महत्व और इसके उद्देश्यों को भी समझाना चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत में रेलवे स्टेशन, तालाबों, अस्पतालों और डिस्पेंसरियों को साफ रखने और भारत को प्रदूषणमुक्त रखने के लिए सफाई मुहिम चलाई जा रही है। हेल्थ सेंटर में साफ-सफाई करते संत निरंकारी मिशन ब्रांच के सदस्य। फोटो : भास्कर मुहिम को आगे बढ़ाने के लिए मेंबर दे रहे सहयोग ब्रांच के मुख्य मेंबर प्रेम कुमार और दलबीर सिंह न