News That Matters

Tag: आत्मा

श्रीलंका बम धमाकों में मारे गए लोगों की आत्मा शांति के लिए ख्वाजा साहब की दरगाह में हुईृ विशेष दुआ

श्रीलंका बम धमाकों में मारे गए लोगों की आत्मा शांति के लिए ख्वाजा साहब की दरगाह में हुईृ विशेष दुआ

Rajasthan
आरिफ कुरेशी. अजमेर.इस्टरसंडे प्रार्थना के दौरान श्रीलंका में हुए बम धमाकों से 215 लोगों की मौत हो गई। वहीं,500 से ज्यादा लोग धायल बताए जा रहे हैं।मारने वालो में 4 भारतीय भी शामिल है। इस घटना से भारत में भी लोग गमगीन है। हर तरफ इस घटना की निंदा की जा रही है। अजमेर शरीफ हज़रत ख्वाजा गरीब नवाज की दरग़ाह में भी दुआओ का दौर जारी है। जहां अकीदतमंदों ने श्रीलंका बम धमाकों में मरे लोगो की आत्मा की शांति के लिए दुआ की।राजीव गांधी ब्रिगेड के राष्ट्रीय सचिव सय्यद इमरान चिश्ती के नेतृत्व में सोमवार को दरग़ाह के शाहजानि मस्जिद के बाहर जन्नती दरवाजे पर में दुआ की गई। जिसमे श्रीलंका धमाके में मारे गए लोगो की आत्मा की शांति औरसैकड़ो घायलों कि सलामती की दुआ मांगी गई।फोटो- आरिफ कुरेशी Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today dargah jiyarat at

MOVIE REVIEW: आत्मा

Entertainment
हम दर्शकों की चहल-पहल से अंदाजा लगा सकते हैं कि कोई हॉरर फिल्‍म उन्‍हें डराने में कामयाब हो पा रही है या नहीं। इससे फर्क नहीं पड़ता कि फिल्‍म बहुत अच्‍छी है या बहुत बुरी, दर्शक हंसते जरूर हैं। लेकिन हमें यह पता करना होता है कि कहीं दर्शकों की सिट्टी-पिट्टी तो गुम नहीं है और कहीं वे अपना डर भगाने के लिए तो नहीं हंस रहे हैं?वर्ष 2003 की फिल्‍म भूत को याद करें। या कहीं ऐसा तो नहीं कि दर्शक इसलिए हंस रहे हैं, क्‍योंकि उन्‍होंने जिसे हॉरर फिल्‍म समझा था, वह तो कॉमेडी है। और अब वर्ष 2012 की फिल्‍म 'भूत रिटर्न्‍स' याद करें।मैं जिस थिएटर में यह फिल्‍म देख रहा था (यह एक प्रेस प्रिव्‍यू था और वहां अच्‍छी-खासी तादाद में लोग मौजूद थे), वहां मैं लगातार दूसरी तरह की हंसी सुनता रहा। लोग किसी डर को दबाने के बजाय मजे से हंस रहे
स्वस्थ शरीर में होता है स्वस्थ आत्मा का वास : दलबीर

स्वस्थ शरीर में होता है स्वस्थ आत्मा का वास : दलबीर

Punjab
संत निरंकारी मिशन ब्रांच तरनतारन की ओर से पट्‌टी के स्थानीय कम्यूनिटी हेल्थ सेंटर की सफाई की गई। इस बारे में ब्रांच के मुख्य मेंबर प्रेम कुमार और दलबीर सिंह ने कहा कि स्वच्छता का अर्थ होता है हमारे शरीर, मन और हमारे चारों तरफ की चीजों को साफ करना। स्वच्छता मानव समुदाय का एक आवश्यक गुण होता है। यह विभिन्न प्रकार की बीमारियों से बचाव के सरल उपायों में से एक है। रोजमर्रा के जीवन में हमें बच्चों को साफ-सफाई के महत्व और इसके उद्देश्यों को भी समझाना चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत में रेलवे स्टेशन, तालाबों, अस्पतालों और डिस्पेंसरियों को साफ रखने और भारत को प्रदूषणमुक्त रखने के लिए सफाई मुहिम चलाई जा रही है। हेल्थ सेंटर में साफ-सफाई करते संत निरंकारी मिशन ब्रांच के सदस्य। फोटो : भास्कर मुहिम को आगे बढ़ाने के लिए मेंबर दे रहे सहयोग ब्रांच के मुख्य मेंबर प्रेम कुमार और दलबीर सिंह न
आत्मा प्रभु का नाम जपने से ही होगी तृप्त : रजनी माता

आत्मा प्रभु का नाम जपने से ही होगी तृप्त : रजनी माता

Punjabi Politics
जालंधर|सर्व सांझा रूहानी मिशन के संस्थापक संत जीवन वीर जी महाराज की प|ी गुरु रजनी माता ने पूज्य संत बूड़ सिंह बीर जी महाराज की बरसी के उपलक्ष्य में करवाए गए सत्संग में प्रवचन करते हुए कहा कि हर इंसान दुनिया में अपनी-अपनी जरूरत के हिसाब से चीजें इकट्ठा कर रहा है, लेकिन यह चीजें तो शरीर तक ही सीमित हैं, शरीर को तृप्त करती हैं परंतु आत्मा की तृप्ति प्रभु का नाम जपने से ही होगी। प्रभु नाम का रस अपनी वाणी के द्वारा जब हम अपने जीवन में उतारेंगे तभी हमारी आत्मा पवित्र हो सकेगी। हम अपने जीवन में खुशहाली को महसूस कर सकेंगे। अपने सुख-दुख के जिम्मेदार खुद हैं। हमें जिंदगी जीने की कला सतगुरु से ही मिलती है। इसलिए हमें अच्छी संगत और अच्छे विचार ग्रहण करने चाहिए ताकि हम अपनी आने वाली पीढ़ी को सही दिशा दिखा सकें। इस अवसर पर नरेश नरेश लाडी, राजेश बब्बर, शक्ति कुमार, साहिल अरोड़ा, सुभाष
आत्मा योजना में कृषक भ्रमण दल रवाना

आत्मा योजना में कृषक भ्रमण दल रवाना

Rajasthan
भास्कर संवाददाता | चित्तौड़गढ़ जिले से आत्मा योजना के तहत अंतरराज्यीय अनुसूचित जनजाति कृषकों का भ्रमण दल रवाना हुआ। उप निदेशक दिनेश कुमार जागा ने बताया कि भ्रमण दल दांतीवाड़ा कृषि विश्वविद्यालय, कृषि विज्ञान केंद्र जामनगर, मूंगफली अनुसंधान केंद्र जूनागढ़, आनंद डेयरी एवं अन्य संस्थानों के लिए रवाना हुआ। इस दल में जिले की सभी पंचायत समिति से किसान शामिल है। यह दल गुजरात में कृषि गतिविधियों ड्रिप सिंचाई सब्जी की उन्नत किस्मों, फलोद्यान एवं कृषि की बहुउपयोगी जानकारी प्राप्त करेंगे। उप परियोजना निदेशक कोमलचंद्र मोदी ने किसानों का स्वागत किया। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar
मिशन 2019: शशि थरूर बोले- यह चुनाव भारत की आत्मा के लिए जंग होगा

मिशन 2019: शशि थरूर बोले- यह चुनाव भारत की आत्मा के लिए जंग होगा

India
कांग्रेस के नेता और लेखक शशि थरूर ने गुरुवार को कहा कि आसन्न आम चुनाव भारत की आत्मा के लिए जंग होगा। उन्होंने आरोप लगाया कि सत्तारूढ़ दल के करीबी लोगों की ओर से एकदम भिन्न तरह के भारत की वकालत की जा... Live Hindustan Rss feed

राष्ट्रगीत ही नहीं, राष्ट्र की आत्मा भी है वंदेमातरम

India
यह ऐसा मंत्र है, जिसे बोकर देश के सपूत अमर बलिदानी हो गए। देश को ब्रितानी हुकूमत से आजाद कराने के लिए फांसी के फंदे पर झूल गए। यह राष्ट्रगीत ही नहीं, राष्ट्र की आत्मा भी है। Jagran Hindi News - news:national
आत्मा से परमात्मा तक का सफर है शिक्षा : रामबिलास

आत्मा से परमात्मा तक का सफर है शिक्षा : रामबिलास

Haryana
हरियाणा के शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा ने स्कूली बच्चों से आह्वान किया है कि वे सब कुछ पढ़ें लेकिन हिन्दुस्तान को पढ़ना न भूलें। वे किसी भी भाषा के साहित्य को पढ़े लेकिन साथ में मुंशी प्रेमचंद के गोदान को जरूर पढ़े। उन्होंने शिक्षा को आत्मा से परमात्मा तक का सफर बताया और कहा कि अध्यापन व सीखना एक अनंत प्रक्रिया है जो लगातार चलती रहती है। भारत की शिक्षा, संस्कार व संस्कृति की गुणवत्ता सर्वश्रेष्ठï है। यह बात शुक्रवार को एमडीयू के टैगोर आडिटोरियम में इंडस पब्लिक स्कूल के वार्षिकोत्सव में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत करने पहुंचे शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा ने कही। उन्होंने कहा कि प्रदेश के कई जिलों में निजी स्कूलों को छोड़कर बच्चे सरकारी स्कूलों में दाखिल हुए है। उन्होंने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में काफी बदलाव आ रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि निजी स्कूलों की अपेक्षा राज्य के
योग से होता है तन, मन व आत्मा का कल्याण: योगीराज

योग से होता है तन, मन व आत्मा का कल्याण: योगीराज

Haryana
तन, मन व आत्मा के कल्याण के लिए एकमात्र योग की साधन है इसलिए नियमित रूप से योग करना चाहिए। यह आह्वान योगीराज एमलाल महाराज ने पुरानी सब्जी मंडी स्थित योग दिव्य मंदिर के वार्षिक योग महोत्सव के समापन समारोह में किया। उन्होंने कहा कि योग कोई धर्म या संप्रदाय नहीं है बल्कि यह तो व्यक्ति को जीना सिखाता है। उन्होंने बताया कि 130 साल पहले योगीराज रामलाल महाराज ने योग को सरल बनाकर जीवन तत्व के सार को प्रस्तुत किया जिससे भारत ही नहीं विश्व के करीब डेढ़ सौ देशों में लाखों करोड़ों लोग लाभान्वित हो रहे हैं। समारोह में प्रधान वेदप्रकाश रेवड़ी, योगाचार्य राजेंद्र बतरा व महावीर बांसल, सुरेश मेहता, संजय मुखी, प्रेम बंसल, अशोक मेहता, सुरेंद्र किनरा, दर्शन ग्रोवर, पंकज पाहवा, तरसेम बांसल, ओमप्रकाश गिरधर, जितेंद्र ज्वाला, सुभाष सिंगला व इंद्र अरोड़ा उपस्थित थे। Download Dainik Bhaska