News That Matters

Tag: इलाकों

रिकॉर्डतोड़ जलस्तर से दिल्ली तक अलर्ट, हरियाणा के कई इलाकों में घुसा पानी, पानीपत में हाईवे तक पहुंचा

रिकॉर्डतोड़ जलस्तर से दिल्ली तक अलर्ट, हरियाणा के कई इलाकों में घुसा पानी, पानीपत में हाईवे तक पहुंचा

Haryana
पानीपत.हिमाचल और उत्तराखंड में भारी बारिश के बाद हथनीकुंड बैराज में पहली बार 8.28 लाख क्यूसेक पानी आने से यमुना ने यमुनानगर से लेकर से दिल्ली तक तांडव शुरू कर दिया है। करीब 185 किलो मीटर लंबे क्षेत्र में यमुना खतरे के निशान के ऊपर बह रही है। रेड अलर्ट जारी किया गया है। यमुनानगर, सोनीपत, पानीपत और सोनीपत जिले के निचले इलाकों को खाली करा लिया गया है। यमुना से लगते हरियाणा के जहां 85 गांवों में जहां बाढ़ का खतरा पैदा हो गया है, वहीं करीब 64 गांव पानी से घिर गए हैं। करीब 25 हजार लोग बेघर हो गए हैं। 36 हजार एकड़ से अधिक फसल बर्बाद हो गई है। प्रशासन ने मोटरबोट और हेलिकॉप्टर की मदद से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचे की कोशिश में जुटा है। हालात जानने के लिए भास्कर की टीम ने यमुनानगर से दिल्ली तक की यात्रा की।यमुनानगर. बेलगढ़ में बांध को नुकसान, हाे रहा रिसाव गांव की सड़काें स
बाढ़ प्रभावित इलाकों में दावों का तेज निपटान हो

बाढ़ प्रभावित इलाकों में दावों का तेज निपटान हो

Delhi
वित्त मंत्रालय ने बीमा कंपनियों से कर्नाटक, महाराष्ट्र और केरल समेत बाढ़ प्रभावित राज्यों में बीमा धारकों के दावों के निपटान प्रक्रिया में तेजी लाने को कहा है। इन राज्यों में बाढ़ का भयंकर तबाही मचाई है और अब तक हजारों करोड़ रुपए का नुकसान हो चुका है। मंत्रालय ने बीमा कंपनियों से प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना तथा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना समेत विभिन्न पॉलिसी के तहत दावों का निपटान शीघ्रता से करने को कहा है। बीमा नियामक इरडा ने भी जीवन बीमा कंपनियों को तत्काल कदम उठाने को कहा है। सर्वे कर प्रभावितों को तत्काल जारी करें राशि इरडा ने लोगों की मौत के मामलों में जहां मृतक का शरीर नहीं मिलने के कारण मृत्यु प्रमाणपत्र प्राप्त करने में समस्या है, बीमा कंपनियों से 2015 में चेन्नई बाढ़ में अपनाई गई प्रक्रिया का पालन करने को कहा है। साथ ह
भाखड़ा डैम से छोड़ा गया 1,89,940 क्यूसेक पानी, जालंधर ग्रामीण इलाकों में अलर्ट

भाखड़ा डैम से छोड़ा गया 1,89,940 क्यूसेक पानी, जालंधर ग्रामीण इलाकों में अलर्ट

Punjabi Politics
जालंधर. भाखड़ा डैम से अतिरिक्त पानी छोड़े जाने के साथ ही अागामी 48 घंटे में भारी बारिश की चेतावनी के बाद जिले में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। सरकार के आपदा प्रबंधन विभाग ने डिप्टी कमिश्नर को पत्र भेजकर भारी बारिश की चेतावनी बताते हुए जरूरी इंतजाम करने को कहा है। वहीं डीसी वरिंदर कुमार शर्मा ने शाहकोट, नकोदर और फिल्लौर के एसडीएम को हाई अलर्ट पर रखा है।हालांकि शनिवार को भाखड़ा डैम से 4 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा गया था, लेकिन पहाड़ी इलाकों में भारी बारिश के चलते यहां पानी और अधिक हो गया तो ज्यादा मात्रा में रिलीज किए जाने की जरूरत पड़ी। जानकारी मिली है कि इसी के चलते रविवार सुबह तक 1,89,940 क्यूसेक पानी छोड़ा गया। इसके बाद निचल इलाकों खासकर जालंधर जिले के शाहकोट, नकोदर और फिल्लौर के ग्रामीण इलाकोें में परेशानी खड़ी हो गई है। यह तीनों इलाके सतलुज दरिया के किनारे आते हैं। ऐसे में ड
अगले 48 घंटे में सूबे के कई जिलों भारी बारिश का अलर्ट, सतलुज, रावी, ब्यास से सटे इलाकों में प्रशासन सतर्क

अगले 48 घंटे में सूबे के कई जिलों भारी बारिश का अलर्ट, सतलुज, रावी, ब्यास से सटे इलाकों में प्रशासन सतर्क

Punjab
लुधियाना/जालंधर. राजस्थान, दिल्ली व हरियाणा के बने गहरा लो प्रेशर एरिया पहुंचने की वजह से सूबे में अगले 48 घंटे में भारी बारिश होने का अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग के अनुसार शहर में जुलाई से लेकर 15 अगस्त तक मानसून सीजन में 391 एमएम बारिश रिकाॅर्ड हो चुकी है, जबकि अगले दो दिन की बारिश इसमें प्लस होगी। मौसम महकमे ने सतलुज, रावी व ब्यास दरिया से सटे जिलों में प्रशासन को सतर्क करते हुए गुरदासपुर, पठानकोट, होशियारपुर, अमृतसर, कपूरथला, लुधियाना, जालंधर में भारी बारिश का अलर्ट दिया है।देरी से आया मॉनसून, इस बार औसत ही हो पा रही है बारिशपीएयू मौसम विशेषज्ञ डा केके गिल ने बताया कि जुलाई में औसत के आसपास 218 एमएम बारिश रिकार्ड हुई। इसी तरह अगस्त में मानसून के 15 दिन बीत चुके हैं और अब तक 173 एमएम बारिश ही रिकाॅर्ड हुई है। अभी तक मानसून के 37 दिनों में 391 एमएम बारिश दर्ज ह
कुछ इलाकों में हुई हल्की बारिश से मौसम हुआ सुहाना, साल की सबसे साफ आबोहवा

कुछ इलाकों में हुई हल्की बारिश से मौसम हुआ सुहाना, साल की सबसे साफ आबोहवा

Delhi
दिल्ली के कुछ इलाकों में सोमवार सुबह हुई हल्की बारिश से मौसम सुहाना हो गया। इतना ही नहीं साल की सबसे साफ आबोहवा का रिकॉर्ड बना। सोमवार को रविवार सुबह 8:30 से सोमवार सुबह 8:30 बजे तक 24 घंटे में 0.2 मिली मीटर बारिश दर्ज की गई। अगले 9 घंटे में यानी 8:30 से 5:30 तक बारिश 2 मिमी हो गई। सबसे ज्यादा बारिश लोधी रोड 10.0 मिमी रही। आयानगर में 2.1, रिज में 1.7 और पालम में 0.6 मिमी रिकॉर्ड की गई। नजफगढ़ में बिल्कुल भी बारिश दर्ज नहीं हुई। सोमवार को अधिकतम तापमान सामान्य रहते हुए 34.8 डिग्री सेल्सियस रहा। न्यूनतम तापमान एक डिग्री ज्यादा रहकर 28 डिग्री पहुंच गया। मंगलवार से 15 अगस्त तक मध्यम स्तर की बारिश का अंदेशा विभाग ने लगया है। साल का सबसे साफ दिन रहा सोमवार प्रदूषण के नजरिए से सोमवार साल का सबसे साफ दिन रहा और एयर क्वालिटी इंडेक्स 57 दर्ज किया गया, जोकि रविवार के मुकाबले 11 कम

Indian Railways: कश्मीर व नक्सल इलाकों के लिए रेलवे ने तैयार की ‘CORAS’ कमांडो यूनिट

India
रेलमंत्री पीयूष गोयल बुधवार को करेंगे कोरस लांच। कोरस को एनएसजी व ग्रे हाउंड्स के केंद्रों में मिली है खास ट्रेनिंग। Jagran Hindi News - news:national
अमित शाह ने कर्नाटक के बाढ़ प्रभावित इलाकों का किया हवाई सर्वेक्षण

अमित शाह ने कर्नाटक के बाढ़ प्रभावित इलाकों का किया हवाई सर्वेक्षण

India
केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को कर्नाटक के बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया। राज्य में बाढ़ के चलते 31 लोगों की मौत हो चुकी है और चार लाख से अधिक लोग बेघर हुए हैं। आधिकारिक... Live Hindustan Rss feed
अनुच्छेद 370 के निष्प्रभावी होने के छठे दिन सभी स्कूल-कॉलेज खुले, कुछ इलाकों में प्रतिबंध लागू रहेंगे

अनुच्छेद 370 के निष्प्रभावी होने के छठे दिन सभी स्कूल-कॉलेज खुले, कुछ इलाकों में प्रतिबंध लागू रहेंगे

India
श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के छठवें दिन यानीशनिवार कोलोगों को राहत मिली। जम्मू और कश्मीर घाटी में सभी स्कूल-कॉलेज खुल गए।जम्मू नगरपालिका सीमाके सभी इलाकों से धारा 144 हटा ली गई है।हालांकि, प्रशासन ने स्पष्ट किया कि कश्मीर के संवेदनशील इलाकों में अभी भी धारा 144 के तहत कड़ी सुरक्षा लागू है। कुछ स्थानों पर ढीलजरूर दी गई है।प्रशासन ने शुक्रवार को सुबह 11 से शाम 5 बजे तक बाजार खोलने के निर्देश दिए थे। कल मस्जिदों में भी जुमे कीनमाज अदा की गई। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि किसी भी कश्मीरी को परेशानी न हो।ईद के लिए सभी जिलों में टीमें तैनातप्रशासन ने कहा- ईद के लिए जरूरी समान मुहैया कराया जाएगा। सभी जिलों में टीमों की तैनाती की गई है। लोगों को किसी तरह की परेशानी नहो, इसका ख्याल रखा जाएगा। राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने भी
कड़ी सुरक्षा के बीच बाजार-स्कूल खुले, नमाज की इजाजत मिली; संवेदनशील इलाकों में धारा 144 लागू

कड़ी सुरक्षा के बीच बाजार-स्कूल खुले, नमाज की इजाजत मिली; संवेदनशील इलाकों में धारा 144 लागू

India
श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के चार दिनों के बाद शुक्रवार को शासन-प्रशासन ने लोगों को थोड़ी राहत मुहैया कराई। कुछ इलाकों में प्रशासन ने स्कूलों को खोलने के आदेश दिए। इसके अलावा सुबह 11 से शाम 5 बजे तक बाजार खोलने के भी निर्देश दिए गए। इसके अलावा शुक्रवार की नमाज के लिए लोगों को राहत दी गई है। उन्हें स्थानीय मस्जिदों में जाने की सहूलियत दी गई। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि किसी भी कश्मीर को परेशानी न हो।प्रशासन ने कहा कि संवेदनशील इलाकों में अभी भी कड़ी सुरक्षा व्यवस्था है। धारा 144 भी लागू है, लेकिन कुछ स्थानों पर इसमें ढील दी गई है।जामा मस्जिद में कोई धार्मिक सभा नहीं होगीअधिकारियों ने कहा कि कश्मीर घाटी में लोगों को स्थानीय मस्जिदों में शुक्रवार की नमाज अदा करने की अनुमति देने के लिए प्रतिबंधों में ढील दी गई है।