News That Matters

Tag: इसके

सिरदर्द, पीलिया और अंदरुनी चोट में फायदेमंद है बेल, जानें इसके अन्य फायदे

सिरदर्द, पीलिया और अंदरुनी चोट में फायदेमंद है बेल, जानें इसके अन्य फायदे

Health
बील या बेल अपने विशेष गुणों से शरीर की कई समस्याओं के लिए फायदेमंद होता है, आइये जानते हैं इसके गुणों के बारे में पीलिया में बील की कोपलों का 50 ग्राम रस में एक ग्राम पिसी काली मिर्च मिलाकर सुबह-शाम पिएं, इससे लाभ मिलता है।सौ ग्राम पानी में इसका थोड़ा गूदा उबालें, ठंडा होने पर कुल्ला करने से मुंह के छाले ठीक होते हैं। सिरदर्द में बील पत्र के रस से भीगी पट्टी माथे पर रखें। पुराना सिरदर्द होने पर कुछ पत्तों का रस निकाल कर पिएं। गर्मियों में इसमें थोड़ा पानी मिला लें।मोच या अंदरुनी चोट में बील के पत्तों को पीसकर थोड़े गुड़ में पकाएं। इसे पीड़ित अंग पर बांध दें। दिन में तीन-चार बार इसे बदलें, लाभ मिलता है।पके हुए बील में चिपचिपापन होता है इसलिए यह डायरिया रोग में काफी लाभप्रद है और शरीर में पानी की कमी को दूर करता है।पका बील खाने से वात और कफ रोग दूर होते हैं। गर्मी के मौसम में पेट के साथ दिमा
आपको भी आती है ज्यादा नींद तो हो सकते हैं हाईपरसोम्निया के शिकार, जानें इसके बारे में सबकुछ

आपको भी आती है ज्यादा नींद तो हो सकते हैं हाईपरसोम्निया के शिकार, जानें इसके बारे में सबकुछ

Health
दुनियाभर में करीब तिहाई जनसंख्या अनिद्रा की शिकार है। पर, ऐसे भी लोग हैं, जिन्हें हर समय नींद आती रहती है और किसी काम में मन नहीं लगता। अगर आपके साथ ऐसा है तो यह हाइपरसोम्निया हो सकता... Live Hindustan Rss feed
गैजेट-ऑटो अपडेट: इस तारीख हो लांच होगा Samsung Galaxy M30, जानें इसके फीचर और क्लिक कर पढ़ें ऐसी ही अन्य खबरें

गैजेट-ऑटो अपडेट: इस तारीख हो लांच होगा Samsung Galaxy M30, जानें इसके फीचर और क्लिक कर पढ़ें ऐसी ही अन्य खबरें

Indian Technology
Samsung अपनी M सीरीज का तीसरा स्मार्टफोन तीन कैमरे के साथ 27 फरवरी को लॉन्च करेगा। इसकी जानकारी सैमसंग ने दी है। कंपनी इससे पहले Galaxy M10 और Galaxy M20 इनफिनिटी वी डिस्प्ले के साथ लॉन्च कर चुकी... Live Hindustan Rss feed
तेज धड़कनें यानी वेंट्रीकुलर टैकीकार्डिया दे सकता है अचानक मौत, जानें इसके बारे में

तेज धड़कनें यानी वेंट्रीकुलर टैकीकार्डिया दे सकता है अचानक मौत, जानें इसके बारे में

Health
वेंट्रीकुलर टैकीकार्डिया या वीटी हृदय की एक लय है, जिसकी उत्पत्ति हृदय के नीचे के चैंबर से होती है और इसकी वजह से दिल तेजी से धड़कता है। यह आमतौर पर हृदय की असामान्य विद्युतीय गतिविधि है। वेंट्रीकल्स (निलय) हृदय का मुख्य पंपिंग चैंबर होता है। इससे जानलेवा अरिद्मिया (अतालता) होने का खतरा रहता है, जिससे अचानक मौत तक हो सकती है। भारत में 5-10 फीसदी लोगों में वीटी की समस्या होती है। कारण : इसका कारण निलय का क्षतिग्रस्त होना है, जिससे हार्ट अटैक का खतरा रहता है। प्राथमिक एंजियोप्लास्टी के बाद इसके क्षतिग्रस्त हिस्से पर भार में भी कमी आती है। लक्षण : हृदय का तेजी से धड़कना, बेहोशी, सीने में दर्द या बार-बार दौरे आना। उपचार : इसके किसी भी मामले में व्यापक जांच होती है। आनुवांशिक कारणों की भी जांच की जाती है। इस रोग से युवा भी पीड़ित हो सकते हैं, ऐसे में कार्डियोवर्टर डिफ्राइब्रिलेटर्स (आईसीडी) प्र
बच्चों को भी हो रही है टाइप टू डायबिटीज, जानें इसके बारे मेें

बच्चों को भी हो रही है टाइप टू डायबिटीज, जानें इसके बारे मेें

Health
माता-पिता बच्चों के खानपान पर विशेष ध्यान दें। उन्हें दुलार देने के चक्कर में अत्यधिक मात्रा में जंकफूड न खिलाएं। शरीर में जब पर्याप्त इंसुलिन नहीं बनता या अपेक्षित काम नहीं करता तो कोशिकाओं में पहुंचने के बजाय ग्लूकोज रक्त में ही रुक जाता है। जब रक्त में शुगर का स्तर बढ़ जाता है तो इसे डायबिटीज कहते हैं। यह दो तरह की होती है। टाइप वन डायबिटीज यानी इंसुलिन का बनना बंद हो जाना और टाइप टू डायबिटीज यानी इंसुलिन बनना व इसके काम करने की क्षमता कम हो जाती है। बढ़ रहा है खतरा - एक-दो दशक पहले बच्चों को टाइप वन डायबिटीज ही होती थी लेकिन अब उन्हें टाइप टू डायबिटीज भी होने लगी है। यह वंशानुगत रोग है लेकिन मोटे, आलसी या खानपान में लापरवाह बच्चों को टाइप टू डायबिटीज का खतरा ज्यादा होता है। विशेषज्ञ की राय - बच्चे को अधिक प्यास लगे, बार-बार पेशाब आए, बिस्तर गीला करे, खूब खाए लेकिन वजन घटे तो जांच करवाए
तमाम रोगों के लिए फायदेमंद है छोटी सी लौंग, जानें इसके फायदे

तमाम रोगों के लिए फायदेमंद है छोटी सी लौंग, जानें इसके फायदे

Health
वैसे तो लौंग का इस्तेमाल मसाले आदि में किया जाता है। लेकिन लौंग एक बेहतरीन औषधि भी है। यह चरपरी, कड़वी और तासीर में ठंडी होती है। लौंग नेत्र रोगों, दांतों की समस्या, खांसी, अजीर्ण, गैस, भोजन में अरुचि, उल्टी और अधिक प्यास लगने की तकलीफ में उपयोगी है। लौंग को मिश्री के साथ पीसकर चाटने से गर्भावस्था में उल्टियां, जी घबराना और भोजन में अरुचि दूर होती है। खाने के बाद दो लौंग मुंह में रखकर चूसते रहने से पेट का तनाव कम होता है, आंतों में भोजन की पाचन गति बढ़ती है और अफरा, डकारें व गैस की समस्या दूर होती है। इसका तेल गठिया, सिरदर्द में लाभदायक होता है। कैविटी होने पर रुई की फुरेरी बनाकर रखने से दांतदर्द में आराम मिलता है।लौंग खाने से दांतों की बदबू, सांस की दुर्गंध और पायरिया रोग में राहत मिलती है। खांसी, जुकाम, सिरदर्द में लौंग, तुलसी के पत्ते और अदरक वाली चाय फायदा करती है। लौंग को मुंह में रखक
मन की शांति के लिए फायदेमंद है शिरोधारा, जानें इसके बारे में

मन की शांति के लिए फायदेमंद है शिरोधारा, जानें इसके बारे में

Health
शिरोधारा दो शब्दों से बना है शिरो (सिर), धारा (प्रवाह) यानी भू्र के मध्य स्थान से थोड़ा ऊपर ललाट पर किसी तरल पदार्थ को जब धारा के रूप में कुछ समय तक बिना रुके गिराया जाता है तो इसे शिरोधारा कहते हैं। शिरोधारा के लिए रोगी एवं रोग की प्रकृति के अनुसार औषधीय तेल, दूध या केवल पानी की धार का प्रयोग किया जाता है। शिरोधरा प्राकृतिक चिकित्सा विधि है। प्रमुख लाभ : तनाव, अनिद्रा, बेचैनी, चिड़चिड़ापन, मूड स्विंग होने जैसी तकलीफों में शिरोधारा बहुत लाभकारी है। इससे मन को शांति मिलती है। स्नायु से संबंधित रोग : कमजोर याददाश्त, चेहरे का लकवा, पुराना सिरदर्द, माइग्रेन, गहरी नींद न आना जैसी परेशानियों में यह बहुत फायदेमंद है। इससे मस्तिष्क की कार्यक्षमता में सुधार होकर रूसी, बाल झड़ना या जल्दी सफेद होना, सिर की त्वचा का संक्रमण आदि में आराम मिलता है। लेकिन इस प्रक्रिया को विशेषज्ञ की सलाह के बाद ही करें।
Health Tips : मोटापा, कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए रोज नाश्ते में खाएं पपीता, इसके ये फायदे भी जानें

Health Tips : मोटापा, कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए रोज नाश्ते में खाएं पपीता, इसके ये फायदे भी जानें

Health
मौसम कोई भी हो, स्वास्थ्य को लेकर सहज रहना जरूरी होता है। पपीता इस काम में हमारा काफी सहयोग कर सकता है। यह ऊपरी ही नहीं, अंदरूनी तौर पर भी हमारी सेहत के लिए फायदेमंद साबित होता है। पपीते की खूबियों... Live Hindustan Rss feed
लोहे के बर्तनों में खाना बनाना सेहत के लिए फायदेमंद, जानें इसके बारे में

लोहे के बर्तनों में खाना बनाना सेहत के लिए फायदेमंद, जानें इसके बारे में

Health
लोहे की कढ़ाई में खाना बनाना सेहत के लिए फायदेमंद होता है। पुराने समय में लोहे की कढ़ाई व लोहे के अन्य बर्तनों का इस्तेमाल भोजन बनाने में किया जाता था, लेकिन अब बाजार में कई अन्य धातुओं से बनी कढ़ाईयां आ गई हैं, लेकिन सेहत के नजरिये देखा जाए तो लोहे की कढ़ाई में बना भोजन अच्छा माना जाता है। आइये जानते हैं इससे जुड़ी बातें- एनीमिया में उपयोगी - जब हम लोहे के बर्तन में खाना बनाते हैं तो इसके अंश भोजन में मिलकर शरीर में पहुंचते हैं जो रक्त में हीमोग्लोबिन की मात्रा को बढ़ाते हैं और इससे एनीमिया (खून की कमी) जैसी समस्या दूर होती है। इन सब्जियों को पकाएं - पालक, आंवला, टमाटर जैसी आयरन वाली चीजों को जब इनमें पकाया जाता है तो इस पोषक तत्व में और भी इजाफा होता है। सावधानी बरतें - आजकल लोग रंगत और खाने को अच्छा दिखाने के लिए एल्युमीनियम के बर्तनों का इस्तेमाल करने लगे हैं। लेकिन लंबे समय तक इन बर्त
यूपीएससी आज तय करेगी हरियाणा के डीजीपी के नाम का पैनल, इसके बाद सरकार करेगी नियुक्ति

यूपीएससी आज तय करेगी हरियाणा के डीजीपी के नाम का पैनल, इसके बाद सरकार करेगी नियुक्ति

Haryana
पानीपत। अतिरिक्त कार्यभार से चल रहे प्रदेश के पुलिस मुखिया डीजीपी के पद के लिए तीन सीनियर आईपीएस अफसरों का पैनल शुक्रवार को तय हो जाएगी। यूपीएससी के साथ हरियाणा के मुख्य सचिव की मीटिंग तय हो गई है।हरियाणा होम डिपार्टमेंट की ओर से पिछले महीने 1988 बैच तक के डीजी रैंक के अफसरों के नाम यूपीएससी को भेजे थे। इनमें से ही तीन सीनियर आईपीएस अफसरों का पैनल बनेगा। इस पैनल में सरकार अपनी मर्जी से किसी एक को डीजीपी नियुक्त कर सकती है। डीजीपी बीएस संधू की 31 जनवरी को रिटायरमेंट के बाद डीजी ह्यूमन राइट्स केपी सिंह को डीजीपी का अतिरिक्त कार्यभार दिया हुआ है।होम सेक्रेटरी एसएस प्रसाद ने बताया कि हमने 1988 बैच तक के आईपीएस अफसरों के नाम यूपीएससी को भेजे थे। शुक्रवार को विचार-विमर्श के बाद पैनल तय हो जाएगा। इसके बाद सरकार एक अफसर को डीजीपी नियुक्त करेगी।ये हैं दौड़ में शामिलप्रदेश में डीज