News That Matters

Tag: इस

लोकसभा चुनाव 2019ः आजम ने कहा- इस बार भाजपा का सत्ता से जाना तय

लोकसभा चुनाव 2019ः आजम ने कहा- इस बार भाजपा का सत्ता से जाना तय

India
पूर्व कैबिनेट मंत्री आजम खां ने कहा है कि 2019 लोकसभा चुनाव बाद भाजपा सरकार का जाना तय है। भाजपा किसी भी वर्ग की हितैषी नहीं रही है। वह सोमवार को पार्टी कार्यालय पर कार्यकर्ताओं की मीटिंग में बोल रहे... Live Hindustan Rss feed

डिविलियर्स ने लिया बड़ा फैसला, 11 साल बाद इस देश में दिखाएंगे अपनी बल्लेबाज़ी का जादू

Indian Sports
लाहौर कलंदर्स ने डिविलियर्स को बीते साल नवंबर में ड्राफ्ट में खरीदा था, लेकिन उनका करार सिर्फ फ्रेंचाइजी के सात लीग मैचों तक का था जो संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में खेले जाने थे। Jagran Hindi News - cricket:headlines
VIDEO: ‘भारत’ के सेट पर कुछ इस अंदाज में क्रिकेट खेलते नजर आए सलमान खान

VIDEO: ‘भारत’ के सेट पर कुछ इस अंदाज में क्रिकेट खेलते नजर आए सलमान खान

Entertainment
सलमान खान इन दिनों अपनी अपकमिंग फिल्म 'भारत' की शूटिंग में काफी व्यस्त हैं। इस फिल्म में कटरीना कैफ लीड रोल में नजर आएंगी । हाल ही में फिल्म शूटिंग की कुछ फोटोज और वीडियो सोशल मीडिया पर काफी... Live Hindustan Rss feed
Nokia के इस फोन की कीमत हुई कम, अब केवल इतने रुपये में खरीद सकेंगे

Nokia के इस फोन की कीमत हुई कम, अब केवल इतने रुपये में खरीद सकेंगे

Indian Technology
एचएमडी ग्लोबल कंपनी ने पिछले साल अक्टूबर महीने में Nokia 3.1 Plus स्मार्टफोन लॉन्च किया था। तब कंपनी ने इसे 11499 रुपये में मार्केट में उतारा था लेकिन अब रिपोर्ट्स की मानें तो फोन की कीमत कम हो गई... Live Hindustan Rss feed
इस कारण महिलाओं में हो सकती है गर्भपात और बांझपन की समस्या, जानिए इसके बारे में

इस कारण महिलाओं में हो सकती है गर्भपात और बांझपन की समस्या, जानिए इसके बारे में

Health
एडिनोमायोसिस क्या है ? एडिनोमायोसिस महिलाओं में होने वाली ऐसी बीमारी है जिसमें गर्भाशय की मांसपेशियों के भीतर के लाइनिंग टिश्यू (एंडोमीट्रियम) का स्थानान्तरण गलत जगह पर होने से गर्भाशय की मांसपेशियों में सूजन आ जाती है। इससे कैसे बांझपन पैदा हो सकता है ?इसमें भ्रूण की ग्रहणशीलता में कमी और उच्च गर्भपात होने से बांझपन की समस्या हो सकती है। इसके लक्षण क्या हैं ?माहवारी लंबे समय तक (लगभग 8-14 दिन तक) होना, रक्त स्राव ज्यादा होना, अंडोत्सर्ग में दर्द का बढऩा, ब्लड के बड़े क्लॉट्स बनना, पेट में ऐंठन आदि।यह समस्या किस उम्र में महिलाओं को होने की संभावना रहती है?आमतौर पर यह समस्या 35 से 50 वर्ष की उम्र की महिलाओं में होती है। इसका मुख्य कारण क्या है ?एडिनोमायोसिस का कारण अज्ञात है। हालांकि गर्भाशय ट्रोमा को इस प्रकार के साथ संबद्ध किया गया है कि गर्भाशय की भीतर लाइनिंग और मांसपेशियों के बीच की बा

इस दिन लॉन्च हो सकता है Samsung Galaxy S10+, मिल सकते हैं ये फीचर्स

Indian Technology
सैमसंग बहुत जल्द अपने फ्लैगशिप स्मार्टफोन सीरीज वाले कई फोन्स लॉन्च करने वाला है, यह बात उसकी ओर से कंफर्म हो चुकी है। 2019 में 20 फरवरी को सैमसंग गैलेक्सी एस10 और कुछ और स्मार्टफोन्स की लॉन्चिंग हो सकती है। Latest Technology News in Hindi, Gadgets Launch & Reviews, Video and more - लेटेस्ट टेक्नोलॉजी न्यूज़, गैजेट्स लॉन्च एंड रिव्यू, टेक विडियो | Navbharat Times
इस वर्ष गूंजेगी 112 दिन शहनाइयां, अक्टूबर में सबसे अधिक विवाह मुहूर्त

इस वर्ष गूंजेगी 112 दिन शहनाइयां, अक्टूबर में सबसे अधिक विवाह मुहूर्त

Punjab
नए वर्ष में आज (14 जनवरी) को सूर्य के मकर राशि में प्रवेश करते ही मलमास समाप्त हो जाएगा। इसके साथ ही शुभ और मांगलिक कार्य शुरू हो सकेंगे। वहीं नववर्ष 2019 के पहले सावे 15 जनवरी से फिर शहनाइयां गूंजनी शुरू हो जाएंगी। वर्ष 2019 में 112 दिन शहनाइयां गूंजेगी। 2018 में अधिकमास होने से विवाह आदि शुभ व मांगलिक कार्यों के कम मुहूर्त थे। इस बार पिछले वर्ष के मुकाबले शादी के दोगुणा मुहूर्त है। नववर्ष 2019 में शुभ विवाह के शुभ मुहूर्त जनवरी : 15, 16, 17, 18, 19, 20, 29, 30 व 31 फरवरी: 1, 3, 4, 9, 10, 14,16, 25, 26, 27 व 28 मार्च: 2, 10, 11 व 12 अप्रैल: 15, 16, 17, 18, 19, 20, 21, 22, 26, 27 व 28 मई: 6, 7, 12, 13, 16, 17, 18, 19, 23, 24, 25, 26, 28, 29 , 30 व 31 जून: 4, 8, 9, 10, 11, 12, 13, 16, 20, 21, 22, 24, 25 व 26 जुलाई: 6,7, 8, 10, 11, 12, 13 अक्टूबर: 2, 3, 4, 5, 7, 8

सरकार के इस कदम के बाद देश में होगी 120 करोड़ लीटर डीजल-पेट्रोल की बचत

India
इससे देश में सालाना 120 करोड़ लीटर पेट्रोल या डीजल की बचत की जा सकेगी। यह वर्ष 2030 तक देश में कुल वाहनों के 30 फीसद के बिजली से चलने के लक्ष्य को हासिल करने में अहम कदम होगा। Jagran Hindi News - news:national
खाने से ही नहीं, इस कारण से भी हाे जाती है फूड पॉइजनिंग, जानिए क्या

खाने से ही नहीं, इस कारण से भी हाे जाती है फूड पॉइजनिंग, जानिए क्या

Health
खाद्य जनित बीमारियां या फूड पॉइजनिंग आम तौर पर उन खाद्य पदार्थों को खाने से होती है, जो दूषित बैक्टीरिया या उनके विषाक्त पदार्थों से होती है। चिकित्सकों का कहना है कि वायरस और परजीवी भी फूड पॉइजनिंग का कारण बन सकते हैं। हार्ट केयर फाउंडेशन (एचसीएफआई) के अध्यक्ष डॉ. के.के. अग्रवाल ने कहा, ''लोग लंबे समय से जानते हैं कि कच्चे मांस, मुर्गी और अंडे भी रोगाणुओं का कारण बन सकते हैं। हाल के वर्षों में ताजे फल और सब्जियों के कारण खाद्य जनित बीमारियों का सबसे ज्यादा प्रकोप रहा है।" उन्होंने कहा, ''फलों और सब्जियों की पूरी तरह से धुलाई और उचित तरीके से खाना पकाने से, खाद्य विषाक्तता का कारण बनने वाले अधिकांश बैक्टीरिया समाप्त हो सकते हैं, लेकिन कुछ स्ट्रेन हैं, जो प्रतिरोधी के रूप में उभर रहे हैं।" उन्होंने कहा, ''इस प्रकार यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि स्रोत पर ही नुकसान को कम किया जाए। खाद्य