News That Matters

Tag: करना

Post Office की इस स्कीम में निवेश करना होगा फायदा का सौदा, हर महीने मिलेगा पैसा

India
पोस्ट ऑफिस की मंथली सेविंग स्कीम के जरिए आप हर महीने कमा सकते हैं पैसे। जानें आखिर किस तरह इसमें निवेश करने है और कैसे ये आपको लाभ देगी। Jagran Hindi News - news:national
बुजुर्गों की संभाल करना सबका फर्ज : अरोड़ा

बुजुर्गों की संभाल करना सबका फर्ज : अरोड़ा

Punjabi Politics
सीनियर सिटीजन सोशल वेलफेयर एसोसिएशन की ओर से बुजुर्गों के सम्मान के लिए स्थानीय डॉ. नरिंदर सिंह वृद्ध आश्रम में एक समागम का आयोजन किया गया। एसोसिएशन के जिला प्रधान राजकुमार अरोड़ा ने कहा कि बुजुर्ग हमारी कौम का सरमाया होते है। इनकी संभाल करना हम सभी का फर्ज बनता है। उन्होंने कहा कि जो बुजुर्गों का आदर नहीं करते उनका भविष्य अंधेरे में खो जाता है। बुजुर्ग वह रोशनी है जो हमें मार्ग दर्शन करती है। इस मौके पर आरएस मदान, महेश जौहर, तिलक राज सतीजा, बलजिंदर सिंह द्वारा बुजुर्गों के लिए सभ्याचारक गीत भी पेश किए। प्रवीन बांसल ने अपनी पोती के जन्मदिन और लाल चंद सैनी ने अपने जन्मदिन की खुशी में मिठाई बांटी। इस दौरान एसोसिएशन की ओर से बुजुर्गों की सहायता के लिए 10 हजार रुपए वृद्ध आश्रम को दिए गए। इस मौके पर ओम प्रकाश खिपल, जसवीर सिंह, करनैल सिंह, सुरिंदर सिंह, कंवलजीत सिंह, डॉ मनमोहन
मीका सिंह के संग काम करना सलमान खान को पड़ सकता है भारी, इस गलती के कारण सलमान खान भी होंगे बैन?

मीका सिंह के संग काम करना सलमान खान को पड़ सकता है भारी, इस गलती के कारण सलमान खान भी होंगे बैन?

Entertainment
कुछ दिनों पहले मीका सिंह ने पाकिस्तान में परफॉर्मेंस दी थी, जिसके बाद से भारत में उनका विरोध किया जा रहा था। अब उनका विरोध ऑल इंडियन सिने वर्कर्स एसोसिएशन ( AICWA) ने किया है। कल  मुंबई में इस... Live Hindustan Rss feed
2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी करना केंद्र सरकार का लक्ष्य: चौधरी

2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी करना केंद्र सरकार का लक्ष्य: चौधरी

Rajasthan
केन्द्रीय कृषि-सहकरिता एवं कृषक कल्याण राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने भारतीय कृषि सरसों अनुसंधान निदेशालय में किसानों से संवाद किया और उनकी समस्याओं की जानकारी ली। उन्होंने किसानों के कल्याण के लिए चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में किसान की आमदनी कैसे बढ़ाई जाए इस पर सब जगह चिंतन किया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का सपना है कि वर्ष 2022 तक किसानों कि आमदनी को दोगुना किया जाए। यदि किसान ठान ले तो अपनी मेहनत और लगन से यह संभव कर सकता है। केन्द्रीय राज्य मंत्री चौधरी ने कहा कि किसानों के कर्ज माफी समस्याओं का स्थाई समाधान नहीं है। भारत सरकार चाहती है कि आने वाले समय में किसान इतना मजबूत हो जाए कि किसानों को ऋण की आवश्यकता नहीं पड़े। आज किसान अपने बेटे को खेती नहीं करवाना चाहता है, बल्कि किसी भी छोटी से छोटी नौकरी को करवाने में प्राथमि

Pen Drive का इस्तेमाल करना पड़ा भारी, 1 साल की जेल के साथ लगा 42 लाख का जुर्माना

Indian Technology
अमेरिका में एक भारतीय छात्र को USB Pen Drive के इस्तेमाल करने की वजह से 12 महीने की जेल और लगभग 42 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है Jagran Hindi News - technology:tech-news
सांसारिक वस्तुओं की कामना करना ही दुखों का मूल कारण है : पंडित सुशील

सांसारिक वस्तुओं की कामना करना ही दुखों का मूल कारण है : पंडित सुशील

Punjab
विश्कर्मा सभा मेन बाजार पठानकोट की ओर से प्रधान देव राज सलगोत्रा व महासचिव नरेन्द्र कुमार टीटी की अध्यक्षता में भगवान विश्वकर्मा मंदिर परिसर में शिव पुराण कथा के अंतिम दिन प्रवचन करते पंडित सुशील पांडे ने शिवपुराण कथा का वर्णन करते कहा कि सांसारिक वस्तुओं की कामना करना ही दुखों का मूल कारण है। सांसारिक सुखों एवं भोगों को भोगने की जैसे ही प्राणी के मन में कामना होती है। अंत में भंडारे का आयोजन किया गया। इस अवसर पर नरेन्द्र सिंह टोनी, अनिल कुमार बिट्टु, हंस राज, नरेश पिंकी, यशपाल गाधी, ठेकेदार सतपाल, नीलम, राज रानी, कांता, सुदेश कुमारी, वीना, कृष्णा देवी, कंचन, पूजा, आरती, सतनाम सता, देस राज,राजीव शर्मा, करण, दिपांशु मौजूद थे। शिव कथा के समापन पर भजनों पर झूमतीं महिलाएं। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Pathankot N
सीजेआई गोगोई ने कहा- अदालतों में अमर्यादित आचरण गलत, इसे अलग-थलग करना जरूरी

सीजेआई गोगोई ने कहा- अदालतों में अमर्यादित आचरण गलत, इसे अलग-थलग करना जरूरी

India
नई दिल्ली. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने गुरुवार को अदालतों में अमर्यादित आचरण की बढ़ती घटनाओं पर नाराजगी जाहिर की। सीजेआई ने कहा कि आजकल अदालतों में इस तरह की घटनाओं में तेजी देखी जा रही है। स्टेक होल्डर्स को इस तरह की घटनाओं की पहचान कर इन्हें अलग-थलग करना चाहिए।सीजेआई गोगोई ने सुप्रीम कोर्ट में स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान तिरंगा फहराया। इस दौरान कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद, अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल और वरिष्ठ अधिवक्ताओं समेत कई लोग मौजूद थे।‘विचार-विमर्श और बहस को मुखर आचरण से दबाया जा रहा’इस दौरान सीजेआईगोगोई ने कहा कि अनुचित व्यवहार के उदाहरणों ने सुप्रीम कोर्ट समेत सभी अदालतों का सिर झुकाया है। कुछ समय से भारतीय अदालतों में अमर्यादित आचरण में काफी वृद्धि देखी गई है। गरिमापूर्ण, सुखद विचार-विमर्श और बहस को मुखर और प्रेरित आचरण से दबाया जा रहा है।उन्होंने कहा कि यह
पाकिस्तान में मीका सिंह को परफॉर्म करना पड़ा भारी, AICWA का सामने आया बयान

पाकिस्तान में मीका सिंह को परफॉर्म करना पड़ा भारी, AICWA का सामने आया बयान

Entertainment
भारत और पाकिस्तान में तनाव बढ़ने के बीच जाने माने गायक मीका सिंह ने कराची में पूर्व राष्ट्रपति जनरल परवेज मुशर्रफ के करीबी के यहां परफॉर्म किया। इन्होंने एक अरबपति की बेटी की शादी में कार्यक्रम... Live Hindustan Rss feed
दिमाग को तेज करना चाहते हैं तो आज से ही ये पीएं

दिमाग को तेज करना चाहते हैं तो आज से ही ये पीएं

Health
सुपाच्य और मानसिक विकास के लिए अच्छायह प्रोटीन का अच्छा स्रोत है। इसे नियमित लेने से मांसपेशियां मजबूत होती हैं। दांतों व हड्डियों के विकास के लिए कैल्शियम की ज्यादा जरूरत होती है। इसमें प्रचुर कैल्शियम दांत, हड्डियों को मजबूत करता है। दूध से त्वचा निखरती है। दूध मिलाकर नहाने से भी त्वचा में चमक आती है। किस गाय का दूध कितना अच्छा बच्चों के लिए मां के दूध के बाद गाय का दूध अच्छा माना जाता है। आयुर्वेद के अनुसार यह बुद्धि को बढ़ाने वाला होता है। उम्र के अनुसार और सही तरीके से लेने से बच्चों का शारीरिक व मानसिक विकास सही तरीके से होता है। काली गाय का दूध सर्वाेत्तम बताया गया है। यह और भूरी व चितकबरी गाय का दूध वातनाशक होता है। पीली गाय का दूध वात के साथ पित्त नाशक होता है। श्वेत का दूध कफप्रद है।100 मि.ली. दूध में इन सात तत्वों की मात्रा अलग-अलग होती है दूध पीने की मात्रा व्यक्ति की पाचन क्षम
महबूबा-उमर नजरबंदी के दौरान ही झगड़ पड़े, उमर को दूसरी जगह शिफ्ट करना पड़ा

महबूबा-उमर नजरबंदी के दौरान ही झगड़ पड़े, उमर को दूसरी जगह शिफ्ट करना पड़ा

Delhi
श्रीनगर (उपमिता वाजपेयी)कश्मीर के दो पूर्व मुख्यमंत्री एक हफ्ते से नजरबंद हैं। महबूबा मुफ्ती हरिनिवास में हैं। जबकि, उमर अब्दुल्ला को दूसरी जगह शिफ्ट कर दिया गया है। दोनों उसी हरिनिवास में नजरबंद थे, जहां सीएम रहते हुए वे अलगाववादियों को कैद रखते थे। गुलाम नबी आजाद जब सीएम बने तो उन्होंने हरिनिवास को सीएम हाउस में बदलवा दिया। लेकिन, वहां रहने नहीं गए। वहां कई आतंकियों की मौत हुई है, इसलिए कहा जाता है कि वह जगह मनहूस है। उमर और महबूबा दोनों को अलग-अलग जगह रखने के पीछे एक अलग कहानी है। सुरक्षा सूत्रों ने कहा कि हरिनिवास में उमर को टहलने की छूट दी गई थी। जबकि, महबूबा ऊपरी मंजिल पर थीं। एक दिन उमर नीचे टहल रहे थे, तभी महबूबा और उमर में कहासुनी होने लगी। दोनों कश्मीर के इन हालात के लिए एक-दूसरे को दोष देने लगे। झगड़ा इतना बढ़ गया कि सुरक्षाबलों को उन्हें अलग-अलग जगहों पर रखने