News That Matters

Tag: कहना

सचिन तेंदुलकर 2007 में ही क्रिकेट को कहना चाहते थे अलविदा फिर इस दिग्गज के फोन ने बदल दिया फैसला!

Indian Sports
सचिन तेंदुलकर साल 2007 में क्रिकेट को अलविदा कहने का फैसला कर चुके थे। Jagran Hindi News - cricket:headlines

भारत नहीं करने पर प्रियंका चोपड़ा को थैंक्यू तो कहना पड़ेगा : सलमान खान

Entertainment
सलमान खान ने प्रियंका चोपड़ा द्वारा भारत छोड़ने का बिलकुल बुरा नहीं माना और कहा कि वे भविष्य में भी प्रियंका के साथ फिल्म करने के लिए तैयार हैं। मनोरंजन
विशेषज्ञों का कहना- इयरफोन का 2 घंटे लगातार इस्तेमाल बना सकता है आपको बहरा

विशेषज्ञों का कहना- इयरफोन का 2 घंटे लगातार इस्तेमाल बना सकता है आपको बहरा

Delhi
नई दिल्ली (तरुण सिसोदिया).इन दिनों मेट्रो, बस, ट्रेन आदि में सफर करने के दौरान लोगों, खासकर युवाओं का कान में इयरफोन लगाकर म्यूजिक सुनना आम है। लेकिन उनकी यह आदत उन्हें बहरा बना सकती है। विशेषज्ञों का कहना है कि इन जगहों पर पहले से तेज आवाज होती है। ऐसे में इयरफोन से म्यूजिक सुनने के लिए आवाज को बढ़ाना पड़ता है, जोकि सुनने की क्षमता पर प्रभाव डाल सकती है। यह इंसान को बहरा बनाने के लिए काफी है।मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज में प्रोफेसर डॉ. रवि मेहर के मुताबिक 100 डेसिबल पर रोज 2 घंटे म्यूजिक सुनने से बहरेपन का खतरा बढ़ जाता है। व्यक्ति की सेंस्टेविटी के अनुसार यह 1 माह से लेकर सालभर में किसी को बहरा करने के लिए काफी है। हमारे यहां सुनाई देने में परेशानी को लेकर आने वाले मरीजों में बड़ी तादाद में ऐसे लोग शामिल हैं जिन्हें यह परेशानी म्यूजिक सुनने के चलते हुई।डब्ल्यूएचओ में सलाहकार
INTERVIEW: ‘यह कहना गलत है कि नौकरियां कम हुईं, विकास के साथ रोजगार भी बढ़ा’

INTERVIEW: ‘यह कहना गलत है कि नौकरियां कम हुईं, विकास के साथ रोजगार भी बढ़ा’

India
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार की शाम ‘हिन्दुस्तान' से लंबी बातचीत के दौरान इस आरोप को सिरे से नकार दिया कि नोटबंदी की वजह से नौकरियों पर संकट आ खड़ा हुआ है। उन्होंने आंकड़ों सहित... Live Hindustan Rss feed
श्याम प्रभु का क्या कहना, श्याम इस दिल में तेरा ही ठिकाना

श्याम प्रभु का क्या कहना, श्याम इस दिल में तेरा ही ठिकाना

Haryana
कुरुक्षेत्र| श्री खाटू श्याम परिवार सेवा समिति थानेसर द्वारा वीरवार सायं धोबी मोहल्ला थानेसर में श्रीखाटू श्याम संकीर्तन एवं भंडारा आयोजित किया गया। कोषाध्यक्ष विनीत राजपाल ने बताया कि समिति के प्रधान एवं यजमान सुभाष सुखीजा ने सपरिवार श्याम पूजन किया। गायक लखबीर सिंह लक्खा ने श्याम जी के भजन सुनाकर समां बांधा। दुनिया में देव हजारों हैं, श्याम प्रभु का क्या कहना, श्याम इस दिल में तेरा ही ठिकाना है, अब तुझे छोड़कर कहीं और नहीं जाना है,काली कमली वाला मेरा यार है और झुक गई बड़ी-बड़ी सरकार तेरी मोरझड़ी के आगे पर श्रद्धालु मस्ती में झूम उठे। मौके पर ललित अत्री, दिनेश कक्कड़, लवकेश, अनिरुद्घ, विजय गुलाटी, लक्ष्मण दास, रतन जांगड़ा, सुरेंद्र काठपाल, बंसी लाल, राजेश मल्होत्रा, हिमांशू मल्होत्रा, सुशील गेरा, रमेश शर्मा, प्रदीप वर्मा, रामशरण चौहान, चिराग, लक्की, सन्नी, अनिल शामिल र
मोदी ने कहा- कांग्रेस का घोषणापत्र उन्हीं की तरह भ्रष्ट-बेईमान, इसे ढकोसला पत्र कहना चाहिए

मोदी ने कहा- कांग्रेस का घोषणापत्र उन्हीं की तरह भ्रष्ट-बेईमान, इसे ढकोसला पत्र कहना चाहिए

India
ईटानगर. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को अरुणाचल प्रदेश के पासीघाट में चुनाव प्रचार करने पहुंचे। उन्होंने कहा कि एक परिवार ने 55 साल तक दावा किया, लेकिन ये फिर भी दावा नहीं कर सकते कि हिंदुस्तान के सारे काम पूरे कर दिए। मुझे तो पांच साल होने वाले हैं, लेकिन मैं इतना जरूर समाधान कर सकता हूं कि मैं हर चुनौतियों को चुनौती देने वाला इंसान हूं। मोदी आज पश्चिम बंगाल के सिलिगुड़ी और कोलकाता में भी जनसभाएं करेंगे।'आजादी के 7 दशक बाद अरुणाचल के सभी गांवों में बिजली पहुंची'मोदी ने कहा, "आपके मजबूत विश्वास का ही नतीजा है कि आज अरुणाचल में शिक्षा और स्वास्थ्य को लेकर अनेक संस्थान बन रहे हैं। आजादी के 7 दशक बाद अरुणाचल के सभी गांवों तक बिजली पहुंचा पाए हैं, हर घर को रोशन कर पाए हैं।एक तरफ वे दल हैं, जिन्होंने कभी देश की आशाओं-आकांक्षाओं को नहीं समझा, जिन्होंने देश पर राज करने की
वेंकैया बोले राष्ट्रवाद का मतलब भारत माता की जय कहना

वेंकैया बोले राष्ट्रवाद का मतलब भारत माता की जय कहना

Delhi
वेंकैया बोले राष्ट्रवाद का मतलब भारत माता की जय कहना नहीं | नई दिल्ली |डीयू में उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने राष्ट्रवाद पर अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि भारत माता की जय करने कहने का मतलब राष्ट्रवाद नहीं होता है। उन्होंने देश के युवाओ से अपील की है कि वह लोगों के साथ जाति, धर्म और क्षेत्र के आधार पर किसी भी तरह का कोई भेदभाव नहीं करें। उपराष्ट्रपति ने कहा कि सबके लिए जय हो यह होती है देशभक्ति। अगर आप लोगों के साथ जाति, धर्म आदि के आधार पर भेदभाव करते हैं तो आप भारत माता की जय नहीं कह रहे हैं। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar
एकाग्रता को ध्यान नहीं, समग्रता कहना उचित, जिसमें विचार नहीं हो :ओशो शैलेंद्र

एकाग्रता को ध्यान नहीं, समग्रता कहना उचित, जिसमें विचार नहीं हो :ओशो शैलेंद्र

Haryana
ध्यान का अर्थ एकाग्रता नहीं, बल्कि समग्रता है, जिसमें विचार न हो वही ध्यान है। इस ध्यान को बढ़ा लिया जाए तो फिर किसी तरह से धार्मिक स्थल पर जाने की भी जरूरत नहीं है। अपने भीतर जब शांति और चैन होगा तभी शांतचित मन हो पाएगा और उचित ध्यान का स्तर होगा। यह जानकारी ओशो शैलेंद्र ने रविवार को सत्संग व ध्यान पर पीजीआईएमएस में आयोजित कार्यक्रम में दी। उन्होंने बताया कि अपने भीतर भी चेतना है और भाव है इसी कारण से मनुष्य अलग है। मशीनों से सभी काम हो सकते हैं, लेकिन सिर्फ ये दो काम मनुष्य के पास ही है। इसी कारण वे अलग हैं। अोशो शैलेंद्र ने कहा कि ईश्वर की बात ही अंधविश्वास है। मैं इस ध्यान में परमात्मा शब्द को भी बीच में नहीं लाना चाहता। मैं ईश्वरवादी भी नहीं हूं। आज आधी से ज्यादा दुनिया नास्तिक हो चुकी है, जो बची है वह भी जल्द हो जाएगी, जैसे-जैसे शिक्षा का प्रचार-प्रचार होगा। लोगों
जासूसी के आरोप में आर्मी के राडार पर आ चुके रवि का कहना, झूठे केस में फंसाया गया

जासूसी के आरोप में आर्मी के राडार पर आ चुके रवि का कहना, झूठे केस में फंसाया गया

Punjab
मोगा. पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए काम करने आरोप में फाजिल्का के रामकुमार की गिरफ्तारी के बाद अब मोगा जिले का रवि नामक युवक इंडियन आर्मी के राडार पर आ गया है। एक तरफ उसकी कॉल डिटेल के आधार पर रामकुमार की गिरफ्तारी की बात सामने आई है, लेेकिन दूसरी तरफ वह खुद को बेकसूर बता रहा है। दरअसल जासूसी के मामले में 9 महीने 7 दिन बाद हाल ही में ढाई महीने पहले 5 जनवरी को वह जमानत पर आया है। ऐसे में भले ही वह अपनी जिंदगी की गाड़ी को पटरी पर लाने की कोशिश कर रहा है, लेकिन सुरक्षा एजेंसियां लगातार उस पर नजर बनाए हुए हैं। किसी भी सेना की तरफ से उसकी जिंदगी के अतीत को कुरेदा जा सकता है।Dainik Bhaskar के साथ खास बातचीत के दौरानअपने बारे में रवि बताता है कि वह एक प्राइवेट फर्म में काम करता है। फरवरी 2018 में वह दुबई में दोस्तों के पास गया था। वहां तबीयत खराब हो जाने के चलते 4 दिन
संख्या पूछने वालों से कहना चाहता हूं, युद्धवीर मारे गए लोगों की गिनती नहीं करता: राजनाथ सिंह

संख्या पूछने वालों से कहना चाहता हूं, युद्धवीर मारे गए लोगों की गिनती नहीं करता: राजनाथ सिंह

Rajasthan
ब्यावर.केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान में हुई एयर स्ट्राइक पर मारे गए आतंकियों की संख्या पूछने वालों को आड़े हाथों लिया। उन्होंनेकहा,'अरे आप लोग संख्या पूछते हो, कितने लोग मारे गए? संख्या पूछने वालों से कहना चाहता हूं, जो युद्ध वीर होता है वो मारे गए लोगों की गिनती नहीं करता।' सिंह ब्यावर में आयोजितभाजपा केशक्ति सम्मेलन में बोल रहे थे।यहां सेदरिया स्टेडियम में आयोजित सम्मेलन मेंसिंह ने कहा कि पुलवामा में हमला होने के बाद काउंटर टेरर ऑपरेशन भारतने शुरू किया। वायुसेना के जवानों ने पाकिस्तान की धरती पर जाकर आतंकवादी ठिकानों को तबाह करने में सफतला प्राप्त की। पहली बार पाकिस्तान को ये एहसास हुआ होगा कि अबआतंक का कारोबार उनकी धरती पर बिना रोक-टोक के नहीं चलाया जा सकता।अगर पाकिस्तान मेंआतंकीकैंप चलेंगे तो उन्हेंइसकी कीमत चुकानी पड़ेगी। ये हमारे सेना के जवानों ने