News That Matters

Tag: कारण…

world osteoporosis day- ‘हड्डियों के टूटना’ ऑस्टियोपोरोसिस का एक बड़ा कारण

world osteoporosis day- ‘हड्डियों के टूटना’ ऑस्टियोपोरोसिस का एक बड़ा कारण

Health
world osteoporosis day - बुजुर्गों या उम्र बढ़ने पर हड्डियों का कमजोर होना यानी ऑस्टियोपोरोसिस एक आम समस्या है, जिससे हड़िडयों के टूटने/ फ्रैक्चर होने की अाशंका बढ़ जाती है। ऑस्टियोपोरोसिस में विशेष रूप से कूल्हे, रीढ़ की हड्डी और कलाई की हड्डी में फ्रैक्चर की संभावना अधिक होती है। ऐसी स्थिति में जरा सी चोट लगने या कहीं टकराने पर भी हड्डी टूट जाती है। ऑस्टियोपोसिस के कारण हड्डी टूटने की संभावना 50 फीसदी लोगों में होती है, ऑस्टियोपोसिस के कारण हड्डी टूटना एक बड़ी समस्या है, जो अक्सर उम्र बढ़ने के साथ होती है। ऑस्टियोपोसिस के लक्षणों में ''पीठ में दर्द, जो अक्सर वर्टेबरा में खराबी या फ्रैक्चर के कारण होता है। समय के साथ उंचाई कम होना, पीठ में झुकाव, जिससे हड्डी टूटने की संभावना बढ़ जाती है। ऑस्टियोपोरोसिस के कारण- ऐसी कई दवाएं हैं जो ऑस्टियोपोरोसिस का कारण बन सकती है। जैसे कॉर्टिकोस्टेरॉयड
यूआईडीएआई ने कहा आधार के कारण बंद नहीं होंगे मोबाइल नंबर

यूआईडीएआई ने कहा आधार के कारण बंद नहीं होंगे मोबाइल नंबर

Delhi
एजेंसी | नई दिल्ली. टेलीकॉम विभाग और आधार प्राधिकरण ने गुरुवार को संयुक्त बयान जारी कर कहा कि आधार नंबर के कारण किसी का मोबाइल सिम बंद नहीं किया जाएगा। सरकार मोबाइल सेवा ग्राहकों के दोबारा वेरिफिकेशन के लिए दबाव नहीं डालेगी। वेरिफिकेशन स्वैच्छिक होगा। यह तब किया जाएगा जब ग्राहक पते के प्रमाण के लिए अन्य विकल्प चुनता है। सुप्रीम कोर्ट ने आधार ईकेवाईसी प्रमाणीकरण प्रक्रिया के जरिए नए सिम कार्ड जारी करने पर रोक लगा दी है। पुराने सिम को बंद करने का आदेश नहीं जारी किया है। कोर्ट ने यह भी नहीं कहा है कि छह महीने बाद सभी ग्राहकों के ईकेवाईसी डेटा हटा दिए जाएं। कोर्ट ने कहा है कि यूआईडीएआई को छह महीने से अधिक ऑथेंटिकेशन लॉग नहीं रखना चाहिए। रोक यूआईडीएआई पर है, टेलीकॉम कंपनियों पर नहीं। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today N
विद्यार्थियों को बीमारियों के कारण और बचाव की जानकारी दी

विद्यार्थियों को बीमारियों के कारण और बचाव की जानकारी दी

Punjabi Politics
मोगा |एसएफसी इंस्टीट्यूट आॅफ नर्सिंग में मंगलवार को विद्यार्थियों को अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने के लक्ष्य से स्कूल डायरेक्टर अभिषेक जिंदल के नेतृत्व में विद्यार्थियों को बीमारियों के कारण और बचाव संबंधी जागरूक करने के लिए सेमिनार का आयोजन किया गया। इस दौरान विशेष रुप से पहुंचे सरकारी अस्पताल के डॉक्टरों की टीम डाॅ. कमलदीप कौर माहल, डाॅ. मनीष अरोड़ा, कृष्णा शर्मा और मीडिया इंचार्ज अमित अरोड़ा ने विद्यार्थियों को दांतों की बीमारियों के कारण होने वाले अन्य नुकसान संबंधी जागरूक करवाया। सेमिनार में करवाए पोस्टर मुकाबलों में विजेता विद्यार्थियों को सम्मानित करते हुए स्टाफ। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Moga - विद्यार्थियों को बीमारियों के कारण और बचाव की जानकारी दी Dainik Bhaskar
शहर में हर साल 20% बढ़ रहे मनोरोगी, तनाव बड़ा कारण

शहर में हर साल 20% बढ़ रहे मनोरोगी, तनाव बड़ा कारण

Punjabi Politics
जालंधर | बर्थ सर्टिफिकेट में करेक्शन करवानी हो, रेलवे स्टेशन की खिड़की पर खड़े होकर टिकट बुकिंग हो और अस्पताल में जाओ तो भी लंबी लाइनें देखने के अलावा कई कारणों से तनाव का सामना करना पड़ता है। नतीजा है कि भारत के करीब 12 फीसदी लोग किसी न किसी मनोरोग से पीड़ित हैं। सिटी की ही बात करें तो दो साल में 30 हजार से ज्यादा मरीज सिर्फ सिविल अस्पताल में ही दिमागी बीमारियों का इलाज करवाने आ चुके हैं। भारत की कुल 12 प्रतिशत मनोरोगियों की संख्या में 10 फीसदी तो तनाव के ही मरीज हैं। एक-एक प्रतिशत बाइपोलर डिसऑर्डर और एक प्रतिशत सिजोफ्रेनिया से पीड़ित हैं। बाइपोलर डिसऑर्डर में व्यक्ति बहुत ज्यादा खुश या बहुत ज्यादा उदास हो जाता है। सिविल में करवाया सेमिनार- अकेले सिविल में पिछले दो साल में 30 हजार से अधिक मरीज पहुंचे शनिवार को वर्ल्ड मेंटल हेल्थ डे के मौके पर सिविल अस्पताल में एक सेमिना

वानखेड़े से वनडे हटाए जाने से दुखी एमसीए ने सीओए से कारण पूछा

Indian Sports
मुंबई। मुंबई क्रिकेट संघ ने बीसीसीआई की प्रशासकों की समिति (सीओए)को पत्र लिखकर भारत और वेस्टइंडीज के बीच चौथा वनडे मैच वानखेड़े स्टेडियम से हटाकर क्रिकेट क्लब ऑफ इंडिया पर कराने का कारण पूछा है। खेल-संसार

जॉन हैस्टिंग्स की हालत नाजुक, लगातार मुंह से खून जाने के कारण क्रिकेट पर लगाया ब्रेक

Indian Sports
कैनबरा। ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर जॉन हैस्टिंग्स ने पिछले काफी समय से मुंह से खून जाने और सेहत के लगातार गिरते स्तर को देखते हुए अपने क्रिकेट करियर पर फिलहाल विराम लगाने का फैसला किया है। खेल-संसार
इस कारण एचएएल के कर्मचारियों से मुलाकात कर सकते हैं राहुल गांधी

इस कारण एचएएल के कर्मचारियों से मुलाकात कर सकते हैं राहुल गांधी

Rajasthan
इंटरनेट डेस्क। देश में इस साल पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं। इसके लिए कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी चुनावी राज्यों में जनसभा को संबोधित कर नरेन्द्र मोदी की केन्द्र पर जमकर प्रहार कर रहे हैं। नरेन्द्र मोदी तो राफेल मामले में राहुल गांधी के निशाने पर बने हुए है। वह लागातार इस मामले में केन्द्र सरकार पर प्रहार कर रहे हैं। राहुल गांधी ने बीकानेर में मोदी पर साधा निशाना, रोड शो की नहीं मिली इजाजत इस मामले को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के शनिवार को बेंगलुरू में हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) के कर्मचारियों से मुलाकात करने की संभावना है। यूपी बिहार के लोगों पर नहीं रूके हमले तो मोदी को नहीं घुसने दिया जाएगा वाराणसी मेंः कांग्रेस बताया जा रहा है कि हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड के कर्मचारियों ने राहुल गा
विनिता नंदा के खुलासे के बाद ‘सिंटा’ ने आलोक नाथ को भेजा ‘कारण बताओ नोटिस’

विनिता नंदा के खुलासे के बाद ‘सिंटा’ ने आलोक नाथ को भेजा ‘कारण बताओ नोटिस’

Entertainment
विनिता नंदा के सोशल मीडिया पर किए गए पोस्ट के बाद लोग उनके समर्थन में आगे आ गए हैं। इस पोस्ट में उन्होंने बताया है कि कैसे महान एक्टर अलोक नाथ ने उनके साथ सेक्सुअल हेरेसमेंट किया। जब वे 90 के दशक में टीवी सीरियल 'तारा' में काम कर रही थीं। उनके खुलासे के बाद फिल्म इंडस्ट्री के लोग सकते में आ गए हैं। आलोक नाथ जो अब तक संस्कारी की छवि में थे उन पर विनिता को कई बार सेक्सुअल हेरेसमेंट करने का आरोप लगा है। विनीता को सोशल मीडिया पर जर्बदस्त सपोर्ट मिल रहा है। इसके बाद सिंटा (सिने एंड टीवी आर्टिस्ट एसोसिएशन) भी उनके सपोर्ट में आ गई है। सिंटा ने आलोक नाथ को कारण बताओ नोटिस भेजा है।सिंटा के जनरल सेक्रेटरी सुशांत सिंह ने सुबह ट्वीट किया। जिसमें लिखा था कि, 'डियर विनीता नंदा मुझे बहुत दुख हुआ। सुबह सबसे पहले अलोक नाथ को कारण बताओ नोटिस भेजा जाएगा। दुर्भाग्यपूर्ण है किहम
जिला पदस्थापन समिति के अनुमोदन में लापरवाही के कारण 150 शिक्षकों को पांच माह से नहीं मिला वेतन

जिला पदस्थापन समिति के अनुमोदन में लापरवाही के कारण 150 शिक्षकों को पांच माह से नहीं मिला वेतन

Rajasthan
शिक्षा विभाग ने ऑनलाइन पोर्टल से ज्वॉइनिंग, ट्रांसफर और पदोन्नति की प्रक्रिया शुरू कर कई लाभ दिए हैं, लेकिन अनुमोदन की प्रक्रिया फाइलों में होने के कारण अभी भी शिक्षकों की गले की फांस बनी हुई है। जिले में करीब 150 से अधिक शिक्षकों को पिछले पांच माह से वेतन नहीं मिला है। इसके पीछे गलती पीईईओ, शिक्षक और शिक्षा अधिकारियों की नहीं है। लापरवाही है जिला परिषद में अनुमोदन कराने में लापरवाही की। जहां से पिछले पांच माह से फाइलें जमा हो रही है। जिसमें अभी तक पदस्थापन समिति के हस्ताक्षर नहीं हो रहे है। जिसके कारण शिक्षकों को वेतन और स्कूलों को शिक्षक नहीं मिल पा रहे है। प्रारंभिक शिक्षा विभाग में अप्रैल माह में 3 बी के तहत शिक्षक अधिशेष को गई है। उस समय सरकार की ओर से कई उच्च प्राथमिक स्कूलों को क्रमोन्नत करके माध्यमिक शिक्षा में बदल दिया था। ऐसे में इन स्कूलों में कार्य करने वाल

#MeToo बैडमिंटन स्टार ज्वाला गुट्‍टा का बड़ा खुलासा, उत्पीड़न के कारण छोड़ना पड़ा खेल

Indian Sports
भारतीय बैडमिंटन स्टार ज्वाला गुट्‍टा ने सोशल मीडिया में एक बड़ा खुलासा करते हुए यह कहकर सबको चौंका दिया कि वे भी उत्पीड़न का शिकार हुई हैं। #MeToo कैम्पेन के जरिए कई महिलाएं अपने ऊपर हुए अत्याचारों और यौन शोषण के बारे में खुलकर सामने आ रही हैं और ... खेल-संसार