News That Matters

Tag: कीर्तन

कनाडा: बैसाखी पर निकले नगर कीर्तन में 5 लाख संगत जुटी

कनाडा: बैसाखी पर निकले नगर कीर्तन में 5 लाख संगत जुटी

Punjabi Politics
सर्रे/बीसी (कैनेडा)| तस्वीर कनाडा के सर्रे की है। शनिवार को यहां बैसाखी नगर कीर्तन की धूम रही। कीर्तन में शामिल होने के लिए कनाडा, अमेरिका और यूरोप के अलावा भारत से भी संगत पहुंची थी। आंकड़ा करीब 5 लाख के करीब था। कीर्तन का आयोजन गुरुद्वारा साहिब दशमेश दरबार सर्रे की ओर से किया जाता है। गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रवक्ता मोनिंदर सिंह बुआल ने बताया कि इस साल विभिन्न सिख संगठनों, स्कूलों और अन्य एनजीओ ने 20 से अधिक झांकियां नगर कीर्तन में पेश कीं। पूरे रास्ते में लंगर लगाया गया जिसमें पंजाबी फूड से लेकर पिज्जा-पास्ता तक शामिल था। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Sangat News - canada nagar kirtan which came out on baisakhi collected 5 million Dainik Bhaskar
धर्मकोट के गुरुद्वारा नानकसर बाबा पूर्ण सिंह में कीर्तन दरबार आज

धर्मकोट के गुरुद्वारा नानकसर बाबा पूर्ण सिंह में कीर्तन दरबार आज

Punjab
श्री गुरु अमरदास जी के प्रकाश पर्व को समर्पित रैण सबाई कीर्तन दरबार अखंड कीर्तनी जत्थे द्वारा गुरुद्वारा नानकसर बाबा पूर्ण सिंह धर्मकोट में करवाया जाएगा। अध्यक्ष निर्मल सिंह व हेड ग्रंथी नरिंदर सिंह ने बताया कि कीर्तन दरबार 20 अप्रैल को सायं 7 बजे शुरू होगा।(धवन) Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar
नगर कीर्तन में शामिल श्रद्धालुओं ने किया शबद कीर्तन, सतनाम वाहेगुरु के जाप से गूंजा इलाका

नगर कीर्तन में शामिल श्रद्धालुओं ने किया शबद कीर्तन, सतनाम वाहेगुरु के जाप से गूंजा इलाका

Punjab
भास्कर संवाददाता | सुल्तानपुर लोधी श्री गुरु नानक देव जी महाराज के 550वें प्रकाशोत्सव को समर्पित गुरुद्वारा साहिब महिल जंडियाला (अमृतसर) से नगर कीर्तन सुल्तानपुर लोधी तक निकाला गया। नगर कीर्तन श्री गुरु ग्रंथ साहिब की छत्रछाया व पांच प्यारों के नेतृत्व में श्री खडूर साहिब, श्री गोइंदवाल साहिब, मुुंडी मोड़, तलवंडी चौधरियां से होते हुए शबद कीर्तन करते हुए गुरुद्वारा बेर साहिब पहुंच कर संपन्न हो गया। इस दौरान सतनाम वाहेगुरु जी के जाप से शहर गूंज उठा। संगत को गुरु शरण से जुड़कर जीवन को सफल बनाने का आह्वान किया गया। नगर कीर्तन का गुरुद्वारा बेर साहिब में गुरुद्वारा श्री बेर साहिब के मैनेजर भाई सतनाम सिंह रियाड, हेड ग्रंथी भाई सुरजीत सिंह सभ्रा की अगवाई में स्वागत किया गया। ज्ञानी सुरजीत सिंह ने नगर कीर्तन की सफलता पूर्वक संपूर्णता की अरदास की व गुरुद्वारा साहिब महिल जंडियाल
गुरुद्वारा साहिब में अमृत संचार, दीवान सजाए और रागी जत्थाें ने किया कीर्तन

गुरुद्वारा साहिब में अमृत संचार, दीवान सजाए और रागी जत्थाें ने किया कीर्तन

Punjabi Politics
गुरुद्वारा श्री नौवीं पातशाही, बहादुरगढ़ में खालसा पंथ के प्रगट दिवस पर मेला आयोजित किया गया। इसमें पांच गांवों की संगत के सहयोग से लंगर व गन्ने के रस की खीर का प्रबंध किया गया। कार सेवा व गुरुद्वारा साहिब की प्रबंधक कमेटी ने कढ़ी, दाल, राजमा व फुल्के का लंगर लगाया। गुरुद्वारा श्री नौवीं पातशाही के हेड ग्रंथी भाई अवतार सिंह ने बताया कि खालसा पंथ के प्रकट दिवस पर गुरुद्वारा श्री नौवीं पातशाही में जोड़ मेल की तरह मेला भरता है। बहादुरगढ़, नरड़ू, भठलां, गंडा खेड़ी व खेड़ी मंडला की संगत गुरुद्वारा साहिब में लंगर की सेवा करती है। गुरुद्वारा श्री नौवीं पातशाही के हेड ग्रंथी भाई अवतार सिंह ने बताया िक खालसा पंथ के प्रकट दिवस पर गुरुद्वारा साहिब में अमृत संचार, दीवान सजाए जाते हैं। रागी जत्थे कीर्तन करते हैं। भाई अवतार सिंह ने बताया कि जिस जगह पर गुरुद्वारा श्री नौवीं पातशाही बह
गुरुद्वारा सिंह सभा से पांच प्यारों की अगुवाई में नगर कीर्तन निकाला

गुरुद्वारा सिंह सभा से पांच प्यारों की अगुवाई में नगर कीर्तन निकाला

Punjabi Politics
समराला के कुल्लेवाल में बैसाखी के उपलक्षय पर नगर कीर्तन निकाला गया।् गुरुद्वारा सिंह सभा से पांच प्यारों की अगुवाई में निकले नगर कीर्तन पूरे गांव की पक्रिमा निकालते हुए वापस गुरुद्वारा साहिब पहुंचा। इस दौरान शमशेर सिंह अौर अमरजीत कौर के जत्थे ने कीर्तन से संगत को निहाल किया। वहीं खन्ना से पहुंची गतका पार्टी ने गतके के जौहर दिखाए। इस दौरान संगत के लिए लंगर भी लगाया गया था। इस मौके पर अमृतपाल सिंह, लक्षमण सिंह, केवल कुल्लेवालिया, रणधीर सिंह, राम सिंह, बाबा अमरजीत सिंह, इंदरवीर सिंह, गुरमेल सिंह, बलवीर सिंह, सतनाम सिंह, गग्गी, स्वर्ण सिंह, गग्गू, शेर सिंह के अलावा अन्य मौजूद थे। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar
कीर्तन सुनकर संगत हुई निहाल आज डाले जाएंगे पाठ के भोग

कीर्तन सुनकर संगत हुई निहाल आज डाले जाएंगे पाठ के भोग

Punjabi Politics
भास्कर संवाददाता| तलवंडी साबो तख्त श्री दमदमा साहिब में खालसा पंथ का जन्म दिवस “बैसाखी जोड़ मेले के दूसरे दिन भी संगत ने बड़ी संख्या में हाजिरी लगवाई। शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी और बूढ़ा दल की तरफ से धार्मिक स्टेजें लगाई गई जबकि सरबत खालसा के जत्थेदार बलजीत सिंह दादूवाल की तरफ से धार्मिक दीवान सजाए गए। खालसा सिरजना दिवस बैसाखी चाहे कि 14 अप्रैल को मनाई जा रही है परंतु शनिवार सुबह से बड़ी संख्या में संगत दमदमा साहिब पहुंच कर गुरुद्वारा साहिब नतमस्तक हो रही हैं। सबसे पहले संगत की तरफ से पवित्र सरोवरों में स्नान कर गुरुद्वारा साहिब में हाजिरी लगवाई। सब-आफिस धर्म प्रचार कमेटी दमदमा साहिब की तरफ से भाई डल्ल सिंह दीवान हाल में गुरमती समागमों के लिए धार्मिक स्टेज लगाई गई। भाई डल्ल सिंह दीवान हाल में ज्ञानी हरप्रीत सिंह कार्यकारी जत्थेदार श्री अकाल तख्त साहिब की तरफ से अरदास
14 काे नगर कीर्तन, 15 काे अमृत संचार

14 काे नगर कीर्तन, 15 काे अमृत संचार

Punjabi Politics
सनौर| देवीगढ़ के पास घडाम के गुरुद्रारा बोअली साहिब में संत बाबा अवतार िसंह की अगुवाई में वैसाखी का त्योहार मनाया जाएगा। चरणजीत िसंह भैणी ने बताया िक 14 अप्रैल को िदन में नगर कीर्तन निकाला जाएगा। नगर कीर्तन गुरुद्रारा साहिब से शुरू होगा। पीर बाबा भीखम शाह की दरगाह पर दीवान लगाए जा रहे है। 15 को अमृत संचार िकया जाएगा। कुश्ती मुकाबले हाेंगे। इस दाैरान सविंदर िसंह, प्रगट िसंह, बाबा भजन िसंह, नरमल िसंह माैजूद रहे। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar
प्राचीन देवी मंदिर में 6 को होगा भगवती कीर्तन

प्राचीन देवी मंदिर में 6 को होगा भगवती कीर्तन

Haryana
अग्रवाल वैश्य सम्मेलन महिला विंग द्वारा भारतीय नववर्ष चैत्र शुक्ल प्रतिपदा विक्रमी संवत् 2076 तदानुसार 6 अप्रैल को रेलवे स्टेशन स्थित प्राचीन देवी मंदिर में भगवती कीर्तन कराया जाएगा। प्रधान रीतु अग्रवाल ने बताया कि नववर्ष सभी के लिए जीवन में खुशहाली रहे। इसी कामना से सत्संग कराया जा रहा है। महासचिव निधि गर्ग ने कहा कि नई पीढ़ी पाश्चात्य संस्कृति के पीछे भाग रही है। हिंदू संस्कृति को आगे ले जाने के लिए इस प्रकार के आयोजन होते रहने चाहिए। प्रदेशाध्यक्ष इंदु गुप्ता ने कहा कि भजन कीर्तन में शहर की महिलाओं ने बढ़-चढ़कर उत्साह दिखाया। मौके पर पूनम, आभा, उषा, ऋतु, निशा, कुसुम, पारुल, रेखा, सोनम, रजनी, अनिता मौजूद रहे। रेलवे स्टेशन स्थित प्राचीन देवी मंदिर में भगवती कीर्तन के दौरान उपस्थित अग्रवाल वैश्य सम्मेलन महिला विंग के पदाधिकारी व सदस्य। Download Dainik Bhaskar App
मुक्तसर से चले नगर कीर्तन का तलवंडी भाई पहुंचने पर स्वागत

मुक्तसर से चले नगर कीर्तन का तलवंडी भाई पहुंचने पर स्वागत

Punjabi Politics
भास्कर सवांददाता| तलवंडी भाई निरोल सेवा संस्था की ओर से श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व को समर्पित शुरू किया गया नगर कीर्तन सोमवार को गुरुद्वारा श्री जामनी साहिब बजीदपुर से चलकर ढींडसा, रत्ता खेड़ा, मिशरीवाला, फिरोजशाह, घल्ल खुर्द, माछीबुगरा, लले इत्यादि से होता हुआ तलवंडी भाई पहुंचा। नगर कीर्तन मेन चौक में पहुंचने पर इलाके की संगत ने स्वागत किया। सतपाल सिंह तलवंडी सदस्य एसजीपीसी, भुपिंदर सिंह कलसी अध्यक्ष रामगढ़िया सोसायटी, बाबा जोरा सिंह, बलवंत सिंह भंगरा, बलदेव सिंह बराड़ और अन्य गणमान्य की ओर से पांच प्यारों को सिरोपे भेंट किए गए। इस मौके पर संगत श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी को नतमस्तक हुई। इस समय निरोल सेवा संस्थान से मुख्य सेवादार जगदीप सिंह काला सोढी, हनी खुल्लर, बलवंत सिंह कलसी, राम सिंह कलसी, बलवंत सिंह कलसी, ज्ञानी बलदेव सिंह के अलावा अन्य संगतें मौजू
कीर्तन की है रात बाबा आज थारे आनो है…

कीर्तन की है रात बाबा आज थारे आनो है…

Punjab
जय श्री श्याम सेवा सोसायटी की ओर से लाला लालचंद धर्मशाला में मनाए जा रहे फाल्गुन वंदना महोत्सव में बुधवार रात्रि एसोसिएशन के चेयरमैन विपन सिंगला ने परिवार सहित श्याम प्रभु के दरबार में ज्योति प्रज्वलित किया। बुडलाडा से पधारी आमंत्रित भजन गायिका बेबी बबिता ने कीर्तन की है रात बाबा आज थारे आनो है.. नी मैं नचना श्याम दे नाल अज्ज मैनूं नच्च लैण दे.. भजनों पर अपनी हाजिरी लगवाते कहा कि जो श्रद्धालु श्याम बाबा के दरबार खाटू धाम में सच्ची श्रद्धा से जाता है, उसकी बाबा समस्त मनोकामनाएं पूर्ण करते हैं। संकीर्तन में कृष्ण स्वरूप में सुशोभित वरुण बांसल संग श्रद्धालुओं ने फूलों की होली खेलकर फाग महोत्सव मनाया। एसोसिएशन के अध्यक्ष यशपाल नोहरिया ने कहा कि पिछले सात वर्षों से कलियुग के अवतार श्याम प्रभु की महिमा को घर-घर पहुंचाने के लिए फाल्गुन महोत्सव मनाने के साथ प्रत्येक माह एकादशी