News That Matters

Tag: कैंसर

कोलोन कैंसर सेल खत्म करता है अंगूर, है आैर भी फायदे

कोलोन कैंसर सेल खत्म करता है अंगूर, है आैर भी फायदे

Health
एक नए शोध के अनुसार अंगूर ( Grapes ) बड़ी आंत से जुड़े कोलोन कैंसर ( colon cancer ) की कोशिकाओं को खत्म करने में सक्षम है। अमरीका की पेनसिल्वेनिया स्टेट यूनिवर्सिटी के शोध के मुताबिक अंगूर में पाए जाने वाले खास तरह के कंपाउंड और एंटीऑक्सीडेंट तत्त्व कोलोन कैंसर की कोशिकाओं को खत्म ( Grape extracts may protect against colon cancer ) कर फ्री रेडिकल्स को बनने से रोकते हैं। शोधकर्ताओं के अनुसार इन कंपाउंड को टेबलेट के रूप में तैयार कर कोलोन कैंसर के मरीज को दे सकते हैं। अन्य फायदे ( Grapes health benefits ) :- - माइग्रेन के दर्द से जूझ रहे लोगों के लिए अंगूर का रस पीना बहुत फायदेमंद होता है। कुछ समय तक अंगूर के रस का नियमित सेवन करने से इस समस्या से निजात पाई जा सकती है। - अंगूर अलावा दिल से जुड़ी बीमारियों के लिए भी ये विशेष रूप से फायदेमंद है। - अगर आपको भूख नहीं लगती है और इस वजह से ही आपका
Sleep apnea – महिलाओं में कैंसर का खतरा बढ़ाता है स्लीप एपनिया

Sleep apnea – महिलाओं में कैंसर का खतरा बढ़ाता है स्लीप एपनिया

Health
ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया (ओएसए) से पीड़ित महिलाओं में पुरुषों की अपेक्षा कैंसर होने का खतरा ज्यादा है। शोधकर्ताओं ने इस बात की चेतावनी दी है। द यूरोपियन रेस्पिरेटरी पत्रिका में प्रकाशित यह अध्ययन प्राप्त आंकड़ों के विश्लेषण पर आधारित है जो ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया (ओएसए) से पीडि़त कुल मिलाकर 20,000 वयस्क मरीजों पर यूरोपियन डेटाबेस ईएसएडीए में संग्रह किया गया है। इनमें से दो प्रतिशत मरीजों में कैंसर का पता लगाया गया। स्वीडन में गोथेनबर्ग विश्वविद्यालय के प्राध्यापक लुडगर ग्रॉट ने कहा, ‘‘यह मान लेना उचित है कि स्लीप एपनिया ( sleep apnea ) कैंसर के लिए एक जोखिम कारक है या दोनों ही स्थितियों के जोखिम कारक हैं जैसे कि ओवरवेट। दूसरी ओर इसकी संभावना कम है कि कैंसर से स्लीप एपनिया हो सकती है।’’ शोधकर्ताओं के मुताबिक, बढ़ती उम्र कैंसर के बढ़ते जोखिम के साथ संबंधित है, लेकि
गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल कैंसर का उपचार हुआ आसान

गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल कैंसर का उपचार हुआ आसान

Health
लोगों को अनियमित जीवनशैली से होने वाले रोगों जैसे डायबिटीज, हाई ब्लडप्रेशर और हार्ट फेल जैसी बीमारियों के बारे में पता होगा, लेकिन बहुत से लोगों ने गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल कैंसर (पेट की आंतों या पेट के... Live Hindustan Rss feed
बच्चे को था कैंसर, परेशान पिता ने किया सुसाइड, बच्चे की मौत

बच्चे को था कैंसर, परेशान पिता ने किया सुसाइड, बच्चे की मौत

Punjab
मानसा | गांव बाजेवाला के किसान के हंसते खेलते परिवार को कैंसर ने उजाड़ दिया है। दाे दिन में बाप-बेटे की माैत हाेने से गांव में शोक का सन्नाटा पसरा हुआ है। गांव के किसान बलविंदर सिंह के 6 साल के बच्चे को 2 महीने से कैंसर के इलाज के लिए पीजीआई चंडीगढ़ में चल रहा था। इलाज के दौरान लाखों रुपए खर्च होने के बावजूद उसका 6 साल के सुखमनप्रीत सिंह की सेहत में सुधार न होता देख पिता बलविंदर ने शुक्रवार को खुदकुशी कर ली थी। पिता की चिता की राख अभी ठंडी भी नहीं हुई थी कि कैंसर से पीड़ित बेटा भी जिंदगी की जंग हार गया। सुखमनप्रीत सिंह जीजीएस आदर्श स्कूल साहनेवाली मैं केजी क्लास का विद्यार्थी था। बलविंदर सिंह सुखमनप्रीत सिंह Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Shahnewal News - child had cancer troubled father committed suicide child
हिंदूराव अस्पताल में कैंसर केयर सेंटर शुरू

हिंदूराव अस्पताल में कैंसर केयर सेंटर शुरू

Delhi
नई दिल्ली| हिंदूराव अस्पताल में कैंसर केयर सेंटर शुरू हो गया है। इसका उद्घाटन नॉर्थ दिल्ली के मेयर अवतार सिंह ने किया। नॉर्थ एमसीडी के एडिशनल कमिश्नर जयराज नाइक ने कहा कि यह सेंटर सप्ताह में 3 दिन (बुधवार, गुरुवार और शुक्रवार) दोपहर 2.00 बजे से शाम 4.00 बजे तक ओपीडी ब्लॉक की पहली मंजिल पर चलेगा। उन्होंने कहा कि संबंधित विभागों के चिकित्सा अधिकारी/विशेषज्ञ जैसे प्रसूति रोग विशेषज्ञ, शल्यचिकित्सा, त्वचाविज्ञान, नेत्र विज्ञान केंद्र में सेवाएं चला रहे हैं। अवतार सिंह ने कहा कि अब इस सेंटर के उद्घाटन के बाद मरीजों को समय पर इलाज मिलेगा। इस मौके पर डिप्टी मेयर योगेश वर्मा, स्टैंडिंग कमेटी चेयरमैन जय प्रकाश जेपी, नेता सदन तिलक राज कटारिया भी मौजूद थे। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar
अब ज्यादा असरदार और किफायती होगा कैंसर का इलाज

अब ज्यादा असरदार और किफायती होगा कैंसर का इलाज

Health
ब्रिटेन के एक विश्वविद्यालय के अनुसंधानकर्ताओं ने नयी तकनीक विकसित की है जो कैंसर के प्रकाश आधारित उपचार को सस्ता बनाने के साथ ही ज्यादा प्रभावी और मरीजों के लिए सुरक्षित बना सकता है।प्रकाश... Live Hindustan Rss feed
त्वचा में दिखाई दें ये बदलाव तो हो सकता है स्किन कैंसर

त्वचा में दिखाई दें ये बदलाव तो हो सकता है स्किन कैंसर

Health
त्वचा की कोशिकाओं में असामान्य वृद्धि होना स्किन कैंसर हो सकता है। ये ज्यादातर उन हिस्सों में होता है जहां सूर्य की किरणें सीधी पड़ती हैं जैसे चेहरा, गला, हाथ और पैर आदि। ऐसी स्थिति में डीएनए डैमेज होने के कारण कोशिकाओं में असामान्य वृद्धि होने लगती है और स्किन कैंसर की स्थिति बनती है। इसके अलावा स्किन कैंसर के और भी कई कारण हैं जैसे रोग प्रतिरोधक क्षमता का कमजोर होना, रेडिएशन जैसे एक्स-रे का बार-बार होना, खानपान में प्रिजर्वेटिव्स यानी रसायनों का अधिक इस्तेमाल आदि। तीन प्रकार का होता कैंसर - स्किन कैंसर मुख्यत: तीन प्रकार का होता है-1. सैक्वमस सेल कार्सिनोमा : यह स्किन कैंसर त्वचा की ऊपरी परत को प्रभावित करता है। इसके मामले उन लोगों में पाए जाते हैं जो धूप में अधिक समय बिताते हैं। इसमें चेहरा, गला, हाथ पैर प्रभावित होता है।2. मेलानोमा : यह सबसे घातक होता है। स्किन कैंसर का यह प्रकार शरीर
Lady Finger Health Benefits – पेट दर्द से कैंसर तक में राहत देती है भिंडी

Lady Finger Health Benefits – पेट दर्द से कैंसर तक में राहत देती है भिंडी

Health
केवल भिंडी ही एक ऐसी सब्जी है जो पेटदर्द से लेकर कैंसर तक के इलाज में उपयोगी है। बच्चों को खासतौर पर पसंद आती है भिंडी। जानें अन्य फायदे ( Lady Finger Health Benefits ) - हृदय दुरुस्त ( lady finger for heart patient ) : भिंडी दिल को स्वस्थ रखती है। इसमें मौजूद पैक्टिन तत्त्व कोलेस्ट्रॉल को कम करने और घुलनशील फाइबर रक्तसंचार दुरुस्त करने में सहायक है। इससे हृदय रोगों का खतरा कम हो जाता है। तेज दिमाग ( lady finger for brain ) : फॉलेट और विटामिन-बी 9 भी दो ऐसे पोषक तत्त्व हैं जो भिंडी में मुख्य रूप से मौजूद होते हैं। ये दिमाग की कोशिकाओं को अंदरुनी रूप से मजबूती देते हैं जिससे इनकी सक्रियता बनाए रखने में मदद मिलती है। शुगर लेवल नियंत्रित ( lady finger for diabetes control ) : मधुमेह रोगियों के लिए यह बेहद फायदेमंद सब्जी है। इसमें पाया जाने वाला यूगेनॉल तत्त्व शरीर में शर्करा के स्तर को बढ़ने

सबसे ज्यादा घातक है कैंसर का यह प्रकार, सिर्फ नौ फीसद मरीज ही पांच साल से ज्यादा बच पाते हैं

India
वैज्ञानिकों ने इसकी नई दवा ईजाद की है और शुरुआती प्रयोगों में इसे काफी कारगर पाया गया है। रेडिएशन और कीमोथेरेपी के जरिये अग्नाशय के कैंसर का इलाज किया जाता है। Jagran Hindi News - news:national
RESEARCH : जो महिलाएं खाती हैं ज्यादा रेड मीट उनको ब्रेस्ट कैंसर का खतरा ज्यादा

RESEARCH : जो महिलाएं खाती हैं ज्यादा रेड मीट उनको ब्रेस्ट कैंसर का खतरा ज्यादा

Health
क्या है पूरी रिसर्च यह चौंकाने वाला खुलासा इंटरनेशनल जर्नल ऑफ कैंसर में प्रकाशित अध्ययन में हुआ। इसका अध्ययन अमरीका में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इन्वायरनमेंटस हेल्थ साइंस इंस्टीट्यूट में किया गया। अध्ययन में सात साल तक 42,012 महिलाओं को विभिन्न प्रकार के मांस खाने व पकाने के तरीकों का विश्लेषण किया। इस दौरान पाया गया कि इसमें से 1,536 महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर की पहचान हुई। इसमें रेड मीट कम खाने वाली महिलाओं की तुलना में इसका ज्यादा सेवन करने वाली महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर का खतरा 23 प्रतिशत ज्यादा था। एक्सपर्ट कमेंट : प्रतिरोधी तंत्र को कमजोर करने वाले वायरस होते रेड मीट में ऐसे वायरस होते हैं जो प्रतिरोधी तंत्र को कमजोर करते हैं। शरीर में जलन होती है। इससे ट्यूमर कोशिकाओं के बनने की आशंका बढ़ जाती है। इससे अन्य कारणों से जिनसे कैंसरस सेल्स के पनपने की आशंका बढ़ जाती है। इसके लिए इस तरह के खान