News That Matters

Tag: क्यों

जानें क्यों आसानी से ठीक नहीं हो रहे मामली दाद-खाज-खुजली, विशेषज्ञों ने इन कारणों पर जताई चिंता

जानें क्यों आसानी से ठीक नहीं हो रहे मामली दाद-खाज-खुजली, विशेषज्ञों ने इन कारणों पर जताई चिंता

Health
देशभर में बिना डॉक्टरों की सलाह के बिकने वाले क्वाडीडर्म जैसे मलहमों के चलते फंगल इन्फेक्शन (दाद,खाज-खुजली) की दवाएं बेअसर होती जा रही हैं।दरअसल, इन मलहमों में स्टेरॉयड की मात्रा मौजूद रहती है,... Live Hindustan Rss feed
RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने बैंकों से पूछा, कर्ज क्यों नहीं सस्ता किया जा रहा है

RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने बैंकों से पूछा, कर्ज क्यों नहीं सस्ता किया जा रहा है

India
रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने बृहस्पतिवार को बैंक अधिकारियों के साथ मुलाकात की और नीतिगत ब्याज दर में कटौती के बाद बैंकों के कर्जों पर में कमी में देरी के कारणों पर चर्चा की। सूत्रों के... Live Hindustan Rss feed
कैटरीना कैफ की वजह से आगे बढ़ी सलमान खान की ‘भारत’ की शूटिंग, जानें क्यों

कैटरीना कैफ की वजह से आगे बढ़ी सलमान खान की ‘भारत’ की शूटिंग, जानें क्यों

Entertainment
बॉलीवुड एक्ट्रेस कैटरीना कैफ इन दिनों लेग इंजरी से जूझ रही हैं। हाल में एक इवेंट के दौरान वो हाथ में छड़ी लिए नजर आई थीं और उनके पैर में पट्टी बंधी हुई थी। खबरों की माने तो कैटरीना को ये चोट फिल्म... Live Hindustan Rss feed
शहीद पति का चेहरा देखते ही बेसुध हुई पत्नी, 10 माह के बेटे ने दी मुखाग्नि तो रो पड़ा पूरा शहर, बहन बोलीं- कब तक बहनें भाई खोती रहेंगी, सरकार कुछ करती क्यों नहीं

शहीद पति का चेहरा देखते ही बेसुध हुई पत्नी, 10 माह के बेटे ने दी मुखाग्नि तो रो पड़ा पूरा शहर, बहन बोलीं- कब तक बहनें भाई खोती रहेंगी, सरकार कुछ करती क्यों नहीं

Haryana
रेवाड़ी (हरियाणा)।श्रीनगर के पुलवामा (पिंगलेना) में सोमवार को शहीद हुए हरि सिंह चौहान का पार्थिव शरीर मंगलवार सुबह पैतृक गांव राजगढ़ पहुंचा। उनकी शहादत को नमन करने के लिए हजारों लोगों का हुजूम जिंदाबाद के नारे लगाते हुए उनके घर तक पहुंचा गया।शहीद को श्रद्धांजलि देने के लिए केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह, राज्य के शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा, पीडब्ल्यूडी मंत्री राव नरबीर सिंह, जनस्वास्थ्य मंत्री डॉ. बनवारी लाल समेत शासन-प्रशासन का पूरा अमला उमड़ा।बहन बोलीं- कब तक बहनें भाई खोती रहेंगी, सरकार कश्मीर से धारा 370 हटाकर देशद्रोहियों को खत्म क्यों नहीं करतीशहीद हरि सिंह की बड़ी बहन पूनम ने विलाप करते हुए कश्मीर के हालात को कोसा। कहा कि कब तक हमारी जैसी बहनें अपना भाई खोती रहेंगी। कब तक 22-23 साल की पत्नी का सुहाग शहीद होगा। सरकार एक बार में ही धारा 370 हटाकर वहां देशद्
शहीद पति का चेहरा देखते ही बेसुध हुई पत्नी, 10 माह के बेटे ने दी मुखाग्नि तो रो पड़ा पूरा शहर, बहन बोलीं- कब तक बहनें भाई खोती रहेंगी, सरकार कुछ करती क्यों नहीं

शहीद पति का चेहरा देखते ही बेसुध हुई पत्नी, 10 माह के बेटे ने दी मुखाग्नि तो रो पड़ा पूरा शहर, बहन बोलीं- कब तक बहनें भाई खोती रहेंगी, सरकार कुछ करती क्यों नहीं

Haryana
रेवाड़ी (हरियाण). श्रीनगर के पुलवामा (पिगलीना) में आतंकियों से लोहा लेते हुए शहीद हुए हरि सिंह चौहान का पार्थिव शरीर मंगलवार को पैतृक गांव राजगढ़ पहुंचा। देश के लिए शहादत देने वाले जवानों की अंतिम यात्रा में जन सैलाब उमड़ा। हजारों लोगों ने यात्रा में शामिल होकर बहादुर बेटे को सलामी दी और नम आंखों से जवान की शहादत को नमन किया। गांव में राजकीय सम्मान के साथ शहीद की अंत्येष्टि की गई। 10 माह के बेटे लक्ष्य ने शहीद हरि सिंह को मुखाग्नि दी।सोमवार अलसुबह शहादत के बाद शाम 5 बजे तक पार्थिव शरीर गांव पहुंचने की सूचना थी, मगर देरी के चलते बेस अस्पताल दिल्ली में रखा गया। यहां मंगलवार सुबह करीब 6 बजे सेना के जवान पार्थिव शरीर लेकर रवाना हुए। दिल्ली-जयपुर हाईवे होते हुए शव को गांव लाया गया। पूरे रास्ते शहीद पर फूल बरसाए गए। लगातार शहीद अमर रहे और भारत माता के जयकारे लगते रहे। पाकिस्तान
डायलिसिस कब, क्यों और कैसे?

डायलिसिस कब, क्यों और कैसे?

Health
जब किडनी की कार्यक्षमता कमजोर हो जाती है, शरीर से विषैले पदार्थ पूरी तरह नहीं निकल पाते, क्रिएटिनिन और यूरिया जैसे पदार्थों की अधिकता होने पर कई प्रकार की समस्याएं बढ़ जाती हैं तो ऐसे में मशीनों की सहायता से रक्त को साफ करने की प्रक्रिया को डायलिसिस कहते हैं। कब जरूरत पड़ती है?- क्रॉनिक रिनल डिजीज या क्रॉनिक किडनी डिजीज के कारण क्रिएटिनिन क्लियरेंस रेट 15 फीसदी या उससे भी कम हो जाए तो डायलिसिस करना पड़ता है।- किडनी की समस्या के कारण शरीर में पानी इकट्ठा होने लगे यानी 'फ्लूइड ओवरलोड' की समस्या हो जाए। पहले दवा देकर देखा जाता है, फायदा न मिलने पर डायलिसिस करना पड़ता है।- अगर शरीर में पोटेशियम की मात्रा बढ़ जाए और हृदय की धड़कनें अनियमित हो जाएं तो अलग-अलग तरह की दवाएं दी जाती हैं। दवाओं का असर न दिखे तो डायलिसिस की सलाह दी जाती है।- 'रेजिस्टेंस मेटाबॉलिक एसिडोसिस' की वजह से एक्यूट रिनल फेल्य
SPORT NEWS: 100 दिन दूर WORLD CUP 2019, जानिए क्यों है ‘विराट सेना’ में वर्ल्ड चैंपियन बनने का दम, पढ़ें क्रिकेट और अन्य खेलों से जुड़ी बड़ी खबरें

SPORT NEWS: 100 दिन दूर WORLD CUP 2019, जानिए क्यों है ‘विराट सेना’ में वर्ल्ड चैंपियन बनने का दम, पढ़ें क्रिकेट और अन्य खेलों से जुड़ी बड़ी खबरें

Indian Sports
इंग्लैंड और वेल्स की मेजबानी में इस साल 30 मई से शुरू होने वाला वनडे वर्ल्ड कप (ICC World Cup 2019) अब सिर्फ 100 दिन दूररह गया है। 2011 में विश्व चैंपियन बनने वाली भारतीय टीम को इस बार फिर खिताब का... Live Hindustan Rss feed
जानिए क्यों जमीन पर नहीं रखना चाहिए तांबे का लोटा

जानिए क्यों जमीन पर नहीं रखना चाहिए तांबे का लोटा

Health
आयुर्वेद में तांबे के लोटे में रखा पानी अमृत के समान माना गया है। जानते हैं इसके फायदों के बारे में। उपयोग : तांबा या कोई भी लोटा जिससे पानी पीना है उसे जमीन पर रखने की बजाय लकड़ी की मेज या पट्टे पर रखें क्योंकि गुरुत्वाकर्षण से तांबे में मौजूद गुणकारी तत्व पानी में अवशोषित नहीं हो पाते। तांबे के लोटे में रखे पानी को सर्दी और गर्मी दोनों मौसम में पी सकते हैं। लाभ : तांबे के लोटे में पानी रातभर रखें। सुबह कुल्ला करने के बाद खाली पेट पीने से कब्ज, एसिडिटी, गॉलब्लैडर की सिकुड़न, कुष्ठ, दाद, खुजली, एग्जिमा, हृदय, लिवर व किडनी रोगों में लाभ होता है। मात्रा व सावधानी -इस पानी को रोजाना एक गिलास या इससे अधिक मात्रा में पी सकते हैं।ध्यान रहे कि पानी को थोड़ा-थोड़ा कर पिएं वर्ना पेटदर्द भी हो सकता है। लोटे को रोजाना धोकर भरें। तांबे के गिलास या जग का भी प्रयोग किया जा सकता है। Patrika : India's Le

बॉलीवुड की टॉप सिंगर नेहा कक्कड़ क्यों अपने ही गाने पर देर तक रोती रहीं…

Entertainment
'सोनी टीवी' पर हर शनिवार और रविवार रात 8 बजे से प्रसारित होने वाले रियलिटी शो 'सुपर डांस चेप्टर 3' को दोनों दिन 2 ऐसे खास मेहमान थे, जिनके चाहने वाले, पसंद करने वाले दुनिया के कोने-कोने में हैं। शनिवार को जहां जज की कुर्सी पर माधुरी दीक्षित बैठीं तो ... मनोरंजन
जानिए, क्यों जरूरी हाे जाती है सिजेरियन डिलीवरी?

जानिए, क्यों जरूरी हाे जाती है सिजेरियन डिलीवरी?

Health
प्रेग्नेंसी के दौरान हर महिला यह चाहती है कि उसकी डिलीवरी सामान्य हो। लेकिन कई बार मां या बच्चे की सेहत को खतरा देखकर ऑपरेशन करना पड़ता है। इस संबंध में जानिए स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ की राय :- इसलिए जरूरी - गर्भवती महिला का ब्लड प्रेशर बढ़ने या दौरा पड़ने की स्थिति में सिजेरियन ऑपरेशन किया जाता है वर्ना दिमाग की नसें फट सकती हैं और लिवर व किडनी खराब हो सकती है। - छोटे कद वाली महिलाओं की कूल्हे की हड्डी छोटी होने के कारण बच्चा सामान्य तरीके से नहीं हो पाता। - कई बार दवाओं से बच्चेदानी का मुंह नहीं खुल पाता, ऐसे में सर्जरी करनी पड़ती है। ज्यादा खून बहने पर भी सिजेरियन ऑपरेशन किया जाता है। - बच्चे की धड़कन कम होने या गले में गर्भनाल लिपटी होने, बच्चे का आड़ा या उल्टा होना, कमजोरी या खून का दौरा कम होने पर भी ऑपरेशन होता है। - बच्चा जब पेट में ही गंदा पानी (मल, मूत्र) छोड़ देता है जिसे