News That Matters

Tag: खतरनाक

फसलों के अवशेष जलाने का रुझान खतरनाक इसे रोकने को मिलकर करें प्रयास : हुसन लाल

फसलों के अवशेष जलाने का रुझान खतरनाक इसे रोकने को मिलकर करें प्रयास : हुसन लाल

Punjab
पंजाब सरकार द्वारा जिला संगरूर में धान की निर्विघ्न खरीद व पराली को आग न लगाने के लिए चलाई जा रही जागरूकता मुहिम की निगरानी करने के लिए तैनात किए गए लोक निर्माण विभाग के सचिव हुसन लाल की ओर से जिला प्रबंधकीय कांप्लैक्स में डीसी घनश्याम थोरी सहित संबंधित अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की गई। इसमें हुसन लाल ने कहा कि पराली को जलाने से रोकने के लिए वह तरीका अपनाया जाए जिससे किसान खुद हिमायती बन सके व जहरीले प्रदूषण के कारण मनुष्य की सेहत पर मंडराने वाले खतरे को रोकने के लिए अहम भूमिका अदा कर सकें। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा पंजाब को पराली के योग्य प्रबंधो के लिए 675 करोड़ की सबसिडी दी गई है। जिसके साथ सरकार द्वारा किसानों को जरूरत अनुसार हैपी सीडर, मलचर, रीपर, सुपर एसएमएस, जीरो ट्रिल ड्रिल आदि मशीनों पर सब्सिडी मुहैया करवाई जा रही है। उन्होंने कहा कि फसलों के अवश
5 साल औलाद न हुई तो घर ले आया दूसरी महिला, जब उससे भी नहीं हुआ कोई बच्चा तो रची खतरनाक साजिश, फिर दोनों महिलआों के साथ मिलकर दिया वारदात को अंजाम

5 साल औलाद न हुई तो घर ले आया दूसरी महिला, जब उससे भी नहीं हुआ कोई बच्चा तो रची खतरनाक साजिश, फिर दोनों महिलआों के साथ मिलकर दिया वारदात को अंजाम

Punjabi Politics
संगरूर (पंजाब)।6 दिन पहले गांव घराचों से तीन माह के बच्चे को अगवा करने वाले मुख्यारोपी समेत पुलिस ने दो महिलाओं को काबू किया है। दोनों महिलाओं में एक आरोपी की पत्नी है जबकि दूसरी आरोपी के साथ रिलेशन में रहती थी। आरोपियों से अगवा किया गया बच्चा भी बरामद कर परिवार को सौंप दिया गया है। पुलिस का दावा है कि आरोपी ने पत्नी को बच्चा नहीं होने पर बच्चे की चाहत को पूरा करने के लिए बच्चे का अपहरण किया था।आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस की थी ये प्लानिंगएसएसपी डॉ. संदीप गर्ग ने बताया कि घटना के बाद से उन्होंने बच्चे की तलाश के लिए टीमों का गठन किया गया था। जिसके तहत घटना की तह तक जाने के लिए पुलिस की ओर से सीसीटीवी फुटेज, मोबाइल कॉल की डिटेल, टॉवर लोकेशन व सोशल मीडिया पर आरोपी की गाड़ी और उसका स्केच जारी कर दिया गया। इस संयुक्त ऑपरेशन के तहत पुलिस को मंगलवार को सूचना मिली कि एक शक
जीका, डेंगू, चिकनगुनिया और मलेरिया में कौनसा बुखार है ज्यादा खतरनाक ?

जीका, डेंगू, चिकनगुनिया और मलेरिया में कौनसा बुखार है ज्यादा खतरनाक ?

Health
किसी भी बीमारी के सही इलाज के लिए उसकी पहचान व कारणों को जानना जरूरी होता है। वैसे तो जीका वायरस, डेंगू, चिकनगुनिया और मलेरिया मच्छरों से होने वाले रोग हैं लेकिन इनकी पहचान आवश्यक है। डेंगू: यह एडीज मच्छर के काटने से होता है। लेकिन इसके मरीज में कॉम्पलीकेशन रेट ज्यादा होती है। यह दो प्रकार का होता है - एक डेंगू फीवर और दूसरा डेंगू शॉक सिंड्रोम। डेंगू शॉक सिंड्रोम में ब्लड प्रेशर व प्लेटलेट्स कम हो जाते हैं जिससे हेमरेजिक फीवर हो जाता है। इससे शरीर में इंटरनल ब्लीडिंग होने लगती है जिससे मरीज की जान तक जा सकती है। इसके मुख्य लक्षणों में तेज बुखार रहना, ललाट पर और आंखों के पीछे दर्द रहता है, ब्रेक बोन फीवर रहता है जिसे हड्डी तोड़ बुखार भी कहा जाता है। कमर दर्द भी काफी रहता है। इसके इलाज में देरी या मरीज लापरवाही बरतता है तो स्थिति बिगड़ जाती है। अपनी मर्जी से बिना डॉक्टर को दिखाए दवाएं खाना
दम तोड़ने लगी दिल्ली की हवा, एक्यूआई 210 पर; स्वास्थ्य के मानकों पर बेहद खतरनाक स्थिति में

दम तोड़ने लगी दिल्ली की हवा, एक्यूआई 210 पर; स्वास्थ्य के मानकों पर बेहद खतरनाक स्थिति में

Delhi
नई दिल्ली.दिल्ली में धीरे-धीरे प्रदूषण की चादर गहरी होती जा रही है। 17 दिन के भीतर ही औसत एयर क्वालिटी इंडेक्स 52 से बढ़कर गुरुवार को 210 पर पहुंच गया। हालांकि, बुधवार की तुलना में इसमें 31 अंकों का सुधार आया, लेकिन स्वास्थ्य के मानकों पर यह अब भी बेहद खतरनाक स्थिति में है।ईपीसीए के चेयरमैन भूरे लाल के अनुसार इस समय प्रदूषण के बढ़ने की मुख्य वजह खुले में आग लगाना है। जिस पर रोक लगाने के लिए टीमों को बार-बार कहा जा रहा है। सभी डिपार्टमेंट से इसकी रिपोर्ट मांगी गई है। रिपोर्ट आने पर पूरी कार्रवाई की एक रिपोर्ट बनाकर उसे सुप्रीम कोर्ट को सौंपा जाएगा।वहीं, नासा में तस्वीरें कैद होने के बाद भी नजफगढ़, द्वारका और नरेला में खुले में आग लगाने की घटनाएं सामने आ रही हैं। ईपीसीए ने पिछले शुक्रवार को सभी संबंधित विभागों को इंडस्ट्रियल क्षेत्रों में नाइट पट्रोलिंग के निर्देश दिए थे त

दुनिया के सबसे खतरनाक बल्लेबाज क्रिस गेल ने अचानक लिस्ट ‘ए’ क्रिकेट से संन्यास लिया

Indian Sports
ब्रिजटाउन। दुनिया के सबसे खतरनाक बल्लेबाज विंडीज के क्रिस गेल ने अपनी घरेलू टीम जमैका के लिए आखिरी लिस्ट 'ए' मैच खेलते हुए ताबड़तोड़ शतक ठोंककर लिस्ट 'ए' क्रिकेट को अलविदा कह दिया। खेल-संसार
अक्टूबर के महीने में होने वाली इन खतरनाक बीमारियों से खुद को एेसे बचाएं

अक्टूबर के महीने में होने वाली इन खतरनाक बीमारियों से खुद को एेसे बचाएं

Health
बरसात का मौसम खत्म होने के बाद अक्टूबर के महीने में कई तरह की बीमारियां फैलना शुरू हो जाती हैं। इन बीमारियों में चिकनगुनिया, डेंगू, मेलरिया, स्क्रब टाइफस, वायरल फीवर और आई फ्लू आदि के मरीज ज्यादा होते हैं। तो आइये जानते हैं इन बीमारियों के कारणों व बचाव अादि के बारे में। चिकनगुनिया - ये रोग आमतौर पर मच्छरों के काटने से फैलता है। इसमें रोगी को 104 डिग्री तक बुखार आता है। चिकनगुनिया से पीड़ित रोगी के जोड़ों में दर्द होना सबसी बड़ी समस्या है। इसके शुरुआती लक्षणों में रोगी को तेज बुखार, शरीर में सूजन, सर्दी-खांसी आदि समस्याएं होती हैं। रोगी का मुंह खराब रहता है और किसी भी चीज का स्वाद मालूम नहीं होता है। एेसे करें बचाव-मच्छरों के काटने से बचें,लंबी आस्तीन वाले शर्ट-पैंट पहनें, चिकनगुनिया के लक्षण दिखाई देने पर तुरंत डॉक्टर को दिखाएं। मलेरिया- मलेरिया मादा एनोफेलीज मच्छर के काटने से होने वाले र
एक्स्पर्ट डॉक्टर से जानिए आपके लिए कितना खतरनाक है जीका वायरस

एक्स्पर्ट डॉक्टर से जानिए आपके लिए कितना खतरनाक है जीका वायरस

Health
जीका एक तरह का वायरस है। जीका वायरस की पहचान सबसे पहले अफ्रीका और दक्षिण एशिया के देशों में हुई । इसके बाद वायरस का संक्रमण कई अन्य देशों में भी फैलना शुरू हुआ। अब जीका वायरस के मरीज भारत में भी होने की खबरें हैं। राजस्थान में भी जीका वायरस से जुड़े कुछ मामले सामने आए हैं। जीका वायरस एडीज मच्छरों के काटने से फैलता है। जीका वायरस से जुड़ी तमाम जानकारियों के लिए फिजिशियन डॉक्टर सुरेश यादव से पत्रिका हैल्थ की खास बातचीत। कैसे फैलता है जीका वायरस ?आमतौर पर जीका वायरस एडीज मच्छरों के काटने से फैलता है। डेंगू और चिकनगुनिया भी इन्हीं मच्छरों के काटने से होता है। ये मच्छर ज्यादातर दिन में या सुबह के समय ही काटते हैं। किस पर होता है वायरस का असर ?आमतौर पर जीका वायरस का असर कि सी भी व्यक्ति पर हो सकता है, लेकिन इस वायरस का सबसे ज्यादा प्रभाव गर्भवती महिला के गर्भ में पल रहे भ्रूण पर होता है। ये भी द

बैतूल के घोड़ों से छत्तीसगढ़ पहुंच सकती है खतरनाक ग्लैंडर्स बीमारी

India
घोड़ों में होने वाली खतरनाक बीमारी ग्लैंडर्स का वायरस मध्यप्रदेश स्थित बैतूल क्षेत्र में मिलने से हड़कंप मच गया है। राष्ट्रीय अश्व अनुसंधान केन्द्र हिसार से इस बीमारी की पॉजिटिव रिपोर्ट आई है। Jagran Hindi News - news:national
पेड़ के सहारे टिकी बिल्डिंग को भी एमसीडी ने नहीं माना खतरनाक, हफ्ते भर की बारिश में ही गिरी

पेड़ के सहारे टिकी बिल्डिंग को भी एमसीडी ने नहीं माना खतरनाक, हफ्ते भर की बारिश में ही गिरी

Delhi
धर्मेंद्र सिंह डागर/तरुण सिसोदिया,नई दिल्ली.उत्तर दिल्ली के अशोक विहार फेज-3 में शीशम के पेड़ के सहारे टिकाी 25 गज कीचार मंजिला इमारत को एमसीडी ने खतरनाक नहीं माना। इसका नतीजा यह हुआ कि हफ्ते भर की बारिश में बिल्डिंग गिर गई और छह लोगों को अपनी जान गंवाना पड़ी।बहरहाल, पुलिस ने मकान मालिक धर्मेंद्र, मकान बनाने वाले ठेकेदार सचिन और सचिन के पिता पर धारा 304, गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज कर तलाश शुरू कर दी है। डीसीपी नॉर्थ-वेस्ट, असलम खान के मुताबिक बुधवार सुबह करीब 9.15 बजे दमकल विभाग को सूचना मिली कि मकान नंबर-43ए, सावन पार्क गिर गया है। सूचना मिलते ही दमकल विभाग की 8 गाडिय़ां, एनडीआरएफ की 3 टीमें, कैट्स की आधा दर्जन गाड़ियां और दिल्ली पुलिस मौके पर पहुंची गई। टीमों ने करीब 7 घंटों की कड़ी मशक्कत के बाद मलबे में दबे लोगों को बहार निकाला और अस्पताल में भर्ती कराया। इस इमारत
Video: अक्षय कुमार के बेटे आरव ने चलती ट्रेन में किया खतरनाक स्टंट, मॉम ट्विंकल ने दिया ये रिएक्शन

Video: अक्षय कुमार के बेटे आरव ने चलती ट्रेन में किया खतरनाक स्टंट, मॉम ट्विंकल ने दिया ये रिएक्शन

Entertainment
बॉलीवुड सुपस्‍टार अक्षय कुमार को जितना उनकी फिल्मों के लिए जाना जाता है, उतना ही उनके फिटनेस के लिए भी जाना जाता है। शायद यही कारण है कि लोग बॉलीवुड में उन्हें खिलाड़ी कहते हैं। आपको बता दें कि... Live Hindustan Rss feed