News That Matters

Tag: खराब

नशा है खराब, शराब से दूरी बनाने में यह 6 टिप्स करेंगे आपकी मदद

नशा है खराब, शराब से दूरी बनाने में यह 6 टिप्स करेंगे आपकी मदद

Health
भारत में लगभग 5.7 करोड़ लोग शराब से संबंधित समस्याओं से पीड़ित हैं। शराब का सेवन करने वाले 16 करोड़ लोगों में से पुरुषों में यह आदत 17 गुना अधिक है। हाल ही में किए गए एम्स के नेशनल ड्रग डिपेंडेंस... Live Hindustan Rss feed
3 माह में 2 बार रोहतक रोड की 25 लाख से लगीं लाइटें हुईं खराब

3 माह में 2 बार रोहतक रोड की 25 लाख से लगीं लाइटें हुईं खराब

Haryana
नगर परिषद झज्जर की ओर से रोहतक रोड पर जागृति योजना से स्ट्रीट लाइटें लगी थी, लेकिन अब ये तीन महीने में दो बार खराब हो गई। ऐसे में लाइटों के लगाने की व्यवस्था में गुणवत्ता की कसौटी पर सवाल खड़े हो रहे हैं। शहर में रोहतक रोड पर 25 लाख रुपए से एलईडी लाइटें लगाई गई थी। लाइटों के लिए अधिकांश पोल गुरुग्राम रोड पर लगाए गए थे, जिन्हें यहां रोड चौड़ा किए जाने के दौरान उतार दिया था। नवंबर माह में रोहतक रोड पर लाइटों को चालू किया गया। नगर पार्षद ने जब इसका अनुबंध किया, तब शर्त यह थी कि लाइटों को लगाने वाली कंपनी को आगे पांच साल तक लाइटों का रख रखाव भी करना होगा, लेकिन अब स्थिति यह है कि ध्यान नहीं देने पर लाइटें लगाने के बाद तीन बार खराब हो चुकी हैं। हालांकि एक बार बिजली संबंधी फाल्ट रहा है। इस बारे में बिजली निगम को शिकायत की गई थी, लेकिन दो बार यहां की लाइटें दूसरे तकनीकी फाल्ट
अंग्रेजी का पेपर खराब होने पर 11वीं के छात्र ने दी जान

अंग्रेजी का पेपर खराब होने पर 11वीं के छात्र ने दी जान

Delhi
नई दिल्ली| शाहदरा रेलवे स्टेशन चौकी इलाके में 11वीं कक्षा के छात्र ने अंग्रेजी का पेपर खराब होने पर ट्रेन के आगे कूदकर खुदकुशी कर ली। मृतक की पहचान विष्णु कांत (16) के रूप में हुई है। मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है, लेकिन उसने हाथ पर पिता का मोबाइल नंबर और ‘लव यू छोटा भाई’ लिखा था। विष्णु कांत सी-33, जनकपुरी, साहिबाबाद में रहता था। परिवार में पिता कमलेश, मां और 3 भाई-बहन हैं। वह सीमापुरी थाने के पास सरकारी स्कूल में 11वीं का छात्र था। बताया जा रहा है शनिवार को अंग्रेजी की परीक्षा थी। पेपर खराब होने के बाद विवेक विहार अंडर पास रेलवे लाइन के पास गया और ट्रेन के आगे कूद गया। पुलिस ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।   सिर्फ वही नकारात्मक खबर जो अापको जानना जरूरी है। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
एसी में ज्यादा रहने से आंखें हो सकती हैं खराब

एसी में ज्यादा रहने से आंखें हो सकती हैं खराब

Health
आंखों में जलन, खुजली व असहजता महसूस हो या दिखने में धुंधलापन लगे तो ये ड्राई आई के लक्षण हो सकते हैं। यह रोग दो प्रकार का होता है, अस्थायी और क्रॉनिक (ड्राई आई सिंड्रोम)। यदि इसका समय पर इलाज न कराया जाए तो संक्रमण होने व रोशनी जाने का खतरा रहता है। अस्थायी ड्राई आई : एयर कंडीशनर (एसी) में लंबे समय तक रहने, ठंडी हवाओं और घंटों स्क्रीन पर नजरें टिकाए रखने से भी ऐसा हो सकता है। क्रॉनिक ड्राई आई : पलकों की सबसे बाहरी परत तैलीय होती है जो आंसुओं को तेजी से वाष्पीकृत होने से रोकती है। यदि ये परत सूखने लगे तो ड्राई आई सिंड्रोम की समस्या हो सकती है। प्रमुख उपाय - एयर कंडीशनर में लंबे समय तक न बैठें। आंखों के लिए लुब्रीकेंट्स का प्रयोग करें। थोड़ी-थोड़ी देर में पलकों को झपकाते रहें। कम्प्यूटर या लैपटॉप पर काम करते समय एंटीग्लेयर चश्मे का प्रयोग करें। दिन में तीन से चार बार आंखों को ठंडे पानी से धो
चोरी तो कोई भीख मांगते, जब बेहद खराब हालत में मिले ये 12 बॉलीवुड सेलेब्स

चोरी तो कोई भीख मांगते, जब बेहद खराब हालत में मिले ये 12 बॉलीवुड सेलेब्स

Entertainment
मुंबई. इमरान हाशमी के साथ काम कर चुकी एक्ट्रेस अलीशा खान को कुछ महीनों पहले दिल्ली के ग्रेटर कैलाश में सड़कों पर इधर-उधर घूमते देखा गया था। वैसे, अलीशा इकलौती एक्ट्रेस नहीं हैं जो इस तरह के हालातों से गुजरी हैं। इससे पहले भी बॉलीवुड में कई स्टार्स ऐसे रहे, जो अपने समय में काफी फेमस थे, उनके पास सब कुछ था, लेकिन अचानक अर्श से फर्श पर जा पहुंचे। कोई पागलखाने में मिला तो किसी की गम में हो गई मौत...इतना ही नहीं, इनमें से कई तो इतनी बुरी हालत में मिले कि लोग इन्हें पहचान तक नहीं पाए। वहीं कुछ अकेलेपन की वजह से किसी पागलखाने में तो कुछ किसी गम में ही मर गए। नजर डालते हैं बॉलीवुड के कुछ ऐसे ही सेलेब्स की जिंदगी पर जिन्होंने, जिंदगी में बहुत बुरे दिन देखे...जगदीश मालीअंतरा माली के पिता और फेमस फोटोग्राफर जगदीश माली को मुंबई की सड़कों पर भीख मांगते देखा गया था, जिसके बाद इंडस्ट्री
लुधियाना| अलमारी के खराब लॉक की डुप्लीकेट चाबी बनवाने के

लुधियाना| अलमारी के खराब लॉक की डुप्लीकेट चाबी बनवाने के

Punjabi Politics
लुधियाना| अलमारी के खराब लॉक की डुप्लीकेट चाबी बनवाने के लिए फैक्टर 39 निवासी महिला गली में घूम रहे लॉक ठीक करने वाले 2 लोगों को घर के अंदर ले गई। लॉक ठीक करते वक्त नौसरबाज ने घर की महिला को पीने का पानी लेने के लिए भेज दिया और अलमारी में से सोने के गहने लेकर भाग गए। -विस्तृत पढ़ें पेज 8 Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar
जंकफूड के जहर से सेहत खराब न करें

जंकफूड के जहर से सेहत खराब न करें

Health
जंकफूड का चलन तेजी से बढ़ रहा है लेकिन स्वाद के चक्कर में लोग सेहत को भूल रहे हैं, नतीजतन 50 साल की उम्र के बाद होने वाले रोग अब बच्चों और युवाओं में भी होने लगे हैं। जानते हैं इसके बारे में। जंकफूड है जहर -बर्गर, नूडल्स और पिज्जा आदि को बनाने के लिए मैदा, अधिक मात्रा में नमक, तेल व मसालों का प्रयोग होता है, साथ ही साफ-सफाई भी संदिग्ध रहती है। ऐसा जंकफूड पेट तो भरता है लेकिन इससे पोषक तत्व नहीं मिल पाते। रोगों का खतरा -विभिन्न स्टडी बताती हैं कि लगातार ऐसा भोजन करते रहने से मांसपेशियां कमजोर हो जाती हैं जिससे मोटापा, डायबिटीज, कोलेस्ट्रॉल व ब्लड प्रेशर जैसी समस्याएं होने लगती हैं। जो बच्चे ऐसी चीजें खाते हैं उनका दिमागी और शारीरिक विकास भी प्रभावित होता है, एकाग्रता में कमी, तनाव व पेट संबंधी तकलीफ होने लगती हैं। घर का बना - जब घर पर इन्हें बनाएं तो मैदे की जगह आटा या रागी के आटे का प्रयोग
भूलकर भी ना लगवाएं ये इंजेक्शन, नहीं ताे खराब हाे जाएंगी आंखें

भूलकर भी ना लगवाएं ये इंजेक्शन, नहीं ताे खराब हाे जाएंगी आंखें

Health
विट्रीओ रेटिना सोसाइटी ऑफ इंडिया (वीआरएसआई) ने रैजुमैब इंजेक्शन लगाने से देखने की शक्ति प्रभावित होने सहित अन्य दुष्प्रभावों के मद्देनजर एडवाइजरी जारी की है और रोगियों की सुरक्षा पर ध्यान देने का आह्वान किया है। वीआरएसआई द्वारा जारी एडवाइजरी में कहा गया है कि रैजुमैब इंजेक्शन लगाने से मरीजों की आंखों की मध्यम पुतली को नुकसान पहुंचने और उनके देखने की शक्ति प्रभावित होने की शिकायत सामने आई है। इसलिए इंटास से रैजुमैब इंजेक्शन (बैच नंबर-18020052) का इस्तेमाल नहीं करने की सलाह दी गई है। वीआरएसआई के मानद सचिव डॉ. राज नारायणन ने कहा, ''दवा कंपनियों और नियामकों को रोगी की सुरक्षा के प्रति अधिक जिम्मेदार बनने की आवश्यकता है। इंटास के उत्पाद गुणवत्ता के लिए यह चिंतनीय बात है कि इसके उत्पाद को वापस लिए जाने के मामले बार-बार सामने आ रहे हैं। 2015 में एक मामले में, इसके जारी करने के दो महीने बाद ही रैज

आप भी स्मार्टफोन पर सुनते हैं तेज म्यूजिक, 1 अरब से ज्यादा लोगों के हो सकते हैं कान खराब

Indian Technology
WHO और इंटरनेशनल टेलिकॉम्युनिकेशन यूनियन ने ऑडियो सुनने वाले यूजर्स के लिए बाइंडिंग इंटरनेशनल स्टैंडर्ड यानी मापदंड जारी किए हैं Jagran Hindi News - technology:tech-news

साइना नेहवाल ने दिखाए नखरे, बैडमिंटन कोर्ट को खराब बताकर खेलने से किया इनकार

Indian Sports
गुवाहाटी। भारत की स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल ने सीनियर राष्ट्रीय बैडमिंटन चैंपियनशिप में नखरे दिखाए और बैडमिंटन कोर्ट को खराब बताते हुए अपना एकल मैच खेलने से साफ मना कर दिया। साइना के न खेलने से नया विवाद पैदा हो गया है। खेल-संसार