News That Matters

Tag: खराब

शरीर में दिखाई दें ये लक्षण तो खराब हो सकती है किडनी

शरीर में दिखाई दें ये लक्षण तो खराब हो सकती है किडनी

Health
किडनी में मौजूद फिल्टर्स (ग्लोमेरुली) छलनी के रूप में काम कर अपशिष्ट व विषैले पदार्थ और अतिरिक्त लिक्विड को बाहर निकालने का काम करते हैं। दोनों किडनी में मौजूद कुल बीस लाख फिल्टर एक दिन में लगभग 170-180 लीटर रक्त को छानते हैं। कुछ कारणों से जब ये फिल्टर क्षतिग्रस्त हो जाते हैं तो इनमें सूजन आ जाती है जिसे ग्लूमेरुलो नेफ्राइटिस बीमारी कहते हैं। इसके कारण आंखों व शरीर में सूजन के अलावा यूरिन में प्रोटीन व ब्लड निकलने के साथ ब्लड प्रेशर बढ़ने व भूख घटने से स्थिति खतरनाक हो सकती है। ऐसे में किडनी के ठीक से काम न कर पाने से किडनी फेल होने की आशंका बढ़ जाती है। जानते हैं इस रोग के बारे में- फिल्टर ब्लॉक होने से आती है अंदरूनी सूजन -ग्लूमेरुलो नेफ्राइटिस प्रतिरोधी तंत्र की बीमारी है जिसमें एंटीबॉडी व एंटीजन से होने वाला प्रभाव सीधे किडनी पर होता है। इससे छलनी के सुराख ठीक से खुल नहीं पाते, ब्लॉक
300 एकड़ धान व सब्जियां खराब

300 एकड़ धान व सब्जियां खराब

Punjabi Politics
सनौर|सनौर ग्रीड कॉलोनी रोड पर िस्थत िकसानों की पिछले कई दिनों से हो रही बारिश के कारण 300 एकड़ के करीब फसल अौर सब्जी खराब हो गई है। िकसानों ने सरकार से नुकसान के मुआवजे की मांग की है। किसान भूपिंदर िसंह, कृपाल िसंह, जसवीर िसंह, विनोद कुमार, सरुप सिंह ने बताया कि हर साल उनकी फसल पानी के कारण खराब हो रही है। इसके बाद भी प्रशासन की अौर से इस परेशानी का कोई समाधान नहीं निकाला जा रहा। उन्होंने जिला प्रशासन से मांग करते हुअा कहा कि यहां पर पानी की निकासी के िलए कोई समाधान करना चाहिए, नहीं तो धरना प्रदर्शन किया जाएगा। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar
देश के सबसे खराब भूजल स्तर वाले जिलों में दिल्ली के 10 जिले शामिल

देश के सबसे खराब भूजल स्तर वाले जिलों में दिल्ली के 10 जिले शामिल

Delhi
भास्कर न्यूज | नई दिल्ली/नोएडा एनसीआर में दिल्ली, गौतमबुद्ध नगर और गाजियाबाद में भूजल स्तर प्रतिवर्ष 1 से 2 मीटर की दर से गिर रहा है। इसके अलावा भूजल दूषित भी हो रहा है। प्रधानमंत्री के जल शक्ति अभियान के तहत हाल ही की एक रिपोर्ट में देश में 255 जिलों को सबसे ज्यादा वॉटर स्ट्रेस वाला घोषित किया गया है। इन 255 जिलों में दिल्ली के 10 जिलों को शामिल किया गया है। गौतमबुद्ध नगर और गाजियाबाद भी इस सूची में हैं। इन जिलों में जल संरक्षण के लिए 1 जुलाई से ही उपाय शुरू कर दिए गए हैं। इसे लेकर 30 नवंबर तक रिपोर्ट बनाकर भारत सरकार को सौंपी जानी है। एक अन्य रिपोर्ट के मुताबिक, भूजल दोहन अधिक व रिचार्ज कम होने से यहां के ज्यादातर इलाकों में भूजल स्तर हर साल 0.5-2 मीटर नीचे गिर रहा है। भूजल दोहन अधिक होने से दिल्ली के भूजल का 76 फीसदी हिस्सा इस्तेमाल के लायक ही नहीं रहा है। इसमें सा
असम, बिहार में बाढ़ से हालात और खराब; केरल में रेड अलर्ट

असम, बिहार में बाढ़ से हालात और खराब; केरल में रेड अलर्ट

India
बिहार और असम में बाढ़ का कहर मंगलवार को जारी रहा और दोनों राज्यों में कुल 55 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, केरल में बेहद भारी बारिश की भविष्यवाणी के बाद रेड अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग ने... Live Hindustan Rss feed
सब्जी मंडी में हालात खराब, आढ़तियों ने सीएम को शिकायत भेजकर सड़क निर्माण में गड़बड़ी बताई

सब्जी मंडी में हालात खराब, आढ़तियों ने सीएम को शिकायत भेजकर सड़क निर्माण में गड़बड़ी बताई

Haryana
न्यू सब्जी में बनाई गई नई सड़क आढ़तियों, सब्जी विक्रेताओं व ग्राहकों के लिए परेशानी का कारण बन गई है। पहले तो कई माह इस सड़क का काम शुरू होने से लोगों को परेशानी हुई और अब इसका निर्माण पहले से नीचा कराए जाने से इस पर बरसात का पानी भरा हुआ है। आढ़तियों ने निर्माण कार्य में अनियमितता बरते जाने, पुरानी सामग्री का ही प्रयोग करने के आरोप लगाते हुए सीएम विंडो के माध्यम से सीएम मनोहरलाल को शिकायत भेजी है। इसमें विभाग के अधिकारियों की जांच कराकर उनके खिलाफ एक्शन की मांग की गई है। जमींदारा ट्रेडिंग कंपनी के सुशील कांबोज ने शिकायत में आरोप लगाया है कि सड़क के निर्माण से पहले ठीक से बैड तैयार नहीं किया गया, इसमें निम्न गुणवत्ता की सामग्री का प्रयोग हुआ है। मंडी की मुख्य सड़क से इस सड़क को छह इंच डाउन कर बनाया गया है। इस सड़क से पानी निकासी का कोई प्रबंध नहीं है। पानी भरा रहने से
डीएचएफएल: वित्तीय स्थिति खराब, दिवालिया होने की चिंता

डीएचएफएल: वित्तीय स्थिति खराब, दिवालिया होने की चिंता

Delhi
भारत की सबसे बड़ी हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों में से एक दीवान हाउसिंग फाइनेंस कॉर्प लिमिटेड (डीएचएफएल) ने कहा है कि उसकी वित्तीय स्थिति इतनी खराब हो गई है कि अब इसे चलाना मुश्किल हो गया है। डीएचएफएल ने 31 मार्च 2019 को समाप्त चौथी तिमाही में शुद्ध रूप से 2,223 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा दर्ज किया है। चौथी तिमाही के रिजल्ट नोट में डीएचएफएल के चैयरमैन एंड मैनेजिंग डायरेक्टर कपिल वाधवन कहा था कि मौजूदा हालात को देखते कंपनी के आगे चलने पर संदेह है। कंपनी फाइनेंशियल क्राइसिस से गुजर रही है और फंड जुटाने की क्षमता काफी कम हो गई है. इसके साथ ही कोई नए कर्ज की राशि जारी न होने से बिजनेस में स्थिरता आ गई है। हाउसिंग फाइनेंस कंपनी को चौथी तिमाही में 2223 करोड़ रु. का घाटा दूसरी छमाही से कंपनी वित्तीय संकट में फंसी कंपनी पिछले वित्त वर्ष की दूसरी छमाही से ही वित्तीय संकट का सामना कर
सर्विस स्टेशन में पानी भरने से कार हुई थी खराब उपभोक्ता फोरम ने क्लेम राशि देने का दिया आदेश

सर्विस स्टेशन में पानी भरने से कार हुई थी खराब उपभोक्ता फोरम ने क्लेम राशि देने का दिया आदेश

Haryana
वर्कशॉप व शोरूम मालिक ने बिना बताए Rs.98 हजार इंश्योरेंस क्लेम लेकर गाड़ी ठीक कर दी उपभोक्ता मांग रहा था नई कार, इसलिए कोर्ट में डाला केस भास्कर न्यूज | यमुनानगर न्यू जैन नगर के रहने वाले वरुण मित्तल ने अपनी डस्टर कार ठीक कराने के लिए कंपनी के अधिकृत सर्विस स्टेशन पर दी। इसी दौरान तेज बरसात होने से सर्विस स्टेशन में पानी भर गया। इसमें वरुण की डस्टर कार की हालत खराब हो गई। उसके कई पार्ट्स बुरी तरह से खराब हो गए। उसने इसे रिपेयर के स्थान पर बदलने की मांग की, लेकिन वर्कशॉप मालिक ने कार फ्री ऑफ कोस्ट रिपेयर करने का वादा किया। इस पर वरुण ने उपभोक्ता फोरम की शरण ली। फोरम के चेयरमैन गुलाब सिंह, सदस्य डॉ. जवाहर लाल गुप्ता व गीता प्रकाश ने मामले की सुनवाई की। उन्होंने पाया की वर्कशॉप व शोरूम मालिक द्वारा ग्राहक से इंश्योरेंस कंपनी से लिए गए क्लेम की राशि छुपाई गई है। इस पर उन्
दिल्ली-एनसीआर के 4 शहरों की आबोहवा हुई बहुत खराब

दिल्ली-एनसीआर के 4 शहरों की आबोहवा हुई बहुत खराब

Delhi
दिल्ली-एनसीआर में बारिश नहीं होने के चलते आबोहवा खराब होती जा रही है। यहां के चार शहरों की आबोहवा शनिवार को बहुत खराब की श्रेणी में दर्ज की गई। हालांकि दिल्ली की आबोहवा खराब की श्रेणी में रही। बहुत खराब की श्रेणी वाले शहरों में नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद और बागपत रहे। बारिश नहीं होने और तेज हवा के चलते एनसीआर की आबोहवा अगले कुछ दिन इसी तरह खराब रह सकती है। एनसीआर के शहरों की आबोहवा शहर एक्यूआई दिल्ली 275 नोएडा 346 ग्रे नोएडा 346 गाजियाबाद 357 बागपत 304 फरीदाबाद 176 गुड़गांव 193 Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today New Delhi News - 4 cities of delhi ncr have become very poor Dainik Bhaskar
सेमीफाइनल में हार के बाद रोहित ने कहा- 30 मिनट के खराब खेल ने कप जीतने का मौका छीना

सेमीफाइनल में हार के बाद रोहित ने कहा- 30 मिनट के खराब खेल ने कप जीतने का मौका छीना

Indian Sports
खेल डेस्क.वर्ल्ड कप में पांच शतक लगाने वाले रोहित शर्मा ने सेमीफाइनल मुकाबले में न्यूजीलैंड के खिलाफ एक रन बनाकर आउट हो गए थे। रोहित ने गुरुवार रात को ट्वीट किया कि मैच में 30 मिनट के खराब खेल ने हमसे वर्ल्ड कप जीतने का मौका छीन लिया। इस मैच में भारत ने पांच रन पर ही अपने तीन विकेट गंवा दिए थे। न्यूजीलैंड ने यह मुकाबला 18 रन से जीत लिया।रोहित ने ट्वीट किया, ‘‘जब जरूरत थी, तब हम एक टीम की तरह खेलने में असफल रहे। 9 जुलाई को 30 मिनट के हमारे खराब खेल ने हमसे वर्ल्ड कप जीतने का मौका छीन लिया। मेरा दिल भारी हो रहा, आपका भी होगा। घर से दूर समर्थन मिलना अद्भुत था। आप सभी को इसके लिए धन्यवाद।’’विराट ने कहा-हमारे पास जो कुछ भी था हमने दियाइससे पहले कप्तान विराट कोहली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि 45 मिनट के खराब क्रिकेट ने हमें वर्ल्ड कप से बाहर कर दिया। कोहली ने ट्वीट किया,
सेमीफाइनल में हार के बाद रोहित ने कहा- 30 मिनट के खराब खेल ने कप जीतने का मौका छीना

सेमीफाइनल में हार के बाद रोहित ने कहा- 30 मिनट के खराब खेल ने कप जीतने का मौका छीना

Indian Sports
मैनचेस्टर. टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल मैच में हार को दुखद बताया है। उन्होंने कहा कि जब सबसे ज्यादा जरूरत थी तब हम एक असफल रहे। इससे हमारे वर्ल्ड कप जीतने का मौका छिन गया। रोहित ने पूरे टूर्नामेंट के दौरान 5 शतक लगाकर टीम को कई अहम मौकों पर जीत दिलाई। हालांकि, सेमीफाइनल में वे 1 रन के निजी स्कोर पर आउट हो गए थे। भारत इसमें न्यूजीलैंड के खिलाफ 18 रन से हार गया।रोहित ने गुरुवार रात ट्वीट कर कहा, “30 मिनट के खराब खेल ने हमारे कप जीतने का मौका भी छीन लिया। मेरा मन भारी है और जाहिर है कि आपका भी। हमें जो समर्थन मिला वह शानदार रहा। हम जहां भी खेले ब्रिटेन को वहां नीले रंग में रंगने के लिए आपका शुक्रिया।”कोहली ने भी 45 मिनट के खराब खेल को बताया था हार की वजहइससे पहले भारत के कप्तान विराट कोहली भी मैच हारने के लिए 45 मिनट के खराब खेल को वज