News That Matters

Tag: खेलना

खेल विभाग का नया फरमान स्पोर्ट्स स्टेडियम में खेलना है तो ढीली करनी होगी जेब

खेल विभाग का नया फरमान स्पोर्ट्स स्टेडियम में खेलना है तो ढीली करनी होगी जेब

Punjabi Politics
पंजाब के युवाओं को नशे की दल दल से निकालने के लिए सरकार द्वारा युवाओं का रुझान खेलों के प्रति बढ़ाने के समय समय पर दावे किए जाते रहे हैं। इन दावों पर खेल विभाग के एक फरमान ने सवाल खड़े कर दिए हैं। दरअसल तरनतारन के स्पोर्ट्स स्टेडियम में खेल की प्रेक्टिस करने वालों के लिए अब खेल विभाग ने वार्षिक 4500 रुपए वसूलने का ऐलान कर दिया है। खेल अधिकारी जसमीत कौर के मुताबिक इस स्टेडियम में खेलने आने और प्रेक्टिस करने वालों को अब फीस देनी होगी। हालांकि स्टूडेंट्स को साल के 300 रुपए देने होंगे तो आम व्यक्ति को 4500 रुपए। इसके लिए फीस जमा कराने की आखिरी तिथि 28 जून रखी गई है। तरनतारन के स्पोर्ट्स स्टेडियम में बना सिंथेटिक ट्रैक। खेल विभाग ने की निर्धारित फीस : खेल विभाग द्वारा स्टूडेंट, आम लोगों और खेलों का शौंक रखने वालों के लिए अलग-अलग रेट तय किए हैं। गुरु अर्जुन देव खेल स्टेडियम की
लड़कियों का फुटबॉल खेलना बैन था तो लड़का बनकर खेलती थीं सिसी, 10 नंबर जर्सी पहनने वाली पहली महिला

लड़कियों का फुटबॉल खेलना बैन था तो लड़का बनकर खेलती थीं सिसी, 10 नंबर जर्सी पहनने वाली पहली महिला

Indian Sports
ब्राजीलिया. अगर आप दुनिया जीतना चाहते हैं तो आपको विद्रोही बनना पड़ेगा। यह बात ब्राजील की सिसलीडे डो अमोर लीमा (सिसी- 52 साल) पर पूरी तरह से लागू होती है। ब्राजील में लड़कियों के फुटबॉल खेलने पर बैन था। इसके बावजूद लड़कों के साथ फुटबॉल खेलती थीं। इसके लिए उन्हें अपनी लड़की होने की पहचान छिपानी भी पड़ती थीं। फुटबॉल खेलने के लिए सिसी ने कई बार मां से मार खाई लेकिन फुटबॉल खेलना नहीं छोड़ा। 1979 में ब्राजील ने लड़कियों के फुटबॉल खेलने पर से प्रतिबंध हटा दिया। इसके बाद सिसी राष्ट्रीय टीम में चुनी गईं और 10 नंबर जर्सी पहनने वाली पहली महिला बनीं।सिसी जब लड़कों के साथ फुटबॉल खेलती थीं तो उनकी मां कान पकड़कर मारते हुए उन्हें घर ले जाती थीं। मां को लगता था कि ब्राजील में लड़कियों के फुटबॉल खेलने का कोई भविष्य नहीं है। सिसी के मुताबिक- मुझे तभी लगता था कि दुनिया को गलत साबित करना
कोहली ने कहा- धवन अभी खेलना चाहते हैं, यही माइंडसेट चोट से उबरने में उनकी मदद करेगा

कोहली ने कहा- धवन अभी खेलना चाहते हैं, यही माइंडसेट चोट से उबरने में उनकी मदद करेगा

Indian Sports
लंदन. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच में चोटिल होने के बावजूद भारतीय टीम के ओपनर शिखर धवन को अब तक देश वापस नहीं भेजा गया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, फ्रैक्चर अंगूठे में प्लास्टर लगने के करीब 10-12 दिन बाद ही उनकी जांच होगी। हालांकि, कप्तान विराट कोहली को उम्मीद है कि धवन जल्द से जल्द टीम से जुड़ेंगे। कोहली ने शुक्रवार को कहा कि धवन का माइंडसेटमैदान में लौटने में उनकी मदद करेगा। कोहली ने कहा, “धवन को करीब दो हफ्ते तक प्लास्टर लगा रहेगा। इसके बाद उनकी जांच होगी। हम उम्मीद करते हैं कि उनकी चोट जल्दी ठीक होगी और वे शायद लीग मैचों के दौरान या सेमीफाइनल में टीम में लौटेंगे।हम उन्हें इंग्लैंड में ही रोकना चाहते हैं क्योंकि वे खुद टीम के लिए खेलना चाहते हैं। इस तरह का माइंडसेट चोट से उबरने में उनकी मदद करेगा।” हालांकिटीम में वापसी के बाद उनकी बैटिंग ही नहीं फील्डिंग पर भी टीम मैनेजमें
पिता के निधन के बाद विराट ने कोच से कहा था- मुझे मैच खेलना है

पिता के निधन के बाद विराट ने कोच से कहा था- मुझे मैच खेलना है

Indian Sports
विधांशु कुमार, बीबीसी हिंदी. कल यानी 5 जून को भारतीय टीम वर्ल्ड कप-2019 में अपना सफर शुरू करेगी। भारतीय फैंस को सिवाय ट्रॉफी के किसी चीज से खुशी नहीं मिलेगी। टीम पर उनके इस भरोसे की वजह हैं- दुनिया के नंबर-1 बल्लेबाज विराट कोहली। विराट के पिता प्रेम कोहली चाहते थे कि उनका बेटा बड़ा क्रिकेटर बने और भारत के लिए खेले। उन्होंने विराट का एडमिशन दिल्ली में कोच राजकुमार शर्मा की एकेडमी में करवा दिया।विराट को दिल्ली की रणजी टीम में जगह मिली। फिर कुछ ऐसा हुआ कि विराट एक युवा खिलाड़ी से एक परिपक्व क्रिकेटर बन गए। कर्नाटक के खिलाफ दिल्ली का रणजी मैच था। दिल्ली की हालत खराब थी और मैच बचाना भी मुश्किल था। 446 रन के जवाब में दिल्ली ने 5 विकेट खोकर 103 रन पर दिन खत्म किया। विराट 40 रन पर नाबाद थे। उसी रात उनके पिता प्रेम कोहली का निधन हो गया।विराट के कोच राजकुमार शर्मा ने ‘विराट कोहली
पिता के गुजरने के बाद विराट ने कहा था- मुझे खेलना है; फिर रोते-रोते कोच को फोन किया- अंपायर ने गलत आउट दे दिया

पिता के गुजरने के बाद विराट ने कहा था- मुझे खेलना है; फिर रोते-रोते कोच को फोन किया- अंपायर ने गलत आउट दे दिया

Delhi
कल यानी 5 जून को भारतीय टीम वर्ल्ड कप-2019 में अपना सफर शुरू करेगी। भारतीय फैंस को सिवाय ट्रॉफी के किसी चीज से खुशी नहीं मिलेगी। टीम पर उनके इस भरोसे की वजह हैं- दुनिया के नंबर-1 बल्लेबाज विराट कोहली। विराट के पिता प्रेम कोहली चाहते थे कि उनका बेटा बड़ा क्रिकेटर बने और भारत के लिए खेले। उन्होंने विराट का एडमिशन दिल्ली में कोच राजकुमार शर्मा की एकेडमी में करवा दिया। विराट को दिल्ली की रणजी टीम में जगह मिली। फिर कुछ ऐसा हुआ कि विराट एक युवा खिलाड़ी से एक परिपक्व क्रिकेटर बन गए। कर्नाटक के खिलाफ दिल्ली का रणजी मैच था। दिल्ली की हालत खराब थी और मैच बचाना भी मुश्किल था। 446 रन के जवाब में दिल्ली ने 5 विकेट खोकर 103 रन पर दिन खत्म किया। विराट 40 रन पर नाबाद थे। उसी रात उनके पिता प्रेम कोहली का निधन हो गया। विराट के कोच राजकुमार शर्मा ने ‘विराट कोहली- द मेकिंग ऑफ ए चैंपियन’ ल
लॉर्ड्स में छह विकेट लेने वाले भुवनेश्वर ने कहा- फाइनल में यहां खेलना गर्व की बात होगी

लॉर्ड्स में छह विकेट लेने वाले भुवनेश्वर ने कहा- फाइनल में यहां खेलना गर्व की बात होगी

Indian Sports
खेल डेस्क. टीम इंडिया के तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने इंग्लैंड के लॉर्ड्स मैदान पर बेहतर प्रदर्शन किया है। उन्होंने 2014 में खेले गए टेस्ट में यहां पर 82 रन पर छह विकेट लिए थे। उस मैच में उन्होंेने अर्धशतक भी लगाया था। भुवनेश्वर को उम्मीद है कि भारतीय टीम 14 जुलाई को फाइनल मुकाबले में यहां पर खेलेगी। भुवनेश्वर ने कहा, ‘वर्ल्ड कप फाइनल लॉर्ड्स में खेलना बड़ी बात होगी। मेरी वहां पर बहुत अच्छी यादें हैं। अगर हम फाइनल में पहुंचते हैं, तो यह पूरे टीम के लिए गर्व की बात होगी।’भुवनेश्वर ने कहा, ‘मैं इंग्लैंड में दो या तीन बार ही खेलने आ चुका हूं, लेकिन मुझे इंग्लैंड में खेलना पसंद है।’ भारत ने इस मैदान पर बांग्लादेश को वार्म-अप मैच में हराया था। टीम इंडिया को लीग राउंड में लॉर्ड्स में एक भी मैच नहीं खेलना है। फाइनल में पहुंचने पर ही उसे यहां खेलने का मौका मिलेगा।वार्म-अप मैच

विराट कोहली के अंगूठे में चोट से टीम इंडिया चिंतित, 3 दिन बाद खेलना है वर्ल्ड कप का पहला मैच

Indian Sports
साउथैम्पटन। टीम इंडिया विश्व कप में अपने अभियान की शुरुआत 5 जून को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच से करेगी। वर्ल्ड कप शुरू होने से 3 दिन पहले कुछ ऐसी तस्‍वीरें सामने आई है जिनमें कप्तान विराट कोहली का अंगूठा चोटिल दिखाई दे रहा है। इन तस्वीरों ने भारतीय ... खेल-संसार
विंडीज के खिलाफ मोहम्मद आमिर का खेलना तय नहीं; ये हो सकती हैं दोनों टीमों की प्लेइंग 11

विंडीज के खिलाफ मोहम्मद आमिर का खेलना तय नहीं; ये हो सकती हैं दोनों टीमों की प्लेइंग 11

Indian Sports
खेल डेस्क. विश्व कप क्रिकेट 2019 का आगाज हो चुका है। शुक्रवार को दूसरे मैच में वेस्ट इंडीज का मुकाबला पाकिस्तान से होगा। यह मैच नॉटिंघम के ट्रेंटब्रिज में भारतीय समय के अनुसार दोपहर 3 बजे शुरू होगा। बोर्ड से विवाद सुलझने के बाद वेस्ट इंडीज इस बार मजबूत टीम के साथ मैदान में उतरेगी। क्रिस गेल, ब्रावो और आंद्रे रसेल कुछ वक्त बाद देश के लिए खेलेंगे। पाकिस्तान के खेमे से खबर ये है कि मोहम्मद आमिर शायद फिट न होने की वजह से अंतिम 11 में शामिल नहीं होंगे।वेस्ट इंडीज : होप शानदार फॉर्म मेंवेस्ट इंडीज की बल्लेबाजी कागज पर काफी मजबूत नजर आती है। क्रिस गेल, आंद्रे रसेल के साथ ही शाई होप से उन्हें काफी उम्मीद होगी। होप ने 2018 में 67.31 और 2019 में 65.00 के औसत से रन बनाए। वॉर्मअप मैच में उन्होंने शतक लगाया। हालांकि, ये तय नहीं है कि वो गेल के साथ ओपन करेंगे या नंबर तीन पर आएंगे। शि
नीरज चोपड़ा की कोहनी का ऑपरेशन हुआ, वर्ल्ड चैम्पियनशिप में खेलना संदिग्ध

नीरज चोपड़ा की कोहनी का ऑपरेशन हुआ, वर्ल्ड चैम्पियनशिप में खेलना संदिग्ध

Indian Sports
खेल डेस्क. भारतीय स्टार जैवलिन थ्रोअर(भाला फेंकखिलाड़ी) नीरज चोपड़ा की कोहनी का ऑपरेशन हुआ है। अब उनका वर्ल्ड चैंपियनशिप में खेलना संदिग्ध हो गया है। यह वर्ल्ड चैम्पियनशिप दोहा में 27 सितंबर से 6 अक्तूबर तक होनी है। नीरज का ऑपरेशन मुंबई के एकअस्पताल में डॉक्टर दिनशॉ पर्दीवाला ने किया।नीरज ने सोशल मीडिया पर ट्वीट कर ऑपरेशन की जानकारी दी। नीरज ने लिखा, 'डॉक्टर दिनशॉ पर्दीवाला से मुंबई में ऑपरेशन कराया। अभ्यास शुरू करने के लिए कुछ महीने इंतजार करना होगा। हर दुर्घटना के पीछे कुछ अच्छा छिपा होता है। ईश्वर आपको और बेहतर बनाना चाहते हैं।'21 साल के नीरज को अप्रैल में एनआईएस पटियाला में खेलते हुए कोहनी में दर्द हुआ था। कोहनी की चोट के कारण नीरज दोहा में 21 से 24 अप्रैल तक एशियाई चैम्पियनशिप भी नहीं खेल पाए थे।डॉक्टर दिनशॉ पहले भी कई भारतीय खिलाड़ियों का इलाज कर चुके हैं। इनमेंसु
संन्यास की सोच रहे हैं युवराज, विदेशी टी20 लीग में खेलना चाहते हैं

संन्यास की सोच रहे हैं युवराज, विदेशी टी20 लीग में खेलना चाहते हैं

Delhi
भारतीय क्रिकेटर युवराज सिंह इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास की सोच रहे हैं। वे आईसीसी से स्वीकृत विदेशी टी20 लीग खेलना चाहते हैं। सूत्रों के अनुसार, ‘युवराज इंटरनेशनल और फर्स्ट क्लास क्रिकेट से संन्यास लेने की सोच रहे हैं। उनके पास कनाडा की जीटी20 लीग, आयरलैंड के यूरो टी20 स्लैम और हॉलैंड की टी20 लीग खेलने का ऑफर है।’ वहीं, इरफान पठान कैरेबियन प्रीमियर लीग से नाम वापस लेंगे क्योंकि बीसीसीआई से अनुमति नहीं ली थी। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar