News That Matters

Tag: गलत

गलत फुटवियर पहनने से भी होती कॉर्न की प्रॉब्लम, जानें इसके बारे में

गलत फुटवियर पहनने से भी होती कॉर्न की प्रॉब्लम, जानें इसके बारे में

Health
पैरों में कॉर्न की परेशानी क्या है? जब पैर या इसके किसी खास हिस्से पर अधिक दबाव पड़ता है तो वहां की स्किन मोटी और सख्त होने लगती है। यह हार्ड स्किन स्पेशल स्किन सेल्स के कारण पैदा होती है। इसे कैलस कहते हैं। अगर समय पर इसका इलाज न कराया जाए तो यह कॉर्न में बदल जाती है। कॉर्न का काम हमारे शरीर को किसी भी दबाव से बचाना होता है लेकिन कई बार नाखून जैसा स्ट्रक्चर बनने से ये चलते समय बहुत चुभते हैं, जिसकी वजह से उस जगह दर्द होने लगता है। समस्या के मुख्य कारण क्या हैं?ज्यादा चलने से पैरों पर अधिक दबाव पड़ता है जिससे पैरों की अंगुलियों के जोड़ों में कठोर, मोटी और परतदार त्वचा बनने लगती है। गलत फिटिंग के फुटवियर पहनने से भी यह समस्या होती है। हील्स को कम से कम पहनना चाहिए। इनसे पैर के अंगूठे के बेस पर कॉर्न बनने लगता है। चलने का गलत तरीका भी इसका कारण बन सकता है। बिना मोजे के जूते पहनने से पैरों मे
बेटी पर गलत नजर रखता था प्रेमी, महिला ने सुपारी देकर करवा दी हत्या

बेटी पर गलत नजर रखता था प्रेमी, महिला ने सुपारी देकर करवा दी हत्या

Haryana
जुलाना (जींद)। दो सप्ताह के अंदर ही जुलाना पुलिस ने कैनाल गार्ड की हत्या की गुत्थी सुलझा दी। कैनाल गार्ड के हत्या के आरोप में पुलिस ने मृतक की प्रेमिका व उसके मामा के लड़कों को गिरफ्तार किया। मृतक बिजेंद्र ने जब अपनी प्रेमिका की बेटी पर बुरी नजर रखी तो प्रेमिका ने अपने भाई के साथ मिलकर सुपारी देकर उसकी हत्या करवा दी।बिजेंद्र की हत्या की सुपारी एक लाख 60 हजार रुपए में दी गई थी। एक लाख 44 हजार रुपएदे दिए गए थे। रुपए कई बार दिए गए थे। 34 हजार रुपए एक बार नकद और 30 हजार रुपएदूसरी बार नकद दिए गए। 50 हजार रुपए मृतक की प्रेमिका के खाते से व 30 हजार रुपए प्रेमिका की बेटी के खाते से हत्यारोपियों को ट्रांसफर किएगए।हत्यारोपी करीब एक माह से बिजेंद्र की हत्या करने कीफिराक में थे। वारदात को अंजाम देने से पहले हत्यारोपी जुलाना की ब्राह्मण धर्मशाला में रुके। इनका खाना मृतक की प्रेमिका
लीज ऑफिसर बोले-चेयरमैन व सीईओ ने गलत तरीके से दी लीज पर जमीन

लीज ऑफिसर बोले-चेयरमैन व सीईओ ने गलत तरीके से दी लीज पर जमीन

Haryana
गांव महंलावाली में वक्फ बोर्ड की छह कनाल, 16 मरले जमीन के मामले में बुधवार को वक्फ बोर्ड के लीज ऑफिसर अयाज महमूद एडीजे डॉ. अब्दुल माजिद की कोर्ट में पेश हुए। सुनाई के दौरान कोर्ट ने उन्हें फटकार लगाई। उन्होंने कोर्ट में माना गांव महंलवाली में वक्फ बोर्ड की जमीन को पट्टे पर गलत दिया गया। इसके लिए उन्होंने कोर्ट में बोर्ड के पूर्व चेयरमैन एवं पुन्हाना के विधायक रहीश खान और मौजूदा सीईओ हनीफ कुरैशी को जिम्मेदार ठहराया है। इस पर वे कोर्ट से कब्जे की याचिका वापस लेते हैं। वहीं कोर्ट ने उनसे पूछा कि लीज में उनका क्या रोल था, तो वे संतोष जनक जवाब नहीं दे पाए। इसके साथ ही लीज ऑफिसर ने कहा कि साल 2018 में बोर्ड के चेयरमैन रहीश खान थे। उन्होंने हाई कोर्ट में गलत बयान दिया है। उधर पट्टा लेने वाले ग्रामीणों ने भी कोर्ट में कहा कि वे फर्जी तरीके से दी गई लीज को नहीं ले सकते। इसलिए व
गोयल ने कहा- गुरुत्वाकर्षण की खोज आइंस्टीन ने की, ट्रोल होने पर बोले- बयान गलत ढंग से पेश किया गया

गोयल ने कहा- गुरुत्वाकर्षण की खोज आइंस्टीन ने की, ट्रोल होने पर बोले- बयान गलत ढंग से पेश किया गया

India
नई दिल्ली. केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल गुरुवार को सोशल मीडिया पर ट्रोल हुए। यूजर्स ने उनसे जुड़े मीम्स और जोक्स शेयर किए। दरअसल, एक ट्रेड बोर्ड की मीटिंग में मंत्री ने कहा था कि आइंस्टीन को गुरुत्वाकर्षण की खोज करने में गणित किसी काम नहीं आया था। हल्ला मचने पर गोयल ने इसके स्पष्टीकरण में कहा- मेरे बयान को गलत ढंग से पेश किया गया।गोयल ने बताया- आज सुबह ट्रेड बोर्ड की मीटिंग में मैं भारतीय उद्योग और व्यापार को प्रोत्साहित करने की बात कर रहा था। अगले पांच सालों में निर्यात का लक्ष्य एक ट्रिलियन डॉलर किए जाने की बात कर रहा था। वहां किए गए कमेंट को मीडिया के एक वर्ग ने तोड़-मरोड़कर पेश किया। केवल एक लाइन उठाई और सभी के सामने गलत ढंग से रख दी।जीडीपी के गणित से परेशान न हों: गोयलगोयल ने अपने बयान में कहा था कि किसी को भी जीडीपी के गणित से परेशान नहीं होना चाहिए। कभी भी गणित ने
मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने कहा- धोनी के रिटायरमेंट की खबरें गलत, हमारे पास इसका अपडेट नहीं

मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने कहा- धोनी के रिटायरमेंट की खबरें गलत, हमारे पास इसका अपडेट नहीं

India
मुंबई. भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने महेंद्र सिंह धोनी के रिटायरमेंट की खबरों को अफवाह बताया है। प्रसाद ने कहा कि उनके पास इससे जुड़ा कोई अपडेट नहीं है। दरअसल, पिछले दो दिनों से सोशल मीडिया पर ऐसी खबरें चल रही थीं कि धोनी गुरुवार शाम को प्रेस कॉन्फ्रेंस बुला रहेहैं। इसमें वे अपने रिटायरमेंट का ऐलान कर सकते हैं।विराट के ट्वीट के बाद बढ़ी आशंकाएंभारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने गुरुवार सुबह अपनी और धोनी की एक फोटो ट्वीट की थी। इसमें वेधोनी के सामनेघुटने के बल सिर झुकाए बैठे दिखाई दे रहे हैं। ये तस्वीर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2016 वर्ल्ड टी-20 में जीत के बाद की थी। मुकाबले को भारतीय टीम ने 6 विकेट से अपने नाम किया था। कोहली ने लिखा, “एक ऐसा मैच जिसे मैं कभी नहीं भूल सकता। उस रातइस आदमी (धोनी) ने मुझे ऐसे दौड़ाया था, जैसे मेरा फिटनेस टेस्ट हो रहा हो।

MV Act 2019: ट्रैफिक चालान गलत लगे तो जुर्माना भरना जरूरी नहीं, इस तरह दे सकते हैं चुनौती

India
यदि किसी को लगता है कि उसका गलत चालान बना है तो उसे तत्काल भरने की जरूरत नहीं उसे कोर्ट में चुनौती दी जा सकती है। Jagran Hindi News - news:national
केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद बोले, कश्मीर पर सही थे पटेल, गलत थे नेहरू

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद बोले, कश्मीर पर सही थे पटेल, गलत थे नेहरू

India
केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बुधवार को कहा कि आजादी के बाद जम्मू-कश्मीर मुद्दे से निबटने के मामले में देश के पहले गृह मंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल सही थे। उन्होंने यह भी कहा कि तत्कालीन सरकार की... Live Hindustan Rss feed
सरकार की गलत नीतियों के कारण शैलर इंडस्ट्री खत्म होने की कगार पर : गोयल

सरकार की गलत नीतियों के कारण शैलर इंडस्ट्री खत्म होने की कगार पर : गोयल

Punjab
लहरागागा | लहरागागा शैलर एसोसिएशन की बैठक प्रधान चरणजीत शर्मा की अगुआई में हुई। बैठक में क्षेत्र के सभी शैलर मालिकों ने हिस्सा लिया। बैठक को संबोधित करते हुए चरणजीत शर्मा और सरपरस्त गौरव गोयल ने कहा कि सरकार की गलत नीतियों के कारण शैलर इंडस्ट्री खत्म होने की कगार पर है। सरकार द्वारा पिछले वर्ष की मांगो में से 5 लाख की सिक्योरिटी रिफंड न करना, बारदाने की बिलों की अदायगी न करना, वर्ष 2018-19 के बिलों की अदायगी न होने संबंधी अभी तक पूरा नहीं किया गया। 2019-20 के लिए चावल स्टोर करने के लिए जगह नहीं है। जब तक सरकार चावल स्टोर करने का प्रबंध नहीं करेगी तब तक शैलरों में जीरी स्टोर नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि यदि सरकार ने उनकी मांगें न मानी तो राज्य स्तर पर संघर्ष किया जाएगा। इस मौके पर अशोक कुमार, जीवन कुमार, संजीव कुमार, कशमीरा सिंह, अशोक सिंगला, मेघ राज, दीपू गर्ग, सतवंत
सरकार की गलत नीतियों के कारण शैलर इंडस्ट्री खत्म होने की कगार पर : गोयल

सरकार की गलत नीतियों के कारण शैलर इंडस्ट्री खत्म होने की कगार पर : गोयल

Punjab
लहरागागा | लहरागागा शैलर एसोसिएशन की बैठक प्रधान चरणजीत शर्मा की अगुआई में हुई। बैठक में क्षेत्र के सभी शैलर मालिकों ने हिस्सा लिया। बैठक को संबोधित करते हुए चरणजीत शर्मा और सरपरस्त गौरव गोयल ने कहा कि सरकार की गलत नीतियों के कारण शैलर इंडस्ट्री खत्म होने की कगार पर है। सरकार द्वारा पिछले वर्ष की मांगो में से 5 लाख की सिक्योरिटी रिफंड न करना, बारदाने की बिलों की अदायगी न करना, वर्ष 2018-19 के बिलों की अदायगी न होने संबंधी अभी तक पूरा नहीं किया गया। 2019-20 के लिए चावल स्टोर करने के लिए जगह नहीं है। जब तक सरकार चावल स्टोर करने का प्रबंध नहीं करेगी तब तक शैलरों में जीरी स्टोर नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि यदि सरकार ने उनकी मांगें न मानी तो राज्य स्तर पर संघर्ष किया जाएगा। इस मौके पर अशोक कुमार, जीवन कुमार, संजीव कुमार, कशमीरा सिंह, अशोक सिंगला, मेघ राज, दीपू गर्ग, सतवंत
सरकार की गलत नीतियों के कारण शैलर इंडस्ट्री खत्म होने की कगार पर : गोयल

सरकार की गलत नीतियों के कारण शैलर इंडस्ट्री खत्म होने की कगार पर : गोयल

Punjab
लहरागागा | लहरागागा शैलर एसोसिएशन की बैठक प्रधान चरणजीत शर्मा की अगुआई में हुई। बैठक में क्षेत्र के सभी शैलर मालिकों ने हिस्सा लिया। बैठक को संबोधित करते हुए चरणजीत शर्मा और सरपरस्त गौरव गोयल ने कहा कि सरकार की गलत नीतियों के कारण शैलर इंडस्ट्री खत्म होने की कगार पर है। सरकार द्वारा पिछले वर्ष की मांगो में से 5 लाख की सिक्योरिटी रिफंड न करना, बारदाने की बिलों की अदायगी न करना, वर्ष 2018-19 के बिलों की अदायगी न होने संबंधी अभी तक पूरा नहीं किया गया। 2019-20 के लिए चावल स्टोर करने के लिए जगह नहीं है। जब तक सरकार चावल स्टोर करने का प्रबंध नहीं करेगी तब तक शैलरों में जीरी स्टोर नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि यदि सरकार ने उनकी मांगें न मानी तो राज्य स्तर पर संघर्ष किया जाएगा। इस मौके पर अशोक कुमार, जीवन कुमार, संजीव कुमार, कशमीरा सिंह, अशोक सिंगला, मेघ राज, दीपू गर्ग, सतवंत