News That Matters

Tag: घरेलू

इन घरेलू उपचारों से भी रोक सकते हैं खर्राटे

इन घरेलू उपचारों से भी रोक सकते हैं खर्राटे

Health
आमतौर पर लोग खर्राटों को साधारण-सी परेशानी समझते हैं, लेकिन जब यह बीमारी का रूप ले लेती है तो गंभीर समस्या बन जाती है। लोग समझते हैं कि खर्राटे आना एक सामान्य बात है, इसलिए इस पर कोई ध्यान नहीं देते हैं। जबकि ज्यादातर लोगों में शारीरिक समस्याओं या गलत आदतों के कारण खर्राटे आने की बीमारी हो जाती है। खर्राटे लेने वाले को भले ही कुछ न पता चले, लेकिन उसके साथ सोने वाले की तो नींद खराब हो जाती है। खर्राटों की समस्या को कुछ आसान घरेलू उपायों से रोका जा सकता है, आइये जानते हैं इनके बारे में। कारण : एलर्जी, वृद्धावस्था, नाक के विभिन्न रोग, मोटापा, शराब, स्मोकिंग और नकली दांतों की फिटिंग के कारण भी खर्राटों की समस्या होती है। घरेलू उपचार : रात को सोने से पहले दूध में हल्दी पाउडर मिलाकर पीएं। हल्दी एंटीसेप्टिक व एंटीबायोटिक है जो नाक का रास्ता साफ करती है।ऑलिव ऑयल और शहद को एक-एक चम्मच लेकर मिलाएं औ
बालों के लिए भी जरूरी है सनस्क्रीन, आजमाएं ये 8 घरेलू नुस्खे

बालों के लिए भी जरूरी है सनस्क्रीन, आजमाएं ये 8 घरेलू नुस्खे

Health
वैसे तो बाजार में कई तरह की हेयर सनस्क्रीन उपलब्ध हैं, पर कुछ ऐसे प्राकृतिक उत्पाद भी हैं, जो आपके बालों पर बहुत ही बेहतरीन काम करेंगे और उन्हें सदा सुरक्षित रखेंगे। तिल का तेल अपनी... Live Hindustan Rss feed
घरेलू कलह में पत्नी गई थी मायके, आज जाना था लेने, युवक ने लगाया फंदा, मौत

घरेलू कलह में पत्नी गई थी मायके, आज जाना था लेने, युवक ने लगाया फंदा, मौत

Haryana
भट्टूकलां.कस्बे के वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय की सीढ़ियों में सोमवार सुबह एक व्यक्ति का शव फंदे से लटका मिला। राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय भट्टूकलां में राजेश सफाई कर्मचारी है, वह परिवार समेत स्कूल में ही रहता है। उसके 26 वर्षीय छोटे बेटे बबलू ने स्कूल की सीढ़ियाें पर लगी ग्रिल पर चुनी का फंदा लगा आत्महत्या कर ली। सोमवार सुबह योगा करने आए लोगों ने उसे फंदे से लटका देखा। उन्होंने सूचना परिजनों को दी।परिजनों ने पुलिस को दी बताया। मृतक के पिता राजेश के बयान पर पुलिस ने इत्तफाकिया कार्रवाई की है। थाना के एडिशनल एसएचओ सब इंस्पेक्टर सूरजमल ने बताया कि सरकारी स्कूल में काम करने वाले चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के दो बेटे बबलू और बंटी भिवानी शहर में शादीशुदा है।पारिवारिक कलह के चलते बंटी और बबलू की पत्नियां मायके गई हुई थी, जिससे बबलू मानसिक रूप से परेशान रहता था। मामले को लेकर शनि
घरेलू कलह से परेशान महिला तीन बच्चों के साथ टांके में कूदी महिला, चारों की मौत

घरेलू कलह से परेशान महिला तीन बच्चों के साथ टांके में कूदी महिला, चारों की मौत

Rajasthan
जोधपुर. जैसलमेर जिले के फलसूंड क्षेत्र के मानासर गांव में घरेलू कलह से परेशान हो एक महिला अपने तीन बच्चों के साथ टांके में कूद गई। चारों की डूबने से मौत हो गई। पुलिस ने शव बाहर निकलवा कर आत्महत्या के कारणों की जांच शुरू की है।पुलिस के अनुसार आज सुबह सूचना मिली की फलसूंड क्षेत्र के मानासर गांव की एक ढाणी में बने टांके में 35 वर्षीया रंभा पत्नी मघाराम जाट ने अपनी दस वर्षीय पुत्री कमला, आठ व चार वर्ष के दो पुत्रों के साथ टांके में कूद आत्महत्या कर ली। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव बाहर निकलवा कर पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल पहुंचाए। प्रारम्भिक जांच में पता चला है कि पति-पत्नी के बीच किसी मामले को लेकर आए दिन झगड़ा होता रहता था। कल रात भी दोनों के बीच में काफी बहस हुई। इसके बाद आज सुबह रंभा ने अपने तीनों बच्चों के साथ टांके में कूद कर जान दे दी। Download Daini
घरेलू कलह से परेशान महिला तीन बच्चों के साथ टांके में कूदी महिला, चारों की मौत

घरेलू कलह से परेशान महिला तीन बच्चों के साथ टांके में कूदी महिला, चारों की मौत

Rajasthan
जोधपुर. जैसलमेर जिले के फलसूंड क्षेत्र के मानासर गांव में घरेलू कलह से परेशान हो एक महिला अपने तीन बच्चों के साथ टांके (कुएं) में कूद गई। चारों की डूबने से मौत हो गई। पुलिस ने शव बाहर निकलवा कर आत्महत्या के कारणों की जांच शुरू की है।पुलिस के अनुसार आज सुबह सूचना मिली की फलसूंड क्षेत्र के मानासर गांव की एक ढाणी में बने टांके में 35 वर्षीया रंभा पत्नी मघाराम जाट ने अपनी 10 साल कीपुत्री कमला, 8 व 4 साल के दो पुत्रों के साथ टांके में कूद आत्महत्या कर ली। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव बाहर निकलवा कर पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल पहुंचाए।प्रारम्भिक जांच में पता चला है कि पति-पत्नी के बीच किसी मामले को लेकर आए दिन झगड़ा होता रहता था। कल रात भी दोनों के बीच में काफी बहस हुई। इसके बाद आज सुबह रंभा ने अपने तीनों बच्चों के साथ टांके में कूद कर जान दे दी। Download Dain
लो ब्लड प्रेशर हो सकता है जानलेवा, इन घरेलू तरीकों से करें उपचार

लो ब्लड प्रेशर हो सकता है जानलेवा, इन घरेलू तरीकों से करें उपचार

Health
खराब लाइफ स्टाइल, खानपान, आलस और दवाओं को नियमित न लेने से होने वाले दुष्प्रभावों से ब्लड प्रेशर की समस्या आम बात हो गई है। सामान्य रूप से सेहतमंद व्यक्तिका ब्लड प्रेशर 120/80 होना चाहिए। लेकिन ब्लड प्रेशर 90 से कम होने पर 'लो' की श्रेणी में आ जाता है। ऐसे में शरीर के अंग खासतौर पर हार्ट, किडनी, फेफड़े और दिमाग की कार्यप्रणाली प्रभावित होती है। ब्लड प्रेशर लो हो जाए तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। इसके अलावा आप कुछ घरेलू उपाय अपनाकर इसे नियंत्रित कर सकते हैं। जाने कैंसे- नमक में मौजूद सोडियम ब्लड प्रेशर को बढ़ाता है। बहुत ज्यादा मात्रा में नमक सेहत के लिए नुकसानदायक है। लो ब्लड प्रेशर की स्थिति में एक गिलास पानी में डेढ़ चम्मच नमक मिलाकर पीएं।नींबू पानी ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखता है। डिहाइड्रेशन में भी यह उपयोगी है। एक गिलास पानी में एक नींबू का रस डालकर इसमें हल्का सा नमक और चीनी
पंजाब घरेलू मजदूर यूनियन की महिला सदस्यों का मांगों को लेकर प्रदर्शन

पंजाब घरेलू मजदूर यूनियन की महिला सदस्यों का मांगों को लेकर प्रदर्शन

Punjabi Politics
अपनी मांगों को लेकर पंजाब घरेलू मजदूर यूनियन की ओर से गांव भूरा कोना में पंजाब सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर अपना रोष जताया गया। यूनियन के सदस्यों को संबोधित करते हुए यूनियन के जिला कन्वीनर धर्म सिंह ने कहा कि घरेलू मजदूरों को निर्माण मजदूरों वाली सुविधाएं दी जाएं। उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से लोगों के घरों में पखाने बनाने के लिए गड्ढों को खोदा गया था, लेकिन यह काम बीच में ही छोड़ दिया गया और इस काम को पूरा करवाने के लिए कई बार सरकार से अपील की गई है, लेकिन सरकार की ओर से इस मुश्किल की तरफ कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा। उन्होंने कहा कि आतंकवाद के समय शहीद हुए कामरेड दीपक धवन, सुच्चा सिंह नारला, अर्जुन सिंह, सुखविंदर सिंह की शहीदी को लेकर 10 जून को समारोह करवाया जा रहा है। इसमें उन्होंने इलाके के लोगों को ज्यादा से ज्यादा गिनती में पहुंचने की अपील है। मांगों को लेकर नारेबाजी
घरेलू नुस्खों से कंट्रोल करें कब्ज

घरेलू नुस्खों से कंट्रोल करें कब्ज

Health
मानसिक रोगों से भी बच सकते हैंआयुर्वेद के मुताबिक ज्यादातर बीमारियों की शुरुआत पेट से होती है। यदि कब्ज न हो तो हम शारीरिक और मानसिक रोगों से भी बच सकते हैं। कब्ज होने पर घरेलू उपचार किया जा सकता है।मुनक्का खाएंप्रात: काल सबसे पहले दो मुनक्का खाएं। कब्ज का यह उपचार धीमा अवश्य है लेकिन प्रभावी है। इसकी आदत पड़ जाए तो न केवल पेट साफ रहता है बल्कि भूख भी खुलकर लगती है। ये नुस्खे भी आजमाएंपके संतरों का रस सुबह नाश्ते से पहले पीएं या खाली पेट दो सेब खाने से कब्ज से मुक्ति मिलती है।दो चुटकी आजवाइन का चूर्ण मट्ठे में मिलाकर पीने से पेट साफ हो जाता है।रात को एक गिलास पानी में 20 ग्राम त्रिफला भिगोएं, सुबह शौच क्रिया करने के पहले त्रिफला का निथरा हुआ जल पीएं।सात-आठ अंजीर को उबालकर उसका काढ़ा बना लें। रात को सोते समय यह काढ़ा पीएं। Patrika : India's Leading Hindi News Portal

भारत घरेलू सत्र में खेलेगा 5 टेस्ट, 9 वनडे और 12 ट्वंटी 20

Indian Sports
नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने 2019-20 के घरेलू सत्र के लिए सोमवार को कार्यक्रम की घोषणा कर दी जिसमें 5 टेस्ट, 9 वनडे और 12 ट्वंटी-20 मैच खेले जाएंगे। खेल-संसार
Team India Home Shedule: भारत घरेलू सरजमीं पर पांच टेस्ट, नौ वनडे और 12 टी20 खेलेगा

Team India Home Shedule: भारत घरेलू सरजमीं पर पांच टेस्ट, नौ वनडे और 12 टी20 खेलेगा

Indian Sports
भारतीय क्रिकेट टीम आगामी सत्र में घरेलू सरजमीं पर पांच टेस्ट मैच, नौ एकदिवसीय और 12 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलेगी। बीसीसीआई ने सोमवार को आगामी घरेलू सत्र के कार्यक्रम की घोषणा की जिसकी शुरुआत दक्षिण... Live Hindustan Rss feed