News That Matters

Tag: चक्र

अनियमित मासिक चक्र, बालों की मजबूत और दस्त के लिए फायदेमंद है तुलसी

अनियमित मासिक चक्र, बालों की मजबूत और दस्त के लिए फायदेमंद है तुलसी

Health
तुलसी की पत्तियां कई बीमारियों का इलाज करती हैं। कैंसर जैसे लाइलाज रोग में तुलसी असरकारक है। यह जुकाम, खांसी व सांस की तकलीफ में भी फायदेमंद होती है। तुलसी के तेल से सिर में मालिश करने से रक्त का संचार दुरुस्त होता है। महिलाओं में मासिक चक्र की अनियमितता को दूर करने के लिए तुलसी के पत्तों का रस लाभदायक होता है। बालों की मजबूती के लिए गर्म जैतून के तेल में तुलसी का तेल मिला लें और सिर में मालिश करें। तुलसी व आंवला पीसकर सिर पर लगाने से रूसी की समस्या भी खत्म होती है। मुंहासे होने पर तुलसी की पत्तियों को पीसकर लेप बना लें। 20-25 मिनट तक लगा रहने दें और बाद में चेहरा धो लें। सर्दी या फिर हल्का बुखार है तो मिश्री, काली मिर्च और तुलसी के पत्ते का काढ़ा पीना फायदेमंद होता है। तुलसी के पत्तों को जीरे के साथ मिलाकर पीसकर चटनी बनाकर दिन में 3-4 बार चाटने से दस्त रुक जाते हैं। Patrika : India's Lea
काल चक्र से मुक्ति के लिए कथा को जीवन में अपनाएं

काल चक्र से मुक्ति के लिए कथा को जीवन में अपनाएं

Punjabi Politics
श्री शिव शक्ति मंदिर गुरु नानक पुरा वेस्ट में श्रीमद भागवत सप्ताह ज्ञानयज्ञ में कथा व्यास स्वामी राधे श्याम कांशी वालों ने कहा कि कथा के महत्व को कथा स्थल से बाहर जाकर ही भूल जाना उचित नहीं है। इससे जीवन का कभी उद्धार नहीं हो सकता। ऐसे तो आप जीवन के काल चक्र में ही उलझे रह जाओगे। 10 फरवरी को गायत्री महायज्ञ सुबह दस बजे और साढ़े दस बजे मां बगलामुखी की मूर्ति स्थापना की जाएगी। प्रधान एडवोकेट गोपाल कृष्ण अग्निहोत्री ने अध्यक्षता की और सभी का स्वागत किया। यहां सचिव सुरेंद्र सिंह, केशव अग्निहोत्री, वंदना, रशपाल, पीडी शर्मा, अनीता, नाव्या, रजनी, योगेश, पूनम कुमारी, कृष्णा, बलजीत, अशोक मेहता, मदन लाल, शशि, चारू, चंदा, मोनिका, सुनीता और साधना आदि थे। श्री शिव शक्ति मंदिर में श्रीमद भागवत कथा स्वामी राधे श्याम ने आशीर्वचनों से भक्तों को कृतार्थ किया। Download Dainik Bhaska
सेना को 1 अशोक चक्र के अलावा दो कीर्ति व 9 शौर्य चक्र सहित 308 पदक

सेना को 1 अशोक चक्र के अलावा दो कीर्ति व 9 शौर्य चक्र सहित 308 पदक

Delhi
गणतंत्र दिवस पर सेना के वीर जवानों को एक अशोक चक्र, दो कीर्ति और 9 शौर्य चक्र सहित कुल 308 वीरता पदक प्रदान किए जाएंगे। सेना की जम्मू-कश्मीर लाइट इन्फ्रैंट्री के लांस नायक नजीर अहमद वानी को मरणाेपरांत शांतिकाल के सर्वोच्च सैन्य सम्मान अशोक चक्र से नवाजा जाएगा। 20 जाट रेजिमेंट के मेजर तुषार गाबा और 22 राष्ट्रीय रायफल्स के एसडब्ल्यूआर विजय कुमार (मरणोपरांत) को कीर्ति चक्र से सम्मानित किया जाएगा। पुलिस और अर्द्धसैनिक बलों के कुल 855 कर्मियों को पुलिस पदकों से सम्मानित किया गया है। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar
यमुनानगर के टोपरा कलां में देश का सबसे बड़ा अशोक चक्र स्थापित

यमुनानगर के टोपरा कलां में देश का सबसे बड़ा अशोक चक्र स्थापित

Haryana
यमुनानगर. बौद्ध धर्म के प्रचार-प्रसार के प्रमुख केंद्रों में से एक टोपरा कलां में शनिवार को अशोक चक्र स्थापित किया गया। दावा किया जा रहा है कि यह देश का सबसे बड़ा अशोक चक्र है। कैबिनेट मंत्री कविता जैन, राज्य सभा सांसद सुभाष चंद्रा व रादौर विधायक श्याम सिंह राणा ने अन्य लोगों के साथ इसका अनावरण किया।इस चक्र की डाया (परिधि) तीस फीट की है और वजन करीब छह टन का है। गोल्डन कलर से पेंट कर नार्थ-साउथ मेग्नेटिक फील्ड ग्रेविटी के हिसाब से स्थापित किया गया।बताया गया कि अशोक चक्र को लिम्का बुक ऑफ रिकाॅर्ड में दर्ज कराने के लिए आवेदन किया गया है।30 फीट ऊंचे अशोकचक्र को 8 फीट ऊंचे प्लेटफाॅर्म पर स्थापित किया गया है।इसके लिए विशेष हाइड्रोलिक क्रेन मंगवाई गई थी।इससे पहले उत्तरप्रदेशके श्रावस्ती में थाई बुद्धिस्ट मंदिर में 5 साल पहले 5 फीट ऊंचा पत्थर का अशोक चक्र लगा था। यह थाईलैंड की म
देश का सबसे बड़ा अशोक चक्र होगा हमारे यहां, 2300

देश का सबसे बड़ा अशोक चक्र होगा हमारे यहां, 2300

Haryana
देश का सबसे बड़ा अशोक चक्र होगा हमारे यहां, 2300 साल पुराना इतिहास फिर खड़ा हो रहा यमुनानगर | टोपराकलां से जिस अशोक स्तंभ को फिरोजशाह तुगलक यमुनानगर से उठाकर दिल्ली ले गया था, वहां पर फिर से इतिहास बन रहा है। यहां देश का सबसे बड़ा अशोक चक्र स्थापित हो रहा है। इस पर 45 लाख खर्चा आया है। 30 फीट ऊंचा सुनहरे रंग का यह चक्र अशोका इडिक्ट पार्क में आठ फीट ऊंचे प्लेटफार्म पर स्थापित किया जा रहा है। पांच जनवरी को इसका उद्घाटन किया जाएगा। इसमें राज्यसभा सांसद सुभाषचंद्रा मुख्यातिथि होंगे। विधायक श्याम सिंह राणा कार्यक्रम की अध्यक्षता करेंगे। अशोक चक्र 12 कारीगरों ने 6 महीने में तैयार किया है। इसमें 6 टन लोहा और 3 टन अन्य सामग्री लगी है। लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज कराने की तैयारी। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar

1971 भारत-पाक युद्ध के इस परमवीर योद्धा को जिंदा रहते मिला था परमवीर चक्र

India
मेजर होशियार सिंह उन वीर सैनिकों में शामिल थे, जिन्हें 1971 में हुई भारत-पकिस्तान की युद्ध में अदम्य साहस का परिचय देते हुए उन्हें परमवीर चक्र से नवाजा गया था। Jagran Hindi News - news:national
भारत वाहिनी में आए शौर्य चक्र विजेता रिटायर्ड आईएएस

भारत वाहिनी में आए शौर्य चक्र विजेता रिटायर्ड आईएएस

Rajasthan
जयपुर. भारत वाहिनी पार्टी में सोमवार को पांच लोग शामिल हुए। इनमें लोकेश कुमार शेखावत पूर्व कुलपति जय नारायण व्यास विश्वविद्यालय जोधपुर, अतुल गर्ग रिटायर्ड आईएएस, शौर्य चक्र विजेता कर्नल रामेश्वर बेनीवाल, एडवोकेट धर्मपाल सिंह एवं रिटायर्ड सूबेदार सतवीर सिंह वर्मा शामिल हैं। भारत वाहिनी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष घनश्याम तिवाड़ी ने इन्हें पार्टी की सदस्यता दी और कहा- इन प्रतिष्ठित व्यक्तियों के वाहिनी में शामिल होने पर पार्टी वैचारिक पृष्ठभूमि पर अधिक मजबूत हुई है।लोकेश कुमार शेखावत के पिता स्वर्गीय नारायण सिंह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संस्थापकों में से एक थे। चाचा लक्ष्मण सिंह संघ के वरिष्ठ प्रचारक रहे। अतुल गर्ग स्काउट एंड गाइड के स्टेट कमिश्नर के पद पर रह चुके हैं। रिटायर्ड कर्नल रामेश्वर बेनीवाल शौर्य चक्र विजेता हैं, जिन्होंने सीमा पर देश के लिए लड़ते हुए अपना एक हाथ
देश का सबसे ऊंचा 30 फीट का अशोक चक्र बनकर तैयार, 8 फीट ऊंचे प्लेटफॉर्म पर लगेगा

देश का सबसे ऊंचा 30 फीट का अशोक चक्र बनकर तैयार, 8 फीट ऊंचे प्लेटफॉर्म पर लगेगा

Haryana
धर्मेश पांडे. यमुनानगर.देश का सबसे बड़ा अशोक चक्र यमुनानगर के टोपरा कलां में बनकर तैयार हो गया है। 30 फीट ऊंचे चक्र को 8 फीट ऊंचे प्लेटफाॅर्म पर इसी सप्ताह स्थापित किया जाएगा। इसके लिए विशेष हाइड्रोलिक क्रेन मंगवाई गई है। इसी माह चक्र का लोकार्पण होना है।इसके लिए केंद्रीय गृहराज्य मंत्री किरेन रिजिजू, राज्यसभा सांसद सुभाष चंद्रा समेत बौद्ध धर्म के अनुयायी देशों के राजनयिकों का समय मांगा गया है। इससे पहले यूपी के श्रावस्ती में थाई बुद्धिस्ट मंदिर में 5 साल पहले 5 फीट ऊंचा पत्थर का अशोक चक्र लगा था। यह थाईलैंड की महारानी ने बनवाया था। यमुनानगर में अशोक चक्र ‘द बुद्धिष्ट’ फोरम संस्था ने बनवाया है। डिजाइन से लेकर इसको जोड़ने का काम स्थानीय इंजीनियर अनिल कुमार की देखरेख में हुआ।चक्र की खासियतें : 6 टन लोहे से एक साल में बना 45 लाख रु. खर्च आया। लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड में दर्ज
यमुनानगर में देश का सबसे ऊंचा 30 फीट का अशोक चक्र बनकर तैयार, 8 फीट ऊंचे प्लेटफॉर्म पर लगेगा

यमुनानगर में देश का सबसे ऊंचा 30 फीट का अशोक चक्र बनकर तैयार, 8 फीट ऊंचे प्लेटफॉर्म पर लगेगा

Haryana
धर्मेश पांडे. यमुनानगर | देश का सबसे बड़ा अशोक चक्र यमुनानगर के टोपरा कलां में बनकर तैयार हो गया है। 30 फीट ऊंचे चक्र को 8 फीट ऊंचे प्लेटफाॅर्म पर इसी सप्ताह स्थापित किया जाएगा। इसी माह चक्र का लोकार्पण होना है। इसके लिए केंद्रीय गृहराज्य मंत्री किरेन रिजिजू, राज्यसभा सांसद सुभाष चंद्रा समेत बौद्ध धर्म के अनुयायी देशों के राजनयिकों का समय मांगा गया है। इससे पहले यूपी के श्रावस्ती में थाई बुद्धिस्ट मंदिर में 5 साल पहले 5 फीट ऊंचा पत्थर का अशोक चक्र लगा था। यह थाईलैंड की महारानी ने बनवाया था। यमुनानगर में अशोक चक्र ‘द बुद्धिष्ट’ फोरम संस्था ने बनवाया है। डिजाइन से लेकर इसको जोड़ने का काम स्थानीय इंजीनियर अनिल कुमार की देखरेख में हुआ। वहीं, द बुद्धिष्ट फोरम संस्था के अध्यक्ष सिद्धार्थ गौरी बताते हैं कि इस चक्र को नार्थ-साउथ मैग्नेटिक फील्ड ग्रेविटी के हिसाब से स्थापित किया