News That Matters

Tag: चलने

जिले की 199 सड़कें और 24 पुलिया की हालत चलने लायक नहीं

जिले की 199 सड़कें और 24 पुलिया की हालत चलने लायक नहीं

Rajasthan
जिले में मानसून के दौरान खराब हुई सड़कों के लिए बजट नहीं मिलने से शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्र की सड़कें, पुलिया व भवन जर्जर हो गए हैं। इसके लिए पीडब्ल्यूडी की ओर से इनकी मरम्मत करने के लिए बजट मांगा गया था। लेकिन अब तक बजट नहीं मिलने से विभाग इनकी मरम्मत नहीं करा पा रहा है। हालांकि चुनावी साल में जनप्रतिनिधियों की मांग पर विभाग की ओर से ग्रामीण क्षेत्र में जहां पर आवागमन पूरी तरह से बंद हो गया था। ऐसी पुलिया व स्थानीय मद से पुलिया को दुरुस्त कर आवागमन तो शुरू कर दिया, लेकिन स्थायी कार्य नहीं होने से इन पुलियाओं से अभी भी भारी वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में आचार संहिता से पहले सरकार की ओर से इन सड़कों व पुलियाओं की मरम्मत के लिए मांगा हुआ बजट नहीं मिला तो ग्रामीण क्षेत्र के लोगों के साथ ही वाहन चालकों को चुनाव के बाद तक इन सड़कों के दुरुस्त होने का
लो-फ्लोर बसों के नहीं चलने से परेशान महारानी, सुबोध कॉलेज स्टूडेंट्स ने रोड जाम किया

लो-फ्लोर बसों के नहीं चलने से परेशान महारानी, सुबोध कॉलेज स्टूडेंट्स ने रोड जाम किया

Rajasthan
जयपुर। लो-फ्लोर बसों के नहीं चलने से परेशान छात्र-छात्राओं ने सोमवार को टोंक रोड को जाम कर विरोध-प्रदर्शन किया। महारानी कॉलेज की छात्रों ने सुबह 10 बजे कॉलेज के बाहर चेन बनाकर रोड को रोक दिया। छात्राओं का कहना है कि लो-फ्लोर बसों के नहीं चलने से ना तो कॉलेज समय पर पहुंच पा रही हैं न कोचिंग क्लासेज में पहुंच रही हैं।रोड जाम की सूचना पर पुलिस कंट्रोल रूम से पुलिस जाप्ते के साथ अशोक नगर और लालकोठी थाना पुलिस पहुंची। छात्राओं ने पौन घंटे तक सड़क रोके रखी। इस दौरान ट्रैफिक पुलिस ने रामनिवास गार्डन और अशोक मार्ग से यातायात को डायवर्ट कर निकाला।इधर, सुबोध कॉलेज के छात्रों ने भी दोपहर 12 बजे कॉलेज के बाहर टोंक रोड को जाम कर दिया। छात्रों ने कहा कि लो-फ्लोर बसों के नहीं चलने से मिनी बसों में ठूंस कर आना पड़ रहा है। मिनी बसों में भीड़ होने से परेशानी हो रही है।रोड जाम करने की सूच
स्मार्टफोन से चलने वाली प्रणाली से पानी में सीसे की जांच संभव

स्मार्टफोन से चलने वाली प्रणाली से पानी में सीसे की जांच संभव

Indian Technology
वैज्ञानिकों का कहना है कि उन्होंने स्मार्टफोन एवं इंकजेट प्रिंटर से बनाए गए एक लैंस का इस्तेमाल करते हुए कम दम वाली एक प्रणाली विकसित की है जो नल के पानी में सीसे (लैड) के उस स्तर का पता लगा पाने में... Live Hindustan Rss feed
राजघाट से 6 किमी दूर ही सड़ रहा है कूड़ा, लोग मुंह पर कपड़ा रखकर चलने को मजबूर

राजघाट से 6 किमी दूर ही सड़ रहा है कूड़ा, लोग मुंह पर कपड़ा रखकर चलने को मजबूर

Delhi
एमसीडी के सफाई कर्मचारियों की हड़ताल को 13 दिन हो चुके हैं। दिल्ली में कई जगह कूड़े के ढेर लग गए हैं। ऊपर से बारिश ने लोगों की परेशानी और बढ़ा दी है। कूड़े के ढेर के कारण बदबू के चलते हालत यह है कि कई जगह लोग नाक बंद कर निकलने को मजबूर हैं। ईस्ट दिल्ली में हालत सबसे ज्यादा खराब है। यह हालत तब है जबकि 10 दिन पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली से ही ‘स्वच्छता ही सेवा अभियान’ की शुरुआत की थी। उधर, अपनी मांगों को लेकर अड़े सफाई कर्मचारियों ने हड़ताल को और उग्र करने की चेतावनी दी है। ईस्ट दिल्ली में राजघाट से मात्र 5-6 किलाेमीटर दूर शास्त्री पार्क, गांधी नगर, गीता कॉलोनी, लक्ष्मीनगर इलाके में कूड़ा सड़ना शुरू हो गया है। दरअसल कूड़ा नहीं उठने की वजह से ढेर लग गया था, जोकि बारिश होने की वजह से सड़ने लगा है। लोग मुंह पर रूमाल रखकर निकलने को मजबूर हैं। इतना ही नहीं सड़कों पर कीचड़
Video: आमिर खान के हाथों में हाथ थामकर चलने के बावजूद अचानक गिर पड़ीं पत्नी किरण राव

Video: आमिर खान के हाथों में हाथ थामकर चलने के बावजूद अचानक गिर पड़ीं पत्नी किरण राव

Entertainment
सोशल मीडिया पर आमिर खान वाइफ किरण राव का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। यह वीडियो एयरपोर्ट का है। जहां आमिर और उनकी पत्नी किरण पर स्पॉट हुए। दोनों एक-दूसरे का हाथ चल रहे थे कि अचानक किरण का... Live Hindustan Rss feed

बड़ी खबर, 15 अगस्त से नहीं होगी जियो फोन 2 की सेल लेकिन चलने लगेगा व्हाट्सएप

Indian Technology
जियो के पुराने और नए फोन के लिए 49, 99 और 153 रुपये के तीन प्लान हैं। 49 रुपये वाले प्लान में 28 दिनों की वैधता और 1 जीबी, 99 रुपये वाले प्लान में 14 जीबी डाटा के साथ 28 दिनों की वैधता और 153 रुपये वाले प्लान में Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala
डॉक्टरों ने मरीज के पेट से टेनिस बॉल से बड़ी रसौली निकाली, चलने में होती थी दिक्कत

डॉक्टरों ने मरीज के पेट से टेनिस बॉल से बड़ी रसौली निकाली, चलने में होती थी दिक्कत

Health
दिल्ली के एक अस्पताल में डॉक्टरों ने एक 28 वर्षीय व्यक्ति के पेट से टेनिस बॉल से करीब डेढ़ गुना बड़े आकार की रसौली को बाहर निकाल दिया है। डॉक्टरों ने उसके पैर को बचाने के लिए ऐसा किया।शालीमार बाग... Live Hindustan Rss feed
इनसे बचकर चलने में है भलाई

इनसे बचकर चलने में है भलाई

Health
रोज की दिनचर्या में ऐसी कई चीजें शामिल होती हैं जिनसे चाहकर भी दूरी नहीं बनाई जा सकती। ये जीवन से इस कदर जुड़ गई हैं कि हमें इनसे होने वाले खतरों का अंदाजा भी नहीं होता। आइए जानते हैं इनके बारे में। प्लास्टिक से बनाएं दूरी प्लास्टिक की थैलियों और बोतलों का प्रयोग हम धड़ल्ले से करते हैं। प्लास्टिक बोतलों में पाया जाने वाला पैथालेट रसायन कैंसर की आशंका को बढ़ा देता है। यह कैमिकल उस समय और भी ज्यादा प्रभावी हो जाता है जब पानी से भरी बोतल धूप में रखी हो। इन बोतलों में पाया जाने वाला बीपीए रसायन पुरुषों के शुक्राणुओं पर बुरा असर डाल सकता है। क्या करें: कागज से बने थैलों का प्रयोग करें। प्लास्टिक की जगह स्टील की बोतलों का प्रयोग करें। मिनरल ऑयल खतरनाक चेहरे को साफ करने वाले उत्पादों में मिनरल ऑइल का खूब प्रयोग किया जाता है। यह त्वचा के रोम छिद्रों को बंद करके उन्हें चौड़ा कर देता है। कृत्रिम रंग
खेल-खेल में सिखाएं चलने व खाने का तरीका

खेल-खेल में सिखाएं चलने व खाने का तरीका

Health
जन्म के बाद एक से तीन साल के बीच का समय बच्चे के शरीर के विकास के लिए खास होता है। इस दौरान वह बोलना, सोचना, देखना, सुनना, चलना, दौडऩा और शारीरिक संतुलन बनाना सीखता है।   इसमें प्रमुख होती है दिमागी क्षमता मजबूत होने के साथ सीखने-समझने की क्रिया। जानते हैं कि इस दौरान बच्चे के लिए क्या जरूरी है और क्या नहीं। अच्छी आदतें बनाएंगी बच्चे को स्ट्रॉन्ग एक साल की उम्र के बाद बच्चे को ऐसी बातें सिखाएं जो भविष्य के लिए परेशानी न बने। जैसे- भोजन करने के दौरान उसे किसी बड़े के साथ बिठाएं ताकि वह उन्हें देखकर रोटी तोडऩा, चम्मच पकडऩा और मुंह में कोर डालना सीखे। बच्चे को खेल-खेल में खाने की आदत डलवाएं। इससे वह खुद से चीजों को उठाकर खाना सीखेगा। किसी गलत गतिविधि पर उसे डांटने, मारने या समझाने के बजाय केवल ‘नो’ या नहीं के शब्दों की पहचान करवाएं। यह शब्द सुनते ही वह धीरे-धीरे समझेगा कि व

ऐंड्रॉयड गो पर चलने वाला सबसे सस्ता स्मार्टफोन होगा Alcatel 1

Indian Technology
चाइनीज हैंडसेट मेकर अल्काटेल सबसे सस्ते ऐंड्रॉयड गो स्मार्टफोन की लिस्ट में एक नया स्मार्टफोन लाने जा रही है। कहा जा रहा है कि कंपनी का अल्काटेल 1 ऐंड्रॉयड गो पर आधारित अब तक का सबसे सस्ता स्मार्टफोन कहा जा रहा है। टेक न्यूज़: Latest Tech News in Hindi, Tech Reviews in Hindi,Tech Samachar,Tech Tips & Tricks, PC and Gadgets News, Mobile News, Gadgets News in Hindi