News That Matters

Tag: जानिए

जानिए, कड़वे करेले के मीठे-मीठे फायदे

जानिए, कड़वे करेले के मीठे-मीठे फायदे

Health
करेले के कड़वेपन की वजह से भले ही ज्यादा लोग इसे नापसंद करते हों लेकिन इसमें कई एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन होते हैं जो हमें निरोगी बनाए रखने में खासे मददगार साबित हो सकते हैं। आइए जानते हैं क्या हैं कड़वे करेले के मीठे-मीठे फायदे:- - करेले में अधिक मात्रा में विटामिन-ए, बी और सी होते हैं। यह कैरोटीन, बीटाकैरोटीन, लूटीन, आयरन, जिंक और मैगनीशियम से भरपूर होता है। इससे चेहरे के दाग-धब्बे, मुंहासे व त्वचा रोगों में लाभ होता है। - रोजाना खाली पेट करेले के जूस में नींबू का रस मिलाकर छह महीने तक पिएं, त्वचा पर असर दिखेगा। - बवासीर होने पर एक चम्मच करेले के रस में शक्कर मिलाकर लगातार एक महीने तक पीने से राहत मिलती है। - करेला मुंह के छालों के लिए अचूक दवा है। करेले की पत्तियों का रस निकालकर उसमें थोड़ मुलतानी मिट्टी मिलाकर पेस्ट बना लें और मुंह के छालों पर लगाएं। मुलतानी मिट्टी ना मिले तो करेले के र
जिन लोगों की कम कमाई, उनके लिए LIC ने लॉन्च किया नया प्लान : हर दिन महज 28 रुपए जमा करने पर आपको मिलेगा इतना फायदा, जानिए पूरी डिटेल

जिन लोगों की कम कमाई, उनके लिए LIC ने लॉन्च किया नया प्लान : हर दिन महज 28 रुपए जमा करने पर आपको मिलेगा इतना फायदा, जानिए पूरी डिटेल

India
न्यूज डेस्क। लाइफ कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (LIC) ने माइक्रोइंश्योरेंस प्लान 'LIC माइक्रो बचत' लॉन्च किया है। एलआईसी अधिकारियों के मुताबिक, यह प्रोटेक्शन और सेविंग का कॉम्बीनेशन है। यह प्लान आकस्मिक मौत होने पर फैमिली को फाइनेंशियल सपोर्ट देगा। साथ ही पॉलिसी के मैच्चोयर होने पर एकमुश्त राशि प्रदान करेगा। जानिए इस प्लान से जुड़ी पूरी डिटेल।मिनिमम कितने रुपए का प्लान लेना होगा?- मिनिमम बेसिक सम अश्योर्ड (न्यूनतम बीमित राशि) 50,000- मैक्सिमम बेसिक सम अश्येार्ड (अधिकतम बीमित राशि) 2,00,000कौन ले सकता है प्लान?- कोई भी शख्स जो शारीरिक तौर पर स्वस्थ्य हो, वह इसके लिए अप्लाई कर सकता है- प्लान लेने के लिए 18 साल की उम्र पूरी करना जरूरी- 55 साल से ज्यादा उम्र है तो नहीं कर सकते अप्लाई- 5 हजार के मल्टीपल में बीएसए अवेलेबल- किसी मेडिकल एग्जामिनेशन की जरूरत नहींकितने साल का होगा प

चीन को नहीं रोका गया तो एशियाई देशों के लिए बन जाएगा बड़ा खतरा, जानिए पूरा मामला

India
ताईवान के राष्‍ट्रपति ने सभी एशियाई देशों को आगाह किया है कि यदि चीन को नहीं रोका गया तो एशिया के दूसरे देश उसके निशाने पर आ जाएंगे। Jagran Hindi News - news:national
क्याें हाेता है पीठदर्द, कैसे करें बचाव, जानिए यहां

क्याें हाेता है पीठदर्द, कैसे करें बचाव, जानिए यहां

Health
रीढ़ की हड्डी शरीर के ऊपरी भाग को सहारा देने के लिए काफी मजबूत है लेकिन लगातार लंबे समय तक तनाव की वजह से पीठ से जुड़ी समस्याएं उभरकर सामने आने लगती हैं। लगातार कई घंटों तक काम करते रहना, तनावपूर्ण जीवनशैली व डेस्क जॉब से लगातार रीढ़ की हड्डी पर प्रेशर बढ़ता है जिससे ये जल्दी विकृत होने लगती है। इसके अलावा डाइट में कैल्शियम की कमी और धूम्रपान, शराब व सही मुद्रा में न बैठने व उठने से युवाओं में खासतौर पर रीढ़ की हड्डी से जुड़ी तकलीफें बढ़़ रही हैं। रीढ़ की हड्डी के विकारन्यूरो विशेषज्ञ के अनुसार रीढ़ की हड्डी का ढांचा 33 वर्टिब्रे के आपसी जुड़ाव के साथ स्पंजी डिसक से बना है जिसे इंटर वर्टिब्रल डिसक कहते हैं। इस इंटर वर्टिब्रल डिसक के अंदर जैली जैसा पदार्थ होता है। दूसरी मांसपेशियों के ऊत्तकों के मुकाबले ये डिसक बहुत जल्दी विकृत होकर टूटने लगती है और जैली जैसा पदार्थ बाहर आने लगता है इस स्थि
Stay healthy – किसी औषधि से कम नहीं गर्म पानी, जानिए फायदे

Stay healthy – किसी औषधि से कम नहीं गर्म पानी, जानिए फायदे

Health
अगर आप वजन घटाना चाहते हैं तो गर्म पानी पिएं। यह शरीर के तापमान में वृद्धि कर मेटाबोलिक रेट को बढ़ाता है। इसमें कैलोरी की मात्रा शून्य होती है जिससे भूख मिटती है और वजन नहीं बढ़ता। रसायन-मुक्ति :गर्म पानी पसीने और पेशाब के जरिए शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालता है। नींबू और शहद मिलाकर इसे स्वादिष्ट भी बनाया जा सकता है। सर्दी-जुकाम:गले में खराश या सर्दी-जुकाम की समस्या होने पर हल्का गुनगुना पानी पीना लाभकारी होता है। गर्म पानी की सिकाई से मांसपेशियों के दर्द में आराम होकर सूजन दूर होती है। ये भी रखें ध्यानशरीर में पानी की कमी होने से कब्ज होती है। रोजाना खाली पेट गर्म पानी पीने से फूड पार्टिकल्स टूट जाते हैं और आसानी से मल बाहर आ जाता है। पानी का प्रयोग करने से पहले इसे अच्छी तरह से उबाल लें और फिर गुनगुना होने पर ही प्रयोग करें वर्ना पानी की अशुद्धियां दूर नहीं हो पातीं। Patrika : I

PUBG Zombie Mode Update: जानिए वर्जन 0.11.0 में क्या है खास

Indian Technology
PUBG Mobile Zombies Mode Version 0.11.0: Tencent ने भारत में सबसे ज्यादा लोकप्रिय मोबाइल गेम पबजी मोबाइल PUBG का 0.11.0 वर्जन का अपडेट जारी कर दिया है। इसके अपडेट के बाद पबजी मोबाइल यूजर्स को जॉम्बी मोड मिल गया है। Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala
SPORT NEWS: 100 दिन दूर WORLD CUP 2019, जानिए क्यों है ‘विराट सेना’ में वर्ल्ड चैंपियन बनने का दम, पढ़ें क्रिकेट और अन्य खेलों से जुड़ी बड़ी खबरें

SPORT NEWS: 100 दिन दूर WORLD CUP 2019, जानिए क्यों है ‘विराट सेना’ में वर्ल्ड चैंपियन बनने का दम, पढ़ें क्रिकेट और अन्य खेलों से जुड़ी बड़ी खबरें

Indian Sports
इंग्लैंड और वेल्स की मेजबानी में इस साल 30 मई से शुरू होने वाला वनडे वर्ल्ड कप (ICC World Cup 2019) अब सिर्फ 100 दिन दूररह गया है। 2011 में विश्व चैंपियन बनने वाली भारतीय टीम को इस बार फिर खिताब का... Live Hindustan Rss feed

क्या टाइगर श्रॉफ और दिशा पाटनी ने कर ली है सगाई? जानिए क्या है सच्चाई

Entertainment
टाइगर श्रॉफ (Tiger Shroff) और दिशा पाटनी (Disha Patani) ने वैलेंटाइन डे (Valentines Day) के दिन सोशल मीडिया (Social Media) पर हाथ में डायमंड रिंग पहने फोटो शेयर की थी। जिसके बाद से यह कयास लगाए जा रहे थे कि दोनों ने सगाई कर ली हैं। लेकिन अब इसकी ... मनोरंजन
जानिए क्यों जमीन पर नहीं रखना चाहिए तांबे का लोटा

जानिए क्यों जमीन पर नहीं रखना चाहिए तांबे का लोटा

Health
आयुर्वेद में तांबे के लोटे में रखा पानी अमृत के समान माना गया है। जानते हैं इसके फायदों के बारे में। उपयोग : तांबा या कोई भी लोटा जिससे पानी पीना है उसे जमीन पर रखने की बजाय लकड़ी की मेज या पट्टे पर रखें क्योंकि गुरुत्वाकर्षण से तांबे में मौजूद गुणकारी तत्व पानी में अवशोषित नहीं हो पाते। तांबे के लोटे में रखे पानी को सर्दी और गर्मी दोनों मौसम में पी सकते हैं। लाभ : तांबे के लोटे में पानी रातभर रखें। सुबह कुल्ला करने के बाद खाली पेट पीने से कब्ज, एसिडिटी, गॉलब्लैडर की सिकुड़न, कुष्ठ, दाद, खुजली, एग्जिमा, हृदय, लिवर व किडनी रोगों में लाभ होता है। मात्रा व सावधानी -इस पानी को रोजाना एक गिलास या इससे अधिक मात्रा में पी सकते हैं।ध्यान रहे कि पानी को थोड़ा-थोड़ा कर पिएं वर्ना पेटदर्द भी हो सकता है। लोटे को रोजाना धोकर भरें। तांबे के गिलास या जग का भी प्रयोग किया जा सकता है। Patrika : India's Le
अगर आपका दिमाग ज्यादा उछलकूद करता है तो जानिए ‘माइंडफुलनेस मेडिटेशन’ के बारे में

अगर आपका दिमाग ज्यादा उछलकूद करता है तो जानिए ‘माइंडफुलनेस मेडिटेशन’ के बारे में

Health
अक्सर लोग काम या बातें याद नहीं रहने की शिकायत करते हैं। कुछ लोग हर समय मानसिक रूप से थकान भी महसूस करते हैं। दरअसल दिमाग शरीर के उन हिस्सों में शामिल है जो कभी आराम नहीं करता। सोते-जागते, हर समय दिमाग चलता ही रहता है। ऐसे में 'माइंडफुलनेस मेडिटेशन' ध्यान का वह तरीका है जिससे व्यक्ति अपने दिमाग को न केवल अधिक रचनात्मक एवं विचारों को स्पष्ट बना सकता है बल्कि बेचैन रहने वाले मस्तिष्क को भी आराम दे सकता है। चीन की प्राचीन योग पाठशालाओं से निकली यह विधि मानव-मस्तिष्क की क्षमताओं को कई गुना बढ़ाने के लिए इस्तेमाल की जाती है। दिमागी क्षमता बढ़ती - अमरीकी पत्रिका 'साइंटिफिक अमरीकन' में प्रकाशित न्यूरोसाइंस संबंधी एक ताजा शोध में उल्लेख किया गया है कि ध्यान (मेडिटेशन) की तकनीक से शरीर और दिमाग दोनों पर अच्छा प्रभाव पड़ता है। इससे मस्तिष्क को आराम मिलता है और इसकी क्षमता भी बढ़ती है। इसलिए ध्यान के