News That Matters

Tag: जान

जान बचाकर भागता रहा युवक, पीछा कर रहे बदमाशों ने अस्पताल में घुसकर किया हमला

जान बचाकर भागता रहा युवक, पीछा कर रहे बदमाशों ने अस्पताल में घुसकर किया हमला

Punjabi Politics
मोगा. मोगा में पुरानी रंजिश के चलते दो गुटों में टकराव का मामला सामने आया है। कुछ बदमाशों ने एक युवक को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा गया, युवक जान बचाने के लिए निजी अस्पताल में घुसा तो हमलावर पीछा करते हुए अस्पताल में जा घुसे। अस्पताल के मुलाजिमों द्वारा हमलावरों को रोकने पर युवक की जान बची। इस घटना के संबंध में पुलिस ने 9 लोगों के खिलाफ कातिलाना हमले का केस दर्ज किया है, वहीं इसकी एक सीसीटीवी फुटेज भी सामने आई है।एएसआई कुलवंत सिंह के मुताबिक मोगा की इंदिरा काॅलोनी निवासी सिधांत चावरिया ने पुलिस को दिए बयान में कहा कि उसका एक ग्रुप के साथ पुराना विवाद चला आ रहा था। उसी विवाद के चलते मंगलवार को युवक किसी जरूरी काम से रेलवे रोड पर जा रहा था, लेकिन जिन युवकों से उसकी दुश्मनी थी। उन युवकों ने रोककर उस पर हमला कर दिया। वह अपनी जान बचाने के लिए रेलवे रोड स्थित एक निजी अस्पताल में जा घु
6 माह में दो बार रेजीडेंट एसो. ने तुड़वाए थे छत्ते, फिर किसी ने नहीं संभाला, बच्चे ने पत्थर मारा तो बिफरी मक्खियों ने ली एक जान

6 माह में दो बार रेजीडेंट एसो. ने तुड़वाए थे छत्ते, फिर किसी ने नहीं संभाला, बच्चे ने पत्थर मारा तो बिफरी मक्खियों ने ली एक जान

Haryana
डीएलएफ कॉलोनी के पार्क में हनी बी के अटैक में एक बुजुर्ग 65 वर्षीय नरेंद्र ईश्पुनियानी की जान चली गई। 11 लोगों को पीजीआई में दाखिल होना पड़ा। दरअसल डीएलएफ पार्क में मधुमक्खियों ने करीब एक साल से पेड़ों पर डेरा डाल रखा है। करीब छह महीने में रेजीडेंट वेलफेयर एसोसिएशन और स्थानीय लोग अपने स्तर पर दो बार मधुमक्खियों के छत्तों को तुड़वा चुके हैं। एसो. ने तो एक शहद बेचने वाले को 500 रुपए देकर इन छत्तों को तुड़वाया था। लेकिन पार्क की हरियाली से हर बार पहाड़ी मधुमक्खियों ने दाेबारा अपना डेरा बना लिया। इस पर जिम्मेदारों ने ध्यान देना भी बंद कर दिया और रविवार को एक जिंदगी को इस लापरवाही का खामियाजा भुगतना पड़ा। रविवार को छुट्टी के चलते पार्क में दोपहर को खासी भीड़ थी। अमूमन इस पार्क में रोजाना दिन में भी लोग जुटते हैं। बुजुर्गों की कई टोलियां यहां पर दिनभर ताश खेलती हैं। रविवार को

UP Board 2019: परिणाम से पहले जान लें यह जरूरी बात, कॉपी चेक से संबंधित खबर

Indian Education
उत्तर प्रदेश मध्यम शिक्षा परिषद, यूपीएमएसपी, यूपी बोर्ड 10वीं और 12वीं परीक्षा 2019 के लिए मूल्यांकन प्रक्रिया के खत्म होने का इंतजार कर रही हैं। Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala
किसान ने की खुदकुशी, बेटे का आरोप-विरोधियों की धमकी से तंग आकर दी जान

किसान ने की खुदकुशी, बेटे का आरोप-विरोधियों की धमकी से तंग आकर दी जान

Punjab
अपने हिस्से की जमीन की अदालत में पैरवी कर रहे किसान ने विरोधियों की कथित धमकियों से तंग आकर फंदा लगा आत्महत्या कर ली। मृतक के बेटे का आरोप है कि उनके रिश्तेदारों ने उनके हिस्से की जमीन पर जबरदस्ती कब्जा कर रखा था। पिता जब भी अदालत में पैरवी के लिए जाते तो आरोपी उसे जान से मारने की धमकियां देते थे। पुलिस ने आरोपियों का साथ देने वाले सरपंच सहित चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। गांव कणकवाल भंगूआ निवासी यादविंदर सिंह उर्फ गग्गू ने बताया कि वह चार भाई-बहन हैं। पिता नायब सिंह के पास डेढ़ एकड़ जमीन थी। परिवार की आर्थिक हालत ठीक न होने के कारण पिता ने जमीन बेच दी। इसके बाद बड़ी बहन रमनदीप कौर की शादी कर दी थी व बाकी भाई-बहन अभी अविवाहित हैं। पिता मेहनत मजदूरी कर परिवार का पालन पोषण करते थे। उसकी रिश्तेदारी में चाचा लगते सुखदेव सिंह के नाम पर करीब 28 एकड़ जम
सुताना गांव में व्यक्ति ने फांसी लगाकर जान दी

सुताना गांव में व्यक्ति ने फांसी लगाकर जान दी

Haryana
थर्मल | गांव सुताना निवासी 42 वर्षीय सुरेश पुत्र सूरजभान ने फांसी लगाकर जान दे दी। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया। परिजनों ने बताया कि सुरेश शराब पीने का आदि था। उसके दो बच्चे हैं और दोनों की शादी हाे चुकी है। वह दोपहर के समय घर आया और गाटर से कपड़ा बांधकर फांसी लगा ली। जब प|ी निर्मला घर आई तो फंदे पर लटका देखकर शोर मचा दिया। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar
मंगेतर से फोन पर बात करते-करते युवक ने की खुदकुशी; मरने से पहले आखिरी बार ‘बाय’ कहकर दे दी जान, बिलखते हुए भाई बोला- वो दवाई लेने की बात कहकर घर से निकला था

मंगेतर से फोन पर बात करते-करते युवक ने की खुदकुशी; मरने से पहले आखिरी बार ‘बाय’ कहकर दे दी जान, बिलखते हुए भाई बोला- वो दवाई लेने की बात कहकर घर से निकला था

Haryana
यमुनानगर (हरियाणा)। रेलवे कॉलोनी निवासी मनोज ने बाड़ी माजरा पुल से नहर में छलांग लगा दी। जब उसने छलांग लगाई तो वह मोबाइल पर बात कर रहा था। फोन पर बात करते हुए उसने कहा कि बाय-बाय, मैं नहर में छलांग लगा रहा हूं। इसके बाद उसने अपनी बाइक पुल पर ही खड़ी की और मोबाइल बाइक पर रखकर छलांग लगा दी। मनोज ने आखिरी फोन अपनी मंगेतर को ही किया था। यह घटना शुक्रवार शाम करीब साढ़े सात बजे की है। शनिवार शाम तक मनोज का पता नहीं चल पाया था।एसएचओ ने रात को ही गोताखोरों पर फोन किया, जवाब मिला कि वे नहीं आ सकते। उन्हें तो नौकरी से निकाल दिया गया है। वहीं डीसी कैंप ऑफिस से और डीएसपी तक ने उन्हें कॉल किया, लेकिन उन्होंने इस मामले में हेल्प करने से हाथ खड़े कर दिए। शनिवार शाम तक कोई सर्च ऑपरेशन नहीं चल पाया। परिवार के लोग नहर किनारे बैठे रहे और पुलिस एक-दो बार जाकर दोबारा वहां पर नहीं गई। मनोज क
एक करोड़ की उधार वसूली के लिए भीलवाड़ा के बिल्डर का अपहरण, जान से मारने की धमकी

एक करोड़ की उधार वसूली के लिए भीलवाड़ा के बिल्डर का अपहरण, जान से मारने की धमकी

Rajasthan
भीलवाड़ा.भीलवाड़ा में एक करोड़ रुपए की उधारी वसूली के लिए बिल्डर का अपहरण करने और दो दिन में पैसे नहीं चुकाने पर जान से मारने की धमकी देने का मामला सामने आया है। पथिक नगर की श्रीनाथ रेजिडेंसी में रहने वाले शिवदत्त शर्मा (42) की पत्नी शर्मिला की रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने मामला दर्ज कर करीब एक दर्जन व्यवसायियों से पूछताछ की।मोबाइल कॉल डिटेल भी खंगाली जा रही है। बिल्डर का देर रात तक सुराग नहीं मिल पाया। उनकी कार सुखाड़िया सर्किल से रिंग रोड की तरफ रास्ते पर मिली। अपहरण करने वालों ने बिल्डर के मोबाइल से ही उनकी पत्नी के मोबाइल पर दो दिन में रुपए नहीं चुकाने पर पति को मार देने का मैसेज भेजा है। बिल्डर शिवदत्त हाइपर टेक्नो कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड कंस्ट्रक्शन कंपनी चलाते हैं।वे शुक्रवार शाम अपने घर से परिचित राजेश त्रिपाठी से मिलने गए थे, लेकिन लौटे नहीं। पत्नी शर्मिला

Movie Review: कमजोर कहानी में जान डालती रणबीर-अनुष्का की केमिस्ट्री

Entertainment
(फिल्म के पोस्टर में अनुष्का शर्मा और रणबीर कपूर)'बॉम्बे वेलवेट' के जरिए एक बार फिर वे एक नई सोच के साथ ऑडियंस के बीच आए हैं। फिल्म की कहानी इतिहासकार ज्ञान प्रकाश की पुस्तक 'मुंबई फेबल्स' से प्रेरित है।क्या है कहानीकहानी शुरू होती है भारत-पाक विभाजन के दो साल बाद यानी 1949 से। बंटवारे का दर्द झेलते हुए जॉनी बलराज (रणबीर कपूर) बचपन में ही अपनी मां के साथ बॉम्बे आ आता है। वह गरीबी में जीता है, लेकिन उसका एक ही सपना होता है 'बिग शॉट' यानी बड़ा आदमी बनने का। जैसे-जैसे जॉनी बड़ा होता है, उसका यह सपना भी बड़ा होता जाता है। इस बीच उसकी मुलाकात होती है मीडिया मुगल कैजाद खंबाटा (करन जौहर) से, जो उसे अपने क्लब 'बॉम्बे वेलवेट' का मैनेजर बना देता है। जॉनी को क्लब में काम के साथ-साथ प्यार भी मिल जाता है। दरअसल, वह यहां की जैज सिंगर रोजी (अनुष्का शर्मा)
जमीन के विवाद में मामा ने ली भांजे की जान, खेत में जाते ही किया हमला

जमीन के विवाद में मामा ने ली भांजे की जान, खेत में जाते ही किया हमला

Rajasthan
रायसिंहनगरर (श्री गंगानगर)। रायसिंहनग पुलिस थाना के गांव सतजण्डा में शनिवार शाम को जमीन के विवाद में मामा ने अपने भांजे को बुरी तरह मारपीट कर हत्या कर दी। मारपीट में उसकी पत्नी को भी चोंटें आई हैं जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है।मिली जानकारी के अनुसार हरिराम पुत्र ओमाराम बावरी निवासी घड़साना हाल निवासी सतजंडा अपनी पत्नी सुगना देवी के साथ शनिवार को खेत में घास लेने के लिए गया था। पहले से घात लगाए उसके मामा टिकु राम व उसके पुत्रों तथा महिलाओं ने लाठियों-कुल्हाड़ी से दंपती पर हमला कर दिया। हथियारों के वार से हरिराम के हाथ-पैर टूट गए।घटना की जानकारी उसके पुत्र शिवकुमार को मिली तो उसने 108 को फोन किया। वह घायलों को लेकर अस्पताल पहुंचा जहां चिकित्सकों ने हरीराम को मृत घोषित कर दिया। मृतक के पुत्र शिव कुमार ने बताया कि उसके पिता के नाना की 66 बीघा जमीन है जिसका विवाद चल रह
बेटे के वियोग में पिता ने जान दी

बेटे के वियोग में पिता ने जान दी

Haryana
बेटे के वियोग में पिता ने जान दी हिसार| पेटवाड़ के 68 वर्षीय थंब राम ने महाबीर काॅलोनी डबल फाटक के पास ट्रेन के आगे कूदकर जान दे दी। पुलिस ने मामले में इत्फाकिया कार्रवाई करते हुए शव का सिविल अस्पताल में पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया। रेलवे पुलिस के अनुसार थंब राम के बेटे की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई थी। तभी से वह मानसिक रूप से परेशान रहने लगा था। पुत्र के वियोग में वह घर से बाहर निकल गया था, जिसने महाबीर काॅलोनी डबल फाटक के पास ट्रेन के आगे कूदकर जान दे दी। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar