News That Matters

Tag: ज्यादा

World Cup 2019: अब तक इस टीम ने छोड़े हैं सबसे ज्यादा कैच, जानिए टीम इंडिया का प्रदर्शन

Indian Sports
Dropped Catches in World Cup 2019 टीम इंडिया की इस वर्ल्ड कप में शानदार फील्डिंग जारी है। यही वजह है कि इस विश्व कप में अभी तक सिर्फ एक कैच छोड़ा है। Jagran Hindi News - cricket:headlines
बेसन के 14 रु. ज्यादा वसूले तो विशाल मेगा मार्ट पर 6 हजार रुपए का हर्जाना

बेसन के 14 रु. ज्यादा वसूले तो विशाल मेगा मार्ट पर 6 हजार रुपए का हर्जाना

Rajasthan
जयपुर.जिला उपभोक्ता मंच-तृतीय ने बेसन पैकेटों पर अंकित मूल्य से 14 रुपए ज्यादा वसूलने पर विशाल मेगा मार्ट, सीकर रोड पर 6 हजार रुपए का हर्जाना लगाया है। साथ ही ज्यादा वसूली राशि 14 रुपए को 19 अप्रैल 17 से 9 प्रतिशत वार्षिक साधारण ब्याज सहित देने का निर्देश दिया है। मंच के अध्यक्ष केदार लाल गुप्ता और सदस्य भावना भाटी ने यह आदेश कबीर मार्ग निवासी आशीष खंडेलवाल के परिवाद पर दिया। मंच ने कहा कि आदेश का पालन एक महीने के अंदर हो।यह है मामला... 110 की जगह 124 में दिए दो पैकेटअधिवक्ता भारत गुप्ता ने बताया कि परिवादी ने 5 सितंबर 2016 को विशाल मेगा मार्ट से आधा-आधा किलो के बेसन के दो पैकेट 124 रु. में खरीदे थे। जबकि पैकेटों पर बेसन का मूल्य 55 रु. था। दोनों पैकेटों पर परिवादी से 14 रु. ज्यादा वसूले। परिवादी ने ज्यादा वसूले रु. मांगे तो वापस नहीं लौटाए गए। इसे परिवादी ने चुनौती दी
बारिश के दौरान हादसों में 17 की मौत, 11 घायल; हरदोई में सबसे ज्यादा नुकसान

बारिश के दौरान हादसों में 17 की मौत, 11 घायल; हरदोई में सबसे ज्यादा नुकसान

India
लखनऊ. बीते 24 घंटे से उत्तर प्रदेश में बारिश के दौरान हुएअलग-अलग हादसों में 17लोगों की मौत हो गई। 11 से ज्यादा घायल हैं। हरदोई में सबसे अधिक तीन लोगों कीमौत हुई,11 घायल हुए। मौसम विभाग के मुताबिक, अगले 48 घंटों में मानसून के पूरे उत्तर प्रदेश में पहुंचने का अनुमान है।ये भी पढ़ेंबारिश के बाद लोगों को गर्मी से मिली राहत, प्रदेश में कई जगह आंधी आने की संभावनादिनभर होती रही बारिशरविवार को पूरे दिन प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों मेंबारिश हुई। सोमवार को भी यही क्रम जारी रहा।कई इलाकों में आकाशीय बिजली भीगिरी। अधिकांश की मौत इसकी चपेट में आकर हुईं।शाहजहांपुर, अमेठी, सीतापुर, गाजीपुर, जालौन और बलरामपुर में दो-दो, फतेहपुर, बदायूं व गोंडा में एक-एक की मौत हुईं। बलरामपुर में पूर्व ग्राम प्रधान समेत दो की मौत बाढ़ के पानी में डूबकर हुईं।इस दौरान 11 लोग आकाशीय बिजली की चपेट में आकर झुलसे।
विदेशों में भारतीयों का 9 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा का कालाधन जमा

विदेशों में भारतीयों का 9 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा का कालाधन जमा

India
नई दिल्ली. संसदीय समिति द्वारा सोमवार कोपेश की गई रिपोर्ट के मुताबिक1980 से 2010 के बीच भारतीयों ने विदेशों में 9 से 18 लाख करोड़ रुपए के बीच बेहिसाबी संपत्ति जमा करवाई।यह आंकड़ा एनआईपीएफपी, एनसीएईआर और एनआईएफएम जैसे संस्थानों के अध्ययन के बाद की गई रिपोर्ट मेंसामने आया। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें Indians wealth | Estimated wealth of Indians in abroad 941336 crore's, According to NIPFP, NCAER and NIFM Dainik Bhaskar
भारत की फील्डिंग सबसे चुस्त, पाकिस्तान ने छोड़े सबसे ज्यादा 14 कैच

भारत की फील्डिंग सबसे चुस्त, पाकिस्तान ने छोड़े सबसे ज्यादा 14 कैच

Indian Sports
खेल डेस्क. वर्ल्ड कप में रविवार तक कुल 30 मैच खेले गए। इसमें भारत की फील्डिंग काफी चुस्त दिखी। आंकड़े बताते हैं कि अब तक भारत ने सिर्फ एक कैच छोड़ा है। वहीं पाकिस्तान की फील्डिंग सबसे खराब रही। 10 टीमों में से पाकिस्तान ने सबसे ज्यादा 14 कैच छोड़े हैं।30 मैचमें किस टीम ने कितने कैच छोड़ेकैच छोड़ने वाली टीमों में पहला नाम पाकिस्तान का है। 30 मैचमें पाकिस्तान ने 26 कैच लिए, जबकि 14 कैच छोड़े।इंग्लैंड ने 42 कैच लिए और 10 कैच छोड़े।साउथ अफ्रीका ने 31 कैच लिए और 7 कैच छोड़े।न्यूजीलैंड ने 33 कैच लिए और 6 कैच छोड़े।ऑस्ट्रेलिया ने 35 कैच लिए और 6 कैच छोड़े।श्रीलंका ने 15 कैच लिए और 2 कैच छोड़े।बांग्लादेश ने 24 कैच लिए और 3 कैच छोड़े।अफगानिस्तान ने 18 कैच लिए और 2 कैच छोड़े।वेस्टइंडीज ने 27 कैच लिए और 3 छोड़े। भारत ने सबसे कम सिर्फ 1 कैच छोड़ा और 15 कैच पकड़े। टीम कैच क
फर्जी रेलवे ई-टिकट बेचकर देशभर में पांच सौ से ज्यादा लोगों को ठगने वाला शातिर गिरफ्तार

फर्जी रेलवे ई-टिकट बेचकर देशभर में पांच सौ से ज्यादा लोगों को ठगने वाला शातिर गिरफ्तार

Rajasthan
अजमेर | फर्जी रेल टिकट बेच कर यात्रियों से धोखाधड़ी करने वाले शातिर ठग को जीआरपी थाना पुलिस दल ने गिरफ्तार किया है। आरोपी पश्चिम बंगाल का रहने वाला है और देश भर में रेलवे स्टेशनों पर रिजर्वेशन काउंटर पर शिकार फांसता था। वह यात्रियों को कनफर्म रिजर्वेशन ई टिकट देने का झांसा देकर उन्हें मोबाइल फोन से फर्जी टिकट बनाकर देता था और उनसे रुपए लेकर चंपत हो जाता था।ठगी के शिकार यात्री जब टिकट लेकर ट्रेन में सीट पर बैठने जाते तो पता चलता था कि वह सीट तो पहले से ही आवंटित है। इससे उन्हें फर्जी टिकट की जानकारी मिलती, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी होती थी। शातिर ठग वारदात करने के बाद शहर छोड़ देता था। इतना ही नहीं आरोपी ने फर्जी हवाई यात्रा टिकट भी बनाकर लोगों से रुपए हड़पे हैं। ठगी की राशि से आरोपी लग्जरी कार में घूमता था और बड़ी होटलों में ठहरता था। जीआरपी थाना प्रभारी रामअवतार चौध

यह है आज का सबसे ज्यादा चटखारेदार चुटकुला : दाएं गाल पर होठों के पास तिल

Entertainment
पति हाथ पांव छिलवाकर और एक आंख सुजवाकर घर आया। पत्नी ने घबराकर पति से पूछा- क्या हुआ? पति- कुछ नहीं, एक औरत स्कूटी से टक्कर मारकर निकल गई। पत्नी- तो स्कूटी का नंबर नोट किया? कौन थी? कुछ तो याद होगा? पति- नहीं, दर्द के कारण स्कूटी का रंग ... मनोरंजन
पंडाल कमजोर फाउंडेशन पर खड़ा था; बवंडर से 20 फीट ऊपर तक उड़ा, गिरा तो ज्यादा नुकसान हुआ

पंडाल कमजोर फाउंडेशन पर खड़ा था; बवंडर से 20 फीट ऊपर तक उड़ा, गिरा तो ज्यादा नुकसान हुआ

Rajasthan
बालोतरा (राजस्थान).बाड़मेर जिले के बालोतरा इलाके के जसोल गांव मेंरविवार कोरामकथा हादसा में मरने वालों की तादाद 14 हो गई है। वहीं, 70 लोग जख्मी हो गए। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, बवंडर से रामकथा का पंडाल (डोम) 20 फीट ऊपर तक उड़ गया, फिर नीचे गिरा। इसके बाद लोहे के पाइप में करंट दौड़ गया, जिससे सबसे ज्यादा नुकसान हुआ। उस वक्त हवा की रफतार 80 से 100 किमी प्रति घंटा थी। करीब डेढ़ मिनट में ही पूरा पंडाल तहस-नहस हो गया। किसी को संभलने का मौका ही नहीं मिला।लोगों का आरोप है कि पंडाल का फाउंडेशन बेहद कमजोर था। वह सिर्फ दो फीट के फाउंडेशन पर खड़ा था। रामकथा के दौरान करीब 700 से 800 लोग पंडाल में मौजूद थे। बवंडर के बाद जैसे ही पंडाल नीचे गिरा तो लोहे के एंगल श्रद्धालुओं पर गिर पड़े। इससे लोगों के सिर, पैर और पेट में गंभीर चोटें आई। बताया जा रहा कि दो लोगों की लोहे का एंगल लगने से मौत
परफेक्शन पर ज्यादा जोर देने से शारीरिक, मानसिक नुकसान

परफेक्शन पर ज्यादा जोर देने से शारीरिक, मानसिक नुकसान

Punjabi Politics
कई युवा विश्वास करते हैं कि कड़ी मेहनत के जरिये वे अपनी जीवन की स्थितियों पर नियंत्रण कर सकते हैं। यह अजेय रहने जैसी मानसिकता है। मैंने कई स्टूडेंट में नोटिस किया कि जीतने और कामयाब होने पर वे शक्तिशाली और स्मार्ट महसूस करते हैं। लेकिन, जब वांछित सफलता नहीं मिलती है तब टूट जाते हैं। हम अक्सर एेसे युवाओं की बात करते हैं जिन्हें माता-पिता के ज्यादा लाड़-प्यार के कारण विफलता का सामना करने में कठिनाई होती है। लेकिन, अति खास युवाओं के बीच एक गलत धारणा भी बनती है। उन्हें बताया जाता है कि वे अगर काम करने की इच्छा दिखाएं तो कुछ भी पा सकते हैं। मनोवैज्ञानिकों ने इस सिद्धांत के आधार पर माइंड सैट रिसर्च की। इसमें पाया गया कि बच्चों के प्रयासों की तारीफ करने से शैक्षणिक प्रदर्शन सुधरता है। स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के मनोवैज्ञानिक केरोल ड्वेक द्वारा तैयार माइंड सैट एजुकेशन दुनियाभर में