News That Matters

Tag: तनाव

दिल की सेहत के लिए खाएं चुकंदर, तनाव कम करके घटाएं मोटापा

दिल की सेहत के लिए खाएं चुकंदर, तनाव कम करके घटाएं मोटापा

Health
आमतौर पर चुकंदर को हीमोग्लोबीन का स्तर सुधारने और खून की कमी को दूर करने वाला माना जाता है। लेकिन हालिया शोध रिपोर्ट में इसे दिल की सेहत का रक्षक बताया गया है। अमरीकी वेक फोरेस्ट यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों के अनुसार चुकंदर का रस दिल के दौरे और हाई ब्लड प्रेशर से ग्रसित लोगों के लिए औषधि का काम करता है। इसके रस में नाइट्रेट रसायन होता है जो रक्त के दबाव को कम कर दिमाग तक उसके प्रवाह को बढ़ाता है। चुकंदर का रस व्यायाम के दौरान ब्लड प्रेशर को स्थिर रखता है। तनाव कम करके घटाएं मोटापा - एक नई रिसर्च में दावा किया गया है कि तनाव को कम करके भी वजन घटाया जा सकता है। अमरीका में हुई इस रिसर्च के अनुसार जिन महिलाओं ने तनाव को खुद से दूर रखा, उन्हें बढ़ा हुआ पेट घटाने में कम मशक्कत करनी पड़ी। तनाव कम करने के लिए जरूरी है कि आप पॉजिटिव सोच रखेंं, खुद को किसी न किसी काम में व्यस्त रखें। घर या दफ्तर की क
एक-दूसरे से आगे बढ़ने की होड़ में बढ़ रहा तनाव

एक-दूसरे से आगे बढ़ने की होड़ में बढ़ रहा तनाव

Punjab
आज के समय में हर व्यक्ति एक दूसरे से आगे बढ़ना चाहता है, यही होड़ तनाव का मुख्य कारण है। दूसरा कारण हमारी जीवन शैली में बदलाव है। इस तनाव को कम करने के लिए सकारात्मक सोच अपनाने की जरूरत है। खालसा कालेज आॅफ एजुकेशन जीटी रोड में तनाव, प्रबंधन व सकारात्मक सोच पर कराए एक्सटेंशन लेक्चर के दौरान जीएनडीयू के साइकोलोजी विभाग हेड डॉ. दविंदर सिंह जौहल ने उक्त बातें कहीं। वह प्रोग्राम में मुख्यातिथि थे। प्रिं. डॉ. हरप्रीत कौर ने कहा कि दूसरों से बढ़िया व्यवहार करके, खेलों में भाग लेकर, ईश्वर को यादकर तनाव कम कर अच्छी सोच को अपनाया जा सकता है। इस मौके पर प्रो. राजविंदर कौर, डॉ. मनिंदर कौर, डॉ. दीपिका कोहली, डॉ. पूनमप्रीत आिद मौजूद थे। प्रिंसिपल डाॅ. हरप्रीत कौर, स्टाफ और विद्यार्थी। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Amritsar
अमेरिका-चीन तनाव से 3.5% बढ़ेगा भारत का निर्यात: यूएन रिपोर्ट

अमेरिका-चीन तनाव से 3.5% बढ़ेगा भारत का निर्यात: यूएन रिपोर्ट

Delhi
अमेरिका और चीन के बीच चल व्यापारिक तनाव से भारत का दोनों देशों के बाजारों में निर्यात बढ़ सकता है। सोमवार को यूएन कॉन्फ्रेंस आॉन ट्रेड एंड डेवलेपमेंट (यीएनसीटीएडी) द्वारा जारी रिपोर्ट मे यह बात कही गई है। “द ट्रेड वार्स: द पेन एंड द गेन’ रिपोर्ट में कहा गया है कि इस ट्रेड वार की मदद से भारत का निर्यात 3.5% तक बढ़ सकता है। सबसे ज्यादा लाभ यूरोपियन यूनियन को होगा। इसके व्यापार में 5 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा कि बढ़त संभव है। 1 मार्च 2019 तक अगर अमेरिका और चीन के बीच समझौता नहीं हो पाता है तो अमेरिका चीन के 20 लाख करोड़ रुपए के सामान पर शुल्क 10% से बढ़ाकर 25% कर देगा। अगर ऐसा होता है तो मेक्सिको, भारत, कनाडा, जापान, फिलिपींस, वियतनाम, ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान जैसे देशों को उनके आकार के अनुपात में लाभ हो सकता है। यानी एक देश का नुकसान कई अन्य देशों के लिए लाभ का अवसर बन सकता है।
प्रतापगढ़ में देर रात बाइक की रफ्तार पर दो पक्षों में विवाद के बाद तनाव के हालात, जाप्ता तैनात

प्रतापगढ़ में देर रात बाइक की रफ्तार पर दो पक्षों में विवाद के बाद तनाव के हालात, जाप्ता तैनात

Rajasthan
प्रतापगढ़. शहर के धोबी चौक में सोमवार रात 9 बजे मोटरसाइकिल की स्पीड कम करने की बात पर दो पक्षों में मारपीट के बाद शहर में माहौल गरमा गया। मामले में घायल तीन युवकों को जिला अस्पताल ले जाया गया। तनाव की स्थिति को देखते हुए धोबी चौक में हथुनिया, देवगढ़ तथा धमोत्तर पुलिस थानों का जाप्ता तैनात कर दिया है। पुलिस के अधिकारी मौके पर पहुंचे और देर रात तक दोनों पक्षों में समझाइश करते रहे।शहर के धोबी चौक में मोटरसाइकिल की स्पीड कम करने की बात पर दो पक्षों में विवाद के बाद मारपीट हो गई। विवाद में मुस्तफा मंजूर हुसैन (16), मोहम्मद पुत्र आबिद मंसूरी (17), रफीक (17) पुत्र जाकिर हुसैन घायल हो गए। तीनों को रात साढ़े ग्यारह बजे के बाद उदयपुर रेफर कर दिया। स्थिति बिगड़ती देख एसपी अनिलकुमार, वृत्त निरीक्षक गोपाल लाल चंदेल सहित पुलिस का भारी संख्या में जाप्ता मौके पर पहुंचा। शहर के बावड़ी मोह
वजन बढ़ना, तनाव, कब्ज और बाल झड़ने जैसी समस्याओं के लिए कारगर है ये उपाय

वजन बढ़ना, तनाव, कब्ज और बाल झड़ने जैसी समस्याओं के लिए कारगर है ये उपाय

Health
खराब जीवनशैली, तनाव, इम्यूनिटी कम होना और दवाओं से होने वाले संक्रमण से अक्सर लोगों को हाइपोथायरॉयडिज्म की समस्या हो जाती है। इसमें थायरॉइड ग्रंथि सामान्य से कम मात्रा में हार्मोंस स्रावित करती है। लक्षण : इसमें व्यक्ति का वजन बढऩे लगता है और उसे तनाव, कब्ज, ठंड लगना व बाल झडऩे जैसी दिक्कतें होने लगती हैं। इस रोग के लिए यूनानी पद्धति में तीन तरह से इलाज किया जाता है। डाइटोथैरेपी : मरीज को सोया व दूध से बनी चीजों से परहेज करवाया जाता है। संतुलित आहार के साथ-साथ उन्हें नाशपाती, सेब और आयोडीन युक्त नमक सही मात्रा में लेना होता है। अन्य उपचार - कपिंग थैरेपी : गले के आसपास के खास बिंदुओं पर महीने में दो बार कपिंग थैरेपी की जाती है।फारमाकोथैरेपी : थायरॉइड ग्रंथि की मजबूती के लिए इस थैरेपी में पीपल, दालचीनी, कलौंजी, काली मिर्च और अलसी का पाउडर या चटनी जैसी यूनानी हर्बल दवाएं 2-3 माह लेनी होती है।
महिलाओं में चेहरे पर मुंहासों और बाल बढ़ा देते हैं तनाव

महिलाओं में चेहरे पर मुंहासों और बाल बढ़ा देते हैं तनाव

Health
महिलाओं के चेहरे पर मुंहासे और बाल वर्तमान में एक आम समस्या बन गए हैं। इनके कारण महिलाओं में  समाज में शर्म की स्थिति झेलने के साथ-साथ भावनात्मक तनाव और अवसाद की चपेट में आने का खतरा रहता है। इस... Live Hindustan Rss feed
Health tips in hindi – बार-बार घड़ी देखने से बचें, तनाव दूर होगा

Health tips in hindi – बार-बार घड़ी देखने से बचें, तनाव दूर होगा

Health
आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में तनाव एक आम समस्या हो चली है, जिसका का असर हमारे पूरे स्वास्थ पर पड़ता है।तनाव दूर करने के लिए आजमाएं ये उपाय : बार-बार घड़ी न देखेंबार-बार घड़ी देखकर समय समय का पाबंद बनना ठीक नहीं, इससे तनाव हो सकता है। बेहतर होगा कि आप समय तालिका बनाकर योजनाबद्ध तरीके से काम करें। 15 मिनट का शून्य काल दिनभर में कम से कम 15 मिनट शून्य काल के लिए निकालें। इस समय कुछ भी न करें, चुपचाप बैठे रहें। दिमाग को शांति मिलेगी। विचारों को महत्व दें दिनभर की खास बातों के साथ ताजा घटनाक्रम पर अपने विचार लिखें। खुद की किसी यात्रा के अनुभव व कविताएं भी लिख सकते हैं। छुट्टी के दिन परिवार के सदस्यों के लिए व्यंजन बनाएं, बच्चों के प्रोजेक्ट बनाने में मदद करें या बागवानी को समय दें। संतुष्ट होना सीखेंकिसी काम को 100% परफेक्ट करने की चाह आपको तनाव दे सकती है। बेहतरीन कोशिश करें और अच्छे नतीजों से
जरूरत से ज्यादा सोचना सेहत के लिए नुकसानदेह, तनाव किसी भी समस्या का हल नहीं

जरूरत से ज्यादा सोचना सेहत के लिए नुकसानदेह, तनाव किसी भी समस्या का हल नहीं

Health
आधुनिकता के इस दौर में हम सभी एक-दूसरे से आगे निकलने की होड़ में लगे हुए हैं। कैसे आगे निकला जाए, ऐसी बातें सोच-सोचकर हम खुद को ही बीमार बना रहे हैं। घर-परिवार, नौकरी या किसी भी मुद्दे पर जरूरत से... Live Hindustan Rss feed
Stay Healthy – मेनोपॉज का तनाव दूर भगाएं, ये खास टिप्स अपनाएं

Stay Healthy – मेनोपॉज का तनाव दूर भगाएं, ये खास टिप्स अपनाएं

Health
हर महिला को उम्र की ढलान पर मेनोपॉज का सामना करना पड़ता है। इस दौरान महिलाओं के शरीर में एस्ट्रोजन व प्रोजेस्ट्रॉन हार्मोन का स्तर कम हो जाता है जिससे कई बार वे तनाव का शिकार हो जाती हैं और उन्हें बात-बात पर गुस्सा आता है। थकान, मोटापा, सिरदर्द, बदनदर्द और बालों का झडऩा जैसी समस्याएं होने लगती हैं। इनसे बचने के लिए जरूरी है कि महिलाएं सही खानपान व व्यायाम अपनाएं। यह है मेनोपॉजस्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. प्रीति अरोड़ा के अनुसार यह महिलाओं के शरीर में होने वाली एक ऐसी प्रक्रिया है जो 45-55 साल की उम्र के बीच होती है। इसमें महिलाओं को पीरियड्स होने बंद हो जाते हैं और उनकी प्रजनन क्षमता खत्म हो जाती है। खानपान में बदलावकैल्शियम से भरपूर डाइट लें जैसे दूध, दही, ब्रोकली, सेम, गाजर, शकरकंदी और अंजीर आदि। इनसे हड्डियां मजबूत रहती हैं और आगे चलकर जोड़ों के दर्द की समस्या नहीं होती। मौसमी फल खाएं। फाइबर
Fitness samachar – ना खाएं बासी खाना, ना लें तनाव, नहीं ताे हाेगा पेट खराब

Fitness samachar – ना खाएं बासी खाना, ना लें तनाव, नहीं ताे हाेगा पेट खराब

Health
खानपान में लापरवाही और तनाव जैसे कई कारणों से एसिडिटी हो सकती है। एसिडिटी में व्यक्ति दिनभर असहज महसूस करता है, शरीर सुस्त रहता है और किसी काम में मन नहीं लगता इसलिए इसे खुद पर हावी ना होने दें। बासी खाना ना खाएंब्रिटिश डाइटेटिक एसोसिएशन की पूर्व प्रमुख डाइटीशियन लुसी डेनियल के अनुसार जो लोग अक्सर बाहर भोजन करना पसंद करते हैं, उन्हें यह समस्या अधिक होती है। आमतौर पर रेस्तरां में पास्ता, चावल या आलू उबालकर रख लिया जाता है और ग्राहकों को बार-बार वही गर्म करके सर्व किया जाता है। स्टार्चयुक्त चीजों को अगर बार-बार गर्म किया जाए तो उसके अणुओं की संरचना बदलने लगती है। ऐसे में जब हम इन्हें खाते हैं तो गैस बनती है। घर में भी बासी खाने को बार-बार गर्म करके ना खाएं। तनाव भी है वजहबाउल मूवमेंट अनियमित होने से व्यक्ति का मिजाज पूरे दिन चिड़चिड़ा बना रहता है। वहीं, स्ट्रेस होने के कारण भी खानपान में अनि