News That Matters

Tag: दर्द

तेज बुखार, सिरदर्द, जोड़ों में दर्द डेंगू के लक्षण : एसएमओ

तेज बुखार, सिरदर्द, जोड़ों में दर्द डेंगू के लक्षण : एसएमओ

Punjabi Politics
भास्कर न्यूज| बाबा बकाला साहिब सिविल अस्पताल बाबा बकाला साहिब में शुक्रवार को नेशनल डेंगू-डे मनाया गया। एसएमओ डॉ. अजय भाटिया ने बताया कि डेंगू एडीज एजीपीटी नाम के मादा मच्छर के काटने से होता है। तेज बुखार, सिरदर्द, जोड़ों में दर्द, उल्टियां और आंखों के पिछले भाग में दर्द इसके मुख्य लक्षण हैं। उन्होंने बताया की घरों में बगीची, कूलर में पानी न खड़ा होने दें, फ्रिज की ट्रे को हर हफ्ते साफ करें। डेंगू की शिकायत हो तो नज़दीकी सरकारी अस्पताल में मुफ्त टेस्ट करवाएं। उन्होंने बताया कि सभी सरकारी अस्पतालों में डेंगू का इलाज मुफ्त में होता है। इस मौके डॉ. साहिब जीत सिंह, नवदीप सिंह चीमां, हरप्रीत कौर बीईई, यादविंदर सिंह रंधावा, अमरजीत सिंह आदि मौजूद थे। लोगों को डेंगू के बारे में जानकारी देते एसएमओ डॉ. अजय भाटिया और नवदीप चीमा। -भास्कर घरियाला गांव में लाेगाें काे बताए डेंगू के लक्
रेलवे कर्मचारी का दर्द: 14 घंटे से ड्यूटी पर हूं, हादसा हुआ तो मेरी जिम्मेदारी नहीं

रेलवे कर्मचारी का दर्द: 14 घंटे से ड्यूटी पर हूं, हादसा हुआ तो मेरी जिम्मेदारी नहीं

India
एक गेटमैन ने अपनी ड्यूटी डायरी में लिखा - मैं सुबह छह बजे से ड्यूटी पर हूं। रात के दस बज गए हैं अभी तक कोई दूसरा कर्मचारी नहीं आया। वरीय अधिकारियों को कई बार बताया पर कोई सुनवाई नहीं हुई। ऐसे में... Live Hindustan Rss feed
IPL 2019, Final: बॉलीवुड एक्टर का छलका दर्द, कहा- हमने युवराज सिंह को बर्बाद कर दिया

IPL 2019, Final: बॉलीवुड एक्टर का छलका दर्द, कहा- हमने युवराज सिंह को बर्बाद कर दिया

Entertainment
Indian Premier League 2019 final MI vs CSK: इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2019) का फाइनल मुंबई इंडियंस ने चेन्नई सुपर किंग्स को एक रन से हराकर जीता। मुंबई इंडियंस का यह चौथा आईपीएल खिताब है। हैदराबाद में... Live Hindustan Rss feed
जानिए क्या है साइटिका, क्यों होता है कमर व पैरों में दर्द

जानिए क्या है साइटिका, क्यों होता है कमर व पैरों में दर्द

Health
साइटिका नसों में होने वाला ऐसा दर्द है जो कमर के निचले हिस्से से शुरू होकर पैरों के नीचे तक जाता है। यह कोई रोग नहीं बल्कि सैक्रोलाइटिस, डिस्कप्रोलेप्स, स्पाइनल इंफेक्शन आदि रोगों का लक्षण हो सकता है। कारण : अधिक मेहनत करने या भारी वजन उठाने से यह समस्या होती है। खराब जीवनशैली व खानपान, उठने-बैठने के गलत मुद्रा से भी दर्द हो सकता है। लक्षण: मरीज को सबसे पहले कूल्हे में दर्द होता है और फिर धीरे-धीरे यह दर्द नसों से होते हुए दोनों पैरों में बढ़ता है। इससे उठने-बैठने व चलने-फिरने में दिक्कत होती है। इलाज: साइटिका का दर्द ज्यादा होने पर स्टेरॉइड दवाएं दी जाती हैं। दर्द असहनीय होने की स्थिति में दवा को इंजेक्शन के जरिए कमर में पहुंचाते हैं। साथ ही एक्सरसाइज व फिजियोथैरेपी की सलाह देते हैं। फिर भी दर्द बना रहे तो सर्जरी की जाती है। इस दर्द में कुछ योगासन आराम पहुंचाते हैं जैसे भुजंगासन, वायुमुद्
पित्रोदा ने कहा- 1984 के दंगों के दर्द का अहसास है, भाजपा मेरे 3 शब्दों को गलत पेश कर रही

पित्रोदा ने कहा- 1984 के दंगों के दर्द का अहसास है, भाजपा मेरे 3 शब्दों को गलत पेश कर रही

India
नई दिल्ली. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के सलाहकार सैम पित्रोदा ने 1984 दंगे पर दिए बयान पर शुक्रवार को सफाई दी। पित्रोदा ने ट्वीट किया कि उस वक्त सिख भाइयों और बहनों को हुए दर्द को महसूस कर सकता हूं। भाजपा मेरे इंटरव्यू के तीन शब्दों को तोड़-मरोड़कर पेश कर रही है। वे हमें बांटना और अपनी नाकामियों को छिपाना चाहते हैं।पित्रोदा ने यह भी कहा कि राजीव और राहुल गांधी कभी भी किसी संप्रदायको निशाना नहीं बना सकते। भाजपा झूठ का सहारा लेकर कांग्रेस नेताओं को निशाना बना रही है क्योंकि वह5 साल के अपने प्रदर्शन पर बात नहीं कर सकती। भारत में नई नौकरियां, विकास और समृद्धिलाने के लिए उनके पास कोई दृष्टि नहीं है।पित्रोदा ने गुरुवार को कहा था कि अब क्या है 84 का? आपने (नरेंद्र मोदी) पांच साल में क्या किया, उसकी बात करिए। 84 में जो हुआ, वो हुआ।मोदी ने कल दिल्ली की रैली में कहा था कि कांग्
इलायची देगी गले के दर्द में आराम, रोगों से लड़ने की ताकत देगा जिंक

इलायची देगी गले के दर्द में आराम, रोगों से लड़ने की ताकत देगा जिंक

Health
सेहत और स्वाद दोनों को सही बनाए रखने में इलायची बेहद उपयोगी है। छोटी और बड़ी दोनों इलायची के फायदे इस प्रकार हैं- सुबह-शाम छोटी इलायची चबाने से गले में दर्द, खराश या अन्य समस्याओं में लाभ होता है।गले में यदि सूजन हो तो मूली के रस में छोटी इलायची पीसकर लेने से आराम मिलेगा।सर्दी-जुकाम, खांसी और छींकें आने पर छोटी इलायची के साथ अदरक का टुकड़ा, एक लौंग और तुलसी के पत्तों को पान में लपेटकर खा सकते हैं।पांच ग्राम बड़ी इलायची को आधा लीटर पानी में उबाल लें। एक चौथाई पानी रहने पर गुनगुना पिएं, इससे उल्टी आनी बंद हो जाएगी।मुंह के छालों के लिए पिसी इलायची को मिश्री के साथ मिलाकर ले सकते हैं। इस मिश्रण के अलावा छोटी इलायची को थोड़ी देर मुंह में रखकर चूसने से भी चक्कर आने की समस्या में आराम मिलेगा। मर्ज से लड़ने की ताकत देता जिंक - वृ द्धावस्था में रोगों का खतरा बढ़ने की एक वजह उनमें जिंक का स्तर कम हो
ये एक्यूप्रेशर प्वाइंट्स देंगे दांत दर्द में राहत

ये एक्यूप्रेशर प्वाइंट्स देंगे दांत दर्द में राहत

Health
प्रेशर देने से दर्द में राहत मिल सकती है दांत दर्द बच्चों से लेकर बड़ों सभी में आम है। नाड़ी तंत्र से जुड़े इस रोग का मुख्य कारण दांतों की ठीक से सफाई न होना, मवाद पड़ना, कीड़े लगने, मसूढ़ों में सूजन, कैल्शियम, फॉस्फेट और विटामिन-डी की पर्याप्त मात्रा भोजन में न लेना हो सकता है। दंत रोग विशेषज्ञ को दिखाने के अलावा इस रोग के लिए कुछ एक्यूप्रेशर बिंदू भी हैं जिन पर प्रेशर देने से दर्द में राहत मिल सकती है।इन्हें आजमाएंहथेली खोलकर उल्टी रखें। अंगूठे और तर्जनी अंगुली के बीच के भाग पर दबाव बनाने से दांतदर्द में आराम होता है।आंखों की बाहरी रेखा की सीध में नीचे जबड़े पर दो बिंदू मौजूद होते हैं, इनपर दबाव बनाएं। हाथों की अंगुलियों और अंगूठे के नाखून के पिछले वाले भाग के मध्य प्रेशर देना दांतदर्द को कम करता है। मुंह खोलकर कान के पीछे निचले वाले हिस्से पर दबाव देना चाहिए। इससे दांत में हो रहे तेज दर
रोजाना एक जैसे खेल से भी होता है जोड़ों में दर्द

रोजाना एक जैसे खेल से भी होता है जोड़ों में दर्द

Health
गलत मुद्रा में बैठना या चलना जोड़ों पर बुरा असर डाल सकता है। इसके अलावा डेस्क जॉब के दौरान लगातार एक ही मुद्रा में बैठे रहना भी सही नहीं होता। इसलिए विशेषज्ञ समय अंतराल पर चलने-फिरने व अपने पोज पर ध्यान देने की सलाह देते हैं। खिलाड़ियों पर असर -कुछ लोग फिट रहने के लिए रोजाना एक ही तरह के खेल जैसे बैडमिंटन, फुटबॉल या वॉलीबॉल खेलते हैं जिससे उनके घुटनों के जोड़ों में दर्द की समस्या होने की आशंका बढऩे लगती है। ऐसा आमतौर पर खिलाडिय़ों के साथ भी होता है इसलिए रोजाना एक जैसा खेल खेलने से बचना चाहिए। सावधानी बरतें -शरीर का एक किलो वजन भी ज्यादा है तो घुटने को हर कदम पर 4-5 गुना ज्यादा दबाव झेलना पड़ता है। यह प्रेशर लगातार बने रहने पर जोड़ों में विकृति की समस्या हो सकती है। इसलिए रोजाना एक्सरसाइज करें क्योंकि इससे प्राकृतिक पेनकिलर एंडोर्फिन बनता है। हफ्ते में 4-5 बार 30 मिनट टहलने जाएं। जो महिलाए
गले मिलने से जुड़े हैं दर्द कम करने वाले हार्मोंस

गले मिलने से जुड़े हैं दर्द कम करने वाले हार्मोंस

Health
ढलती आयु के लोगों के लिए फिट रहने का सबसे अच्छा उपचार हैजादू की झप्पी लेना-देना यानी गले मिलते रहना ढलती आयु के लोगों के लिए फिट रहने का सबसे अच्छा उपचार है। केलीफोर्निया के एक विश्वविद्यालय के विशेषज्ञों द्वारा किए गए शोध के मुताबिक, लोगों से गले मिलना मानव शरीर की हड्डियों और मांसपेशियों के लिए लाभदायक है जिससे लोग खुद को जवान महसूस करते हैं। इस रिसर्च के अनुसार ढलती आयु के कारण शरीर में ऐसे रसायनों की कमी हो जाती है जो हड्डियों व जोड़ों में दर्द से राहत दिलाते हैं। साथ ही गले मिलने से मानव शरीर को पर्याप्त मात्रा में हार्मोंस मिल जाते हैं जिससे हड्डियों का दर्द कम हो जाता है और हम खुद को पहले की तुलना में जवां महसूस करने लगते हैं। आप उसकी केयर करते हैंएक्सपर्ट का कहना है कि जब आप किसी को गले लगाते हैं, तो उसे सीधे-सीधे यह महसूस कराते हैं कि आप उसकी केयर करते हैं। इससे दोनों को ही 'फील ग

क्या आप भी रीढ़ की हड्डी के दर्द से हैं परेशान, कहीं वजह ये तो नहीं

India
सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस आदि रीढ़ से संबंधित समस्याओं के कारण जब स्पाइनल कैनाल सिकुड़ जाता है तब स्पाइनल कॉर्ड पर दबाव बढ़ जाता है। Jagran Hindi News - news:national