News That Matters

Tag: दादी

‘शूटर दादी’ चंद्रो तोमर बीमार, एम्स में भर्ती

‘शूटर दादी’ चंद्रो तोमर बीमार, एम्स में भर्ती

Delhi
नई दिल्ली.‘शूटर दादी’ के नाम से मशहूर बागपत (यूपी) की बुजुर्ग महिला चंद्रो तोमर बीमार हो गई हैं। उन्हें पेट में दर्द और छाती में इंफेक्शन के कारण अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती कराया गया है। यहां उनकी जांच करने के बाद इलाज शुरू हो गया है। अब उनकी हालत स्थिर बताई जा रही है।जानकारी के मुताबिक एम्स के जिरिएट्रिक (उम्रदराजों के लिए) वार्ड में भर्ती 87 साल की चंद्रो तोमर पिछले 15 दिन से अस्वस्थ चल रही थीं। उन्हें पेट में दर्द के अलावा उल्टी की समस्या भी थी। लगातार गिर रही सेहत के कारण गुरुवार को परिजन उन्हें एम्स ले आए। यहां डॉक्टरों ने उन्हें भर्ती कर लिया।डॉक्टरों की मानें तो शुरुआती उपचार में मामूली सुधार देखने को मिल रहा है। गौरतलब है कि शूटर दादी देश भर में अपने शूटिंग के कारनामों कि वजह से काफी मशहूर हैं। उन्होंने गांव और उसके आसपास की सैकड़ों लड़कियों
सैकेंड टॉपर भव्या के मां और दादी दोनों टीचर, पढ़ाई में अड़चन न आए तो नहीं कोई सोशल मीडिया अकाउंट

सैकेंड टॉपर भव्या के मां और दादी दोनों टीचर, पढ़ाई में अड़चन न आए तो नहीं कोई सोशल मीडिया अकाउंट

Haryana
पानीपत (मनोज कौशिक)। सीबीएसई से 12वीं में सैकेंड टॉपर भव्या भाटिया ने सिर्फ इस वजह से सोशल मीडिया अकाउंट नहीं बनाया कि पढ़ाई में कोई अड़चन न आए। जब कभी स्टडी मैटीरियल भी दोस्तों से मंगाना पड़ता था तो मां के वाट्सएप पर मंगाती थी। उनकी मां और दादी दोनों टीचर रही हैं। भव्या कहती हैं कि उन्हें पढ़ाई के लिए कभी दोनों ने नहीं टोका, क्योंकि कभी ऐसी नौबत नहीं आई कि उन्हें ये कहना पड़ा हो कि पढ़ाई कर लो। पानीपत के उरलाना कलां गांव में रहने वाली भव्या भाटिया जींद जिले के सफीदों कस्बे के बीआरएसके इंटरनेशनल स्कूल की छात्रा है। एलकेजी के बाद से पूरी पढ़ाई यहीं से पूरी की। हिंदी, अंग्रेजी, अर्थशास्त्र, इतिहास और राजनीतिक विज्ञान विषय से सीबीएसई में दूसरा स्थान हासिल किया है। भव्या का कहना है कि ये तो यकीन था कि अच्छे नंबर आएंगे लेकिन ये विश्वास नहीं था कि दूसरा स्थान आ जाएगा।भव्या ने
पोती को जन्म देने के  लिए सरोगेट मदर बनी दादी, जानिए क्या है पूरा मामला

पोती को जन्म देने के  लिए सरोगेट मदर बनी दादी, जानिए क्या है पूरा मामला

Health
61 साल की उम्र में एक महिला ने अपनी पोती को जन्म दिया है। जन्म के बाद दादी और पोती दोनों स्वस्थ बताए जा रहे हैं। यह अजूबा हुआ है नेब्रास्का में। जानकारी के अनुसार यहां रहने वाले मैथ्यू एल्ज और इलिओट... Live Hindustan Rss feed
सांड की आंख’ का फर्स्ट लुक आया सामने, शूटर दादी के अवतार में नजर आईं तापसी पन्नू और भूमि पेडनेकर

सांड की आंख’ का फर्स्ट लुक आया सामने, शूटर दादी के अवतार में नजर आईं तापसी पन्नू और भूमि पेडनेकर

Entertainment
तापसी पन्नू (Taapsee Pannu)  और भूमि पेडनेकर (Bhumi Pednekar) स्टारर ‘सांड की आंख’ का फर्स्ट लुक सामने आ गया है।  पोस्टर में तापसी पन्नू और भूमि पेडनेकर शूटर दादियों के रूप में... Live Hindustan Rss feed
बस स्टैंड पर डेढ़ साल के बच्चे को छोड़ भागी मां, वीडियो वायरल होने के पांच घंटे बाद दादी लेने पहुंची

बस स्टैंड पर डेढ़ साल के बच्चे को छोड़ भागी मां, वीडियो वायरल होने के पांच घंटे बाद दादी लेने पहुंची

Punjabi Politics
जालंधर. जालंधर बस अड्‌डे पर शुक्रवार को एक महिला अपने डेढ़ साल के बच्चे को छोड़कर चलती बनी। किसी ने बच्चे को रोता देखा तो उसका वीडियो बनाकर सोशल साइट पर वायरल कर दिया, जिसे देखकर बच्चे के दादी जसवंत कौर शाम 6 बजे बस अड्डा पुलिस चौकी पहुंच गई। पता चला है कि बच्चे की मां किसी गैर मर्द के साथ भाग गई। फिलहाल बच्चे को नारी निकेतन में भेज दिया गया है।मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार को दोपहर करीब एक बजे एक महिला अपने करीब डेढ़ साल के बच्चे को बस स्टैंड के काउंटर नंबर 29 पर अकेला छोड़कर चली गई। कुछ ही देर में बच्चे का रो-रो कर बुरा हाल हो गया। मौके पर मौजूद मोहित सेखड़ी ने बच्चे को देखा तो उसकी वीडियो बनाकर सोशल साइट्स पर शेयर कर दी। जैसे ही वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुई तो बस स्टैंड चौकी की पुलिस हरकत में आ गई और पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच शुरू की। बस अड्डा चौकी के एएसआई मदन
22 साल की उम्र में हिमांशु ने क्लियर किया UPSC, 1st अटैंप्ट में मिली 26वीं रैंक, दादी ने कहा- खाना खाने के बाद 3rd फ्लोर पर जाकर पढ़ता था पोता 

22 साल की उम्र में हिमांशु ने क्लियर किया UPSC, 1st अटैंप्ट में मिली 26वीं रैंक, दादी ने कहा- खाना खाने के बाद 3rd फ्लोर पर जाकर पढ़ता था पोता 

Haryana
हिसार (हरियाणा)। महज 22 साल की उम्र में पहले ही प्रयास में यूपीएससी एग्जाम क्लियर करने वाले हिमांशु नागपाल को 26वीं रैंक मिली है। हिमांशु में आईएएस बनने का जुनून ऐसा था कि घर के फंक्शन में भी शामिल नहीं होते थे। वहीं उनकी दादी बताती हैं कि वे स्कूल के समय से ही पढ़ाई को लेकर गंभीर थे। अच्छे नंबर लाते और खाना खाने के बाद घर की तीसरी मंजिल पर जाकर घंटों तक पढ़ाई करते। आइए जानते हैं हिमांशु से जुड़ी कुछ खास बातें...हिमांशु हरियाणा के हिसार जिले के हांसी शहर के निवासी पंकज नागपाल के बेटे हैं। उन्होंने श्री काली देवी विद्या मंदिर से बारहवीं में टॉप किया था। उसके बाद दिल्ली विश्वविद्यालय के हंसराज कालेज से बीकॉम की। उन्हें सीए की लेवल-टू की परीक्षा में भी देश भर में नौवीं रैंक मिली थी।यूपीएससी का परिणाम घोषित होते ही हिमांशु की दादी शीला देवी, माता पुष्पलता, भाई राघव नागपाल, च
मासूमों की बलि देने के मामले में आरोपी पिता, दादी व तांत्रिक के खिलाफ हत्या के चार्ज फ्रेम

मासूमों की बलि देने के मामले में आरोपी पिता, दादी व तांत्रिक के खिलाफ हत्या के चार्ज फ्रेम

Punjabi Politics
बठिंडा.वर्ष 2017 में गांव कोटफत्ता में मासूम सगे भाई-बहन के बहुचर्चित बलिकांड में बठिंडा की कोर्ट ने मामले में आरोपी पिता, दादी तथा तांत्रिक के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 के तहत चार्ज फ्रेम किए हैं। बता दें कि 8 मार्च 2017 की शाम गांव कोटफत्ता में एक दिल दहला देने वाली घटना घटी थी। तांत्रिक सिद्धि के लिए दादी ने अपनी 3 साल की पोती अनामिका तथा 5 साल के पोते रणजोध सिंह की बलि चढ़ा दी थी। पहले उनको पीट-पीटकर अधमरा कर दिया और फिर करंट लगा उनकी जान ले ली थी।पुलिस ने मामले में मृतक भाई-बहन के पिता कुलविंदर सिंह उर्फ विक्की, दादी निर्मल कौर, मां रोजी कौर तथा गांव कालियांवाली निवासी तांत्रिक लखविंदर सिंह उर्फ लखी के खिलाफ केस दर्ज किया था। 6 मार्च 2019 को अदालत ने उक्त मामले में मुख्य आरोपी तांत्रिक लखविंदर सिंह उर्फ लक्खी बाबा को सम्मन जारी करते हुए तलब किया था। पंजाब लॉ फोरम अध्
दादी वाली उम्र में दिया बच्चे को जन्म, अब खिलाएंगी गोद में

दादी वाली उम्र में दिया बच्चे को जन्म, अब खिलाएंगी गोद में

Punjabi Politics
लुधियाना| उत्तर भारत की प्रसिद्ध बांझपन माहिर डॉ.सुमिता सोफ्त के अस्पताल में 55 साल की महिला मां बनीं। पातड़ां के दंपति बगीचा सिंह व लखविंदर कौर को दादा-दादी वाली उम्र में संतान सुख सुख मिला। चंडीगढ़ व सूबे के कई बड़े शहरों में इलाज भी कराया। आखिरकार सोफत इन्फर्टिलिटी एंड वूमेन केयर सेंटर में उनके बेटी पैदा हुई। मोगा की सुमनप्रीत कौर और वीरपाल सिंह को ढेर सारी खुशियां मिली। शादी के सात साल बाद भी औलाद न होने पर उन्होंने इसी सेंटर में इलाज कराया। अब सुमनप्रीत ने एक साथ तीन बेटों को जन्म दिया है। डाॅ. सुमिता सोफ्त ने बताया कि शादी के बाद 20 से 25 फीसदी जोड़ों को कुदरती तौर पर प्रेग्नेंसी नहीं होती है। इनमें आमतौर पर ट्यूब में मामूली समस्या या शुक्राणुओं की गिनती कम होती है, जो दवाइयों से ठीक हो जाती है। इसी कारण ज्यादातर जोड़े औलाद का सुख प्राप्त कर लेते हैं। बाकी जाेड़ों मे
तैमूर को मिल रही मीडिया अटेंशन पर दादी शर्मीला ने कही ये बात

तैमूर को मिल रही मीडिया अटेंशन पर दादी शर्मीला ने कही ये बात

Entertainment
दिग्गज अभिनेत्री व इंटरनेट सनसनी तैमूर अली खान की दादी शर्मिला टैगोर का कहना है कि उनके पोते की तस्वीरें लेने को लेकर पापाराजी के बीच मची होड़ से निपटने का एकमात्र तरीका यही है कि इसे स्वीकार किया जाए... Live Hindustan Rss feed
सारा अली खान को लेकर दादी शर्मीला टैगोर की ये है ख्वाहिश

सारा अली खान को लेकर दादी शर्मीला टैगोर की ये है ख्वाहिश

Entertainment
बीती शाम मुंबई में आयोजित एक अवॉर्ड शो पर पहुंचीं एक्ट्रेस शर्मीला टैगोर ने मीडिया से बात की। इस दौरान उन्होंने अपनी बायोग्राफी और पोती सारा अली खान को लेकर बात की। शर्मीला ने बताया कि उन्होंने अपनी... Live Hindustan Rss feed