News That Matters

Tag: दिक्कत

60 % किसानों का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन नहीं, फसल बेचने में दिक्कत

60 % किसानों का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन नहीं, फसल बेचने में दिक्कत

Haryana
हरियाणा कांग्रेस कमेटी के सदस्य एवं पूर्व मुख्यमंत्री राव बिरेंद्र सिंह के पौत्र राव अर्जुन सिंह ने शनिवार को बावल अनाज मंडी का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने किसानों से बातचीत करते हुए बाजरे और कपास की फसल बेचने में आ रही समस्याओं को जाना। राव अर्जुन ने कहा कि किसानों को ई-प्रणाली के तहत अपनी फसल बिक्री करने में काफी समस्याएं आ रही हैं। इसके तहत 60 फीसदी किसान ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन नहीं करवा सके, जिसके कारण अब उनकी फसल को नहीं खरीदा जा रहा है। सरकार द्वारा लगभग 6,20,699 मीट्रिक टन बाजरे का उत्पादन होने का अनुमान लगाया गया था, लेकिन केवल 1,00,000 मीट्रिक टन बाजरा ही सरकार एमएसपी मूल्य पर खरीदेगी। बाकी बाजरा किसानों को 1300 रुपए प्रति क्विंटल के भाव बिक्री करने पर विवश होना पड़ेगा। बावल अनाज मंडी में जहां पीने के पानी की समस्या है, वहीं बिजली का कनेक्शन अस्थाई तौर पर लिया हुआ
रनिंग रूम में सोता रहा गार्ड, 20 मिनट लेट हुई ट्रेन; यात्रियों को बताई तकनीकी दिक्कत

रनिंग रूम में सोता रहा गार्ड, 20 मिनट लेट हुई ट्रेन; यात्रियों को बताई तकनीकी दिक्कत

Rajasthan
जयपुर.मंगलवार को जयपुर जंक्शन पर गार्ड के रनिंग रूम में सो जाने के कारण ट्रेन 20 मिनट लेट हो गई।जयपुर से मुंबई सेंट्रल जाने वाली ट्रेन जयपुर-मुंबई सुपरफास्ट एक्सप्रेस (12956) मंगलवार को मुंबई से अपने निर्धारित समय पर जयपुर पहुंची थी। वापसी में ट्रेन का यही रैक मुंबई जाता है।स्टेशन स्टाफ ने ट्रेन के प्रस्थान समय से करीब आधा घंटा पहले ट्रेन में इंजन अटैच कर दिया। दोपहर 2 बजे जब लोको पायलट को सिग्नल नहीं मिले, तो उन्होंने वायरलेस के माध्यम से गार्ड से संपर्क किया। पांच मिनट तक जब गार्ड से कोई रिस्पॉन्स नहीं मिला, तो उन्होंने पावर कंट्रोल रूम (पीसीआर) से संपर्क किया।लोको पायलट ने पीसीआर को बताया कि ना तो ट्रेन को सिग्नल दिया गया है और ना ही ऑन ड्यूटी गार्ड राजेंद्र कोचर से संपर्क हो पा रहा है। इसके बाद पीसीआर ने तुरंत स्टेशन प्रशासन को मामले की जानकारी दी। गार्ड राजेंद्र को

हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, नहीं है प्रमाणपत्र तो UPSSSC के लिए आवेदन में आएगी दिक्कत

Indian Education
हाईकोर्ट ने उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की 2016 की कनिष्ठ सहायक भर्ती में आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि को ट्रिपल-सी प्रमाणपत्र न रखने वाले अभ्यर्थियों को आवेदन की छूट देने से इंकार कर दिया है। Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala
हाईवेज के 5 मीटर दायरे में भी कंस्ट्रक्शन, सड़कें चौड़ी करने में दिक्कत

हाईवेज के 5 मीटर दायरे में भी कंस्ट्रक्शन, सड़कें चौड़ी करने में दिक्कत

Punjabi Politics
सरकार ने 1995 के पुडा एक्ट में धारा 143 में स्पष्ट किया था कि मेन हाईवेज और शेड्यूल्ड रोड्स पर निगम लिमिट के भीतर 5 मीटर और उससे बाहर 30 मीटर के दायरे में कंस्ट्रक्शन नहीं की जा सकती है। इसका मकसद यह था कि भविष्य की जरूरतों को देखते हुए अगर कभी सड़क चौड़ी करनी पड़े तो यह काम आसानी से हो सके। अगर कंस्ट्रक्शन नहीं होगी तो सरकार को जमीन एक्वायर कर सिर्फ प्लॉट के ही पैसे देने होंगे और यह काम आसान भी होगा। वहीं यहां कंस्ट्रक्शन होगी तो स्ट्रक्चर के पैसे देने के साथ उसे तोड़ने में भी मशक्कत करनी पड़ेगी। मगर निगम अफसरों के कार्रवाई न करने से इस एक्ट की मंशा ही फेल होकर रह गई है। हाईकोर्ट का प्रिंसिपल सेक्रेटरी, निगम कमिश्नर को शोकॉज नोटिस, 10 हफ्ते में मांगी रिपोर्ट @नो कंस्ट्रक्शन जोन में वॉयलेशन पर हाईकोर्ट की सख्ती @खुद निगम ने कबूला, हैं 1,732 कंस्ट्रक्शंस सिटी रिपोर्टर | लु
B Aware – पेट में अक्सर रहता है दर्द ताे फूड इंटॉलरेंस की हाे सकती है दिक्कत

B Aware – पेट में अक्सर रहता है दर्द ताे फूड इंटॉलरेंस की हाे सकती है दिक्कत

Health
घर का पका शुद्ध, सुपाच्य और सादा-स्वादिष्ट खाना छोड़कर सड़क पर लगे ठेलों, ढाबों, रेस्तरां या फास्टफूड सेंटर्स में ऑर्डर देकर खाना मंगाने या सैर सपाटे के दौरान यहां-वहां भोजन करने की आदत ने इन दिनों पाचन संबंधी रोगों के मामले बढ़ा दिए हैं। कई हैल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार मार्केट की अशुद्ध व बासी, डिब्बा बंद, प्रोसेस्ड व केमिकल युक्त चीजों से लोगों में फूड एलर्जी, सेंसिटिविटी और इंटॉलरेंस की समस्या लगातार बढ़ रही है। जो पेट, सांस व त्वचा रोगों का कारण बनती हैं। फूड इंटॉलरेंस के ज्यादातर मामले डेयरी प्रोडक्ट्स या ग्लूटेन से जुड़े हैं। लेकिन कुछ मामलों में यह विभिन्न फूड्स से भी हो सकता है। ये हैं लक्षणपेट में दर्द, पेट फूलना, इरिटेबल बाउल सिंड्रोम, डायरिया, थकान, माइग्रेन, एकाग्रता में कमी या जोड़ों में दर्द आदि समस्याएं होती हैं। इससे ऑटोइम्यून डिजीज भी होती हैं। इसके दुष्प्रभाव से इंफर्टिलिटी

अरबाज खान की दूसरी शादी से सलमान को क्यों है दिक्कत?

Entertainment
बॉलीवुड के दबंग खान के छोटे भाई अरबाज खान तलाक के बाद से ही अपनी नई गर्लफ्रेंड मॉडल जॉर्जिया एंड्रियानी के साथ घूमते नजर आते हैं। उनके इस रिश्ते को घरवालों की सहमति भी मिल चुकी हैं। हाल ही में गणेश उत्सव के दौरान जॉर्जिया के पिता भारत आए थे और ... मनोरंजन

टीम इंडिया के इन दो खिलाड़ियों की बढ़ सकती है मुश्किलें, इस वजह से हो सकती है दिक्कत

Indian Sports
सीओए प्रमुख विनोद राय ने यहां शनिवार को बैठक के बाद कहा कि यह सब बकवास है। चयन समिति की ओर से इस तरह का मामला नहीं आया है। Jagran Hindi News - cricket:headlines
‘भोजन और भाषा की दिक्कत ने अभियान में बढ़ाई थी चुनौती’

‘भोजन और भाषा की दिक्कत ने अभियान में बढ़ाई थी चुनौती’

Haryana
यूरोप की सबसे ऊंची चोटी एलब्रुस को फतेह कर हिसार लौटे मल्लापुर के रोहताश खिलेरी ने अनुभव सांझा किए। रोहताश ने बुधवार को बताया कि माउंट एलब्रुस पर शिवांगी पाठक के साथ चढ़ाई शुरू की। 5642 मीटर ऊंची माउंट एलब्रुस पर चढ़ाई कर तिरंगा फहराया। 31 अगस्त को माउंट एलब्रुस की चढ़ाई शुरू कर बेस कैंप पहुंचे। 1 सितंबर को थोड़ा हाईकिंग पर गए और वापस बेस कैंप पहुंचे। 2 को पूरा दिन रेस्ट था और रात को 10 बजे फाइनल चढ़ाई के लिए जा ही रहे थे कि तेज हवा के साथ स्नोफॉल शुरू हो गया। तूफान के कारण रास्ते से लौटना पड़ा। 3 सितंबर को हम रात को इंडिया के टाइम 11 बजे फिर से माउंट एलब्रुस की चढ़ाई के लिए निकले और 4 सितंबर 2018 को सुबह 7:56 मिनट पर माउंट एलब्रुस के टॉप पर पहुंचे। खिलेरी ने बताया कि अभियान के दौरान सबसे पहले भाषा की समस्या हुई। वहां के लोग ज्यादातर रशियन में बात करते हैं, इंग्लिश में
50-70 वर्ष की उम्र में खून की नलियां सिकुडऩे से दिल की दिक्कत

50-70 वर्ष की उम्र में खून की नलियां सिकुडऩे से दिल की दिक्कत

Health
पचास की उम्र के बाद शरीर का ढलना एक स्वाभाविक प्रक्रिया का हिस्सा है। ऐसे में रोग प्रतिरोधक क्षमता तो कमजोर होती ही है साथ ही कई बार खराब जीवन शैली व खान पान परे शानियों को बढ़ाने का काम करता है। महिलाओं में मेनो पॉज के बाद शरीर में कैल्शियम की कमी बहुत तेजी से होने लगती है जिसके कारण जल्दी हड्डी टूटने की दिक्कत होने की आशंका बढ़ जाती है। जानें इस उम्र में कैसे ध्यान रखें- रक्तनलिकाएं संकरी : रक्तनलिकाएं संकरी होने के कारण शरीर व ब्रेन में खून का संचार बाधित होता है। इससे हार्ट अटैक व पैरालिसिस का खतरा बढ़ ता है। कई बार शरीर में ऑक्सी जन की कमी होने से सांस संबंधी परे शानी भी हो सकती है। इसके अलावा बीपी, डायबि टीज, मोतिया बिंद, ऑस्टियोपोरोसिस व पुरुषों में प्रोस्टेट के बढऩे की दिक्कत भी आम तौर पर इस उम्र में अधिक होती है। जीवनशैली बदलें : इन रोगों से बचने के लिए जीवन शैली में बदलाव जरूरी ह
इस हार्मोन का लेवल गड़बड़ाने से भी आ सकती है गर्भधारण में दिक्कत

इस हार्मोन का लेवल गड़बड़ाने से भी आ सकती है गर्भधारण में दिक्कत

Health
एक स्वस्थ बच्चे को जन्म देने के लिए शरीर में हार्मोन्स का संतुलित होना जरूरी है। खानपान के बदलते तौर-तरीके और रहन-सहन की गलत आदतों से सबसे पहले शरीर के विभिन्न हार्मोन असंतुलित होने लगते हैं। एंटी मुलेरियन हार्मोन (एएमएच) महिलाओं के शरीर में पाया जाने वाला जरूरी हार्मोन है। गर्भधारण में आने वाली दिक्कतों से जुड़े कारणों में ज्यादातर महिलाओं में इस हार्मोन की गड़बड़ी पाई जाती है। जानें इसके बारे में... कम स्तर, इंफर्टिलिटी का कारण यह हार्मोन अंडाशय में बनता है। इसका स्तर यहां पर अंडाणुओं के प्रवाह को प्रभावित करता है। ऐसे में स्तर कम होना इंफर्टिलिटी (बांझपन) का एक कारण हो सकता है। महिलाओं के रक्त में इस हार्मोन का स्तर आमतौर पर उनके अच्छे ओवेरियन रिजर्व यानी अंडाशय द्वारा पर्याप्त मात्रा में फर्टिलाइज होने लायक एग सेल्स उपलब्ध कराने का संकेत है। यह हार्मोन छोटे विकसित फॉलिकल्स के जरिए बनता