News That Matters

Tag: दिमागी

‘मैं अध्यापकों से दिमागी तौर पर परेशान हूं, मेरी मौत के जिम्मेदार तीन टीचर: नीरज

‘मैं अध्यापकों से दिमागी तौर पर परेशान हूं, मेरी मौत के जिम्मेदार तीन टीचर: नीरज

Punjab
लापता अध्यापक नीरज कुमार की ओर से लिखा सुसाइड नोट। अध्यापकों की आपसी रंजिश है : शिवदर्शन थाना सदर के प्रभारी शिवदर्शन सिंह का कहना है कि गांव दुबली के एलिमेंटरी स्कूल में जो अध्यापक के लापता होने का जो मामला सामने आया है। वह अध्यापकों की आपसी रंजिश का नतीजा है। इस मामले की बारीकी से जांच की जा रही है। जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ सख्त कारवाई की जाएगी। मुझे लापता अध्यापक के बारे में कुछ पता नहीं:डीईओ डीईओ कंवलजीत सिंह एलिमेंटरी ने कहा कि मामले का हल एक-दो दिन में निकल आएगा। अध्यापक के पिछले दो दिन से लापता होने संबंधी मुझे कोई जानकारी नहीं, वह मुझसे इस बारे में कुछ नहीं बोलकर गया। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Tarantaran News - 39i am mentally disturbed by teachers three teachers responsible for my death
जोधपुर से सीकर-श्रीगंगानगर भी सप्लाई हुए दिमागी बुखार के नकली टीके

जोधपुर से सीकर-श्रीगंगानगर भी सप्लाई हुए दिमागी बुखार के नकली टीके

Rajasthan
सीकर.प्रदेशभर में बच्चों को दिमागी बुखार(मेनिनजाइटिस) से बचाने वाली नकली वैक्सीन पर कार्रवाई जारी है। सोमवार को जयपुर, श्रीगंगानगर व सीकर में औषधि नियंत्रक विभाग ने कई दवा व्यापारियों पर कार्रवाई की। सीकर में औषधि नियंत्रक विभाग ने शहर में 2 दवा प्रतिष्ठानों पर कार्रवाई की। दोनों जगह से नकली वैक्सीन का जखीरा जब्त किया।यह नकली वैक्सीन जिले में 4 साल से सप्लाई की जा रही थी। एक टीके पर 5200 रुपए वसूले जा रहे थे। औषधि नियंत्रक विभाग के प्रारंभिक जांच में जिले में 83 हजार से बच्चों को यह नकली टीके लगाए जाने की जानकारी सामने आई है। औषधि नियंत्रक विभाग ने नकली वैक्सीन बेच रहे मेडि लाइफ और बेस्ट मेडिकल फर्म पर छापा मारा। दोनों जगह नकली वैक्सीन का जखीरा जब्त किया। टीम ने नकली वैक्सीन को फ्रीज कर दिया है।दोनों जगह से टीमों ने बिल और अन्य दस्तावेज जब्त किए। बिलों की जांच की जा रही
इस तरह बढ़ा सकते हैं दिमागी क्षमता, जानें ये खास बातें

इस तरह बढ़ा सकते हैं दिमागी क्षमता, जानें ये खास बातें

Health
हालांकि बुद्धिमान होना कुदरत की नियामत होती है लेकिन कुछ खास चीजों पर ध्यान दें तो आप भी बच्चों की दिमागी क्षमता को बढ़ा सकते हैं।अगर आप अपने बच्चे की ब्रेन पावर बढ़ाना चाहते हैं तो उसके खानपान, दिनचर्या और आसपास के माहौल पर ध्यान दें। विशेषज्ञों के अनुसार जो बच्चे घर का बना ताजा भोजन करते हैं और पर्याप्त पानी पीते हैं, उनकी एकाग्रता क्षमता बनी रहती है और वे क्लास में अच्छा प्रदर्शन करते हैं। पारंपरिक हो नाश्ता - 'ब्रेन बायो सेंटर' के न्यूट्रीशनल थैरेपिस्ट डेबोरा कॉल्सन के मुताबिक ज्यादा शुगर और कार्बोहाइड्रेट्स युक्त भोजन शरीर मेें थकावट व एकाग्रता की कमी का कारण बनता है इसलिए इनसे बचना चाहिए। बच्चों को नाश्ते में लापसी, राबड़ी जैसी पारंपरिक चीजें देनी चाहिए। ये चीजें बच्चों के रक्त में धीरे-धीरे शुगर घोलती हैं जिससे उन्हें आवश्यकतानुसार ऊर्जा मिलती रहती है। इसके अलावा बच्चे के नाश्ते, लं
न्यू जवाहर नगर में 10वीं के स्टूडेंट ने फंदा लगा जान दी दिमागी हालत नहीं थी ठीक

न्यू जवाहर नगर में 10वीं के स्टूडेंट ने फंदा लगा जान दी दिमागी हालत नहीं थी ठीक

Punjab
न्यू जवाहर नगर में इतवार शाम 20 साल के स्टूडेंट रोबिन की लाश फंदे से लटकती मिली। रोबिन के पिता गुरबचन सिंह की मौत हो चुकी है तो मां की डिप्रेशन की मरीज है। चौकी बस अड्डा के इंचार्ज सुरिंदर पाल सिंह ने बताया कि शाम को न्यू जवाहर नगर की रहने वाली सरोज शर्मा ने सुसाइड की सूचना दी। सरोज ने पुलिस से कहा कि उसकी बहन और भतीजा रोबिन उनके साथ ही रहता था। रोबिन स्टडी में कमजोर रहा है और उसकी दसवीं में कंपार्टमेंट आ चुकी है। सरोज ने कहा कि उसकी बहन की दिमागी हालत ठीक नहीं है। फैमिली प्रॉब्लम को लेकर रोबिन अकसर परेशान रहता था। वह शाम को 4 बजे लौटी तो देखा कि रोबिन की लाश फंदे से लटक रही है। पुलिस ने सीआरपीसी की धारा-174 के तहत कार्रवाई कर लाश पोस्टमार्टम के लिए भेज दी है। रोबिन Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Jalandhar New
दिमागी तौर पर महिलाओं के मुकाबले 3 साल पहले बूढ़े हो जाते हैं पुरुष

दिमागी तौर पर महिलाओं के मुकाबले 3 साल पहले बूढ़े हो जाते हैं पुरुष

Health
पुरुष दिमागी तौर पर महिलाओं के मुकाबले औसतन तीन साल पहले ही बूढ़े हो जाते हैं। जबकि वयस्क तीन साल बाद होते हैं। यह दावा वाशिंगटन यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने दिमाग में होने वाली मेटाबॉलिज्म में अंतर... Live Hindustan Rss feed
दिमागी कसरत में मदद करते हैं ये बेस्ट गेमिंग एप

दिमागी कसरत में मदद करते हैं ये बेस्ट गेमिंग एप

Indian Technology
मनुष्य और अन्य जीवित प्राणियों में बुनियादी अंतर क्या है? मनुष्य सोच सकते हैं, सही और गलत की पहचान कर सकते हैं और जल्दी से अपने फैसले ले सकते हैं। इस तरह हम सभी के लिए यह बेहद जरूरी है कि हम अपने... Live Hindustan Rss feed
दिमागी रूप से बीमार 73 साल का बुजुर्ग ट्रेन के आगे कूदा, मौत

दिमागी रूप से बीमार 73 साल का बुजुर्ग ट्रेन के आगे कूदा, मौत

Punjab
जालंधर | सुच्ची पिंड के रहने वाले 73 साल के जोगिंदर पाल ने ट्रेन के आगे छलांग लगाकर सुसाइड कर ली। बुधवार दोपहर करीब 3 बजे बुजुर्ग जोगिंदर पाल अपने घर से निकले थे। कुछ देर बाद उनको परिजनों को सूचना मिली कि उन्होंने ट्रेन के आगे आकर सुसाइड कर ली। जोगिंदर पाल के बेटे हंसराज ने बताया कि वे दो भाई हैं। दोनों अपने पिता के साथ सुच्ची पिंड में कई साल से रह रहे हैं। पिता जोगिंदर पाल 30 साल से दिमागी रूप से बीमार थे और नकोदर चौक स्थित निजी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था। बुधवार वे ‘घबराहट हो रही है’ कहकर गए थे, बाद में मौत की सूचना मिली। जोगिंदर पाल Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Jalandhar News - a 73 year old ill fated train dies in a mental state Dainik Bhaskar
229 महिलाएं ऐसी भी; पतियों ने सालों पहले छोड़ दिया लेकिन आज भी उनके नाम पर रखती हैं करवा चौथ का व्रत, 1500 बीमारों को संभालती हैं फिर भी घरवाले कहते हैं ये दिमागी तौर पर ठीक नहीं

229 महिलाएं ऐसी भी; पतियों ने सालों पहले छोड़ दिया लेकिन आज भी उनके नाम पर रखती हैं करवा चौथ का व्रत, 1500 बीमारों को संभालती हैं फिर भी घरवाले कहते हैं ये दिमागी तौर पर ठीक नहीं

Rajasthan
प्रमोद कल्याण, भरतपुर. यूपी के जौनपुर की अनीता बातचीत और काम के लिहाज से कभी नहीं लगतीं कि वो मानसिक बीमार रहीं होंगी, लेकिन इस दंश को उन्हें 5 साल से परिवार से दूर रह कर झेलना पड़ रहा है। अब वे स्वस्थ हैं, लेकिन पति श्यामलाल उन्हें स्वीकारने को तैयार नहीं हैं। श्यामलाल ने दूसरी शादी भी कर ली है। इसके बाद भी अनीता हर साल करवा चौथ मनाती है। इस उम्मीद के साथ एक दिन वे उसे लेने आएंगे। कहती है, हमारा नाम तो उन्हीं से जुड़ा है।'एक दिन मैं अपने घर जरूर जाऊंगी'इसी तरह दिल्ली की सुनीता जैन ने राजेश से लव मैरिज की थी। अलग रहे फिर भी विवाद पनपे। तनाव और अवसाद में सुनीता सीजोफ्रेनिया की शिकार हो गई। चार साल से स्वस्थ है। वह कपड़ों की सिलाई भी करती है। लेकिन, पति राजेश स्वीकार करने को तैयार नहीं है। सुनीता करवाचौथ का व्रत रखती है। कहती है एक दिन। मैं अपने घर जरूर जाऊंगी।ऐसी ही

आपकी आंखों की रोशनी छिनने से लेकर दिमागी तौर पर आपको बीमार बना रहा मोबाइल

India
विशेषज्ञों के जरिए जानते हैं, आखिर क्यों मोबाइल की लत बड़ी समस्या बनती जा रही है और क्या है इसका समाधान? Jagran Hindi News - news:national
बारिश में दिमागी बुखार का खतरा

बारिश में दिमागी बुखार का खतरा

Health
मेनिनजाइटिस के तीन रूप हैं । बैक्टीरियल, वायरल और फंगल। बैक्टीरियल मेनिनजाइटिस सर्दी-खांसी व जुकाम के संक्रमण से फैलता है । एंटीबायोटिक्स से इसका इलाज किया जाता है। वायरल मेनिनजाइटिस मच्छर के काटने से होता है। साधारण बुखार की तरह इसका उपचार होता है ।   यह ज्यादा खतरनाक बुखार नहीं है । फंगल मेनिनजाइटिस दिमागी बुखार है । कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता वालों को यह अधिक होता है। जानिए कारण व इलाज- बैकबोन व दिमाग पर प्रभाव मेनिनजाइटिस दिमाग व रीढ़ की हड्डी को प्रभावित कर इनकी मेम्ब्रेन में सूजन का कारण बनता है । शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता घटती जाती है । मेनिनजाइटिस सामान्यतया १०-१५ दिन में ठीक हो जाता है लेकिन कारगर इलाज न हो तो मृत्यु और लकवा भी हो सकता है। लक्षण : कंपकंपी व बुखार सांस आसमान्य होना, लगातार रोना चेहरे पर छोटे-छोटे दाने, बुखार, उल्टी, गर्दन में अकडऩ, कंपकंपाना,आंखों से पानी ब