News That Matters

Tag: दिव्यांगों

दिव्यांगों को सुविधाएं मुहैया कराने के लिए वचनबद्ध

दिव्यांगों को सुविधाएं मुहैया कराने के लिए वचनबद्ध

Punjab
जिला रेडक्राॅस सोसायटी व एलमिको की तरफ से श्री काली देवी मंदिर में लगाए गए जिला स्तरीय कैंप में विभिन्न सब डिवीजनों से आए दिव्यांगों को कृत्रिम अंग व सहायता सामग्री वितरित की गई। इस दौरान कैबिनेट मंत्री विजयइंदर सिंगला ने मुख्य मेहमान के तौर पर शिरकत की और उन्होंने दिव्यांगों को कृत्रिम अंग व सहायता सामग्री वितरित की। कैबिनेट मंत्री विजयइंदर सिंगला ने कहा कि दिव्यांग समाज का अटूट हिस्सा है और जिला संगरूर के योग्य आवेदनकर्ताओं को अधिक से अधिक सुविधाओं को मुहैया करवाने के लिए वह वचनबद्ध है। उन्होंने कहा कि पिछले महीनों में विभिन्न सब डिवीजनों में लगाए गए अंगहीन पहचान कैंप के दौरान डॉक्टरों द्वारा जिन अंगहीनों को सहायता प्रदान करने के योग्य पाया गया था। उन्होंने सैकड़ों की संख्या में ट्राइसाइकिल, व्हील चेयर, सुनने वाली मशीन, स्मार्ट स्टिकस, सहारे, स्मार्ट मोबाइल, आईईडी किट
समाजसेवी विपन शर्मा ने 10 महीनों में बनवाए 2413 दिव्यांगों के सर्टिफिकेट

समाजसेवी विपन शर्मा ने 10 महीनों में बनवाए 2413 दिव्यांगों के सर्टिफिकेट

Punjab
अबोहर। दिव्यांगों की सहायता में जुटे समाजसेवी विपन शर्मा के सहयोग से करीब 10 महीनाें में जिले के 2413 दिव्यांगों के सर्टिफिकेट बनाए गए। समाजसेवी शर्मा ने बताया कि दिव्यांग लोगों को सर्टिफिकेट बनवाने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता था। पहले वे फार्म सहित अन्य अाैपचारिकताएं पूरी करवाते थे, लेकिन सरकार के प्रक्रिया काे ऑनलाइन करने के बाद उन्होंने 2413 दिव्यांगों के सर्टिफिकेट बनवाए। इसके लिए उन्हें अबोहर के अलावा फाजिल्का के सिविल अस्पताल में भी जाना पड़ा। दिव्यांगता प्रमाणपत्र फाजिल्का सिविल अस्पताल के नेत्र राेग विशेषज्ञ डाॅ. एसपी गर्ग, हड्डी राेग विशेषज्ञ डाॅ. विकास गांधी, अबोहर सिविल अस्पताल के एमडी (मेडिसिन) डाॅ. युधिष्ठर, नशामुक्ति केंद्र अबोहर के इंचार्ज डाॅ. महेश ने जारी किए। समाजसेवी ने बताया कि अबोहर सिविल अस्पताल में डाॅक्टरों की कमी के चलते यहां के विकलांग

UGC ने दिव्यांगों की सुविधाओं पर कमेटी से मांगी रिपोर्ट, ये रही पूरी जानकारी

Indian Education
अब दिव्यांग वर्ग के छात्रों की पढ़ाई, प्लेसमेंट समेत सुविधाओं की देखरेख के लिए इंटरनल कमेटी बनेगी। Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala
दिव्यांगों को ट्राइसाइकिलें व अन्य सहायता सामग्री वितरित

दिव्यांगों को ट्राइसाइकिलें व अन्य सहायता सामग्री वितरित

Punjab
कन्फेडरेशन फार चैलेंज्ड पर्संज की ओर से दिव्यांगों को जरूरी सामग्री वितरित करने के लिए कैंप का आयोजन डेरा बाबा भगवंत नाथ में किया गया। कैंप में अलमिको के यूनिट हेड अरुण मिश्रा, एडीसी राजेश त्रिपाठी, सामाजिक सुरक्षा अधिकारी सतीश कपूर, ईटीओ लारेंस सिंगला, प्रवेश, मिंटू बांसल, प्रेम गुगनानी, महिंदर सिंह, सुरिंदर सिंगला ने विशेष तौर पर शिरकत की। संस्था के प्रधान सतीश गोयल ने बताया कि कैंप में दिव्यांग व्यक्तियों को आर्टिफिशियल लिंबज मैन्यूफैक्चरिंग कार्पोरेशन के सहयोग से करीब 60 लाख रुपए के 40 मोटोराइडर ट्राइसाइकिल, 162 ट्राइसाइकिल, 57 व्हील चेयर, 244 सुनने वाली मशीन, फोहडी और नकली अंग वितरित किए गए हैं। उन्होंने बताया कि संस्था करीब 7 वर्षों से दिव्यांगों की भलाई के लिए काम कर रही है। संस्था अब तक भारत सरकार के सहयोग से 2600 दिव्यांगों को 3.5 करोड़ रुपए का सामान वितरित कर
योग दिवस पर 751 दिव्यांगों ने साथ किए योगासन, उदयपुर में लगाया गया योग शिविर

योग दिवस पर 751 दिव्यांगों ने साथ किए योगासन, उदयपुर में लगाया गया योग शिविर

Rajasthan
उदयपुर. अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर शुक्रवार को नारायण सेवा संस्थान के उदयपुर में बड़ा योग शिविर लगाया गया। जिसमें सुबह 5.30 से 7.00 बजे तक लोगों ने विविध योगासन किये। जिसमें 751 दिव्यांगों ने एक साथ योग किया। इससे पूर्व संस्थान संस्थापक कैलाश मानव ने अपने सम्बोधन में कहा कि सविकल्प बुद्धि और निर्विकल्प प्रज्ञा में विचारों के संतुलन के लिए योग साधना महत्त्वपूर्ण है। मन के भटकाव को रोकने उसे केन्द्रित रखने के साथ ही आरोग्य जीवन के लिए भी योगासन आवश्यक है।मानव ने योग दिवस पर सभी देशवासियो को शुभकामनाएं दी तथा स्वस्थ्य जीवन के लिए योग को दैनिक जीवन में जोड़ने की अपील की। योग गुरू राधेश्याम तथा महिला योग गुरू प्रेमलता व संस्थान की प्राकृतिक चिकित्सक डॉ. दीपा के निर्देशन में बड़ी संख्या में संस्थान के साधक-साधिकाओं, दिव्यांग किशोर-किशोरियों और क्षेत्रीय नागरिको ने प्राण
नारायण सेवा संस्थान ने जयपुर में 43 दिव्यांगों को निशुल्क कृत्रिम अंग और कैलीपर्स मुहैया कराए

नारायण सेवा संस्थान ने जयपुर में 43 दिव्यांगों को निशुल्क कृत्रिम अंग और कैलीपर्स मुहैया कराए

Rajasthan
जयपुर. सोमवार को नारायण सेवा संस्थान द्वारा जयपुर में दिव्यांगों के लिए निशुल्क कृत्रिम अंग वितरण शिविर का आयोजन किया। शिविर के दौरान लगभग 43 दिव्यांगों को निशुल्क कृत्रिम अंग और कैलीपर्स मुहैया कराए गए, जिनकी सहायता से दिव्यांगों अपनी आम जिदंगी और कामकाज करने में सक्षम हो सकेंगे। संस्थान ने पिछले महीने दिल्ली और जयपुर में कृत्रिम अंग मापन शिविर भी आयोजित किया था, जिसमें अंग वितरण के लिए करीब 80 दिव्यांगों का नाप लिया गया था।नारायण सेवा संस्थान के प्रेसीडेंट श्री प्रशांत अग्रवाल ने कहा, 'अब तक हमने 99,133 कैलीपर्स, 10,452 व्हीलचेयर और 3,646 ट्राइसाइकिलों का सफलतापूर्वक वितरण किया है। एनजीओ जरूरतमंद मरीजों और दिव्यांगों को निशुल्क कृत्रिम अंग और प्रोस्थेटिक्स दे रहे है, जिनका बाजार मूल्य 70,000 रुपए के आसपास है। हम प्रत्येक ऐसे दिव्यांग शख्स तक पहुंचने का इरादा रखते हैं,
वोट नहीं देने वाले इनसे सीखें 4000 दिव्यांगों ने डाला वोट

वोट नहीं देने वाले इनसे सीखें 4000 दिव्यांगों ने डाला वोट

Punjabi Politics
वोटिंग के दिन गैरहाजिर रहने वालों के लिए दिव्यांग अच्छी मिसाल हैं। कोई नेत्रहीन, कोई मूक-बधिर और कोई चलने-फिरने में असमर्थ है लेकिन अपने परिजनों को साथ लेकर मतदान करने जरूर पहुंचे थे। जालंधर लोकसभा सीट के सभी 9 विधानसभा हलकों में 11528 दिव्यांग वोटरों में से 4 हजार से ज्यादा ने मतदान किया है। जालंधर सिटी के कुष्ठाश्रम के 125 सदस्यों ने वोट डाले। माॅडल टाउन के नेत्रहीन आश्रम के सदस्यों ने भी उत्साह से वोटिंग की है। वहीं, ऐसे करीब 5 लाख लोग हैं, जिन्हें कोई परेशानी नहीं है फिर भी वे 19 मई को मतदान वाले दिन वोट डालने नहीं गए थे। जिले के सभी 1823 पोलिंग बूथों का डाटा मुताबिक ‘पर्सन विद फिजिकली डिसएबल्ड कैटेगरी’ में 4 हजार के करीब कास्ट किए गए वोट मिले हैं। इन वोटरों को उत्साहित करने के लिए चुनाव आयोग ने पोलिंग बूथों पर व्हीलचेयर से लेकर वालंटियर तक नियुक्त किए थे। उधर, अगर
एंबुलेंस मरीजों व दिव्यांगों को वाेटिंग के लिए लेने तो पहुंची पर छोड़ने नहीं गईं

एंबुलेंस मरीजों व दिव्यांगों को वाेटिंग के लिए लेने तो पहुंची पर छोड़ने नहीं गईं

Haryana
यमुनानगर| निर्वाचन अधिकारियों ने दावा किया था कि दिव्यांग, निशक्त व बीमार मतदाताओं की पहचान कर ली गई है। इनकी मदद के लिए व्हील चेयर, एंबुलेंस व स्ट्रेचर की व्यवस्था की गई है। लेकिन यह व्यवस्था मतदान के दिन सिर्फ घोषणाओं तक सीमित दिखी। आदेश न होने पर एंबुलेंस चालकों ने एेसे मतदाताओं को लाने व ले जाने से मना कर दिया। कई जगह से दिव्यांगों को बूथ तक लाया गया लेकिन घर नहीं छोड़ा। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar
राजसमंद में सबसे ज्यादा दिव्यांगों ने की वोटिंग, बाड़मेर में युवा वोटरों की संख्या सर्वाधिक रही

राजसमंद में सबसे ज्यादा दिव्यांगों ने की वोटिंग, बाड़मेर में युवा वोटरों की संख्या सर्वाधिक रही

Rajasthan
जयपुर.प्रदेश में सोमवार को हुए 13 लोकसभा क्षेत्रों के चुनाव में चित्तौड़गढ़ और बाड़मेर में सबसे ज्यादा मतदाताओं को सहारे की जरूरत पड़ी। राज्यभर में 12 हजार 816 मतदाता अपने सहयोगी के सहारे मतदान करने आए। चित्तौड़गढ़ में सबसे ज्यादा 2288 मतदाता अपने सहयोगी के साथ मतदान करने आए।बारां-झालावाड़ में सबसे कम 440 मतदाता अन्य व्यक्ति की मदद से मतदान करने आए। बाड़मेर में 1901 और राजसमंद में 1608 मतदाताओं काे मतदान के लिए सहारे की जरूरत पड़ी। राजसमंद में सबसे ज्यादा 3489 दिव्यांग-जनों ने मतदान किया। इसके अलावा उदयपुर में 1530, अजमेर में 1489 और कोटा में 1196 दिव्यांग-जनों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।प्रदेश में बाड़मेर और झालावाड़ में इस बार सबसे ज्यादा युवा मतदाताओं ने वोट डाले। बाड़मेर में 20-25 वर्ष तक की उम्र के 3 लाख 76 हजार 407 युवाओं ने वोट डाले तो झालावाड़-बारां में 2 लाख 7 हजार 705

LS Polls 2019: मतदान को लेकर बुजुर्गों और दिव्यांगों में दिखा गजब का उत्साह, देखें तस्वीरें

India
मतदान केंद्रों पर कुछ ऐसे मतदाता भी पहुंचे जिनका जोश काबिल-ए-तारीफ है। राज्यों के कई मतदान केंद्रों पर बुजुर्ग और विकलांग लोग लोकतंत्र के महापर्व में बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं। Jagran Hindi News - news:national