News That Matters

Tag: दिव्यांग

मंजिलें और भी हैं: दिव्यांग कम से कम एक खेल में खुद को आजमाएं

Indian Education
एक बार जब आप तय कर लेते हैं कि कुछ करना चाहते हैं, तो लोग आपकी मदद के लिए आगे आएंगे। आपको बस एक समय में एक कदम उठाना है। जो आप कर रहे हैं उस पर ध्यान केंद्रित करें। जब आपका ध्यान केंद्रित हो जाए, तो सब कुछ बहुत सरल हो जाएगा। Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala
दिव्यांग महिला को पीटने पर पुलिस को भेजा नोटिस

दिव्यांग महिला को पीटने पर पुलिस को भेजा नोटिस

Delhi
नई दिल्ली| हर्ष विहार में भीड़ द्वारा एक दिव्यांग महिला पर हमला करने के मामले में दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) ने मंगलवार को पुलिस को नोटिस भेजा है। महिला गर्भवती होने के साथ-साथ बहरी और गूंगी भी है। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar

डोरीलाल अग्रवाल दिव्यांग छात्रवृत्ति के लिए आवेदन आज से, फॉर्म भरकर भेजने की अंतिम तिथि 30 सितंबर

Indian Education
डोरी लाल अग्रवाल राष्ट्रीय मेधावी दिव्यांग छात्रवृत्ति-2019 के लिए आवेदन रविवार से शुरू हो रहा है। यह प्रक्रिया 30 सितंबर तक चलेगी Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala

जगद्गुरू रामभद्राचार्य दिव्यांग विश्वविद्यालय को मिल सकता है केंद्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा

India
मोदी सरकार ने दिव्यांगजनों के लिए राष्ट्रीय स्तर का एक केंद्रीय विश्वविद्यालय खोलने को अपनी प्राथमिकताओं में सबसे ऊपर शामिल कर रखा है। Jagran Hindi News - news:national
दिव्यांग सत्येंद्र ने 11 घंटे 33 मिनट में कैटलीना चैनल पार कर रिकॉर्ड बनाया, ऐसा करने वाले पहले एशियाई

दिव्यांग सत्येंद्र ने 11 घंटे 33 मिनट में कैटलीना चैनल पार कर रिकॉर्ड बनाया, ऐसा करने वाले पहले एशियाई

Indian Sports
खेल डेस्क. भारतीय पैरा स्विमर सत्येंद्र सिंह लोहिया(32) ने अमेरिका में 42 किलोमीटर लंबे कैटलीना चैनल को पार कर नया इतिहास रच दिया। ऐसा करने वाले वे एशिया के पहले दिव्यांग तैराक हैं। सत्येंद्र की टीम में पांच अन्य खिलाड़ी थे। टीम ने कैटालिना चैनल को 11 घंटे 33 मिनट के समय में पार किया है। सत्येंद्र मध्यप्रदेश के ग्वालियर के रहने वाले हैं।सत्येंद्र ने सोमवार सुबह 10.57 बजे से सेंट कैटलीना आइसलैंड से तैरनाशुरू किया था, जो देर रात 10:30 बजे लॉस एंजिल्स में खत्म हुआ। इसके पहले वह 2017 में इंग्लिश चैनल पार कर चुके हैं। तब भी ऐसा करने वाले वह देश के पहले पैरा स्विमर बने थे। भिंड जिले के गाता गांव के रहने वाले सत्येंद्रने गांव की वेसली नदी में तैराकी सीखी। वह दोनों पैरों से दिव्यांग हैं।ग्वालियर में तैराकी को हुनर बनायाग्वालियर में सत्येंद्र ने तैराकी की तकनीक सीखी और फिर इसे अ
11 गांव ऐसे जहां हर घर में एक दिव्यांग; फ्लोराइड युक्त पानी से हाथ-पैर टेढ़े हो रहे, आंखों की रोशनी जा रही

11 गांव ऐसे जहां हर घर में एक दिव्यांग; फ्लोराइड युक्त पानी से हाथ-पैर टेढ़े हो रहे, आंखों की रोशनी जा रही

India
पचगई खेड़ा (उत्तर प्रदेश). आगरा से करीब20 किमी दूर ग्वालियर रोड पर बरौली अहीर ब्लॉक के 11 गांवों की 75% आबादी फ्लोराइड से दूषित पानी पीने को मजबूर है। दूषित पानी की वजह से इन गांवों के हर घर में कोई न कोई दिव्यांग है। किसी के पैर तो किसी के हाथ टेढ़े हो गए हैं। कुछ बच्चों की तो आंखों की रोशनी भी चली गई है। प्रशासन हैंडपंपों पर लाल निशान लगाकर अपनी जिम्मेदारी से मुंह मोड़ चुका है। पीने का पानी बेचने वाली कंपनियां हर दिन इन गांवों से दो लाख रुपए से ज्यादा की कमाई कर रही हैं।पचगई खेड़ा गांव में सूरजभान मजदूरी का काम करते हैं। कभी काम मिलता है, कभी नहीं। सूरजभान को एक बेटा और एक बेटी है। घर का खर्च चलाने के लिए पत्नी भी मजदूरी करती थी। बड़ी बेटी मंजू 10 साल की है, लेकिन उसके पैर टेढ़े हो गए हैं। सूरजभान बताते हैं कि 4 साल की उम्र से उसके पैर टेढ़े होने शुरू हो गए थे। मां को भी अब
भारत ने दिव्यांग वर्ल्ड क्रिकेट सीरीज जीती, फाइनल में इंग्लैंड को हराया

भारत ने दिव्यांग वर्ल्ड क्रिकेट सीरीज जीती, फाइनल में इंग्लैंड को हराया

Indian Sports
खेल डेस्क. भारतीय टीम ने फिजिकल डिसेबल (दिव्यांग) वर्ल्ड क्रिकेट सीरीज जीत ली। पहली बार खेले गए इस टूर्नामेंट के फाइनल में भारत ने इंग्लैंड को 36 रन से हराया। भारत की जीत के हीरो रवींद्र सांटे रहे, जिन्होंने 34 गेंद में 53 रन बनाए। इस टूर्नामेंट का आयोजन इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने किया। इसमें 6 देशाें की टीमों ने हिस्सा लिया। भारत ने सेमीफाइनल में पाकिस्तान को हराकर फाइनल में जगह बनाई थी।भारत ने पहले खेलते हुए 20 ओवर में 180 रन बनाए। जवाब में इंग्लैंड की टीम 144 रन ही बना पाई। भारत के कप्तान विक्रांत केनी ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही और ओपनर वसीम खान पहले ही ओवर में बेन टेलर का शिकार बन गए। इसके बाद कप्तान केनी (29) ने दूसरे विकेट के लिए कुनाल फांसे के साथ 46 रन जोड़े। फिर रवींद्र सांटे ने 34 गेंदों में 53 रन की

भारत ने जीती दिव्यांग विश्व क्रिकेट सीरीज, फाइनल मुकाबले में इंग्लैंड को 36 रनों से हराया

Indian Sports
भारतीय टीम ने मेजबान इंग्लैंड को 36 रनों से हराकर पहली टी-20 दिव्यांग विश्व क्रिकेट सीरीज अपने नाम कर ली। Jagran Hindi News - cricket:headlines
बूड़िया में बच्चे को अगवा करने के शक में दिव्यांग को पीटा, जांच में भिखारी निकला

बूड़िया में बच्चे को अगवा करने के शक में दिव्यांग को पीटा, जांच में भिखारी निकला

Haryana
बूड़िया में रात के समय लोगों ने एक दिव्यांग व्यक्ति को पीटा दिया। लोगों को शक था कि वह बच्चा अगवा करने वाला है। पीटते हुए लोग उसे थाने ले गए। रात को ही वहां पर डीएसपी पहुंचे। जांच की तो पता चला कि वह तो भीख मांगने वाला है और वह बच्चे को अगवा करने वाला नहीं है। वहीं जिस परिवार के बच्चे को अगवा करने का शक था, उस परिवार ने भी कोई शिकायत नहीं दी। रात दो बजे इस मामले को लेकर पुलिस जांच करती रही। जब मामला झूठा मिला तो दिव्यांग को छोड़ दिया गया। बूड़िया एसएचओ सुनील कुमार ने बताया कि वह सिर्फ अफवाह थी। जिस व्यक्ति पर बच्चे को अगवा करने का शक जताया गया है वह भिखारी है और दिव्यांग है। पुलिस ने इस मामले में पूरी जांच कर रही है। वहीं परिवार ने भी पुलिस को कोई शिकायत नहीं दी है। उधर, लुवाना में युवक घर में घुसा, लोगों ने सोचा बच्चा अगवा करने वाला, महिला ने मारपीट का आरोप लगाया: छप्पर
25 दिव्यांग बच्चों की प्रस्तुति देख सेशन जज तंवर की आंखें हुईं नम

25 दिव्यांग बच्चों की प्रस्तुति देख सेशन जज तंवर की आंखें हुईं नम

Haryana
जिले के 25 दिव्यांग बच्चों के ग्रुप ने बीते वर्ष कुरुक्षेत्र में हाैंसलाें की उड़ान नाम से प्रस्तुति देकर 50 हजार रुपए का ईनाम अपने नाम किया। ग्रुप शनिवार (कल) फिर से सोनीपत में स्टूडेंट्स लीगल लिट्रेसी मिशन-2018 के 9वें वार्षिक कार्यक्रम में प्रस्तुति देगा। इसके पहले ग्रुप ने जगाधरी के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल में रिहर्सल के तौर पर प्रस्तुति दी। इस दौरान बतौर मुख्यातिथि मौजूद रहीं डिस्ट्रिक सेशन जज बिमलेश तंवर की आखें प्रस्तुति देख नम हो गईं। प्रस्तुति में दिखाया गया कि दिव्यांगता को भूल ये बच्चे प्रतिभा के बल पर कैसे सफलता पाते हैं। प्रस्तुति की मुख्यातिथि बिमलेश तंवर ने तारीफ करते हुए कहा कि ये बच्चे भी किसी से कम नहीं है। ये अपनी प्रतिभा के बल पर आगे बढ़ेंगे। कार्यक्रम में डिस्ट्रिक सेशन जज बिमलेश तंवर के अलावा चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट कम सेक्रेट्री डीएलएस अरव